सिया के राम शो संग शेमारू टीवी पर अब दर्शक जीत सकते हैं, 1 लाख रूपए का भव्य पुरस्कार
क साल के अंदर करोड़ों दर्शकों का मनोरंजन करते हुए| शेमारू टीवी अपने दर्शकों के लिए एक मेगा प्रतियोगिता आयोजित कर रहा है। हाल ही में, लॉन्च किया गया शो सिया के राम का एपिसोड प्रसारित होगा, जिसमें सीता के स्वयंवर की महाकाव्य कहानी बताई जाएगी। यह कहानी रामायण में बेहद ही महत्वपूर्ण मानी जाती है, क्योंकि इसमें श्री राम और सीता के वैवाहिक मिलन की बेहद ही सुंदर व्याख्या की गई है।

ऐसे में श्री राम और सीता के इस भव्य प्रसंग स्वयंवर का आंनद लेने के लिए दर्शकों का शेमारू टीवी पर आना
बिलकुल तय है। ठीक उसी तरह दर्शकों के लिए इस भावुक-सुंदर दृश्य को और भी अधिक रोमांचक बनाने के लिए
शेमारू टीवी इस बार सिया स्वयंवर प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है।

स्वयंवर की कहानी में दर्शकों को केवल शो के दौरान पूछे गए सवालों के जवाब देकर इसमें भाग लेना होगा। सबसे
दिलचस्प बात तो यह है कि शेमारू टीवी दर्शकों को अन्य आकर्षक पुरस्कारों के साथ 1 लाख रुपये का भव्य
पुरस्कार भी जीतने का मौका दे रहा है।

गौर करें, यह प्रतियोगिता 21 जून से शुरू होकर 25 जून को समाप्त होगी। ऐसे में 5 दिन का यह सफर यानी की हर रोज़ 1 लाख का पुरस्कार। कहीं न कहीं सिया स्वयंवर की सुंदर दृश्य को देखने के साथ आप भव्य पुरस्कार भी
जीत सकते हैं। इस भव्य स्वयंवर की प्रतियोगिता में दर्शकों से भारी संख्या में भाग लेने की उम्मीद की जा रही है।

हर रोज़ शाम 7 से 8 बजे शेमारू टीवी पर दिखाए गए रामायण की इस महागाथा को लेकर दर्शकों में ख़ासा
उत्साह देखने को मिल रहा है। वहीं, सिया के राम में अब सीता के स्वयंवर की मधुरबेला देखने के साथ बंपर
पुरस्कार जीतने का भी मौका मिल रहा है।

शेमारू टीवी ने एक साल के अंदर दर्शकों के दिलों में एक ख़ास जगह बना ली है। उन्होंने हमेशा अपने दर्शकों की
भावनाओं को पहली प्राथमिकता दी है। आज शेमारू टीवी अपने दर्शकों के जीवन में उनके पसंदीदा शो के माध्यम
से ख़ुशियों भर रहा है।
Comments
Popular posts
राजाधिराज भगवान श्री महाकाल महाराज निकले राजसी ठाठ बाट से; देखें शाही सवारी लाइव
Image
हड़ताल को लेकर सीएम यादव ने दिए निर्देश
Image
अवंतिकानाथ राजाधिराज भगवान महाकाल राजसी ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले; भगवान महाकाल ने भक्तों को चारों रूप में दिये दर्शन
Image
मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा....जानें, कैसे प्रसिद्ध हुआ मोक्षदायिनी नदी का नाम क्षिप्रा ?
Image
श्री महाकालेश्वर मन्दिर की दान पेटियों से आय की गणना एवं कलेक्शन हेतु मंदिर प्रबंध समिति द्वारा तीन बैंक है अधिकृत
Image