कोरोना को चुनौती देती डॉ.एम.डी.सिंह की कविता


समय कुटिल साधना होगा
जीवन को बांधना होगा

युद्ध मृत्यु से हो चाहे
कठोर अनित्य से हो चाहे
मनुज हारा नहीं अभी तक
संघर्ष अभित्य से हो चाहे

उसे अवश्य हारना होगा
जीवन को बांधना होगा

कोरोना कौन है आखिर 
कहां है पूंछ किधर है सिर
कहां छुपी जान है उसकी
कैसे जी उठ रहा फिर फिर

हमको यह जानना होगा
जीवन को बांधना होगा

अजर है जो जर नहीं सके
अमर है जो मर नहीं सके
हाल अश्वत्थामा सा करें 
रहे कुछ भी कर नहीं सके

कलंक माथ साटना होगा
जीवन को बांधना होगा

रावण को भी पड़ा जाना
हिरणकश्यप भी नहीं माना
महिषासुर भी मरा आखिर 
हुआ व्यर्थ उसे अभय पाना 

कुछ भी बन मारना होगा
जीवन को बांधना होगा



 -डॉ.एम.डी.सिंह 
 महाराजगंज गाजीपुर उत्तर प्रदेश
Comments
Popular posts
अवंतिकानाथ राजाधिराज भगवान महाकाल राजसी ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले; भगवान महाकाल ने भक्तों को चारों रूप में दिये दर्शन
Image
मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा....जानें, कैसे प्रसिद्ध हुआ मोक्षदायिनी नदी का नाम क्षिप्रा ?
Image
आदित्य अनमोल ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर पर लिखी किताब और कहा उनका जीवन युवाओं के लिए मार्गदर्शक हो सकता है
Image
राजाधिराज भगवान श्री महाकाल महाराज निकले राजसी ठाठ बाट से; देखें शाही सवारी लाइव
Image
सोयाबीन प्लांट उज्जैन के कर्मचारियों का प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री से मिला
Image