एण्डटीवी के शोज़ में होने वाला है घमासान युद्ध और ढेर सारी मस्ती


ण्डटीवी पर प्रसारित हो रहे शोज़ के आगामी एपिसोड्स में दर्शकों को ढेर सारा ड्रामा देखने के लिये मिलेगा। ‘भाबीजी घर पर हैं’ के मनमोहन तिवारी (रोहिताश्व गौड़) अपनी प्यारी भाबी अनिता भाबी (नेहा पेंडसे) को लेकर बड़ी ही दुविधा में फंस गये हैं। अनिता भाबी उनके खिलाफ कोर्ट में केस लड़ रही है। ऐसे में मनमोहन तिवारी की किस्मत में हारना ही लिखा है! वहीं, राजेश, अपने पति हप्पू ंिसंह (योगेश त्रिपाठी) और बेनी (विश्वनाथ चटर्जी) के बीच दरार डालने की कोशिश कर रही है। इससे ‘हप्पू की उलटन पलटन’ में मामला काफी पेचीदा हो गया है। ‘गुड़िया हमारी सभी पे भारी’ में पप्पू (मनमोहन तिवारी) के गेस्ट हाऊस में ठहरने आया नया मेहमान एक जबरदस्त खबर के साथ आया है। यह मेहमान बताता है कि हवेली में सोने के सिक्कों से भरा एक घड़ा दबा हुआ है। इसके बाद शुरू होती है खजाने की खोज। ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं’ में धीरे-धीरे चीजें सामान्य हो रही हैं, एक तरफ इंद्रेश (आशीष कादियान) वापस लौट आया है और स्वाति (तन्वी डोगरा) को न्याय मिलने वाला है। लेकिन क्या असुर रानी पाॅलोमी (सारा खान) बिना लड़े हार मान लेगी? इस ट्रैक के बारे में नेहा पेंडसे यानी हमारी अनिता भाबी कहती हैं, ‘‘यदि कोई महिला जोकि अनिता की तरह ही विभूति नारायण मिश्रा (आसिफ शेख) से अपनी बात मनवा सकती है तो वो है अंगूरी भाबी (शुभांगी अत्रे)। जब तिवारी जी, पंडित जी के कहने पर टिल्लू (सैय्यद सलीम जै़दी) को परेशान करते हैं तो अनिता गुस्से में आकर उनके खिलाफ केस कर देती है। तब अंगूरी, विभूति से कहती हैं कि वह खुद अनिता के सामने तिवारीजी का केस लड़े। सारा माहौल बिगड़ जाता है।’’ कामना पाठक उर्फ राजेश सिंह कहती हैं, ‘‘बेनी और हप्पू की दोस्ती पक्की है! लेकिन राजेश उन दोनों को उकसाती है और दोनों के बीच बहुत ही बुरी तरह से झगड़ा शुरू हो जाता है। यह जोड़ी एक-दूसरे को जलाने की कोशिश करने लगती है और आखिरकार दोनों बात करने से मना कर देते हैं। इस डर के बीच, क्या राजेश और कमलेश (संजय चैधरी) दोनों जिगरी दोस्तों के बीच सुलह करा पायेंगी?’’ समता सागर यानी सरला कहती हैं, ‘‘गुप्ता परिवार को गुड़िया की हैरान कर देने वाली हरकतों की आदत पड़ चुकी है। इस बार वह इस घर के पुराने मालिक को अपने साथ लेकर आती है जोकि काफी समय पहले यह जगह छोड़ चुके हैं। वह बताते हैं कि उन्होंने इस घर में सोने के सिक्कों वाला एक बड़ा-सा घड़ा छुपा रखा है। खजाने के बारे में जानकार, सरला उसे ढूंढने का फैसला करती है।’’ सारा खान उर्फ असुर रानी पाॅलोमी कहती हैं, ‘‘स्वाति ने हमेशा ही संतोषी मां (ग्रेसी सिंह) की मदद से अपनी लड़ाई लड़ी है। लेकिन क्या इस बार इंद्रेश उसकी मदद करेगा, जबकि उसके पिता सिंहासन सिंह (सुशील सिन्हा) ने उसे इमोशनली ब्लैकमेल किया है? असुर रानी पाॅलोमी, संतोषी मां को जीतने नहीं देगी और यह कैसे होगा इसका पता आगे चल पायेगा, तो दर्शकों आप हमारे साथ बने रहिये!’’

अनलिमिटेड मस्ती और ड्रामा, देखिये, ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं’ में रात 9 बजे, ‘गुड़िया हमारी सभी पे भारी’ में रात 9.30 बजे, ‘हप्पू की उलटन पलटन’ में रात 10 बजे और ‘भाबीजी घर पर हैं’ में रात 10.30 बजे, हर सोमवार से शुक्रवार, केवल एण्डटीवी पर!