बिजली इंजीनियर तहसीलदार की शक्तियों का कंपनी हित में उपयोग करे

रीजन कार्यालय में सात जिलों के इंजीनियरों की कार्यशाला आयोजिय

उज्जैन। मप्र शासन ने बिजली इंजीनियरों को राजस्व संग्रहण में तहसीलदार की शक्तियां प्रदान कर रखी है, इन शक्ति का बिजली इंजीनियर कंपनी व शासन हित में सजगता, संवेदनशीलता एवं उपर्युक्त समय देखकर उपयोग करे। तभी ये प्रभावी एवं परिणामदायी होगी।

उक्ताशय के विचार तहसीलदार श्री श्रीकांत शर्मा ने व्यक्त किए। वे बुधवार को ज्योति नगर स्थित मप्रपक्षेविविकं के रीजन कार्यालय सभागार में कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर, मुख्य महाप्रबंधक श्री संतोष टैगोर के आदेशानुसार कंपनी इंजीनियरों को पदेन तहसीलदार की शक्तियों के उचित तरीके से क्रियान्वयन के लिए उज्जैन में बुधवार को हुई कार्यशाला में उज्जैन के अलावा रतलाम, मंदसौर, नीमच, देवास, आगर, शाजापुर के बिजली इंजीनियर भी मौजूद रहे। सर्वप्रथम  कार्यशाला का शुभारंभ उज्जैन तहसीलदार श्री श्रीकांत शर्मा, अधीक्षण यंत्री उज्जैन रीजन मुख्यालय श्री आरसी जैन, संयुक्त सचिव श्री तरूण उपाध्याय, कार्यपालन यंत्री श्री हिमांशु दुबे आदि की मौजूदगी में हुआ। सातों जिलों के इंजीनियरों ने मप्र शासन के तहसीलदार श्री शर्मा, श्री दुबे, श्री उपाध्याय से प्रश्न पूछकर जिज्ञासाओं का समाधान भी किया। संचालन सुश्री प्रियंका चरेगांवकर ने किया। आभार मना श्री जुनैद बोहरा ने।त जिलों के इंजीनियरों की कार्यशाला

उज्जैन। मप्र शासन ने बिजली इंजीनियरों को राजस्व संग्रहण में तहसीलदार की शक्तियां प्रदान कर रखी है, इन शक्ति का बिजली इंजीनियर कंपनी व शासन हित में सजगता, संवेदनशीलता एवं उपर्युक्त समय देखकर उपयोग करे। तभी ये प्रभावी एवं परिणामदायी होगी।

उक्ताशय के विचार तहसीलदार श्री श्रीकांत शर्मा ने व्यक्त किए। वे बुधवार को ज्योति नगर स्थित मप्रपक्षेविविकं के रीजन कार्यालय सभागार में कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर, मुख्य महाप्रबंधक श्री संतोष टैगोर के आदेशानुसार कंपनी इंजीनियरों को पदेन तहसीलदार की शक्तियों के उचित तरीके से क्रियान्वयन के लिए उज्जैन में बुधवार को हुई कार्यशाला में उज्जैन के अलावा रतलाम, मंदसौर, नीमच, देवास, आगर, शाजापुर के बिजली इंजीनियर भी मौजूद रहे। सर्वप्रथम  कार्यशाला का शुभारंभ उज्जैन तहसीलदार श्री श्रीकांत शर्मा, अधीक्षण यंत्री उज्जैन रीजन मुख्यालय श्री आरसी जैन, संयुक्त सचिव श्री तरूण उपाध्याय, कार्यपालन यंत्री श्री हिमांशु दुबे आदि की मौजूदगी में हुआ। सातों जिलों के इंजीनियरों ने मप्र शासन के तहसीलदार श्री शर्मा, श्री दुबे, श्री उपाध्याय से प्रश्न पूछकर जिज्ञासाओं का समाधान भी किया। संचालन सुश्री प्रियंका चरेगांवकर ने किया। आभार मना श्री जुनैद बोहरा ने।