भैरवगढ़ प्रिंट का काम कर रहा स्वसहायता समूह अपने उत्पाद अमेजन पर बेचेगा

  • कलेक्टर ने स्वसहायता समूह के कामकाज का किया निरीक्षण

उज्जैन। भैरवगढ़ प्रिंट को लेकर कालियादेह ग्राम में बनाया गया महिलाओं का स्वसहायता समूह अच्छा काम कर रहा है। यह समूह अपनी बनाई बेडशीट, बंधेज, बटिक एवं ब्लॉक प्रिंटिंग के पिलो कवर, लुंगी, सलवार सूट एवं साड़ी की बिक्री के लिये अमेजन कंपनी से एग्रीमेंट कर चुका है और शीघ्र ही इस स्वसहायता समूह के उत्पादन अमेजन पर ऑनलाइन बिकने लगेंगे। 

कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने आज भैरवगढ़ स्थित महिला स्वसहायता समूह के कामकाज को देखने के लिये उनके कार्यस्थल पर पहुंचे एवं महिलाओं से चर्चा की। कलेक्टर ने बारिकी से भैरवगढ़ प्रिंट के वस्त्र बनाये जाने की प्रक्रिया को समझा तथा जिला पंचायत सीईओ को निर्देश दिये कि भैरवगढ़ प्रिंट का जीआई टैग प्राप्त करने के प्रयास किये जायें।

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर को स्वसहायता समूह की अध्यक्ष श्रीमती नसीमबी ने जानकारी दी कि वे गुजरात के सूरज एवं दक्षिण से रॉ मटेरियल जिनमें कपड़ा एवं रंग आदि शामिल है, खरीदते हैं। आजकल बटिक प्रिंट के ब्लॉक जो कि पीतल के बनते हैं, सूरत से आते हैं। नये प्रयोग से परम्परागत प्रिंटिंग में अधिक सफाई आई है। स्वसहायता समूह का टर्न ओवर 90 से एक लाख प्रतिवर्ष है। महिला कारीगरों ने बताया कि कपड़े पर वेक्सिंग करने के बाद बटिक से डिजाईन का निर्माण किया जाता है फिर इनको रंगा जाता है और बाद में गर्म पानी से धोकर वेक्स निकाला जाता है। महिलाओं ने जानकारी दी कि प्रिंटिंग का यह कार्य उनका पुश्तैनी है तथा अभी कोरोना की वजह से मार्केट उतना अच्छा नहीं है। कलेक्टर ने उक्त स्वसहायता समूह को बाजार में दुकान उपलब्ध कराने के लिये कहा है।

Popular posts
महाकाल दर्शन हेतु महाकाल एप्प की लिंक एवं वेब साइट
Image
ऑटो पार्ट रिटेलर्स और वर्कशाप की दिक्कतें अब दूर हुईं; ऑटोमोबाइल सर्विस प्रोवाइडर गोमैकेनिक ने वापी में नया स्पेयर पार्ट्स फ्रैंचाइज़ी आउटलेट शुरू किया
Image
पियाजियो व्ही।कल्सऔ ने जयपुर में राजस्था न के अपनी तरह के पहले इलेक्ट्रिक व्हीजकल (ईवी) एक्सेपीरियेंस सेंटर का उद्घघाटन किया
Image
देश की एम्प्लॉयी फ्रेंडली कंपनी में शुमार हुआ पीआर 24x7; फीमेल स्टाफ के मासिक धर्म के लिए उठाया सार्थक कदम
Image
‘‘एक महिला को एक महिला से बेहतर कोई और नहीं समझ सकता’’, यह कहना है एण्डटीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं’ की तन्वी डोगरा का
Image