स्मार्ट सिटी के फेस वन के काम साल के आखिरी तक पूर्ण किए जाएं

  • कलेक्टर ने कामकाज की समीक्षा के दौरान दिए निर्देश



      उज्जैन। कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने आज मेला कार्यालय में स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि फेस वन के तहत किए जा रहे मृदा प्रोजेक्ट के कार्य जिनमे  महाकाल थीम पार्क,  कॉरिडोर, मल्टीलेवल पार्किंग, नूतन एवं गणेश स्कूल के काम्प्लेक्स  का निर्माण कार्य शामिल  है को   साल के अंत  तक पूर्ण किया जाए। बैठक में आने वाले समय में किए जाने वाले मृदा फेस टू में  मल्टीमॉडल ट्रांसिट हब, उज्जैन कन्वेंशन सेंटर का  भी  पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तुतीकरण किया गया। बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल, स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रदीप जैन ,अधीक्षण यंत्री श्री धर्मेंद्र वर्मा सहित स्मार्ट सिटी से जुड़े विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।


      बैठक में जानकारी दी गई कि वर्तमान में स्मार्ट सिटी द्वारा मृदा प्रोजेक्ट के फेस वन में 154 करोड़ की लागत से मल्टीलेवल पार्किंग, मिडवे जोन व महाकाल थीम पार्क, का कार्य जारी है। इसी तरह मृदा फेस टू में छोटा रूद्र सागर का  पुनर्जीवीकरण, टूरिस्ट इनफॉरमेशन सेंटर, महाराजवाडा कॉम्पलेक्स, अन्न क्षेत्र, रामघाट स्ट्रीट का रेस्टोरेशन, हरि फाटक ओवर  ब्रिज का चौड़ीकरण आदि शामिल किए जाएंगे ।बैठक में बताया गया कि महाराज वाडा स्कूल को नूतन स्कूल में शिफ्ट किया जाएगा। महाराज वाडा की जमीन पर पार्किंग स्लॉट्स विकसित किए जाएंगे तथा हेरिटेज बिल्डिंग को मंदिर प्रशासनिक  समिति  द्वारा   उपयोग  में  लिया   जाएगा।


      बैठक में स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रदीप जैन ने मल्टी मॉडल ट्रांजिट हब के  प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया गया  कि देवास गेट क्षेत्र में रेलवे एवं बस अड्डे की जमीन एवं आसपास के अन्य क्षेत्र को एकीकरण करके एक ही स्थान पर बस एवं रेलवे से आवागमन करने वालों के लिए ट्रांजिट हब तैयार किया जाने का प्लान है।इस कार्य के लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जा रही है ।इसी तरह सामाजिक न्याय परिसर में उज्जैन कन्वेंशन सेंटर बनाए जाने का भी प्लान तैयार है। बैठक में स्मार्ट सिटी की अन्य योजनाओं के बारे में भी चर्चा की गई। जिनमें इस स्मार्ट क्लासरूम, डिजिटल सेंटर, शी लाउंज, इंटीग्रेटेड ट्रेफिक मैनेजमेंट सिस्टम आदि शामिल है। बैठक में बताया गया कि उज्जैन शहर के 16 में से 13 ट्रैफिक जंक्शन पर ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम लगा दिए गए हैं। यहां पर इंटीग्रेटेड सिग्नल मैनेजमेंट साइन बोर्ड्स, स्पीड डिटेक्शन आदि के यंत्र लगाएं जा चुके हैं. शीघ्र ही इसके आधार पर शहर का ट्रैफिक नियंत्रित किया जा सकेगा।


 





'महाकाल की आवाज' वेब न्यूज़ पोर्टल
पर समाचार एवं विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें
9993094563, mahakalkiawaz@gmail.com