प्राइवेट डॉक्टर किसी भी कोरोना संदिग्ध मरीज का उपचार ना करें


      उज्जैन। कमिश्नर श्री शर्मा ने निर्देश दिए कि जिले में कोई भी प्राइवेट डॉक्टर किसी कोरोना संदिग्ध मरीज का उपचार नहीं करें उनके पास सर्दी खांसी बुखार वाला मरीज आता है तो उसको फीवर क्लीनिक को रेफर करें ताकि उसका सैंपल टेस्ट होकर शीघ्र प्रभावी उपचार मिल सके कमिश्नर ने सीएमएचओ को निर्देश दिए कि जिला चिकित्सालय को प्राप्त  सीबिन trueनॉट मशीन का कोरोना सैंपल जांचने में  पूर्ण क्षमता के साथ उपयोग किया जाए बताया गया कि मशीन से 1 दिन में 35 से 40 सैंपल टेस्ट होते हैं कमिश्नर ने यह सुनिश्चित करने को कहा कि किसी भी कोरोना मरीज की मृत्यु नहीं हो इसके लिए जो भी संभव उपचार हो किया जाए बैठक में कमिश्नर द्वारा रतलाम जिले में कोरोना मरीजों की संख्या नेगेटिव तथा पॉजिटिव संख्या मृत्यु दर कंटेनमेंट संख्या इत्यादि जानकारी प्राप्त करते हुए आवश्यक निर्देश दिए बताया गया कि जिले में फीवर क्लिनिक्स के माध्यम से 14 मरीज मिले हैं कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने बताया कि जिले में अब सुव्यवस्थित ढंग से फीवर क्लिनिक्स संचालित किए जा रहे हैं


Comments