32 बटालियन में प्रधान आरक्षक की हत्या; मृतक की पत्नी पुलिस हिरासत में


उज्जैन। देवास रोड स्थित 32वीं बटालियन में पदस्थ प्रधान आरक्षक की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। शनिवार सुबह छत पर सो रहे प्रधान आरक्षक को पत्नी जब जगाने पहुंची तो वह मृत मिला। पुलिस के अनुसार प्रधान आरक्षक के मुह से खून निकला था। पुलिस को शाम तक शार्ट पीएम रिपोर्ट मिली। जिससे पुलिस सकते में आ गई। जिसमें सामने आया की प्रधान आरक्षक की मौत गले की हड्डी टूटने से हुई है। जिसके बाद पुलिस को स्पष्ट हो गया की प्रधान आरक्षक की हत्या की गई है। पुलिस उसकी पत्नी से पूछताछ कर रही है।


एसएएफ 32 बटालियन के देवास रोड स्थित शासकीय क्वार्टर निवासी बलवीर सिंह चौहान शुक्रवार रात 10 बजे ड्यूटी से लौट कर घर आया था। भोजन करने के बाद वह छत पर सोने चला गया था। शनिवार सुबह पत्नी रेखादेवी उसे जगाने पहुंची तो वह मृत अवस्था में मिला। पत्नी की चीख सुनकर आसपास के लोगों को जानकारी लगी। सूचना मिलने पर माधवनगर पुलिस भी जांच के लिए मौके पर पहुंच गई। पुलिस के अनुसार बलवीर सिंह का शव देखकर मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा था। उसके मुंह और कान पर खून निकलना पाया गया था। देर शाम को शार्ट पीएम रिपोर्ट सामने आने के बाद मामला हत्या का स्पष्ट हो गया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि शार्ट पीएम रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट हो गया की प्रधान आरक्षक की हत्या की गई है। इस संबंध में पुलिस उसकी पत्नी से पूछताछ कर रही है। एएसपी रूपेश कुमार द्विवेदी के अनुसार प्रधान आरक्षक के गले की हड्डी टूटी हुई थी। इसके अलावा शरीर पर चोट के निशान भी मिले है। इस आधार पर हत्या का मामला दर्ज किया जाएगा।