3 लाख 38 हजार श्रमिक बसों और एक लाख 44 हजार ट्रेनों से वापस आये

      उज्जैन। मध्यप्रदेश के विभिन्न प्रदेशों में फँसे 4 लाख 82 हजार श्रमिक अब तक वापस आ चुके हैं। इनमें से 3 लाख 38 हजार श्रमिक बसों से और एक लाख 44 हजार ट्रेनों से आये हैं। अब तक गुजरात से एक लाख 98 हजार, राजस्थान से एक लाख 5 हजार और महाराष्ट्र से एक लाख 10 हजार श्रमिक वापस लाये गये हैं। इसके अलावा गोवा, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, केरल, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु एवं तेलंगाना से भी श्रमिक आये हैं।


      अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल-रूम आई.सी.पी. केशरी ने बताया है कि श्रमिकों को लेकर अभी तक मध्यप्रदेश आ चुकी ट्रेनों में मुख्य रूप से महाराष्ट्र से 32, गुजरात से 27, हरियाणा से 15, तेलंगाना से 7, पंजाब से 5, कर्नाटक से 3, गोवा से 3, तमिलनाडु, केरल, राजस्थान और दिल्ली से 2-2 एवं जम्मू से एक ट्रेन शामिल हैं। शुक्रवार को 4 ट्रेन आयेंगी।


      एक हजार बसें और लगाई गईं - दिनांक 21 मई से प्रदेश की सीमा पर आ रहे अन्य प्रदेश के श्रमिकों को बस से उत्तर प्रदेश सीमा तक पहुँचाने के लिये आज से एक हजार बसें और लगा दी गई हैं।


      बड़ी बीजासन से 294 बसों से 13 हजार श्रमिक रवाना - बड़वानी जिले के बड़ी बीजासन (सेंधवा) से 21 मई को 294 बसों से 13 हजार से अधिक श्रमिकों को उनके गंतव्य स्थलों की ओर रवाना किया जा चुका है। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र से आ रहे दूसरे प्रदेशों के श्रमिकों को सीमावर्ती राज्य की सीमा तक भेजने का कार्य लगातार जारी है। अभी तक एक लाख से अधिक श्रमिकों को 2351 बसों से भेजा जा चुका है।


Comments
Popular posts
एमपी की पहली राजनीतिक पार्टी जिसमें शामिल सिर्फ पढ़े-लिखे, युवा और अनुभवी प्रशासनिक अधिकारी
Image
टूना टेकरा, कांडला में दीनदयाल बंदरगाह पर पीपीपी मोड के तहत मेगा कंटेनर हैंडलिंग का अनुबंध हिंदुस्तान इंफ्रालॉग प्रा. लिमिटेड (डीपी वर्ल्ड) के साथ
Image
उद्योग विभाग के सहायक प्रबंधकों को बड़नगर एवं महिदपुर में कार्य करने हेतु आदेश जारी
उज्जैन बहुचर्चित मुजीब लाला हत्याकांड केस मे राजेंद्र चौधरी कोर्ट से बरी
Image
भैरवगढ़ प्रिंट का काम कर रहा स्वसहायता समूह अपने उत्पाद अमेजन पर बेचेगा
Image