राजस्थान बॉर्डर पर फसे 600 से अधिक मजदूरों को लाने के लिए बसे रवाना

  • सांसद अनिल फिरोजिया ने मुख्यमंत्री से बात कर मामले से करवाया था अवगत

  • कलेक्टर को तत्काल मजदूरों को लाने को दिए थे निर्देश

  • फसे मजदूरों की भोजन व्यवस्था भी करवाई


      उज्जैन। सांसद अनिल फिरोजिया के निज सचिव प्रकाश जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि राजस्थान मध्य्प्रदेश की सीमा पर फसे 600 से अधिक मजदूरों को अपने घर तक पहुचाने के लिए सांसद अनिल फिरोजिया द्वारा किये गए प्रयाश सार्थक हो गए हैं। प्रशासन ने सोमवार देर शाम वहां फसे मजदूरों को निकालने के लिए बसों को भेजने का काम शुरू कर दिया है। दरसल तीन दिन पहले सांसद अनिल फिरोजिया के सहायक प्रकाश जैन को  सूचना मिली थी कि क्षेत्र के 600 से ज्यादा मजदूर राजस्थान मध्य्प्रदेश की सीमा नया गाँव पर फसे हैं। इस मामले में सांसद अनिल फिरोजिया को अवगत करवाने के बाद सांसद फिरोजिया ने मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बातचीत की थी। इसके साथ ही उज्जैन कलेक्टर शशांक मिश्रा को फसे मजदूरों को लाने के निर्देश दिए थे। इसके बाद प्रशासन हरकत में आया और सोमवार को नागदा से बसों को पहुचाने का दौर शुरू हो गया है।


राजस्थान के मजदूरों को यहां से ले जा रहे
      राजस्थान के मजदूर जो जिले में फसे थे ऐसे लगभग 50 से अधिक मजदूरों को यहां से दो बसों में भरकर राजस्थान पहुचाया गया है। इसके पहले इन सभी का मेडिकल परीक्षण भी किया गया। ये बस मंगलवार को नया गाव राजस्थान ने यहां के 600 से अधिक मजदूरों को लेकर चलेगी।
 
सांसद तीन दिन तक रहे संपर्क में
      मामले जानकारी मिलने के बाद सांसद अनिल फिरोजिया ओर उनके सहियोगी तीन दिन तक मजदूरों के संपर्क में रहे। इस दौरान अधिकांश श्रमिकों के भोजन की व्यवस्था भी सांसद ने वहां के स्थानीय प्रशासन व अन्य लोगों से बात कर करवाई थी।

अन्य प्रदेशों में फसे लोगों को लाने के लिए भी प्रयास
      सांसद फिरोजिया ने इस मजदूरों के साथ ही अब अन्य प्रदेशों में फसे मजदूरों को भी लाने के लिए भी प्रयाश तेज कर दिए हैं। संभवता इस जल्द ही अन्य प्रदेशों के मजदूर भी जल्द ही अपने घरों तक पहुचेंगे।