मानव सेवा की अनूठी मिसाल

  • मानव सेवा की अनूठी मिसाल बनी केथोलिक चर्च की सिस्टर्स

  • एक हजार से ज्यादा मास्क बना कर पुलिस और नगर निगम को  सौंपे



     उज्जैन। कोरोना संक्रमण काल मे हर वर्ग, हर समाज के लोग कोरोना योद्धाओं को हर संभव सहयोग कर रहे हैं वहीं उज्जैन धर्मप्रान्त के अंतर्गत स्थानीय क्रिश्चियन समाज की सिस्टर्स मानसिक दिव्यांग बच्चों की देखभाल के साथ-साथ  मास्क बनाने और उन्हें जरूरतमंदों तक पहुंचाने का कार्य कर रहीं है।
       उल्लेखनीय है कि लॉक डाउन के दौरान मनोविकास समर्थ सेंटर में  रहने वाले 8-10 ऐसे  मानसिक दिव्यांग बच्चे  जो परिवहन के साधन बन्द हो  जाने के कारण अपने-अपने गृह नगर नही जा सके, उनकी देखभाल के साथ-साथ  समर्थ सेंटर, पुष्पा मिशन हॉस्पिटल, सेंट मेरी कॉन्वेंट स्कूल आदि में  सेवारत   सिस्टर्स ने 1000 से अधिक मास्क बनाये हैं। सिस्टर्स के द्वारा बनाये गए मास्क विशब सेबास्टियन वडकेल ने आज पुलिस विभाग के अधिकारियों को सौपे।  इस सेवाकार्य के साथ ही क्रिश्चियन समाज द्वारा जरूरतमंद गरीब परिवारों को खाद्यन्न सामग्री भी वितरित की जा रही है।
      उज्जैन डायसिस के विशब सेबास्टियन वड़क्केल ने बताया कि इस सेवा कार्य मे क्रिश्चियन समाज की कृपा वेलफेयर सोसायटी, मध्यप्रदेश विकलांग सहायता समिति एवं निर्मला चर्च चंदेस्सेरी की सिस्टर्स ने  भरपूर योगदान दिया है।  
        सर्वधर्म समभाव की भावना के साथ संकट की इस घड़ी में उज्जैन धर्मप्रान्त के क्रिश्चियन समाज का यह योगदान निश्चित ही अविस्मरणीय होगा।