14 अप्रैल तक के ई-टिकट अपने-आप कैंसल हो जायेगें और राशि सीधे आपके खाते में पहुँचेगी
      भोपाल। रेलवे ने यात्रियों से कहा है कि वे अपना 24 मार्च से 14 अप्रैल के बीच बनाया गया ई-टिकट कैंसिल न करें या करवाएं। इस अवधि के टिकट अपने आप कैंसिल हो जाएंगे और राशि सीधे आपके खाते में पहुंच जाएगी। जिन यात्रियों ने पर्सनल आईडी पर यह टिकट बनाए हैं, उनकी राशि 7 दिन के भीतर आईआरसीटीसी खाते में पहुंचा देगा। जबकि एजेंट के आईडी पर यदि यात्री का टिकट बना है, तब भी कैंसिलेशन अपने आप होगा और राशि एजेंट के खाते में पहुंचेगी। यह राशि यात्री एजेंट से ले सकेगा या अन्य कोई टिकट बनवाने पर एडजस्ट भी करवा पाएगा।



      आईआरसीटीसी के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि यात्रियों की सहूलियत के लिए उन्हें यह ऑप्शन दिया गया है कि वे लॉक डाउन अवधि के बीच का ई-टिकट कैंसिल नहीं करेंगे, तब भी वह अपने आप कैंसिल हो जाएगा और पैसा यात्री के अकांउट में ट्रांसफर होगा। गौरतलब है कि रेलवे ने लॉकडाउन अवधि के दौरान बुक किए गए ई-टिकटों व विंडो टिकट को कैंसिल करने के लिए नियमों को शिथिल किया है।


काउंटर से ज्यादा बनते हैं ई-टिकट
यदि ई-टिकट का आंकड़ा देखा जाए, तो यह रेलवे स्टेशनों के रिजर्वेशन काउंटरों के मुकाबले कहीं ज्यादा होता है। भोपाल व हबीबगंज स्टेशनों के काउंटर से जहां क्रमश: 3000 से 3500 तक रिजर्व टिकट बनते हैं। वहीं ई-टिकट का आंकड़ा इससे दो गुना और उससे ज्यादा तक होता है।



Comments