साइकिल से ही दफ्तर जायें अधिकारी


      राजस्थान के परिवहन मंत्री ने अपने विभाग के कर्मचारियों के लिए एक खास आदेश जारी किया है, जिसके तहत कर्मचारियों को अब महीने के पहले दिन बिना वाहन दफ्तर आना होगा। इस पहल को जल्द ही सभी विभागों के लिए लागू करने का विचार है।


राजस्थान के परिवहन और सैनिक कल्याण मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने अपने विभाग के कर्मचारियों के लिए महीने के पहले दिन को 'नो व्हीकल डे' घोषित किया है।


नो व्हीकल डे
मंत्री के साथ ही विभाग के करीब 20 कर्मचारी बिना वाहन के दफ्तर पहुंचे। मंत्री के अनुसार यदि महीने के पहले दिन अवकाश होता है, तो अगले दिन को 'नो व्हीकल डे' माना जाएगा।


प्रदूषण रोकने के लिए पहल
मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के अनुसार उनकी यह पहल सूबे के प्रदूषण में कमी लाने के लिए की गई है। गौरतलब है कि राजस्थान की गहलोत सरकार 'निरोगी राजस्थान' पहल पर काम कर रही है, इसके तहत सरकार कई तरह की योजनाओं को जमीन पर उतारने का काम कर रही है।


विभाग के कर्मचारी नही ले रहे थे गंभीरता से
यह पहल मंत्री ने काफी पहले शुरू कर दी थी, लेकिन विभाग के कर्मचारी इसे गंभीरता से नहीं ले रहे थे, जिसके बाद मजबूरन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास को यह आदेश जारी करना पड़ा। मंत्री के अनुसार अगर यह प्रयोग विभाग में सफल रहता है तो इसे सरकार के अन्य विभागों में भी गंभीरता से लागू करने पर विचार किया जाएगा।


कुछ विशेष परिस्थितियों में मिलेगी छूट
इस पहल के तहत कुछ विशेष परिस्थितियों में छूट की भी व्यवास्था की गई है, मसलन दिव्यांग औरबीमारी से पीड़ित कर्मचारियों को इस नियम में छूट मिलेगी, हालांकि पहल को आगे बढ़ाते हुए मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने महीने के पहले दिन खुद साइकल पर बैठकर कार्यकाल आने का निर्णय लिया है।


मंत्री की यह पहल फिलहाल इसे लेकर विभाग के कर्मचारियों के प्रदर्शन पर टिकी हुई है, लेकिन अगर यह पहल सफल रहती है तो इसे सूबे के सभी विभागों के लिए लागू कर दिया जाएगा।


Popular posts
ऑटो पार्ट रिटेलर्स और वर्कशाप की दिक्कतें अब दूर हुईं; ऑटोमोबाइल सर्विस प्रोवाइडर गोमैकेनिक ने वापी में नया स्पेयर पार्ट्स फ्रैंचाइज़ी आउटलेट शुरू किया
Image
“कॉमेडी मेरे लिए एक नया क्षेत्र है” : मनोज बाजपेयी
Image
महाकाल दर्शन हेतु महाकाल एप्प की लिंक एवं वेब साइट
Image
देश की एम्प्लॉयी फ्रेंडली कंपनी में शुमार हुआ पीआर 24x7; फीमेल स्टाफ के मासिक धर्म के लिए उठाया सार्थक कदम
Image
‘‘एक महिला को एक महिला से बेहतर कोई और नहीं समझ सकता’’, यह कहना है एण्डटीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं’ की तन्वी डोगरा का
Image