शासकीय योजनाओं का क्रियान्वयन होने से हजारों लोग हुए लाभान्वित

      उज्जैन। वर्तमान सरकार का एक वर्ष पूरा हो गया है। इस छोटी-सी अवधि में राज्य शासन के निर्देश अनुसार उज्जैन जिले में विभिन्न विभागों द्वारा जहां विकास कार्यों के नये आयाम स्थापित किये गये हैं, वहीं लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण पर विशेष ध्यान देते हुए जिले में हजारों लोगों को लाभान्वित किया गया है। जिले में चाहे बाल हृदय उपचार योजना हो या बाल श्रवण योजना, आयुष्मान निरामय योजना या फिर परिवार कल्याण और टीकाकरण कार्यक्रम, सभी में प्रभारी मंत्री सज्जनसिंह वर्मा के नेतृत्व में जिले ने स्वयं का अग्रणी साबित किया है।


      उज्जैन जिले में प्रसूति सहायता योजना के तहत मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा में कुल 9281 श्रमिकों को छह करोड़ 13 लाख 36 हजार रुपये का भुगतान किया गया है। इस योजना के तहत पंजीकृत श्रमिक महिलाओं अथवा पंजीकृत श्रमिक पुरूषों की पत्नियों को गर्भावस्था के दौरान चार प्रसव-पूर्व जांच कराने पर चार हजार रुपये एवं शासकीय अस्पताल में प्रसूति कराने पर 12 हजार रुपये प्रदान किये जाते हैं। इसी तरह जननी सुरक्षा योजना के अन्तर्गत 15 हजार 300 प्रसूता महिलाओं को कुल तीन करोड़ 60 लाख रुपये की अधिक राशि की सहायता उपलब्ध कराई गई है।


आयुष्मान भारत निरामय योजना में 1715 मरीजों का उपचार हुआ
      योजना अन्तर्गत एक वर्ष में प्रत्येक चिन्हित परिवार को पांच लाख रुपये का नि:शुल्क स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया जाता है। पात्र परिवार अपना आयुष्मान कार्ड जिला चिकित्सालय स्थित आयुष्मान कक्ष क्रमांक-6 में आकर बनवा सकते हैं। कार्ड बनवाने के लिये परिवार समग्र आईडी, राष्ट्रीय खाद्य पर्ची, राशन कार्ड, आधार कार्ड, मतदाता परिचय-पत्र या अन्य कोई पहचान-पत्र लेकर आ सकते हैं। इस वर्ष योजना अन्तर्गत्‍ 1715 मरीजों का गंभीर बीमारियों ने नि:शुल्क उपचार कराया गया।


पोषण पुनर्वास केन्द्र में 1510 कुपोषित बच्चे उपचारित 
      उज्जैन जिले में शिशु स्वास्थ्य पोषण योजना के अन्तर्गत गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती करके 14 दिवस तक उपचार दिया जाता है। बच्चों को आवश्यक औषधियां, चिकित्सकीय परामर्श अनुसार आहार प्रदान किया जाता है। उज्जैन जिले में कुल आठ पोषण पुनर्वास केन्द्र संचालित हैं। पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती करवाने पर बच्चे की मां को क्षतिपूर्ति के रूप में 120 रुपये प्रतिदिन के मान से 14 दिन की कुल राशि 1680 रुपये एवं आने-जाने हेतु 100 रुपये किराये का दिया जाता है। जिले में योजना अन्तर्गत अब तक 1510 कुपोषित बच्चों को उपचार प्रदान किया गया है।


अस्पतालों में चौबीस घंटे सभी औषधियां एवं नि:शुल्क जांच
      जनहित में राज्य शासन के निर्देश अनुसार नि:शुल्क औषधी वितरण योजना के अन्तर्गत जिला अस्पताल में 147 प्रकार की, सिविल अस्पताल में 131 प्रकार की, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर 107 प्रकार की, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर 71 प्रकार की, उप स्वास्थ्य केन्द्र पर 24 प्रकार की तथा ग्राम आरोग्य केन्द्र पर 16 प्रकार की दवाईयां नि:शुल्क प्रदान की जा रही हैं। इसी तरह नि:शुल्क जांच योजना के अन्तर्गत जिला स्तर पर 38 प्रकार की जांच, सिविल अस्पताल में 32 प्रकार की एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में 25 प्रकार की जांच नि:शुल्क उपलब्ध है। सभी शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में निर्धारित पैथालॉजी जांच, एक्स-रे, सोनोग्राफी आदि नि:शुल्क की जाती है।


33917 बच्चों का टीकाकरण हुआ 
      उज्जैन जिले में राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के अन्तर्गत पिछले एक वर्श में बच्चों में 10 जानलेवा बीमारियों से बचाव हेतु प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को सभी स्वास्थ्य संस्थाओं एवं पूर्व-नियोजित कार्यक्रम अनुसार आंगनवाड़ी केन्द्रों में टीकाकरण किया जाता है। जिले में एक वर्ष में कुल 33 हजार 917 बच्चों का टीकाकरण 10 जानलेवा बीमारियों पोलियो, टीबी, हैपेटाइटिस बी, काली खांसी, गलघोंटू, टिटनेस, दस्त रोग, निमोनिया, खसरा रूबेला एवं हिब से बचाव के लिये किया गया।


10888 मोतियाबिंद के ऑपरेशन हुए 
      दृष्टिहीनता नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत आंखों से जुड़ी सभी बीमारियों का नि:शुल्क ईलाज किया जाता है। जिले में मोतियाबिंद का ऑपरेशन नि:शुल्क किया जाता है। वृद्धजनों को मोतियाबिंद हो जाने से नेत्र की ज्योति कम हो जाती है और समय पर ऑपरेशन नहीं कराने पर अंधापन भी आ सकता है। जिले में अब तक 10 हजार 888 व्यक्तियों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया गया है।


      उज्जैन जिले में इसी तरह दस्तक अभियान, मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना एवं बाल श्रवण योजना के अन्तर्गत भी उल्लेखनीय कार्य किये जा रहे हैं। राज्य सरकार की मंशा अनुसार आरोग्य के क्षेत्र में जिला निश्चित रूप से अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ रहा है।


Popular posts
महाकाल दर्शन हेतु महाकाल एप्प की लिंक एवं वेब साइट
Image
ऑटो पार्ट रिटेलर्स और वर्कशाप की दिक्कतें अब दूर हुईं; ऑटोमोबाइल सर्विस प्रोवाइडर गोमैकेनिक ने वापी में नया स्पेयर पार्ट्स फ्रैंचाइज़ी आउटलेट शुरू किया
Image
पियाजियो व्ही।कल्सऔ ने जयपुर में राजस्था न के अपनी तरह के पहले इलेक्ट्रिक व्हीजकल (ईवी) एक्सेपीरियेंस सेंटर का उद्घघाटन किया
Image
देश की एम्प्लॉयी फ्रेंडली कंपनी में शुमार हुआ पीआर 24x7; फीमेल स्टाफ के मासिक धर्म के लिए उठाया सार्थक कदम
Image
‘‘एक महिला को एक महिला से बेहतर कोई और नहीं समझ सकता’’, यह कहना है एण्डटीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं’ की तन्वी डोगरा का
Image