कमलनाथ सरकार का एक साल, खस्ताहाल - अनिल फिरोजिया

       
       उज्जैन। कमलनाथ सरकार का एक वर्ष पूर्ण हुआ और सरकार इसे धूमधाम से एक साल बेमिसाल के रूप मे मना रही है, ये निर्लज्जता की परकाष्ठा है किसान आत्महत्या कर रहा है, बुआई के लिए खाद बीज की उपलब्धता नहीं है, यूरिया के लिए किसान लाइन लगाकर खड़ा है,युवा बेरोजगार घूम रहा है, महिलाए खुद को असुरक्षित महसूस कर रहीं, आपराधियों के होसले बुलंद है चारों और त्राहिमाम है और सरकार एक वर्ष पूर्ण होने का जश्न मना रही यह बात पत्रकारों से चर्चा करते हुए सांसद अनिल फिरोजीया ने कही। श्री फिरोजिया प्रदेश की कांग्रेस सरकार के एक वर्ष पूरे होने पर पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे, आपने कहा की इस एक वर्ष मे सरकार ने तीन कार्य अवश्य किए है पहला प्रदेश की जनता को धोका दिया, दूसरा भ्रष्टाचार को बड़ावा दिया और तीसरा प्रदेश की कानून व्यवस्था का सत्यानाश किया। यही कमलनाथ सरकार की एक वर्ष की उपलब्धि है।


       पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष बहादुर सिंह बोरमुंडला ने कहा की प्रदेश मे अतिवृष्टि से कई जिले प्रभावित हुए खेत तालाब बन गए फसलें बरबाद हो गई परंतु किसानों को मुआवजे की राशि प्राप्त नहीं हो पायी क्योंकि अधिकतर किसान कर्जमाफ के झूठे वादे के चलते फ्सल बीमे की किश्त जमा करने से वंचित रह गए और उन्हे फसल बीमे की राशि प्राप्त नहीं हो सकी।


       पूर्व सांसद डॉ चिंतामणि मालवीय ने कहा कि प्रदेश मे एक नहीं अपितु कई पावर सेंटर हैं जिसके चलते पूरे प्रदेश में अव्यवस्था देखने को मिल रही है।आपने कहा की दिग्विजय सिंह को प्रदेश बरबाद करने मे 10 वर्ष लगे थे वो ही कार्य द्रुतगति से कमलनाथ जी ने मात्र एक वर्ष मे ही कर दिया। तबादला उद्योग की परिणित अधिकारियों मे असुरक्षा के भाव के रूप मे स्पष्ट देखी जा सकती है। पत्रकारों को महापौर मीना जोनवाल व प्रदेश प्रवक्ता राजपाल सिंह सिसोदिया ने भी सम्बोधित किया। पत्रकार वार्ता में अशोक कटारिया, सचिन सक्सेना, पंकज चौहान, दिनेश जाटवा, गजराज सिंह झाला भी उपस्थित थे।