बिजली का बिल हाफ और कर्जा माफ

      उज्जैन। मध्य प्रदेश की वर्तमान सरकार को  एक  वर्ष पूर्ण हो चुके हैं। पिछले  एक  वर्ष में सरकार ने किसानों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को निरंतर प्रदर्शित किया है। चाहे वह ऋण माफी योजना हो या फिर बिजली के बिल आधे करने की बात हो ।हर मोर्चे पर सरकार सफल रही है। यही नहीं इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत घरों के बिजली के बिल भी कम रहे हैं ।


      किसान सरकार के निर्णय से न केवल खुश है बल्कि उनका मानना है कि आगे भी प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में किसानों के हित के काम होते रहेंगे। नागदा तहसील के ग्राम पिपलोदा के कृषक मोतीलाल पाटीदार बताते हैं कि इस बार अच्छी बारिश होने से उन्होंने 12 बीघा जमीन में गेहूं, दो बीघा में मटर और डेढ़ बीघा में लहसुन की खेती कर रहे हैं। वे बताते हैं कि खेती को मुनाफे का धंधा बनाने के लिए निश्चित रूप से प्रदेश की सरकार अच्छा काम कर रही है । उनका कहना  हैं कि उनका  40  हजार   का कर्ज माफ हो चुका है ।अब बिजली के बिल भी लगभग आधे आ रहे हैं। कृषक श्री मोतीलाल का सुझाव है कि प्रदेश सरकार को खाद बीज पर भी अधिक सब्सिडी दी जान देना चाहिए। मोतीलाल अपनी लहलहाती   फसल को देखकर खुश हैं  और  उन्म्मीद  से  है कि इस बार न केवल फसल अच्छी आएगी बल्कि उनकी उपज के दाम भी अच्छे मिलेंगे. कृषक  मोतीलाल कहते  है कि "बिजली का बिल हाफ और कर्जा माफ"  किसानों  को  और  क्या  चाहिए।