स्व.श्रीमती इंदिरा गाँधी के जन्मदिन पर गांवों में होंगी ‘प्रियदर्शिनी महिला ग्राम सभाएं’ जनपद पंचायतों के सीईओ को दिये निर्देश

उज्जैन। देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गाँधी के जन्म दिवस मंगलवार 19 नवम्बर को गांवों में 'प्रियदर्शनी महिला ग्राम सभाओं' का आयोजन किया जाएगा। जिले के प्रभारी मंत्री किसी एक गांव की ग्रामसभा में अनिवार्य रूप से अपनी भागीदारी दर्ज कराएंगे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा है कि राज्य सरकार के वचन-पत्र में महिला सशक्तिकरण के वचन को पूरा करने के उद्देश्य से प्रियदर्शनी ग्राम सभाओं का आयोजन किया जा रहा है।
ग्राम पंचायतों में 'महात्मा गांधी ग्राम सेवा केन्द्र' प्रारम्भ होंगे
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने कहा है कि 19 नवम्बर से प्रदेश की सभी ग्राम पंचायतों में "महात्मा गाँधी ग्राम सेवा केन्द्र'' भी प्रारम्भ किये जा रहे हैं। इन केन्द्रों में ग्राम पंचायत स्तर पर नागरिकों को सिंगलविंडो सिस्टम से शासकीय योजनाओं की जानकारी प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि ग्राम सेवा केन्द्रों में लगभग 23 हजार युवाओं को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में 20 दिसम्बर तक युवा ग्राम शक्ति समिति गठित की जाएगी।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नीलेश पारिख ने शासन के निर्देशों के परिपालन में उज्जैन जिले की समस्त जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को इस सम्बन्ध में दिशा-निर्देश जारी कर दिये हैं। उन्होंने जनपद पंचायतों के सीईओ को निर्देश दिये हैं कि अपनी-अपनी जनपद पंचायतों की प्रत्येक ग्राम पंचायतों में 19 नवम्बर को प्रियदर्शिनी महिला ग्राम सभा का आयोजन किया जाये। ग्राम सभा में महिलाओं के सामाजिक एवं आर्थिक विकास तथा उनके कल्याण से सम्बन्धित विषयों पर विस्तृत चर्चा की जायेगी तथा ग्रामीण महिलाओं के सर्वांगीण विकास से सम्बन्धित ग्राम विकास योजना तैयार करने की कार्यवाही करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये हैं।
ग्राम सभा की अध्यक्षता महिला सरपंच या महिला उप सरपंच अथवा उपस्थित सदस्यों की सहमति से ग्राम सभा क्षेत्र में स्थित वार्ड की महिला पंच या वरिष्ठ महिला सदस्य द्वारा कराई जाये। ग्राम सभा के कार्यक्रम की ग्राम पंचायतों के समस्त ग्रामों में डोंडी/मुनादी कराई जाये।