महाशिवरात्रि की पावन अवसर पेए -टीवी की राजेशए अनीता भाभी और यशोदा ने भारत के सबसे प्रतिष्ठित शिव मंदिरों में लिया आशीर्वाद




भारत के सबसे बड़े और पवित्र त्यौहारों में से एक महाशिवरात्रि मनाने के लिये एण्डटीवी के कलाकार कामना पाठक (राजेश, ‘हप्पू की उलटन पलटन’), विदिशा श्रीवास्तव (अनीता भाबी, ‘भाबीजी घर पर हैं’) और नेहा जोशी (यशोदा, ‘दूसरी माँ’) ने भगवान शिव के मंदिरों में जाकर दर्शन किया। विदिशा श्रीवास्तव (अनीता भाबी) ने विश्व-प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर के शिव महोत्सव में शामिल होने के लिये अपने होमटाउन वाराणसी की यात्रा की। कामना पाठक (राजेश सिंह) अपने होमटाउन इंदौर गईं और फिर उज्जैन में भगवान शिव के सबसे श्रद्धेय मंदिरों में से एक महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर के भव्य उत्सव में शामिल हुईं। नेहा जोशी (यशोदा) ने हरिद्वार के प्रसिद्ध शिव मंदिर शिव की पौड़ी जाकर आशीर्वाद लिया।

एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ में राजेश की भूमिका निभा रहीं कामना पाठक ने उज्जैन के महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग के विषय में बताते हुए कहा, ‘‘महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में महाशिवरात्रि का एक अनूठा उत्सव मनाया जाता है। इस समय मंदिर में नौ रातों का त्यौहार ‘नवरात्रि’ मनाया जाता है। इस समारोह को श्रृंगार कहा जाता है और महाकाल (शिव) को तरह-तरह से सजाया जाता है। चूंकि, मैं इंदौर में रही हूँ, इसलिये महाशिवरात्रि के भव्य उत्सव को मैंने कई बार देखा है। लेकिन फिर भी हर साल यहाँ आना और इसमें शामिल होना मुझे अच्छा लगता है। महाशिवरात्रि के दौरान शहर का माहौल अलग होता है। मेरा सौभाग्य था कि मैं इस साल भारत के सबसे श्रद्धेय मंदिरों में से एक का अनुभव और आशीर्वाद ले सकी। मैं अपनी जिन्दगी में हर नई शुरूआत के लिये भगवान शिव का आशीर्वाद लेती हूँ। मैं अपने होमटाउन इंदौर भी लौटी और अपने फेवरेट स्ट्रीट फूड्स के स्वाद चखे और अपने चहेते सराफा बाजार में शाॅपिंग की। इस ट्रिप के दौरान मैं इंदौर के अपने पुराने दोस्तों से भी मिली और बीते दिनों को याद किया।’’ एण्डटीवी के भाबीजी घर पर हैं में अनीता भाबी बनीं विदिशा श्रीवास्तव ने वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन किया और कहा, ‘‘महाशिवरात्रि का पवित्र त्यौहार पूरे देश मे उत्साह और भक्ति के साथ मनाया जाता है। लेकिन वाराणसी में इस त्यौहार की भव्यता अलग ही होती है, क्योंकि आखिरकार यह शिव की नगरी है। इस पवित्र त्यौहार को यहाँ पूरे विश्वास और भक्ति के साथ मनाया जाता है। इस साल मुझे अपने होमटाउन लौटने और बाबा काशी विश्वनाथ से आशीर्वाद लेने का मौका मिला है। इस अवसर को यादगार बनाने का इससे बेहतर तरीका मैं नहीं सोच सकती थी। मंदिर को खूबसूरती से सजाया गया था और आशीर्वाद लेने लाखों शिवभक्त आये थे। यह आयोजन एक दिन का नहीं होता है। काशी विश्वनाथ में दो भक्त शिव और पार्वती की वेश-भूषा में होते हैं और अपने साथ सभी को नचाते हैं। विभिन्न आयोजनों में उनके विवाह की दूसरी रस्मों को भी भव्यता से निभाया जाता है। वह सचमुच सपने जैसा अनुभव था। यह भव्य समारोह देखने लायक था और लाखों शिवभक्तों के साथ ‘‘हर हर महादेव’’ बोलना आध्यात्मिक अनुभव था। इसके अलावा मैं कुछ पुरानी यादों को जीने के लिये अपने घर और स्कूल भी गई थी। अपने फेवरेट स्टाल्स पर जाकर मैं अपनी फेवरेट डिशेज पर टूट पड़ी, जैसे कि टमाटर चाट, समोसा, कचैड़ी, जलेबी और मलइयो। यह महाशिवरात्रि मेरे लिये असली उत्सव थी। मैं प्रार्थना करती हूँ कि भगवान शिव हमें आशीर्वाद देते रहें और हम ‘भाबीजी घर पर हैं’ के दर्शकों का मनोरंजन करते रहें।’’

एण्डटीवी के ‘दूसरी माँ‘ में यशोदा की भूमिका निभा रहीं नेहा जोशी ने हरिद्वार के प्रसिद्ध शिव की पौड़ी मंदिर के दर्शन के विषय में बताते हुए कहा, ‘‘हरिद्वार में महाशिवरात्रि बड़े ही उत्साह से मनाई जाती है। और मेरा सौभाग्य है कि मैं इस पवित्र शहर में ऐसे जादुई पल की साक्षी बन सकी। मेरे दिन की शुरूआत गंगा आरती से हुई और फिर मैंने शिव मंदिर में जाकर आशीर्वाद लिया। मैंने प्रसिद्ध प्रकाशेश्वर महायात्रा भी देखी, जिसमें शिव के गण भूतों और राक्षसों के भेष में ‘बम-बम भोले’ का नारा लगा रहे थे और वह एक बेहतरीन अनुभव था। मैंने इस उत्सव के बारे में हमेशा सुना और तस्वीरें देखी थीं, लेकिन असल में इसे देखना सपने जैसा था। मैं आभारी हूँ और सभी को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं देती हूँ!’’

देखिये ‘दूसरी माँ’ रात 8:00 बजे, ‘हप्पू की उलटन पलटन’ रात 10:00 बजे और ‘भाबीजी घर पर हैं’ रात 10:30 बजे, हर सोमवार से शु क्रवार सिर्फ एण्डटीवी पर!

Comments
Popular posts
राजाधिराज भगवान श्री महाकाल महाराज निकले राजसी ठाठ बाट से; देखें शाही सवारी लाइव
Image
हड़ताल को लेकर सीएम यादव ने दिए निर्देश
Image
अवंतिकानाथ राजाधिराज भगवान महाकाल राजसी ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले; भगवान महाकाल ने भक्तों को चारों रूप में दिये दर्शन
Image
मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा....जानें, कैसे प्रसिद्ध हुआ मोक्षदायिनी नदी का नाम क्षिप्रा ?
Image
श्री महाकालेश्वर मन्दिर की दान पेटियों से आय की गणना एवं कलेक्शन हेतु मंदिर प्रबंध समिति द्वारा तीन बैंक है अधिकृत
Image