धन्वन्तरि चिकित्सालय में स्वर्णप्राशन

उज्जैन। शासकीय धन्वन्तरि आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय के प्रधानाचार्य एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ.जे.पी. चौरसिया ने बताया कि चिकित्सालय के शिशु एवं बालरोग विभाग के अंतर्गत 12 दिसम्बर सोमवार को जन्म से लेकर 10 वर्ष तक के बच्चों को स्वर्णप्राशन कराया जाएगा। शिशु के मेधा, बुद्धि व बलवर्धन तथा बार-बार होने वाले संक्रामक रोगों से बचाव के लिए अपने बच्चों को स्वर्णप्राशन अवश्य करावें । स्वर्णप्राशन माता-पिता द्वारा अपने बच्चों को दिया गया एक अनुपम उपहार है। शिशु रोग विशेषज्ञ एवं प्रभारी अधिकारी डॉ. गीता जाटव ने आगे बताया कि चिकित्सालय के शिशु रोग विभाग में शिशुओं तथा बालक-बालिकाओं के उत्तम स्वास्थ्य एवं दिनचर्या, ऋतुचर्या तथा उचित आहार-विहार हेतु शिशु रोग विशेषज्ञों द्वारा निःशुल्क परामर्श दिया जाता है तथा प्रत्येक मंगलवार को शिशु टीकाकरण भी सम्पादित कराया जाता है। विभाग के अंतर्गत बच्चों के विभिन्न रोग जैसे कुपोषण, उदर कृमि, एनीमिया, सेरिब्रलपाल्सी, मेंटल रिटार्डेशन, शैय्या मूत्र, ब्राकाईटिस एलर्जी आदि रोगों का आयुर्वेदीय पद्धति से उपचार किया जाता है। इसी क्रम में प्रत्येक माह एक बार स्वर्ण प्राशन कार्यक्रम सम्पन्न होता है। चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ.ओ.पी. शर्मा तथा आर. एम. ओ. डॉ. हेमंत मालवीय के निर्देशन में कर्मचारियों तथा छात्र/छात्राओं के सहयोग से स्वर्णप्राशन कार्यक्रम 12 दिसम्बर सोमवार को प्रातः 10 से प्रारम्भ होगा। उक्त जानकारी प्रधानाचार्य डॉ. जे.पी. चौरसिया तथा मीडिया प्रभारी डॉ. प्रकाश जोशी ने दी।

Comments
Popular posts
एमपी की पहली राजनीतिक पार्टी जिसमें शामिल सिर्फ पढ़े-लिखे, युवा और अनुभवी प्रशासनिक अधिकारी
Image
टूना टेकरा, कांडला में दीनदयाल बंदरगाह पर पीपीपी मोड के तहत मेगा कंटेनर हैंडलिंग का अनुबंध हिंदुस्तान इंफ्रालॉग प्रा. लिमिटेड (डीपी वर्ल्ड) के साथ
Image
जल्दी करें; वॉइस ऑफ सीनियर्स के रजिस्ट्रेशन्स की लिंक कल तक ही खुली है
Image
उद्योग विभाग के सहायक प्रबंधकों को बड़नगर एवं महिदपुर में कार्य करने हेतु आदेश जारी
कैटरीना कैफ ने के ब्यूटी की पहली किस प्रूफ मैट लिक्विड लिपस्टिक लॉन्च की
Image