एमवे इंडिया का बच्चों को स्वस्थ जीवन शैली अपनाने के लिए प्रोत्साहन

  • ‘स्वस्थ तन स्वस्थ मन’ अभियान शुरू किया
  • अभियान में वंचित बच्चों के बीच स्वास्थ्य, पोषण और स्वच्छता को बढ़ावा देने की पहल शामिल है


लो
गों को बेहतर, स्वस्थ जीवन जीने में मदद करने के अपने दृष्टिकोण के अनुरूप ही एक उद्यमी-नेतृत्व वाली स्वास्थ्य और कल्याण कंपनीएमवे इंडिया भारत भर में अपने नौ एनजीओ पार्टनर्स के सहयोग से वंचित बच्चों के बीच स्वस्थ जीवन, पोषण और स्वच्छता प्रथाओं को बढ़ावा दे रही है। अपने सीएसआर कार्यक्रम ‘प्रोजेक्ट सनराइज’ के तहत अपनी प्रतिबद्धता के एक हिस्से के रूप मेंनया अभियान 'स्वस्थ तन स्वस्थ मन'स्वास्थ्य और कल्याण पर केंद्रित मजेदार गतिविधियों के साथ युवा दिमागों को जोड़ने पर केंद्रित है।

प्रोजेक्ट सनराइज के माध्यम सेएमवे इंडिया वंचित बच्चों को शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता तक पहुंच प्रदान करके उनके उत्थान और समग्र कल्याण का समर्थन करती रही है। अभियान 'स्वस्थ मन स्वास्थ्य तन'इसी उद्देश्य से जुड़ा हुआ है। अभियान के एक हिस्से के रूप मेंएमवे इंडिया ने एक लर्निंग वर्कशॉप का आयोजन किया, जिसमें योग और पोषण व व्यक्तिगत स्वच्छता संबंधी आदतों पर एक सत्र शामिल था। इसके अलावा वर्कशॉप में मनोरंजक गतिधिविधियों को जोड़ते हुएबच्चों के लिए प्रश्नोत्तरी का आयोजन भी किया गया और मिट्टी व आटे का उपयोग करके पौष्टिक भोजन की थालियांतैयार की गईं। इन गतिविधियों को जागरूकता फैलाने, बच्चों को स्वस्थ जीवन शैली जीने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य सेतैयार किया गया है।

इस पहल के बारे में बात करते हुए एमवे इंडिया केसीनियर वाइस प्रेजिडेंट, नॉर्थ एंड साउथ रीजनश्री गुरशरण सिंह चीमाने कहा,"बच्चे हमारे देश का भविष्य और कल के नागरिक हैं। उन्हें पूरी देखभाल के साथ पोषित करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। वर्षों से एमवे इंडिया ने भारत भर में वंचित बच्चों के समग्र विकास में उनकी सहायता करके उनके जीवन को काफी समृद्ध किया है। हमारा उद्देश्य उनके समग्र विकास और कल्याण को विकसित करने व सक्षम करने के लिए उन्हें एक मंच प्रदान करना है। हमारे प्रोजेक्ट सनराइज के एक भाग के रूप मेंहर सालहम अपने एनजीओ पार्टनर्स के सहयोग से वंचित बच्चों के लिए स्वास्थ्य और कल्याण पर केंद्रित कई पहलों का आयोजन करते हैं, ताकि उन्हें मौजूदा अभूतपूर्व दौर में हमेशा बदलती दुनिया का सामना करने में सक्षम बनाया जा सके। कल्याण पर हमारे विशेष ध्यान देने को देखते हुएहमारा लक्ष्य स्वास्थ्य को बढ़ावा देना है और बच्चों के बीच स्वच्छता व बहुत कम उम्र में आत्म-देखभाल के महत्व को पैदा करना है। हमें विश्वास है कि ये पहल इन बच्चों के विकास में एक लंबा सफर तय करेंगी।"

एमवे ने 2008 में शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता के क्षेत्रों में वंचित बच्चों की मदद करने और उन्हें सशक्त बनाने की दृष्टि से प्रोजेक्ट सनराइज की शुरुआत की थी। इस परियोजना के तहतकंपनी वर्तमान में बेंगलुरू, हैदराबाद, भोपाल, रायपुर, मुंबई, कोलकाता, भुवनेश्वर, लुधियाना और दिल्ली सहित देश भर में 12 एनजीओ पार्टनर्स के साथ काम करती है। इसके अलावाएमवे अपने #fightagainstmalnutrition अभियान के माध्यम से 5 साल से कम उम्र के बच्चों में कुपोषण के कारण जानने और उनके उन्मूलन के लिए लगातार काम कर रही है। अभियान माताओं, देखभाल करने वालों और समुदायों में बड़े पैमाने पर जागरूकता व व्यवहारिक बदलाव लाने पर केंद्रित है।

Comments
Popular posts
काश! मैं भी बॉस होता के सपने को साकार करता है पीआर 24x7
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत
Image
ज़ी बॉलीवुड पर होगा जश्न का धमाल क्योंकि 24 जनवरी को शानदार फिल्म ‘विश्वात्मा’ पूरे कर रही है 30 साल
Image
एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने सड़क सुरक्षा पर शुरू किया एक विशिष्ट और अनूठा जागरूकता अभियान
Image
इंतजार की घड़ियाँ खत्म; भूषण कुमार का 'वफा ना रास आई' हुआ रिलीज, जुबिन नौटियाल द्वारा गाए गए इस सॉन्ग में हिमांश कोहली और आरुषि निशंक ने किया है अभिनय
Image