समाज में समावेशी, जलवायु-अनुकूलित और टिकाऊ अर्थव्यवस्था की दिशा में सॉलिडरिडाड का एक असरदार कदम


भा
रतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर), भारतीय सोयाबीन अनुसंधान संस्थान (आईआईएसआर), केंद्रीय कृषि इंजीनियरिंग संस्थान, रेपसीड-सरसों अनुसंधान निदेशालय और स्थानीय केवीके और कई अन्य संस्थानों के साथ काम करते हुए, सॉलिडरिडाड, एक ग्लोबल सिविल सॉसायटी ऑर्गनायज़ेशन, पांच महाद्वीपों तथा 40 से अधिक देशों में 50 से अधिक वर्षों के अनुभव के साथ, स्वतंत्र रूप से आठ सूपर्वाइज़ड रीजेनल ऑफिस में विकसित समाधानों के द्वारा वंचित समुदायों को अधिक लाभ पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है।

सॉलिडरिडाड "लैब टू लैंड्स" के माध्यम से अच्छी टेक्नोलॉजी के ट्रांसफर की सुविधा प्रदान करता है, साथ ही डिजिटल टूल्स मे माध्यम से टारगेटेड कृषक परिवारों को बेहतर उपज, आय और पोषण भी प्रदान करता है। सॉलिडरिडाड, भारत के मध्य प्रदेश और राजस्थान राज्य में लगभग 60,000 किसानों (1,00,000 हेक्टेयर) के साथ एकीकृत कार्यक्रम के माध्यम से सतत विकास कर रहा है। यह कार्यक्रम सतत प्रयास के साथ-साथ सामर्थ्य में सुधार करते हुए खेतिहर किसानों के कृषि उत्पादकता में गिरावट, प्राकृतिक संसाधनों में कमी से संबंधित प्रमुख विकास समस्याओं को दूर करने के लिए बहुआयामी सोच को बढ़ावा देते हैं।

सॉलिडरिडाड कार्यक्रम प्रमुख डॉ सुरेश मोटवानी का कहना है कि, "हम सोयाबीन, सब्जियां टमाटर सहित) और अन्य कृषि उत्पादों में फसल विविधीकरण को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। कुल 15 किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) और 200 से अधिक ग्रामीण उद्यमियों को बेहतर गुणवत्ता और आसान उपलब्धता वाले इनपुट, बीज और अधिक लाभदायक बाजारों तक पहुंचाने की सुविधा देकरअर्थव्यवस्था को और अधिक समर्थित और मजबूत बना रहे हैं”।

भारत में विभिन्न फील्ड प्रोग्राम के माध्यम से सॉलिडरिडाड अपनी मजबूत पकड़ बना रखी है। सॉलिडरिडाड खेती की समझ बढ़ाने हेतु 29 सितंबर को "स्मार्ट कृषि परियोजना" और "अच्छी खेती - अच्छा भोजन", मोबाइल ऐप सॉलिडरिडाड ने टीएसए 20:20 मेहता मॉडल, वीडियो सॉलिडरिडाड- टीएसए 20:20 मेहता मॉडल इत्यादि कार्यक्रम के लॉन्च की घोषणा की है।

सॉलिडरिडाड की ओर से मुख्य अतिथि पद्म श्री डॉ एमएच मेहता, ट्रस्टी, सॉलिडरिडाड क्षेत्रीय विशेषज्ञता केंद्र और गुजरात कृषि विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति, श्री जेरोएन डगलस, सॉलिडरिडाड नेटवर्क के कार्यकारी निदेशक, हमारे प्रबंध निदेशक, डॉ. शताद्रु चट्टोपाध्याय, और वोडा सीएसआर फंड के प्रमुख डॉ निलय रंजन उपस्थित रहेंगे। इसके अलावा, कई प्रतिष्ठित वक्ताओं के साथ-साथ सरकारी और निजी क्षेत्रों के अधिकारी भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। श्री बार्ट डी जोंग, महावाणिज्य दूतावास, मुंबई में नीदरलैंड के महावाणिज्य दूतावास कार्यक्रम के विशेष अतिथि होंगे।

Comments
Popular posts
अवंतिकानाथ राजाधिराज भगवान महाकाल राजसी ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले; भगवान महाकाल ने भक्तों को चारों रूप में दिये दर्शन
Image
मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा....जानें, कैसे प्रसिद्ध हुआ मोक्षदायिनी नदी का नाम क्षिप्रा ?
Image
वार्षिक विवरणी ऑनलाइन दाखिल करने के लिए पंजीकरण अनिवार्य
Image
कुक्कू ओटीटी ऐप ने अपने एस्टीम्ड सब्सक्राइबर्स के लिए नए साल में एंटरटेनिंग वेब सीरीज की कतार लगाई
Image
श्री महाकालेश्वर मंदिर में संध्या आरती पश्चात होलिका का दहन हुआ संपन्‍न
Image