हरी यमुना सहयोग समिति द्वारा यमुना तटों पर द्वारा पौधरोपण

नई दिल्ली। 
हरि यमुना सहयोग समिति हिमाचल प्रदेश  द्वारा आज पौंटा साहिब सिरमौर में पावन यमुना नदी के तट पर एक बिशाल पौधरोपण अभियान की शुरुआत गीता ज्ञान संसथान कुरुक्षेत्र  के स्वामी  ज्ञानानंद जी महाराज  द्वारा की गयी जिसके अन्तर्गत  पौंटा साहिब में यमुना घाट से हरियाणा में हथनीकुण्ड 20 किलों मीटर यमुना तट पर इस मानसून सीजन के दौरान लगभग पचास हज़ार पौधा रोपण किया जायेगा। इस पौधरोपणं अभियान में हिमाचल के ऊर्जा मन्त्री श्री सुख राम चौधरी और हरयाणा के बन मन्त्री कँवर पाल ने भी पौधारोपण करके अपनी सरकारों की इस अभियान में पूरी सहायता और सहयोग प्रदान करने की प्रतिबद्धता दोहराई। आज पौंटा साहिब  के यमुना तट  पर में लगभग पांच सौ पौधरोपण किया गया।  आज जिस 1.5 किलो मीटर क्षेत्र में पौधरोपण किया गया उसे पहले हरि   यमुना सहयोग समिति के सवयंसेवको और स्थानीय स्कूलों के बच्चों ने प्लास्टिक से मुक्त किया। इस तट से लगभग दो टन प्लास्टिक बैग/कचरा निकला गया।
गीता ज्ञान संसथान कुरुक्षेत्र  के स्वामी  ज्ञानानंद जी महाराज ने यमुना नदी तटों के समग्र विकास के लिए सम्बंधित  उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश  राज्यों पर आधारित यमुना बिकास बोर्ड गठित करने की मांग की ताकि पौंटा साहिब से प्रयागराज तक यमुना तटों को एक मॉडल के रूप में बिकसित किया जा सके।
हरि यमुना सहयोग समिति के राष्ट्रिय उपाध्यक्ष श्री महिन्द्र शर्मा ने बताया की उनके संस्थान ने यमुना नदी के तटों  को हरा भरा करने के लिए पिछले तीन सालों से शुरू किये गए पौधरोपण अभियान में अब तक लगभग 1.5 लाख पौधरोपण किया है। उन्होंने कहा की इस पौधरोपण अभियान में यमुना नदी के तट पर  हरियाणा में पड़ने बाले रिज़र्व फारेस्ट कलेसर  में भी पौधरोपण किया जायेगा। उन्होंने कहा की हरियाणा के बन एबं पर्यटन  मंत्री श्री   कँवर पाल ने  हरियाणा में  पड़ने बाले यमुना नदी के तटीय क्षेत्रों में पौधरोपण के लिए सभी जरूरी सुबिधाये प्रदान करने का आसबासन दिया है।
हरि यमुना सहयोग समिति के राष्ट्रिय उपाध्यक्ष श्री महिन्द्र शर्मा ने बताया की उनके संस्थान ने सरकार से  नर्मदा नदी  के परिक्रमा मार्ग  की तर्ज पर पौंटा साहिब हिमाचल प्रदेश से प्रयागराज उत्तर प्रदेश  तक यमुना पथ बनाने की मांग की है ताकि श्रद्धालु इस मार्ग पर चल कर धार्मिक यात्रा कर सकें तथा आध्यात्मिक शांति प्राप्त कर सके। उन्होंने कहा इस यमुना पथ को धार्मिक पर्यटन के तौर पर भी बिकसित किया जाना चाहिए ताकि आध्यात्मिक और मानसिक शान्ति की तलाश में आये बिदेशी पर्यटकों के लिए यह मॉडल स्थल के रूप में प्रस्तुतु किया जा सके।
हिमाचल के ऊर्जा मंत्री चौधरी सुख राम ने कहा की यमुना नदी के तटों को साफ सुथरा रखने , तटों पर पौधरोपण करने और धार्मिक श्रद्धलुओं को यमुना तटों पर पर्याप्त सुबिधायें बिकसित करने के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार ने पर्याप्त बजट प्राबधान किया है। उन्होंने कहा की राज्य सरकार यमुना नदी तटों पर पर्याप्त सुबिधायें बिकसित करके इन्हे धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में बिकसित करेगी और इस सिलसिले में हरि   यमुना सहयोग समिति हिमाचल प्रदेश द्वारा किये गए कार्यों की सराहना की।
इस अबसर पर हरि   यमुना सहयोग समिति के राष्ट्रिय अध्यक्ष जस्टिस प्रमोद कोहली, केंद्रीय वक़्फ़ परिषद के  सचिब शादान जेब खान सहित गण मान्य ब्यक्तियों ने पौधरोपण किया।
Comments
Popular posts
जल्दी करें; वॉइस ऑफ सीनियर्स के रजिस्ट्रेशन्स की लिंक कल तक ही खुली है
Image
कैटरीना कैफ ने के ब्यूटी की पहली किस प्रूफ मैट लिक्विड लिपस्टिक लॉन्च की
Image
परिवहन विभाग एवं भारतीय वन सेवा के अधिकारियों के थोकबंद तबादले
Image
नायका द्वारा पेश है जेंटलमैन्स क्रू हाई क्वालिटी वाले ग्रूमिंग और पर्सनल केयर प्रोडक्ट्स की हॉलिस्टिक रेंज
Image
अदाणी पोर्ट्स ने 2,800 करोड़ रुपये में विश्वसमुद्र होल्डिंग्स की 25% हिस्सेदारी के अधिग्रहण से कृष्णापत्तनम पोर्ट में अपना स्वामित्व 75% से बढ़ाकर 100% किया
Image