सचेत और परम्परा के लेटेस्ट सॉन्ग, 'इस कदर' को यूट्यूब पर 100 मिलियन बार देखा जा चुका है

सफल कम्पोजर-सिंगर जोड़ी, सचेत और परम्परा ने लॉकडाउन के दौरान इंस्टाग्राम पर सुपर म्यूजिक और अद्भुत रील्स के साथ हमारा बखूबी मनोरंजन किया है। भूषण कुमार की टी-सीरीज द्वारा प्रस्तुत उनके लेटेस्ट ट्रैक, 'इस कदर' को तुलसी कुमार और दर्शन रावल द्वारा गाया गया है। सॉन्ग ने रिलीज के बाद से ही ऑडियंस के दिलों में खास जगह बना ली है। इस सॉन्ग को अब तक यूट्यूब पर 100 मिलियन व्यूज मिल चुके हैं और कम्पोजर जोड़ी निश्चित रूप से इस खबर के साथ सातवें आसमान पर पहुँच चुकी है।


सचेत कहते हैं, "इस कदर, हमारे दिल के बेहद करीब है, खासकर जब से इसकी शुरुआत लॉकडाउन के दौरान हुई थी। सॉन्ग के कम्पोजिशन फेज के दौरान, हमें सिंगर के रूप में तुरंत तुलसी और दर्शन का ख्याल आया, क्योंकि हम जानते थे कि वे इसे बखूबी निभा सकते हैं। इसके लिए 100 मिलियन व्यूज हासिल करना वास्तव में एक भावपूर्ण एहसास है और हम अपने फैंस को इसके लिए धन्यवाद करते हैं।" इस रोमांटिक नंबर को अरविंदर खैरा द्वारा अद्भुत और खुबसूरत शिमला में शूट किया गया था। 'इस कदर' ने ऑडियंस को मंत्रमुग्ध कर दिया है क्योंकि दोनों सिंगर्स के बीच इलेक्ट्रिक केमिस्ट्री की बेमिसाल झलक है।

परंपरा टंडन कहती हैं, "सचेत और मैं यूट्यूब पर सॉन्ग की सफलता की खबर से खुश हैं। 100 मिलियन व्यूज और बढ़ती संख्या हमें दुनिया भर में अपने सभी फैंस के लिए कड़ी मेहनत करने और बेहतर तरीके से काम करने के लिए प्रेरित करती है। हमने लॉकडाउन के दौरान यह सॉन्ग बनाया था और जब हमने इसे पूरा किया, तो हमें यकीन था कि यह एक सफल सॉन्ग होगा। व्यूज की लगातार बढ़ती संख्या इसका जवाब बन गई है।"

सचेत और परम्परा भी इंस्टाग्राम पर अपनी अद्भुत रील्स के साथ हम सभी का मनोरंजन करते आ रहे हैं, जो हमारे दिलों में गर्मजोशी फैलाती हैं और जब भी हम उन्हें देखते हैं, तो ये हमें सकारात्मकता से भर देती हैं। इसलिए इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि उनके सॉन्ग ने यूट्यूब पर बेहद कम समय में 100 मिलियन व्यूज पार कर लिए हैं।

गाना यहां सुनें: https://youtu.be/TBlixHMv_GQ

Comments
Popular posts
अवंतिकानाथ राजाधिराज भगवान महाकाल राजसी ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले; भगवान महाकाल ने भक्तों को चारों रूप में दिये दर्शन
Image
मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा....जानें, कैसे प्रसिद्ध हुआ मोक्षदायिनी नदी का नाम क्षिप्रा ?
Image
वार्षिक विवरणी ऑनलाइन दाखिल करने के लिए पंजीकरण अनिवार्य
Image
कुक्कू ओटीटी ऐप ने अपने एस्टीम्ड सब्सक्राइबर्स के लिए नए साल में एंटरटेनिंग वेब सीरीज की कतार लगाई
Image
श्री महाकालेश्वर मंदिर में संध्या आरती पश्चात होलिका का दहन हुआ संपन्‍न
Image