अक्षय तृतीया पर सोनी सब के कलाकारों के विचार

‘वागले की दुनिया- नई पीढ़ी नये किस्‍से’ की परिवा प्रणति:

‘’अक्षय तृतीया मेरे लिये बहुत महत्‍वपूर्ण है, क्‍योंकि यह त्‍यौहार परिवार के साथ एकजुट होने का मौका देता है। मुझे यह बात पसंद है कि मेरे पेरेंट्स हर त्‍यौहार पर मुझे गाइड करते हैं और इस कारण यह त्‍यौहार और भी ज्‍यादा खास हो जाता है। इस साल मैं अपने शो की शूटिंग के लिये परिवार से दूर हूं। मैं उन्‍हें बहुत मिस कर रही हूं, लेकिन जब भी उनसे मिलूंगी, जितने त्‍यौहार छूटे हैं, उन्‍हें यकीनन अपने परिवार के साथ मिलकर मनाऊंगी। अक्षय तृतीया के मौके पर अपने फैंस से यही कहना चाहूंगी कि वे इस साल पैसों का इस्‍तेमाल तोहफे खरीदने के बजाय किसी अच्‍छे काम में करें। जरूरतमंदों की मदद करें, क्‍योंकि हालात बहुत खराब हैं और ऐसे में हमें एक-दूसरे का साथ देने की जरूरत है।‘’

‘वागले की दुनिया- नई पीढ़ी नये किस्‍से’ की भारती आचरेकर:

‘’हिन्‍दू पंचांग के अनुसार अक्षय तृतीया वह शुभ दिन है, जब आपको कोई भी शुभ काम करने के लिये मुहूर्त देखने की जरूरत नहीं होती है। हालांकि मैं इस साल यह त्‍यौहार नहीं मना रही हूं, लेकिन ईश्‍वर से प्रार्थना करती रहूंगी कि वह मानवजाति की सहायता करें और इस धरती से सारी बुराइयों का नाश करें। इसके अलावा, मैं अपने फैंस से कहना चाहती हूं कि वे अच्‍छे नागरिक बने रहें और इस कठिन समय में सुरक्षित रहने के लिये सभी सावधानियां बरतें।‘’


‘मैडम सर’ की सोनाली नाईक:

‘’हिन्‍दू पंचांग के अनुसार, अक्षय तृतीया को सर्वश्रेष्‍ठ शुभ दिनों में से एक माना जाता है। इस दिन आप आंख बंद करके कोई भी शुभ काम कर सकते हैं। आमतौर पर मैं यह त्‍यौहार नहीं मनाती हूं; हालांकि इस दिन कोई अच्‍छा कर्म करने की कोशिश जरूर करती हूं। इस साल, मैं खासतौर पर अपने फैंस को सलाह देना चाहूंगी कि वे इस कठिन समय में अपने घर में रहें और अपना ख्‍याल रखें।‘’

Comments
Popular posts
अवंतिकानाथ राजाधिराज भगवान महाकाल राजसी ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले; भगवान महाकाल ने भक्तों को चारों रूप में दिये दर्शन
Image
मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा....जानें, कैसे प्रसिद्ध हुआ मोक्षदायिनी नदी का नाम क्षिप्रा ?
Image
वार्षिक विवरणी ऑनलाइन दाखिल करने के लिए पंजीकरण अनिवार्य
Image
कुक्कू ओटीटी ऐप ने अपने एस्टीम्ड सब्सक्राइबर्स के लिए नए साल में एंटरटेनिंग वेब सीरीज की कतार लगाई
Image
श्री महाकालेश्वर मंदिर में संध्या आरती पश्चात होलिका का दहन हुआ संपन्‍न
Image