सारेगामा ने विश्व्-विख्यात सोशल वीडियो प्लेयटफॉर्म ट्रिलर के साथ एक वैश्विक लाइसेंसिंग अनुबंध पर हस्ताक्षर किए

  • ट्रिलर के यूजर्स को अब भारत के सबसे पुराने म्यूषजिक लेबल के विशाल कैटालॉग को एक्सेकस करने का मौका मिलेगा


भारत के सबसे बड़े म्यूमजिक लेबल्सब में से एक सारेगामा ने बेहद लोकप्रिय शॉर्ट फॉर्मेट वीडियो प्ले टफॉर्म ट्रिलर के साथ एक वैश्विक म्यूमजिक लाइसेंसिंग अनुबंध करने की घोषणा की है। इस अनुबंध के हिस्सेि के तौर पर, सारेगामा अपना संपूर्ण कैटालॉग ट्रिलर को लाइसेंस करेगा, ताकि यूजर्स कई भारतीय भाषाओं में 1,30,000 से ज्या्दा गानों की विशाल म्यूकजिक लाइब्रेरी का इस्तेओमाल कर अभिनव कंटेन्ट  बना सकें। इन भारतीय भाषाओं में हिन्दीइ, भोजपुरी, बंगाली, तमिल, मराठी, तेलुगू, मलयालम, कन्न‍ड़, पंजाबी, गुजराती, आदि भाषाएं शामिल हैं।

सारेगामा और ट्रिलर के एक साथ आने से कंटेन्टं आर्किटेक्ट्स  ऐसे संगीत के कौशल से सशक्ती होंगे, जिसे दुनिया भर में कई पीढि़यों द्वारा पसंद किया गया है।

सारेगामा का विशाल भंडार पुरानी यादों और संगीत से भरा है और उसके पास 25 से ज्याशदा भाषाओं में बॉलीवुड गाने, भक्ति संगीत, गजल, आदि का समृद्ध संग्रह है। साथ ही लता मंगेशकर, किशोर कुमार, मोहम्मडद रफी, आशा भोंसले, गुलजार, जगजीत सिंह, आर.डी. बर्मन, कल्यामणजी आनंदजी, गीता दत्त , लक्ष्मी कांत प्यांरेलाल जैसी महान हस्तियों के क्ला सिक्स् और लोकप्रिय कलाकारों, जैसे बी प्राक, बादशाह, आदि के नये गाने भी हैं।

इस भागीदारी पर अपनी बात रखते हुए, सारेगामा इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टार विक्रम मेहरा ने कहा, ‘’हम ट्रिलर के साथ भागीदारी करके और समूचे विश्वे के क्रिएटर्स को अभिनव कंटेन्टि बनाने के लिये हमारे संगीत का इस्तेअमाल करते देखकर बहुत खुश हैं।‘’

ट्रिलर के चेयरमैन और को-ऑनर बॉबी सर्नेवेष्टु ने कहा, ‘’सारेगामा के पास भारतीय संगीत की समृद्ध विविधता का प्रतिनिधित्वट करता है और हम इस महत्व’पूर्ण भागीदारी को करके उत्साकहित हैं, जिससे यह सुनिश्चित होगा कि म्यू-जिक पब्लिशर्स ने विगत वर्षों में जो विरासत बनाई है, उसके लिये उन्हें  उचित प्रतिफल मिले। यह नया अनुबंध ट्रिलर प्लेलटफॉर्म के बढ़ने के साथ दक्षिण एशिया और पूरी दुनिया में पब्लिशर्स को सहयोग देने की हमारी प्रतिबद्धता दोहराता है।‘’’

सारेगामा इंडिया के विषय में:

सारेगामा इंडिया लिमिटेड को पहले द ग्रामोफोन कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड के नाम से जाना जाता था। यह आरपीएसजी ग्रुप की एक कंपनी है, जो भारत के सबसे बड़े और विश्वम के सबसे बड़े में से एक म्यू जिक आर्काइव्सज की मालिक है। भारत में रिकॉर्ड हुए सारे संगीत का लगभग 50 प्रतिशत इसके स्वािमित्व  में है और इस कारण सारेगामा देश की संगीत वाली धरोहर का सबसे प्रामाणिक भंडार है। सारेगामा ने मनोरंजन की अन्या शाखाओं में भी विस्ता र किया है, जैसे पब्लिशिंग, फिल्मं प्रोडक्श्न और डिजिटल कंटेन्टव।

आरपीएसजी ग्रुप के विषय में:

आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप विश्वम में अच्छीण-खासी मौजूदगी के साथ भारत के सबसे तेजी से बढ़ रहे व्यीवसाय समूहों में से एक है। इस ग्रुप के व्यीवसायों में बिजली और ऊर्जा, कार्बन ब्लैेक का उत्पा‍दन, रिटेल, आईटी-इनैबल्डम सेवाएं, एफएमसीजी, मीडिया एवं मनोरंजन और कृषि शामिल हैं।