कोविड वैक्सीन सुरक्षित, असरकारी एवं हानिहरित है, अफवाहों एवं भ्रामक खबरो पर ध्यान न दें

उज्जैन। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.महावीर खंडेलवाल ने बताया कि भारत शासन की गाईड लाइन अनुसार सीरम इंस्टीट्यूट की ‘कोविशील्ड’ एवं भारत बायोटेक की कोवैक्सीन दोनों ही वैक्सीन सुरक्षित, असरकारी एवं हानिहरित है। साथ ही यह टीके प्रथम चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को दिये जायेंगे। तत्पश्चात फ्रंटलाइन वर्कर्स एवं 50 से वर्ष से अधिक आयु के हाईरिस्क लोगों को दिया जायेगा।

विश्व में अभी तक चार करोड़ लोगों को सफलतापूर्वक वैक्सीन दी जा चुकी है। भारत में  19 जनवरी की शाम 6 बजे तक 6.31 लाख लोग टीकाकरण से लाभान्वित हो चुके हैं एवं प्रदेश में 18 हजार से अधिक स्वास्थ्यकर्मी टीका लगवा चुके हैं। कहीं किसी भी स्तर पर गंभीर प्रतिक्रियाएं टीकों से नहीं हुई है। सामान्य प्रतिक्रियाएं लाजमी है, जो 24 से 48 घंटे में स्वयमेव ठीक हो जाती है।

विभिन्न स्त्रोतों से प्राप्त जानकारी के अनुसार यदि 1,10,000 लोगों को वैक्सीन लगाई जाती है तो मात्र एक हितग्राही को कुछ मामूली तकलीफ होती है, जो प्राथमिक उपचार के बाद ठीक हो जाते हैं। कोरोना बीमारी लाइलाज है तथा बचाव का एकमात्र साधन टीके ही है, जो सुरक्षा कवच देकर महामारी का अंत करने मे सहायक है। यदि शत-प्रतिशत लोग स्वप्रेरित होकर लगवाते है। हम सभी संकल्पित होकर स्वयं एवं दूसरों को प्रेरित कर अपनी बारी आने पर सभी काम छोड़कर टीका अवश्य लगवायें।

Popular posts
श्रमजीवी पत्रकार संघ उज्जैन सम्भाग मिडिया प्रभारी बने भरत शर्मा
Image
महाकाल दर्शन हेतु महाकाल एप्प की लिंक एवं वेब साइट
Image
ऑटो पार्ट रिटेलर्स और वर्कशाप की दिक्कतें अब दूर हुईं; ऑटोमोबाइल सर्विस प्रोवाइडर गोमैकेनिक ने वापी में नया स्पेयर पार्ट्स फ्रैंचाइज़ी आउटलेट शुरू किया
Image
पियाजियो व्ही।कल्सऔ ने जयपुर में राजस्था न के अपनी तरह के पहले इलेक्ट्रिक व्हीजकल (ईवी) एक्सेपीरियेंस सेंटर का उद्घघाटन किया
Image
देश की एम्प्लॉयी फ्रेंडली कंपनी में शुमार हुआ पीआर 24x7; फीमेल स्टाफ के मासिक धर्म के लिए उठाया सार्थक कदम
Image