आयुष्मान कार्ड पर 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा है, जिले में 5 लाख 63 हजार 470 आयुष्मान कार्ड बने, जिले में 8 प्रायवेट चिकित्सालय में सीधे कार्ड ले जाकर गंभीर बीमारियों नि:शुल्क उपचार कराया जा सकता है

उज्जैन। आयुष्मान निरामय योजना के तहत उज्जैन जिले में अब तक पांच लाख 63 हजार 470 लोगों के कार्ड बने हैं। आयुष्मान कार्डधारी व्यक्ति के परिवार के सदस्यों को पांच लाख रुपये तक का उपचार शासकीय एवं चिन्हित निजी अस्पतालों में कराने का अधिकार है। बिना किसी औपचारिकता के आयुष्मान कार्ड लेकर उक्त अस्पतालों में व्यक्ति आयुष्मान हेल्पडेस्क पर जाकर औपचारिकता पूरी कर नि:शुल्क अपना उपचार करवा सकता है। न केवल उज्जैन में, बल्कि प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर चिन्हित अस्पतालों में यह कार्ड काम करता है और व्यक्ति मनचाहे स्थान पर जाकर अपना उपचार करवा सकत है। उदाहरण स्वरूप आग से जलने वालों का उपचार 80 हजार रुपये का पैकेज, हृदय रोग से ग्रसित व्यक्तियों को डेढ़ लाख रुपये तक का पैकेज जिसमें हृदय के वाल्व बदलना, एंजियोग्राफी, पल्मोनरी प्रोसिजर, डायबिटिज से ग्रसित व्यक्ति, किडनी की समस्या, फ्रेक्चर एवं अन्य कैंसर जैसी सभी गंभीर बीमारियों का उपचार संभव है। आयुष्मान योजना के तहत विभिन्न बीमारियों के कुल 1557 पैकेज शामिल किये गये हैं, जिनकी जानकारी हेल्पडेस्क पर जाकर प्राप्त की जा सकती है। उज्जैन जिले में कुल आठ निजी अस्पतालों को आयुष्मान योजना के साथ इम्पेनल्ड किया गया है। इन अस्पतालों में जाकर आयुष्मान कार्डधारी व्यक्ति अपना उपचार नि:शुल्क करवा सकता है। अस्पतालों के नाम इस प्रकार हैं- आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज, चेरिटेबल हॉस्पिटल, सीएचएल मेडिकल सेन्टर, मेवाड़ हॉस्पिटल, ग्लोबल हॉस्पिटल, उज्जैन आर्थो हॉस्पिटल, बागड़ी फ्रेक्चर ट्रामा हॉस्पिटल तथा रेडिएंट आई हॉस्पिटल शामिल है।

कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने आयुष्मान योजना का लाभ अधिक से अधिक पात्र लोगों को मिले,  इसके लिये सभी पात्र व्यक्तियों के आयुष्मान कार्ड बनाने के निर्देश जारी किये हैं।  वर्तमान में आयुष्मान कार्ड जिला चिकित्सालय उज्जैन, सिविल हॉस्पिटल नागदा, महिदपुर, खाचरौद एवं घट्टिया तथा जिले के सभी कॉमन सर्विस सेन्टर या लोक सेवा केन्द्रों पर 30 रुपये चार्ज देकर आयुष्मान कार्ड बनवाये जा सकते हैं। उज्जैन नगर एवं जिले के नागरिक अपने आधार कार्ड एवं समग्र आईडी नम्बर ले जाकर उक्त स्थानों पर जाकर पात्रता का परीक्षण करवा कर अपना आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं।