किसी भी विभाग में सीएम हेल्पलाइन की नॉट अटेंडेड शिकायत एक भी नहीं होनी चाहिये -कलेक्टर

उज्जैन। कलेक्टर श्री अशीष सिंह ने सोमवार को सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में समयावधि-पत्रों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में सीएम हेल्पलाइन के लम्बित प्रकरणों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसी भी विभाग में सीएम हेल्पलाइन की नॉट अटेंडेड शिकायत एक भी नहीं होनी चाहिये। अन्यथा सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। समस्त एल-1, एल-2 स्तर के अधिकारी इस बात का विशेष ध्यान रखें। न केवल जिला अधिकारी, बल्कि उनके अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर भी ऐसी शिकायत नहीं होनी चाहिये।

कलेक्टर ने बैठक में समस्त एसडीएम को निर्देश दिये कि उनके क्षेत्राधिकार के अन्तर्गत ऐसे मन्दिर जो शासन द्वारा संधारित हैं, उनकी जानकारी कलेक्टर कार्यालय में प्रेषित करें। कलेक्टर ने सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग द्वारा दिव्यांगजनों के कार्ड बनाये जाने हेतु आयोजित किये जा रहे कैम्प की स्थिति की समीक्षा की तथा इससे कितने लोग लाभान्वित हुए हैं, उनकी जानकारी विभाग के अधिकारियों से मांगी।

समाधान ऑनलाइन के प्रकरणों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने निर्देश दिये कि किसान क्रेडिट कार्ड के लम्बित प्रकरणों का तथा भूअर्जन एवं फसल बीमा से सम्बन्धित प्रकरणों का निराकरण शत-प्रतिशत किया जाये। अवैध रेत खनन के विरूद्ध समस्त एसडीएम प्रभावी कार्यवाही करें। मिलावटखोरों के विरूद्ध भी कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाये। इस हेतु प्रॉपर सेम्पलिंग की जाये।

कलेक्टर ने टीएल बैठक के अन्त में प्रकरणों के निराकरण में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले अधिकारियों को प्रमाण-पत्र प्रदाय किये।