आंगनवाड़ी केन्द्रों को आकर्षक स्वरूप दिया जाये

कुपोषण दूर करने के लिये निरन्तर प्रयास हों, कलेक्टर ने महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा की

उज्जैन। कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने महिला एवं बाल विकास अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि जिले के सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों को आकर्षक स्वरूप दिया जाये। इनकी रंगाई-पुताई की जाये एवं चित्रकारी के माध्यम से बच्चों को शिक्षा देने के प्रयास किये जायें। उन्होंने जिन आंगनवाड़ी परिसरों में भूमि उपलब्ध हो, वहां पर पोषण वाटिका भी विकसित करने के लिये कहा है। समीक्षा बैठक में जिला परियोजना समन्वयक श्री गौतम अधिकारी, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री साबिर अहमद सिद्धिकी एवं सभी परियोजनाओं के परियोजना अधिकारी मौजूद थे।

समीक्षा बैठक में विभिन्न परियोजना अधिकारियों द्वारा उनके द्वारा विगत माह किये गये नवाचारों के बारे में पीपीटी के माध्यम से प्रस्तुतीकरण दिया गया। उज्जैन नगर की परियोजना अधिकारी श्रीमती झनक सोनाने ने बताया कि महाशक्ति नगर के आंगनवाड़ी केन्द्र की रंगाई-पुताई में 32वी बटालियन के सहयोग से कार्य किया गया है। इसी तरह आयरन सीरप घर-घर जाकर वितरित कराया जा रहा है। महिदपुर परियोजना में जनप्रतिनिधियों द्वारा गुड़, चना एवं परमल के पैकेट्स बनाकर वितरित कराये गये हैं। खाचरौद परियोजना की 95 आंगनवाड़ी केन्द्रों में इलेक्ट्रॉनिक वजन मशीन खरीदी गई है। बड़नगर की परियोजनाओं में नवविवाहितों का ग्राम स्तर पर पंजीयन प्रारम्भ किया गया है। नवविवाहितों का हैल्थ कार्ड भी बनाया जायेगा।