तू-तू मैं-मैं करते रह गए विभूति मिश्रा और अंगूरी भाबी

 

शादी में तकरार अटल है, खासकर तब जब उसमें खाना शामिल हो, लेकिन क्या एण्ड टीवी के शो ‘भाबी जी घर पर हैं‘ की प्रतिष्ठित जोड़ियों विभूति मिश्रा-अनीता भाबी और मनमोहन तिवारी-अंगूरी भाबी को अलग होते हुए देखना होगा? परवाह करने वाला और मासूम विभूति मिश्रा (आसिफ शेख) और अंगूरी भाबी (शुभांगी अत्रे) अपने-अपने जीवनसाथी के लिए खास भोजन तैयार कर रहे हैं लेकिन दुर्भाग्य से, चीजें बिलकुल वैसी नहीं हुई जैसे उन्होंने योजना बनाई थी, अनीता भाबी और मनमोहन तिवारी (रोहिताश्व गौर) उनके पाक-कौशल की आलोचना करते हैं और उन दोनों पर अपना गुस्सा निकालना शुरू कर देते हैं। पूरी तरह निराश हुए विभूति और अंगूरी भाबी चाय के स्टॉल पर प्रेम (विश्वजीत सोनी) को ढूंढते हैं जो उन्हें उनकी परेशानी का उचित समाधान देता है। वह उन दोनों से अपने पार्टनर्स का पक्ष लेने के बजाय उन पर गुस्सा करने का सुझाव देता है। इसी बीच टी.एम.टी (वैभव माथुर, दीपेश भान, सलीम जैदी) उन लोगों के लिए एक स्टाॅल खोलकर अपनी कंपनी के एक और आइिडया की शुरुआत करते हैं जो अपनी भड़ास निकालना चाहते हैं। जोड़ियों के बीच होने वाली लगातार तू-तू मैं-मैं के साथ, विभूति और अंगूरी भाबी के लिए जल्द ही एक चिंता खड़ी हो जाती है क्योंकि उन्हें यह संदेह होता है कि उनके पार्टनर का आपस में चक्कर है। इस एपिसोड की शूटिंग के दौरान के कुछ पलों को साझा करते हुए, रोहिताश्व गौर ने कहा, निराशा वैवाहिक जीवन में परेशानियों का मूल कारण है, लेकिन भाबी जी घर पर हैं में यह हंसी के मजेदार पल होते हैं। यह पहली बार देखने को मिलेगा जब अंगूरी भाबी तिवारी पर चिल्लाती है, वैसे तो वह बहुत ही विनम्र स्वाभाव की है लेकिन जब उसे गुस्सा आता है तो वह एक नए अवतार में ही नजर आती है। मुझे यह देखने का बेसब्री से इंतजार है कि दर्शक इस एपिसोड से कैसे खुद को जोड़ते हैं और इसी के साथ यह भी सीखने को मिल रहा है कि गुस्से में कुछ अच्छा नहीं होता। अपनी भी भड़ास उतारो,  भाबी जी घर पर हैं देखो।

एण्ड के शो ‘भाबी जी घर पर हैं‘ के हास्य से भरपूर एपिसोड्स देखिए, हर सोमवार से शुक्रवार, रात 10: 30 बजे

Comments
Popular posts
राजाधिराज भगवान श्री महाकाल महाराज निकले राजसी ठाठ बाट से; देखें शाही सवारी लाइव
Image
हड़ताल को लेकर सीएम यादव ने दिए निर्देश
Image
अवंतिकानाथ राजाधिराज भगवान महाकाल राजसी ठाट-बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले; भगवान महाकाल ने भक्तों को चारों रूप में दिये दर्शन
Image
मोक्षदायिनी माँ क्षिप्रा....जानें, कैसे प्रसिद्ध हुआ मोक्षदायिनी नदी का नाम क्षिप्रा ?
Image
श्री महाकालेश्वर मन्दिर की दान पेटियों से आय की गणना एवं कलेक्शन हेतु मंदिर प्रबंध समिति द्वारा तीन बैंक है अधिकृत
Image