जनजागरण रैली पर जिन घरों से बरसे थे पत्थर, आज उन पर चले निगम के हथौड़े!!!


उज्जैन। 
कल शाम को समग्र हिंदू समाज द्वारा श्री राम मंदिर निर्माण हेतु जन जागरण रैली निकाली गई थी, जिसमे भाजयुमो, विहिप व संघ के कार्यकर्ता भी मौजूद थे। इस दौरान बेगम बाग से रैली की एक टुकड़ी गुजर रही थी एवं मार्ग में जमकर पत्थरबाजी हुई थी, जिसमें आधा दर्जन से अधिक कार्यकर्ता घायल हो गए थे। मामले में उज्जैन पुलिस प्रशासन द्वारा नगर निगम के सहयोग से आज बड़ी कार्रवाई की गई है कल जिन घरों की छतों पर से पथराव हुआ था आज उन्हें चिन्हित कर निगम द्वारा तोड़ने की कार्रवाई शुरू की गई है!!

क्षेत्र में इस दौरान भारी पुलिस बल तैनात है तथा हल्का-फुल्का विरोध के बावजूद कार्रवाई जारी है। कल शाम को हुई एकाएक पत्थरबाजी से शहर की फिजा बिगड़ने की संभावना जताई जा रही थी तथा स्थिति को भापते हुए जिन लोगों द्वारा माहौल बिगड़ने का प्रयास किया गया था, उन्हें चिन्हित कर उनके मकानों को तोड़ने की कार्रवाई का प्लान उज्जैन जिले के आला अधिकारी कलेक्टर आशीष सिंह, एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी, एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल, एएसपी अमरेंद्र सिंह द्वारा एक प्रारूप बनाकर तैयार किया गया है!!

शनिवार दोपहर प्रशासन ने ऐसे पत्थरबाजों के घरों को जमींदोज करने की कार्रवाई शुरू कर दी है । ने मौके पर पहुंचकर पत्थरबाजों के मकानों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। सबसे पहले दोपहर 1 बजे बेगमबाग इलाके में बने टीकाराम के मकान को तोड़ा जा रहा है। इसमें रेहानापति नुरू किराए से रहती है। वहीं, अब्दुल हमीद के मकान पर भी कार्रवाई की जा रही है। इसमें हिना पति शहजाद किराएदार हैं। दोनों के ही पत्थर फेंकते हुए वीडियो वायरल हुए थे। प्रशासन का तर्क है कि ये मकान नाले किनारे बने हैं। लोगों ने यहां अतिक्रमण कर लिया है। 

पत्थरबाजों पर लगेगी रासुका

आधा दर्जन के करीब उपद्रवियों पर रासुका के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल भेजा जाएगा। गौरतलब है कि वर्ष 2015 में भी मामूली से विवाद में समुदाय विशेष के लोगों ने शहर की कानून – व्यवस्था बिगाड़ दी थी। करीब 15 दिनों तक लोग सांसत में रहे थे।

पहले भी हो चुकी है सख्त कार्रवाई

तत्कालीन कलेक्टर कवींद्र कियावत और एसपी अनुराग ने उपद्रवियों पर सख्त कार्रवाई की थी। कई उपद्रवी महीनों जेल में रहे। इधर, उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह कहना था कि असामाजिक तत्वों ने उपद्रव के माध्यम से शहर का माहौल खराब करने का प्रयास किया है। उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। शुक्रवार की घटना के बाद सख्त कार्रवाई की तैयारी कर ली गई है। पूरी तैयारी के साथ जिन मकानों की छतों पत्थर बरसे हैं उन्हें भी ध्वस्त करेंगे, ताकि इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो।

विरोध करने पहुंचे तो दी समझाइश

पथराव करने वाले घरों को चिन्हित कर उन्हें तोड़ने की कार्रवाई करने पहुंची नगर निगम की टीम और पुलिस अधिकारियों के सामने कुछ लोग विरोध करने पहुंच गए थे। लेकिन एसडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी ए एस पी अमरेंद्र सिंह ने विरोध कर रहे लोगों को समझाइश देकर रवाना किया।

Popular posts
महाकाल दर्शन हेतु महाकाल एप्प की लिंक एवं वेब साइट
Image
ऑटो पार्ट रिटेलर्स और वर्कशाप की दिक्कतें अब दूर हुईं; ऑटोमोबाइल सर्विस प्रोवाइडर गोमैकेनिक ने वापी में नया स्पेयर पार्ट्स फ्रैंचाइज़ी आउटलेट शुरू किया
Image
पियाजियो व्ही।कल्सऔ ने जयपुर में राजस्था न के अपनी तरह के पहले इलेक्ट्रिक व्हीजकल (ईवी) एक्सेपीरियेंस सेंटर का उद्घघाटन किया
Image
देश की एम्प्लॉयी फ्रेंडली कंपनी में शुमार हुआ पीआर 24x7; फीमेल स्टाफ के मासिक धर्म के लिए उठाया सार्थक कदम
Image
‘‘एक महिला को एक महिला से बेहतर कोई और नहीं समझ सकता’’, यह कहना है एण्डटीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं’ की तन्वी डोगरा का
Image