मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना छोटे किसानों के लिये बहुत लाभदायक -कृषक गोकुल

उज्जैन। तराना तहसील के लक्ष्मीपुरा गांव में रहने वाले 52 वर्षीय किसान गोकुल परिहार की गांव में मात्र डेढ़ बीघा कृषि भूमि है। इस पर खेती कर वे अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं। कम भूमि होने के कारण उपज और आमदनी दोनों ही सीमित हुआ करती थी। गोकुल के परिवार में पत्नी और तीन बच्चे हैं। उनकी आमदनी का मुख्य सहारा ही खेती है। इस वजह से कई बार अपेक्षित उपज न हो पाने की स्थिति में उन्हें कई मर्तबा आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता था। जमीन कम होने की वजह से गोकुल खेती में नवाचार करने में भी झिझकते थे। सीमित आय होने के कारण कृषि संसाधन की भी उनके पास अक्सर किल्लत हो जाया करती थी।

ऐसे में अक्सर बच्चों की पढ़ाई और घर चलाने में गोकुल को पड़ौसी व सगे-सम्बन्धियों से उधार लेना पड़ता था। कुल समय तक ऐसे चलता रहा, लेकिन बाद में सगे-सम्बन्धियों ने मदद करने से इंकार कर दिया था। इस समय मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना गोकुल के लिये अत्यन्त लाभदायक सिद्ध हुई है। इस योजना के माध्यम से गोकुल के परिवार को चार हजार रुपये की कल्याण राशि साल में दो किश्तों में उपलब्ध करवाई जायेगी।

गौरतलब है कि योजना के तहत छोटे, मंझोले अथवा बड़े सभी किसान पात्र होंगे। गोकुल ने बताया कि उनके जैसे छोटे किसानों के लिये यह योजना अत्यन्त लाभदायक है। इस सहायता राशि के माध्यम से अब उन्हें छोटी-छोटी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये किसी के आगे हाथ नहीं फैलाने पड़ेंगे। इस योजना से गोकुल के आत्मसम्मान की रक्षा हो सकेगी। वे मुख्यमंत्री के सदैव आभारी रहेंगे।