आज की बात आपके साथ - विजय निगम

      ॐ गं गणपतये नमः।।

 गुरूर-ब्रह्मा, गुरूर-विष्णू ,गुरूर-देव महेश्वरा

 गुरूर- साक्षात परब्रह्म  तस्मैश्री गुरूर-नम:

ॐयमाय धर्मराजायश्री चित्रगुप्तवे नमो नम:

🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻

प्रिय साथियो। 

🌹राम-राम🌹 

🌻 नमस्ते।🌻

आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 17 दिसंबर 2020 गुरूवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।

🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻

आज की बात आपके साथ अंक मे है 

 A कुछ रोचक समाचार

B आज के दिन जन्मे.एक मध्यकालीन कवि, सेनापति, प्रशासक, आश्रयदाता, दानवीर, कूटनीतिज्ञ, बहुभाषाविद, कलाप्रेमी, एवं विद्वान अब्दुल रहीम ख़ान-ए-ख़ानाँ या सिर्फ रहीम,का.जीवन परिचय

C आज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    

    व्यक्तित्व

E आज के दिन निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।

F आज का दिवस का नाम ।

🌻💐🌲🌸🌲🌹💐💐🌻

  (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)

💝(A/1)ओला कंपनी ने तमिलनाडु में 'दुनिया की सबसे बड़ी' स्कूटर फैक्ट्री स्थापित करने का किया ऐलान 💝

💝,(A/2कृषि कारोबार अब मुनाफे का हेकारोबारअबसर्विसकारोबारीभी,ऐग्रोबीसनेसकाकरोबार करने के लिये लालायित

💝(A/3)जानिए:- कारिगल युद्ध के 21साल बाद दोनों देशों की सैन्य ताकत मे कितना बदलाव आया💝

💝(A/4)दिकपिल शर्मा शो ;98 किलो वजनघटा कर फिट दिखे गणेशआचार्य

,कपिलशर्माचुटकी लेकर बोले-मास्टरजी दो लोग गायबकर दिए आपने💝

🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐

       (A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)

💝(A/1)ओला कंपनी ने तमिलनाडु में 'दुनिया की सबसे बड़ी' स्कूटर फैक्ट्री स्थापित करने का किया ऐलान 💝

चेन्नई।वेब बेस्ड टैक्सी ऑपरेटर ओला ने सोम

वार को बड़ी घोषणा की। कंपनी ने तमिलनाडु में दुनिया की सबसे बड़ी'स्कूटर फैक्ट्रीस्थापित

करने का ऐलान किया है। इसके लिए OLA 2,400 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। Ola ने यह कारखाना स्थापित करने के लिए तमिल

नाडु सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। कंपनी इसके माध्यम से इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए भारत को एकविनिर्माणकेंद्र(मैन्यूफैक्चरिंग सेंटर)बनाना 

चाहती है।

इससंबंध में जारी एक बयान मेंटैक्सीऑपरेटर

ओला ने बताया, काम पूरा होने पर कारखाना लगभग10,000 नौकरियां पैदा करने के साथ हीदुनियाकीसबसेबड़ी स्कूटरविनिर्माणसुविधा

होगी।शुरुआत में इसकी वार्षिक क्षमता 20 लाख यूनिट की होगी।"

ओलाकंपनी द्वारा आने वाले महीनों में अपनी इलेक्ट्रिक स्कूटरों की पहली रेंज लॉन्च करने के मद्देनजर यह घोषणा की गई है। तमिलनाडु कायह बड़ाकारखाना न सिर्फ भारत में बल्कि यूरोप,एशिया,लैटिन अमरीका और दुनियाभर केबाजारों में ग्राहकों को उत्पादमुहैयाकराएगा

कंपनीद्वारा जारीएक बयान में ओला के चेयर

मैनऔर ग्रुप सीईओ भाविश अग्रवाल ने कहा, "यह दुनिया की सबसे एडवांस्ड मैन्यूफैक्चरिंग फैसिलिटीज में से एक होगी। यह फैक्टी विश्व स्तर के उत्पादों का उत्पादन करने के लिए भारत के कौशल और प्रतिभा का प्रदर्शन करेगा।"

ओलाआगामीमहीनों में अपनापहलाइलेक्ट्रिक स्कूटरलॉन्च करने की तैयारी कर रही है। सूत्रों काकहना है कि जनवरी कीशुरुआत में कंपनी

 इसे लॉन्च कर सकती है। तमिलनाडु में बनने वाला यह प्लांट एक से अधिक व्यापक उत्पाद पोर्टफोलियो के कंपनी के सपनों को साकार करने में मदद करेगा।

इस फैक्ट्री में ओला की इलेक्ट्रिक स्कूटर से शुरू होने वाली टू व्हीलर उत्पादों की ओला की आगामी रेंज का उत्पादन होगा। इस साल कीशुरुआत में ओला ने अपने इलेक्ट्रिक व्यव

साय के लिए 2,000 से अधिक लोगों को नियुक्त करने की योजना की घोषणा की थी क्योंकियह तेजी से दुनियाभर के उपभोक्ताओं के लिएइलेक्ट्रिक और स्मार्टशहरी गतिशीलता समाधान का एकसूट बनाना चाहता है नवंबर

में CII के एक कार्यक्रम में बोलते हुए अग्रवाल ने कहा था कि वाहनों के चार व्यापक खंड हैं, जिनमें बड़े वाणिज्यिक वाहन (बस और ट्रक), पश्चिमी शैली के चार पहिया, एशियाई और यूरोपीयशैली के चार पहिया वाहन (छोटे शहर की कारें)और दो और तीन-पहिया हैं।उन्होंने

कहा था,"हमारी महत्वाकांक्षा छोटे वाहनोंऔर

छोटेशहर केचारपहिया वाहनों के लिएबिजली 

की गतिशीलता में अग्रणी होना है। और टेस्ला या कई अमरीकी कंपनियों के विपरीत जो अपने स्वयं के दर्शकों के लिए निर्माण कर रहे हैं, हमें अपने दर्शकों के लिए निर्माण करना होगा। भारत दुनिया का सबसे बड़ा दोपहिया बाजार है। एशिया में वैश्विक दोपहिया बाजार का 80-90% हिस्सा है

🌻💐🌹🌸🌲🌹💐💐🌻🌺(A/2)कृषि कारोबार अब मुनाफे का हे कारोबार,अब सर्विस कारोबारीभी,

ऐग्रोबीसनेस का करोबार करने के लिये लालायित🌺

नई दिल्ली.कोरोना महामारी ने बाजार को नए सिरे से सोचने पर मजबूर कर दिया है। यही वजह है कि अब कारोबारी सर्विस सेक्टर को छोड़कर एग्री-बिजनेस की ओर रुख कर रहे हैं। कृषि कारोबार से जुड़ी नई कंपनियों में करीब 53 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है। जबकि सर्विस जैसे सेक्टर में चार फीसदी की गिरावट दर्ज हुई है।

हालांकि, इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह कृषि कारोबार में संभावित बढ़त को माना जा रहा है। माना जा रहा है कि 2022 तक देश में कृषि कारोबार 25 लाख करोड़ का आंकड़ा पार कर जाएगा।

कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड के दौरान भी नईकंपनियोंकीआमददर्ज कीगई हैहालांकि सबसेज्यादाकंपनियांएग्री-बिजनेस कीओर रुख कर रही हैं। यही वजह है कि पिछले साल की तुलना में इस साल इससे जुड़ी करीब 53 फीसदी ज्यादा कंपनियां आई हैं।जबकिमैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र मेंभी बढ़ोतरी देखी गई है,यहां पर36फीसदीनई कंपनियां

आई हैं। सबसे महत्वपूर्ण तथ्य यह भी है कि कोविड ने भी भारतीय कारोबारियों को निराश नहीं किया है।पिछले साल के मुका

बले इस साल आठफीसदी ज्यादाकंपनियां रजिस्टर्ड हुई हैं, जो उत्पादन और कृषि क्षेत्र से जुड़ी हुई हैं।

             🌺खास-खास बातें🌺

- 8 फीसदी ज्यादा कंपनियां रजिस्टर्ड हुई इस साल नवंबर तक

- 161589 कंपनी व लिमिटेड लाइबेलिटी पार्टनरशिप (एलएलपी) के तहत पंजीकृत

- 15 प्रतिशत 2014-2019 तक कंपनियों के पंजीकरण की औसत ग्रोथ थी

- 5 राज्य महाराष्ट्र, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगना में आईं सबसे ज्यादा कंपनियां

- 27,073 उत्पादन कंपनियों ने 11 महीने में पंजीकरण कराया

- 77 प्रतिशत की सबसे अधिक वृद्धि खाद्य उत्पादों के क्षेत्र में हुई

कोविड में खेती बना मुनाफे का कारोबार

अब कंपनियां कर रही हैं खेती से जुड़े धंधों की ओर रुख। इस साल बाजार में उतरी कुल कंपनियों में 35 फीसदी कृषि क्षेत्र में

सेक्टर प्रतिशत

सर्विस -9.55

मैन्युफैक्चरिंग 36.75

ट्रेडिंग/कारोबारी 12.2

निजी, सामुदायिक

सोशल सर्विस 8.9

कृषि व संबद्ध गतिविधियां 53.60

फाइनेंस -7.55

अन्य -3.16

-----------------------------------

देश की जीडीपी में कृषि कारोबार सेक्टर जीडीपी ग्रोथ में हिस्सेदारी रोजगार

कृषि 15.4 53

उत्पादन 23 22

सर्विस 61.5 25

(सर्विस सेक्टर में आईटी भी शामिल, आंकड़े प्रतिशत में)

🌻💐🌹🌸🌲🌹💐💐🌻🌺(A/3) कारिगल युद्ध के 21साल बाद दोनों देशों की सैन्य ताकत मे कितना बदलाव आया🌺

नई दिल्ली। भारत-पाकिस्तान  के बीच हमेशा से तनाव रहा है। दोनों देशों के बीच वर्ष 1948,1965,1971 और 1999 में चार युद्ध हो चुके हैं।अबभीलगातार पाकि

स्तान की ओर से नाराजगी औरबौखलाहट कीखबरेंआती रहती हैं।पाकअभी भीसीमा 

पर अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है औरलगातार भारत में घुसपैठ करता रहता है। हालांकि सैन्य ताकत के बारे में भारत अपने पड़ोसी देश से बहुत आगे हैं। आइए जानते हैं 1999 में हुए कारिगल युद्ध (Kargil war) के बाद दोनों देशों की सैन्य ताकत। बता दें कि भारत में कारगिल युद्घ को वियजी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

दुनिया के सबसे ताकतवर देशों में भारत चौथेस्थान पर मीडियारिपोर्ट्स केमुताबिक

,भारत दुनिया के ताकतवर देशों में चौथे स्थान पर है।भारत से आगे सिर्फ अमरीका

,चीन और रूस हैं। पाकिस्तान के मुकाबले भारतीय सेना की हालत हथियारों मेंमामले 

बहुत मजबूत हो गई है और भारत के पास कई ऐसे हथियार हैं,जो दुश्मन देश का धूल चटाने के लिए काफी हैं।

भारत और पाकिस्तान की सैन्य ताकत

भारत

-21,40,000-सैनिक

-टैंक-4426

-फाइटर एयरक्राफ्ट

-सबमरीन-15

-न्यूक्लियर वॉरहैड-150

पाकिस्तान

-654,000

-टैंक-2735

-फाइटर एयरक्राफ्ट-186

-सबमरीन-5

-न्यूक्लियर वॉरहैड-160

 20 साल में बढ़ा भारत का डिफेंस बजट

-कारगिल के वक्त भारत का डिफेंस बजट 104 हजार करोड़ रुपए का था।

-पाकिस्तान का डिफेंस बजट 23 हजार करोड़ रुपए का था।

-कारगिल के 20 साल बाद पाकिस्तान का डिफेंस बजट बढ़कर 77 हजार करोड़ हो गया।

-पाकिस्तान का डिफेंस बजट आज भी भारत के 20 साल पुराने डिफेंस बजट से 27 हजार करोड़ कम है।

आर्म्ड फोर्स में हुआ बड़ा इजाफा

भारत आर्म्ड फोस के हिसाब से पाकिस्तान से तीन गुना ज्यादा बड़ा है। 1999 में भारत की आर्म्ड फोर्स की संख्या 23 लाख के आसपास थी। 2019 में यह बढ़कर 30 लाख से ऊपर हो गई। यानी, 20 साल में 7 लाख का इजाफा। वहीं, पाकिस्तान की आर्म्ड फोर्सेज की संख्या 1999 में 8 लाख थी जो अब 9 लाख ही है।

 भारत के पास पाकिस्तान से दोगुने टैंक

भारत के पास 14,44,000 एक्टिव सेना के अलावा 21,00,000 रिजर्व सेना भी है जो किसी भी इमरजेंसी के समय एक्टिव सेना में मर्ज हो सकती है। जबकि पाकिस्तान के पास 6,54,000 एक्टिव सेना और 5,50,000 रिजर्व सेना है। इस लिहाज से भारत की आर्मी पाकिस्तान की आर्मी से तीन गुना से ज्यादा पावरफुल है।

इंडियन फोर्स के पास पाक से 55 प्रतिशत ज्यादा एयरक्राफ्ट

भारत के एयरक्राफ्ट

-भारत के पास टोटल एयरक्राफ्ट—2,123

-पाकिस्तान के पास टोटल एयरक्राफ्ट—1,372

-भारत के पास फाइटर एयरक्राफ्ट—538

-पाकिस्तान के पास फाइटर एयरक्राफ्ट—356

-भारत के पास मल्टीरोल एयरक्राफ्ट—329

-पाकिस्तान के पास मल्टीरोल एयरक्राफ्ट—225

-भारत के पास ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट—250

-पाकिस्तान के पास ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट—49

-भारत के पास अटैक एयरक्राफ्ट—220

-पाकिस्तान के पास अटैक एयरक्राफ्ट—90

-भारत के पास हेलीकाप्टर—725

-पाकिस्तान के पास हेलीकाप्टर—323

इंडियन नेवी के पास पाकिस्तान से तीन गुना फ्लीट स्ट्रेंथ

-भारत के पास फ्लीट स्ट्रेंथ—285

-पाकिस्तान के पास फ्लीट स्ट्रेंथ—100

-भारत के पास एयरक्राफ्ट कॅरियर—1

-पाकिस्तान के पास एयरक्राफ्ट कॅरियर—0

-भारत के पास डिस्ट्रायर—10

-पाकिस्तान के पास डिस्ट्रायर—0

-भारत के पास फ्रिगेट—13

-पाकिस्तान के पास फ्रिगेट—9

-भारत के पास कोवेट्स—13

-पाकिस्तान के पास कोवेट्स—2

-भारत के पास सबमरीन—19

-पाकिस्तान के पास सबमरीन—8

-भारत के पास कोस्टल पेट्रोल—139

-पाकिस्तान के पास कोस्टल पेट्रोल—12

भारत की अग्नि-3 पाकिस्तान के शाहीन से दो गुना ताकतवर

सेंटर फॉर स्ट्रेटिजिक स्टडीज के मुताबिक, भारत के पास 9 बैलिस्टिक मिसाइल हैं जिसमें अग्नि-3 भी है। अग्नि-3 भारत की सबसे आधुनिक और ताकतवर मिसाइल है। जो पाकिस्तान के सबसे ताकतवर मिसाइल शाहीन-2 की तुलना में ज्यादा ताकतवर है। भारत की अग्नि-3 न्यूक्लियर बैलिस्टिक के साथ 3000 से 5000 किलोमीटर तक मार कर सकती है, जबकि पाकिस्तान की शाहीन-2 सिर्फ 2000किलोमीटर तक मार कर सकती है।

🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💝(A/4) दि कपिल शर्मा शो ;98 किलो वजनघटाकर फिट दिखे गणेशआचार्य,कपिल

शर्मा,चुटकीलेकरबोले-मास्टरजी दोलोगगायब

कर दिए आपने💝

कपिल के इस शो में इस बार कोरियोग्राफर गणेश आचार्य, टेरेस लुईस और गीता कपूर बतौर मेहमान बनकर आने वाले हैं. शो से जुड़ा एक प्रोमो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

💝98किलोवजनघटाकरफिटदिखे गणेश💝 Ganesh  चुटकी लेकर बोले-मास्टरजी दो लोग गायब कर दिए आपने

कॉमेडी किंग कपिल शर्मा के शो पर कॉमेडी की डोज़ दिनों-दिन बढ़ती जा रही है. ‘द कपिल शर्मा शो’ के अपकमिंग एपिसोड में आपको कॉमेडी का ऐसा ही ज़बरदस्त डोज़ मिलने वाला है. कपिल के इस शो में इस बार कोरियोग्राफर गणेश आचार्य, टेरेस लुईस और गीता कपूर बतौर मेहमान बनकर आने वाले हैं. शो से जुड़ा एक प्रोमो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

इस ट्रेलर में कपिल शर्मा, कोरियोग्राफर गणेश आचार्य से पूछते हैं कि, ‘मास्टरजी कितना वेट कम कर लिया आपने ?’. कपिल के इस सवाल पर गणेश कहते हैं, ‘98 KG’ यह सुनते ही कपिल उनका मज़ाक उड़ाते हुए मस्ती भरे अंदाज़ में कहते हैं कि, ‘छोटे शहरों में 40 -40 किलो के आदमी होते हैं, दो आदमी कम कर दिए आपने’. कपिल की यह बात सुन वहां मौजूद हर शख्स ठहाके लगाने लगता है.

कपिल यहीं नहीं रुकते हैं, बल्कि गणेश आचार्य के साथ मस्ती मज़ाक करने के बाद वह गीता कपूर के साथ फ्लर्टिंग करने लगते हैं.शो की हाईलाइट कृष्णा अभिषेक रहे जो जग्गू दादा उर्फ़ जैकी श्रॉफ भी हैं जो गीता कपूर को ‘मां की दाल’ और गणेश आचार्य को खाली डिब्बा देकर उसमें ‘आचार’ भरने को कहते हैं, जिसे सुन वहां मौजूद हर व्यक्ति ठहाके लगाने लगता है. कपिल शर्मा के शो से जुड़ी एक और खबर आपको दे दें, ऐसी अफवाह थी कि कॉमेडियन भारती सिंह, ‘ द कपिल शर्मा शो’ को अलविदा कहने वाली हैं. हालांकि, खुद भारती सिंह ने शो से जुड़े फोटो शेयर करते हुए इन अफवाहों पर विराम लगा दिया है।

🌻💐🌱🌸🌸🌲🌹💐💐 💐(B)आज के दिन जन्मे.एक मध्यकालीन कवि, सेनापति, प्रशासक, आश्रयदाता, दानवीर, कूटनीतिज्ञ, बहुभाषाविद, कलाप्रेमी, एवं विद्वान अब्दुल रहीम ख़ान-ए-ख़ानाँ या सिर्फ रहीम,का.जीवन परिचय                  

🔥अब्दुल रहीम ख़ान-ए-ख़ानाँ या सिर्फ     

      रहीम का  जीवन परिचय  लेख.🔥 

अब्दुल रहीम ख़ान-ए-ख़ानाँ या सिर्फ रहीम, एक मध्यकालीन कवि, सेनापति, प्रशासक, आश्रयदाता, दानवीर, कूटनीतिज्ञ, बहुभाषाविद, कलाप्रेमी, एवं विद्वान थे। वे भारतीय सामासिक संस्कृति के अनन्य आराधक तथा सभी संप्रदायों के प्रति समादर भाव के सत्यनिष्ठ साधक थे। उनका व्यक्तित्व बहुमुखी प्रतिभा से संपन्न था। वे एक ही साथ कलम और तलवार के धनी थे और मानव प्रेम के सूत्रधार थे।

                 अब्दुल रहीम

अब्दुल रहीम और बादशाह अकबर

जन्म:-17 दिसम्बर 1556

जन्मस्थान:-दिल्ली, मुगल साम्राज्य

निधन:-01 अक्टूबर 1627 (उम्र 70)

निधन स्थल:-आगरा, मुगल साम्राज्य

अब्दुल रहीम खान-ए-खाना का मकबरा, दिल्ली

जीवनसंगी;-मह बानू बेगम

संतान:-2

पिता:-बैरम खान

माता:-जमाल खान की बेटी

धर्म:-इस्लाम

जन्मसे एक मुसलमान होते हुएभी हिंदू जीवन केअंतर्मन में बैठकर रहीम ने जो मार्मिक तथ्य अंकित किये थे,उनकी विशाल हृदयता कापरि

चय देती हैं। हिंदू देवी-देवताओं, पर्वों, धार्मिक मान्यताओं और परंपराओं का जहाँ भी उनके द्वारा उल्लेख किया गया है, पूरी जानकारी एवं ईमानदारी के साथ किया गया है। वे जीवनभर हिंदूजीवन कोभारतीय जीवन कायथार्थमानते

 रहे। रहीम ने काव्य में रामायण, महाभारत, पुराण तथा गीता जैसे ग्रंथों के कथानकों को उदाहरण के लिए चुना हैऔरलौकिक जीवन

व्यवहार पक्ष को उसके द्वारा समझाने का प्रयत्न किया है,जोभारतीय संस्कृति की वर झलक को पेश करता है।

छिमा बड़न को चाहिये, छोटन को उतपात।

का रहीम हरि को घट्यौ, जो भृगु मारी लात॥

                ❤️जीवन परिचय❤️

अबदुर्ररहीम खानखाना का जन्म सन् 1156 में लाहौर में हुआ था। संयोग से उस समय हुमायूँ , सिकंदर , सूरी का आक्रमण का प्रतिरोध करने के लिए सैन्य के साथ लाहौर में मौजूद थे।

रहीम के पिता बैरम खाँ तेरह वर्षीय अकबर के शिक्षक तथा अभिभावक थे। बैरम खाँ खान-ए-खाना की उपाधि से सम्मानित थे। वे हुमायूँ के साढ़ू और अंतरंग मित्र थे। रहीम की माँ वर्तमान हरियाणा प्रांत के मेवाती राजपूत जमाल खाँ की सुंदर एवं गुणवती कन्या सुल्ताना बेगम थी। जब रहीम पाँच वर्ष के ही थे, तब गुजरात के पाटण नगर में सन 1561 में इनके पिता बैरम खाँ की हत्या कर दी गई। रहीम का पालन-पोषण अकबर ने अपने धर्म-पुत्र की तरह किया। शाही खानदान की परंपरानुरूप रहीम को 'मिर्जा खाँ' का ख़िताब दिया गया। रहीम ने बाबा जंबूर की देख-रेख में गहन अध्ययन किया। शिक्षा समाप्त होने पर अकबर ने अपनी धाय की बेटी माहबानो से रहीम का विवाह करा दिया। इसके बाद रहीम ने गुजरात, कुम्भलनेर, उदयपुर आदि युद्धों में विजय प्राप्त की। इस पर अकबर ने अपने समय की सर्वोच्च उपाधि 'मीरअर्ज' से रहीम को विभूषित किया। सन 1584 में अकबर ने रहीम को खान-ए-खाना की उपाधि से सम्मानित किया। रहीम का देहांत 71 वर्ष की आयु में सन 1627 में हुआ। रहीम को उनकी इच्छा के अनुसार दिल्ली में ही उनकी पत्नी के मकबरे के पास ही दफना दिया गया। यह मज़ार आज भी दिल्ली में मौजूद हैं। रहीम ने स्वयं ही अपने जीवनकाल में इसका निर्माण करवाया था।

            ❤️अकबर के दरबार ❤️

हुमायूँ ने युवराज अकबर की शिक्षा-दिक्षा के लिए बैरम खाँ को चुना और अपने जीवन के अंतिम दिनों में राज्य का प्रबंध की जिम्मेदारी देकर अकबर का अभिभावक नियुक्त किया था। बैरम खाँ ने कुशल नीति से अकबर के राज्य को मजबूत बनाने में पूरा सहयोग दिया। किसी कारणवश बैरम खाँ और अकबर के बीच मतभेद हो गया। अकबर ने बैरम खाँ के विद्रोह को सफलतापूर्वक दबा दिया और अपने उस्ताद की मान एवं लाज रखते हुए उसे हज पर जाने की इच्छा जताई। परिणामस्वरुप बैरम खाँ हज के लिए रवाना हो गये। बैरम खाँ हज के लिए जाते हुए गुजरात के पाटन में ठहरे और पाटन के प्रसिद्ध सहस्रलिंग सरोवर में नौका-विहार के बाद तट पर बैठे थे कि भेंट करने की नियत से एक अफगान सरदार मुबारक खाँ आया और धोखे से बैरम खाँ की हत्या कर दी। यह मुबारक खाँ ने अपने पिता की मृत्यु का बदला लेने के लिए किया।

इस घटना ने बैरम खाँ के परिवार को अनाथ बना दिया। इन धोखेबाजों ने सिर्फ कत्ल ही नहीं किया, बल्कि काफी लूटपाट भी मचाया। विधवा सुल्ताना बेगम अपने कुछ सेवकों सहित बचकर अहमदाबाद आ गई। अकबर को घटना के बारे में जैसे ही मालूम हुआ, उन्होंने सुल्ताना बेगम को दरबार वापस आने का संदेश भेज दिया। रास्ते में संदेश पाकर बेगम अकबर के दरबार में आ गई। ऐसे समय में अकबर ने अपने महानता का सबूत देते हुए इनको बड़ी उदारता से शरण दिया और रहीम के लिए कहा “इसे सब प्रकार से प्रसन्न रखो। इसे यह पता न चले कि इनके पिता खान खानाँ का साया सर से उठ गया है। बाबा जम्बूर को कहा यह हमारा बेटा है। इसे हमारी दृष्टि के सामने रखा करो। इस प्रकार अकबर ने रहीम का पालन- पोषण एकदम धर्म- पुत्र की भांति किया। कुछ दिनों के पश्चात अकबर ने विधवा सुल्ताना बेगम से विवाह कर लिया। अकबर ने रहीम को शाही खानदान के अनुरुप “मिर्जा खाँ’ की उपाधि से सम्मानित किया। रहीम की शिक्षा- दीक्षा अकबर की उदार धर्म- निरपेक्ष नीति के अनुकूल हुई। इसी शिक्षा-दीक्षा के कारण रहीम का काव्य आज भी हिंदूओं के गले का कण्ठहार बना हुआ है। दिनकर जी के कथनानुसार अकबर ने अपने दीन-इलाही में हिंदूत्व को जो स्थान दिया होगा, उससे कई गुणा ज्यादा स्थान रहीम ने अपनी कविताओं में दिया। रहीम के बारे में यह कहा जाता है कि वह धर्म से मुसलमान और संस्कृति से शुद्ध भारतीय थे।

           🔥❤️विवाह ❤️🔥

रहीम की शिक्षा समाप्त होने के पश्चात सम्राट अकबर ने अपने पिता हुमायूँ की परंपरा का निर्वाह करते हुए, रहीम का विवाह बैरम खाँ के विरोधी मिर्जा अजीज कोका की बहन माहबानों से करवा दिया। इस विवाह में भी अकबर ने वही किया, जो पहले करता रहा था कि विवाह के संबंधों के बदौलत आपसी तनाव व पुरानी से पुरानी कटुता को समाप्त कर दिया करता था। रहीम के विवाह से बैरम खाँ और मिर्जा के बीच चली आ रही पुरानी रंजिश खत्म हो गयी। रहीम का विवाह लगभग तेरह साल की उम्र में कर दिया गया था।इनकी दस संताने थी

          ❤️ मीर अर्ज का पद ❤️

अकबर के दरबार को प्रमुख पदों में से एक मीर अर्ज का पद था। यह पद पाकर कोई भी व्यक्ति रातों रात अमीर हो जाता था, क्योंकि यह पद ऐसा था, जिससे पहुँचकर ही जनता की फरियाद सम्राट तक पहुँचती थी और सम्राट के द्वारा लिए गए फैसले भी इसी पद के जरिये जनता तक पहुँचाए जाते थे। इस पद पर हर दो- तीन दिनों में नए लोगों को नियुक्त किया जाता था। सम्राट अकबर ने इस पद का काम- काज सुचारु रूप से चलाने के लिए अपने सच्चे तथा विश्वास पात्र अमीर रहीम को मुस्तकिल मीर अर्ज नियुक्त किया। यह निर्णय सुनकर सारा दरबार सन्न रह गया था। इस पद पर आसीन होने का मतलब था कि वह व्यक्ति जनता एवं सम्राट दोनों में सामान्य रूप से विश्वसनीय है।

         ❤️ रहीम शहजादा सलीम ❤️

काफी मिन्नतों तथा आशीर्वाद के बाद अकबर को शेख सलीम चिश्ती के आशीर्वाद से एक लड़का प्राप्त हो सका, जिसका नाम उन्होंने सलीम रखा। शहजादा सलीम माँ-बाप और दूसरे लोगों के अधिक दुलार के कारण शिक्षा के प्रति उदासीन हो गया था। कई महान लोगों को सलीम की शिक्षा के लिए अकबर ने लगवाया। इन महान लोगों में शेर अहमद, मीर कलाँ और दरबारी विद्वान अबुलफजल थे। सभी लोगों की कोशिशों के बावजूद शहजादा सलीम को पढ़ाई में मन न लगा। अकबर ने सदा की तरह अपना आखिरी हथियार रहीम खाने खाना को सलीम का अतालीक नियुक्त किया। कहा जाता है रहीम यह गौरव पाकर बहुत प्रसन्न थे।

               ❤️भाषा शैली ❤️

रहीम ने अवधी और ब्रजभाषा दोनों में ही कविता की है जो सरल, स्वाभाविक और प्रवाहपूर्ण है।

यह रहीम निज संग लै, जनमत जगत न कोय।

बैर, प्रीति, अभ्यास, जस, होत होत ही होय ॥

उनके काव्य में शृंगार, शांत तथा हास्य रस मिलते हैं। दोहा, सोरठा, बरवै, कवित्त और सवैया उनके प्रिय छंद हैं। रहीम दास जी की भाषा अत्यंत सरल है, उनके काव्य में भक्ति, नीति, प्रेम और श्रृंगार का सुन्दर समावेश मिलता है। उन्होंने सोरठा एवं छंदों का प्रयोग करते हुए अपनी काव्य रचनाओं को किया है| उन्होंने ब्रजभाषा में अपनी काव्य रचनाएं की है| उनके ब्रज का रूप अत्यंत व्यवहारिक, स्पष्ट एवं सरल है| उन्होंने तदभव शब्दों का अधिक प्रयोग किया है। ब्रज भाषा के अतिरिक्त उन्होंने कई अन्य भाषाओं का प्रयोग अपनी काव्य रचनाओं में किया है| अवधी के ग्रामीण शब्दों का प्रयोग भी रहीमजी ने अपनी रचनाओं में किया है, उनकी अधिकतर काव्य रचनाएं मुक्तक शैली में की गई हैं जो कि अत्यंत ही सरल एवं बोधगम्य है |

                ❤️प्रमुख रचनाएं ❤️

रहीम दोहावली, बरवै, नायिका भेद, मदनाष्टक, रास पंचाध्यायी, नगर शोभा आदि

🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻(C) आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐

1715 – सिखों के प्रमुख बंदा बहादुर बैरागी ने गुरुदासपुर में मुग़लों के सामने आत्मसमर्पण किया।

1779 – मराठों और पुर्तग़ालियों के बीच लंबे संघर्ष के बाद मराठा सरकार ने मित्रता सुनिश्चित करने के लिए इस प्रदेश के कुछ गांवों का 12,000 रुपये का राजस्व क्षतिपूर्ति के तौर पर पुर्तग़ालियों को सौंप दिया था।

1907 – उग्येन वांगचुक भूटान के पहले वंशानुगत राजा बने।

1914 – पोलैंड के लिमानोव में आस्ट्रिया की सेना ने रूसी सेना को पराजित किया।

1914 – तुर्की अधिकारियों ने यहूदियों को तेल अवीव से बाहर खदेड़ दिया गया।

1925 – तत्कालीन सोवियत संघ और तुर्की ने एक दूसरे पर हमला न करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये।

1927 – आस्ट्रेलिया के महान् बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन ने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपने पहले ही मैच में शानदार 118 रनों की पारी खेली।

1927 – भारत के एक प्रमुख क्रान्तिकारी राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी को निर्धारित तिथि से २ दिन पूर्व ब्रिटिश सरकार ने गोण्डा जेल में फाँसी पर लटका कर मार दिया।

1929 – महान् क्रांतिकारी भगत सिंह और राजगुरु ने अंग्रेज़ पुलिस अधिकारी सांडर्स को गोली मारी।

1931 – भारत के इतिहास में काफ़ी महत्वपूर्ण है। इस दिन प्रोफेसर प्रशान्त चन्द्र महालनोबिस का सपना साकार हुआ और कोलकाता में ‘भारतीय सांख्यिकी संस्थान’ की स्थापना हुई।

1933-भारत के दिग्गज क्रिकेटर लाला अमरनाथ ने अपने पदार्पण टेस्ट मैच में ही 118 रनों की बेहतरीन पारी खेली।

1940-महात्मा गांधी ने व्यक्तिगत सत्याग्रह आंदोलन स्थगित किया।

1996-नेशनल फुटबॉललीग का शुभारंभहुआ

1971–भारत-पाक युद्ध समाप्त।

1998–अमेरिकी और ब्रिटिश बम वर्षकों ने 'आपरेशन डेजर्ट फ़ाक्स' के तहत इराक पर भारी बमबारी की।

2000–भारत और पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष मुख्यालयों में हॉटलाइन पुन: शुरू, नेशनलिस्ट सर्व डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता मिरको सरोविक ने बोस्निया में राष्ट्रपति पद की शपथ ली।

2002–तुर्की ने कश्मीर मुद्दे पर भारत का समर्थन किया।

2005-भूटान के राजा जिग सिगमे वांचुक को सत्ता से हटाया गया।

2008- शीला दीक्षित ने दिल्ली की मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

2008–केन्द्रसरकारनेशासन बलों में पदोन्नति के लिए नई पदोन्नति नीति की घोषणा की।

2009-लेबनान के समुद्री तट पर कार्गोजहाज

एमवी डैनी एफ टू के डूबने से 40 लोगों तथा 28000 से अधिक पशुओं की मौत हो गयी।

2014-अमेरिकाऔर क्यूबाने55 साल के बाद दोबारा कूटनीतिक संबंधों को बहाल किया

🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व

1556 – रहीम - बादशाह अकबर के दरबार के प्रसिद्ध कवि।

1869 सखाराम गणेश देउसकर क्रांतिकारी 

लेखक, इतिहासकार तथा पत्रकार थे।

1905 – मुहम्मद हिदायतुल्लाह - भारत के पहले मुस्लिम मुख्य न्यायाधीश, वे भारत के प्रथम कार्यवाहक राष्ट्रपति थे।

1922- एलन वूरीज़, अमेरिकी इंजीनियर और शहरी योजनाकार 

1972 – जॉन अब्राहम - भारतीय फ़िल्म अभिनेता

1994- ललित शुक्ला, लेखक ,विचारक एवम पूर्व छात्र नेता लखनऊ विश्वविद्यालय

🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻(E)आज के दिन निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।

1645 – नूरजहां - मुग़ल सम्राट जहांगीर की पत्नी।

1959 – भोगराजू पट्टाभि सीतारामैया - प्रसिद्ध भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, गाँधीवादी और पत्रकार।

1927 – राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी - भारत के अमर शहीद प्रसिद्ध क्रांतिकारियों में से एक।

🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻(F) आज का दिन/दिवस का नाम

1 रहीम - बादशाह अकबर के दरबार के प्रसिद्ध कवि थेउनका आज जयंती दिवस है 

2 सखाराम गणेश देउसकर क्रांतिकारी 

लेखक, इतिहासकार तथा पत्रकार थे।उनका आज जयंती दिवस है

3 मुहम्मद हिदायतुल्लाह - भारत के पहले मुस्लिम मुख्य न्यायाधीश, वे भारत के प्रथम कार्यवाहक राष्ट्रपति थे।उनका आज जयंती दिवस है

4 एलन वूरीज़, अमेरिकी इंजीनियर और शहरी योजनाकार  थे उनका आज जयंती दिवस है

5 – नूरजहां - मुग़ल सम्राट जहांगीर की पत्नी का  आज पुणयतिथि दिवस  

6– भोगराजू पट्टाभि सीतारामैया - प्रसिद्ध भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, गाँधीवादी और पत्रकारके का आज पुणयतिथि दिवस

7 राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी - भारत के अमर शहीद प्रसिद्ध क्रांतिकारियों में से एक।थे उनका आज पुण्यतिथी दिवस है।

🌻🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐   

आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।

      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।

💐।जय चित्रांश।💐

💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐

💐।जय हिंद जय भारत💐

💐  निवेदक;-💐

💐 चित्रांश ;-विजय निगम।💐