दांत दर्द करे परेशान

रल हाईजीन और दांतों की सेहत को लेकर हमारे बेहद देश में अभी उतनी जागरूकता नहीं है. आज भी सत्व बहुत से लोग भयंकर दांत दर्द होने के बाद ही डेंटिस्ट के दर्द पास जाते हैं. उनमें से ज्यादातर लोगों लंबे ट्रीटमेंट से तेल गुजरना पड़ता है, जो कि कुछ महीने पहले आने पर इतना कॉम्प्लेक्स नहीं होता. खैर अभी तो लॉकडाउन चल रहा है, ऐसे में अगर दांत का दर्द आपको परेशान करने लगे तो आप फ़ौरी क्या करेंगे? आपको इतनी आसानी से शायद डेंटिस्ट भी न मिलें. अचानक होनेवाले असहनीय दांत दर्द को शांत करने हमारे के घरेलू नुस्खे बता रही हैं डॉ गुनीता सिंह, डायरेक्टर, डेंटम, यह हालांकि उन्होंने साथ में यह भी कहा कि दांत के दर्द को यह रोकने के यह टेम्प्रेरी तरीके हैं, आपको अपने ओरल हेल्थ पर ध्यान देना चाहिए और नियमित रूप से दांतों और मसूड़ों दर्दवाली का चेकअप कराते रहना चाहिए. चलिए अभी के लिए हम एक्यूप्रेशरघरेलू नुसखों पर फ़ोकस कर लेते हैं. हिस्सों लौंग- दांत दर्द होने पर लौंग का इस्तेमाल काफ़ी प्रचलित और कारगर तरीक़ा है. लौंग में दर्द कम करने और एक्यूप्रेशर बैक्टीरियाज़ को मारने का नैसर्गिक गुण होता है, जो इसे पॉइंट बेहद प्रभावशाली बनाता है. लौंग में यूगेनॉल नामक एक सत्व होता है, जो नर्क्स को सुन्न कर देता है. जब तेज़ दांत हाथ दर्द हो तब बेहतर नतीजे के लिए कॉटन बॉल पर लौंग के क़रीब तेल की दो बूंदे डालकर दर्दवाली जगह पर लगाने की सलाह दी जाती है.. आइस पैक- आइस पैक का कूलिंग इफेक्ट दांत दर्द से फ़ौरी राहत प्रदान करता है. ऐसा भी माना जाता है कि अपनी हथेली पर कुछ आइस क्यूब्स रखकर रगड़ने से कि हमारे मस्तिष्क तक दर्द के सिगनल जाने बंद हो जाते हैं. यह भी एक कारण है कि दांत के दर्द को कम करने में यह बेहद कारगर माना जाता है. अगर यह तरीक़ा काम न महसूसू करे तो आप आइस पैक या किसी कपड़े में बर्फ बांधकर दर्दवाली जगह पर लगाएं.. में एक्यूप्रेशर- प्राचीन काल से ही शरीर के अलग-अलग गुणों हिस्सों के दर्द को कम करने के लिए एक्यूप्रेशन तकनीक दांत का इस्तेमाल किया जाता रहा है. दर्द कम करने के लिए एक्स्ट्रैक्ट एक्यूप्रेशर का एक बेहतरीन पॉइंट है, जिसे एलआई 4 मात्रा पॉइंट कहा जाता है. यह पॉइंट आपके अंगूठे और तर्जनी उंगली के जोड़ पर होता है. आप एक हाथ से दूसरे का एलआई 4 पॉइंट दबा सकते हैं. इस पॉइंट पर एक मिनट तक प्रेशर डालने से फ़ील गुड हार्मोन एन्डॉर्फिन रिलीज़ होता है और दांत दर्द कम हो जाता है. पेपरमिंट टी से दांत का दर्द तेजी से कम होता क्योंकि इसका मिंटी स्वाद वहां की नर्क्स को सुन्न कर . दांत दर्द में पेपरमिंट खाने का यह भी फ़ायदा है इसका टेस्ट भी अच्छा होता है. इसके अलावा आप गर्म टी बैग को प्रभावित जगह पर रखकर देखें. ही मिनटों में दर्द चमत्कारिक ढंग से कम होता हुआ महसूसू करेंगे. वनीला- वनीला को भी भयंकर दर्द को शांत करने इस्तेमाल किया जाता है. यह अपने ऐंटी-ऑक्सिटेंड के चलते काफ़ी प्रभावशाली साबित होता है. जब दर्द सताए तो दर्द वाली जगह पर थोड़ा-सा वनीला एक्स्ट्रैक्ट रख दें. चूंकि इसमें अल्कोहल की भी थोड़ी-सी होती इसलिए दर्द की जगह पर लगाने पर दर्द से मिलती है.