9 हेल्थ सप्लीमेंट एवं आयुर्वेदिक फर्मों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज

उज्जैन। कलेक्टर श्री आशीष सिंह के निर्देश पर मिलावटखोरों पर कड़ी कार्यवाही जारी है। विगत 2 दिसम्बर को उद्योगपुरी आगर रोड स्थित गजमार्क निर्माण फर्म पर छापामार कार्यवाही की गई थी। जांच में पाये गये तथ्यों के आधार पर आज 9 फर्मों पर एफआईआर दर्ज की गई है। जिन फर्मों पर एफआईआर दर्ज की गई है, उनमें गजमार्क निर्माण फर्म उमेश मंडोरा उज्जैन, पोलेन फार्मा प्रा.लि. विष्णु ताम्रकार एवं राजेन्द्र ताम्रकार मुम्बई, बियाणी एण्ड संस ओमप्रकाश एवं मनोज बियाणी महेश नगर उज्जैन, हितम आयुह केयर नीलेश लड्ढा उद्योगपुरी आगर रोड उज्जैन, वीनकेम फार्मा गोविन्द माहेश्वरी आरएनटी मार्ग इन्दौर, फ्रेंकी रेमेडिज जुजेर मुखिया एवं मुस्तफा इन्दौर, पी फार्माटेक राहुल इन्दौर, पोलेनजिप फार्मा शशिकान्त सिंह रायपुर, बून फार्मास्युटिकल दिलीप झंवर महेश नगर उज्जैन के विरूद्ध भादंसं की धारा-420 एवं अन्य धाराओं में थाना चिमनगंज मंडी उज्जैन में प्रकरण दर्ज कराया गया है।

उल्लेखनीय है कि उद्योगपुरी आगर रोड स्थित गजमार्क फर्म पर विगत 2 दिसम्बर को छापामार कार्यवाही की गई थी, जहां मौके पर दल द्वारा निर्माण करके संग्रहित रखे गये हेल्थ सप्लीमेंट, मल्टी विटामिन, बी कॉम्पलेक्स सिरप एवं केप्सूल के नमूने संग्रहित कर प्रयोगशाला में भेजे गये हैं। इसी तरह आयुष अधिकारी द्वारा आयुर्वेदिक दवाओं के नमूने संग्रहित कर टेस्टिंग लेबोरेटरी ग्वालियर भेजे गये हैं। जांच में गजमार्क फार्मा द्वारा बाहर के बड़े ब्रांडों के नाम पर हेल्थ सप्लीमेंट, मल्टीविटामिन, बी कॉम्पलेक्स सिरप आदि का निर्माण किया जाना पाया गया, जबकि इन कंपनियों के अनुबंध एवं अन्य दस्तावेज गजमार्क निर्माण फर्म के संचालक उमेश मंडोरा द्वारा प्रस्तुत नहीं किये गये। उत्पादों के लेबल पर जानकारी भ्रामक पाई गई थी।