दिवाली पर मात्र दो घण्टे ही चलेंगे पटाखे; धारा 144 के तहत आदेश जारी

  • उज्जैन जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा में केवल उन्नत एवं ग्रीन क्रेकर्स (पटाखे) के विक्रय की अनुमति ही रहेगी


 उज्जैन। उज्जैन जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा क्षेत्र में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री आशीष सिंह द्वारा धारा-144 के तहत आदेश जारी कर केवल उन्नत एवं ग्रीन क्रेकर्स (पटाखे) के विक्रय एवं भण्डारण की अनुमति देते हुए अन्य समस्त प्रकार के पटाखों का भण्डारण, विक्रय एवं उपयोग प्रतिबंधित कर दिया है।


 अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जारी किये गये धारा-144 के आदेश के तहत उन्नत एवं ग्रीन क्रेकर्स के प्रस्फुटन की अनुमति केवल रात्रि 8 से रात्रि 10 बजे तक केवल दो घंटे के लिये रहेगी। शेष अवधि के दौरान किसी भी प्रकार के पटाखों का प्रस्फुटन प्रतिबंधित किया गया है। इसी तरह पटाखों के प्रस्फुटन के बिन्दु से चार मीटर की दूरी पर 125 डीबी (एआई) या 145 डीबी (सी) पीक से अधिक ध्वनि स्तरजनक पटाखों का विनिर्माण, उपयोग व संग्रह वर्जित रहेगा। विदेशी पटाखों का विक्रय, संग्रहण एवं उपयोग पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। पटाखों के जलाने के उपरान्त उनसे उत्पन्न कचरे को ऐसे स्थान पर नहीं फैंका जायेगा, जहां पर प्राकृतिक जलस्त्रोत, पेयजल प्रदूषित होने की संभावना है। उक्त आदेश 11 नवम्बर की रात्रि से लागू हो गया है तथा जारी होने की दिनांक से आगामी दो माह की अवधि तक प्रभावशील रहेगा। उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश शासन गृह विभाग द्वारा एनजीटी नईदिल्ली में प्रचलित प्रकरण में पारित आदेश के तारतम्य में प्रतिबंध लगाने के निर्देश जारी किये गये हैं।