दीपावली के मौके पर अपनों को बादाम की सौगात देकर जताएं अपना प्यार


त्योहारों का मौसम परवान चढ़ने के साथ-साथ दिवाली भी करीब आ पहुंची है। ऐसे में आपके कामों की लिस्टम उतनी ही लंबी होगी जितनी आपकी सामाजिक प्रतिबद्धताएँ। घर की सजावट और त्योहारों के व्यंजन बनाने से लेकर, सबसे खास पूजा की थाली ढूंढ़ने या अपने परिवार और दोस्तों के लिए परफेक्ट उपहार तय करने तक, ऐसी कई चीज़ें हैं जिन पर आपका ध्यान दिया जाना ज़रूरी है। हालांकि अब तक जारी महामारी के कारण इस साल का जश्न उतना भव्य नहीं होगा, लेकिन फिर भी परिवार के साथ खुशियाँ और प्यार साझा करने के लिए दिवाली एक महत्वपूर्ण क्षण है।   


इस साल तंदुरुस्ती और सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित रहने के कारण इस अप्रत्याशित समय में अपने प्रियजनों से सेहत बढ़ाने वाले उपहारों को साझा कर सकते हैं। इससे दीपावली के अवसर पर उनके स्वास्थ्य पर ध्यान देने का एक मौका आपको मिल सकता है। उपहार के नियमित और रूटीन विकल्पों की जगह हाथों से बने दीए या मोमबत्ती, सजावट की वस्तुएँ या रिसाइकल किए गए उत्पादों से बने कपड़े या बादाम जैसे सेहतमंद और पोषणयुक्त आहार के बारे में विचार करें। बादाम को अच्छी सेहत का उपहार भी कहा जाता है क्योंकि इससे हृदय की सेहत, डायबिटीज़ और वज़न प्रबंधन में विभिन्न प्रकार के लाभ मिलते हैं। इसके अलावा बादाम से कॉपर, ज़िंक, फॉलेट, आयरन (लोह) और विटामिन ई प्राप्त होते हैं–ये सभी रोग प्रतिरोधक प्रणाली को मदद करते हैं। ये सारे गुण बादाम को घऱ पर रखने के लिए सबसे अच्छा आहार बनाते हैं, खास तौर पर जब परिवार की प्राथमिकता रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना हो। 


तो इस साल परिवार के बीच समय बिताने के साथ नियमित आनंदोत्सव सहित एक सुरक्षित और सेहतमंद दीपावली मनाएँ। पटाखों से दूर रहें, अच्छे चमकीले दीए जलाएँ, दीए सजाएँ, आपके दिलों और घऱों में देवी लक्ष्मी का स्वागत करने के लिए रंगोली बनाएँ, लेकिन यह सब करें सेहतमंद आहार पर ध्यान केंद्रित करते हुए और सोशल डिस्टेन्सिंग बनाकर रखते हुए। 


इस त्योहार के मौसम में अपने प्रियजनों की सेहत का ख्या ल रखने के महत्व के बारे में बात करते हुए बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा सोहा अली खान ने कहा, “त्यो हारों के मौसम में, हम लोगों में से कइ लोगों के लिए जश्न में बह जाना और अपनी सेहत की ओर से लापरवाह हो जाना बहुत आसान है। इसलिए, इस दीपावली में अपने करीबी और प्रियजनों को क्या उपहार दूँगी इसे लेकर मैं ज़्यादा सावधानी बरतूंगी। मेरी उपहार की सूची में पहली चीज़ है बादाम क्योंकि इसमें विटामिन बी2, फॉस्फोरस, मैग्नी शियम, प्रोटीन इत्यादि सहित विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व होते हैं जो एक सेहतमंद जीवन जीने के लिए महत्वपूर्ण हैं। कई लोगों को यह नहीं पता है बादाम अनेक ऐसे पोषक तत्व उपलब्ध कराता है जो रोग इम्युकनिटी को मजबूती देने के लिए जाने जाते हैं- एक और कारण है जिससे आप बादाम उपहार के तौर पर देकर अच्छा महसूस कर सकते हैं।”
मशहूर फिटनेस और सेलिब्रिटी मास्टर इन्स्ट्रक्टर यास्मीन कराचीवाला के अनुसार, “त्योहार के मौसम के दौरान आसपास इतने सारे लुभाने वाले खाद्य पदार्थों होते हैं कि हमारे लिए कैलोरी का हिसाब रखना मुश्किल हो जाता है। इसलिए त्योहार के दौरान वज़न बढ़ना बहुत सामान्य है। इसका सामना करने के लिए, यह सुनिश्चित करें कि आपके आसपास जो कुछ भी हो रहा हो लेकिन आप अपने रोज़ाना 30 मिनट के एक्सकरसाइज की दिनचर्या का हर हाल में पालन कर रहे हैं। इसके अलावा इस आनंदोत्सव के दौरान आप जिस प्रकार की डाइट लेते हैं और परोसते हैं उसमें कुछ बदलाव करें। त्योहार के मौसम में पास में बादाम रखना एक जबरदस्त आइडिया हो सकता है क्योंकि इनमें संतुष्ट करने वाले वे गुण हैं जो भोजन के बीच के समय में पेट भरे होने का अहसास कराते हैं। इसके साथ ही इससे मेहमानों को त्योहार के दौरान सतर्क रहते हुए खाने के विकल्प चुनने में मदद मिल सकती है। यही इसे आपके दोस्तों और प्रियजनों के साथ साझा करने के लिए एक ज़बरदस्त उपहार बनाता है।”
माधुरी रुइया, पाइलेट्स एक्सपर्ट और डाइट और न्यूट्रीशन कन्सल्टेंट ने कहा, “त्योहार के मौसम के साथ जश्न, समारोह, शॉपिंग और स्नैक्स और मिठाइयों का ज़्यादा सेवन होता ही है। आने वाले समय में खुशियां बांटने के लिए तैयारियां ज़ोरों पर है, इसलिए आप आपस में जिन उपहारों का आदान-प्रदान करेंगे, उसके बारे में दोबारा सोचें और विचार करें। मिठाइयां या तले हुए भोजन देने की जगह आप अपने दोस्तों और परिवार वालों को बादाम दें, क्योंकि यह एक विचारपूर्वक दिया गया उपहार है जो लंबे समय में उनकी सेहत को लाभ पहुँचा सकता है। इसके अलावा बादाम विटामिन बी2 का एक समृद्ध स्रोत है। विटामिन बी2 एक ऐसा विटामिन है जो एनर्जी पैदा करने के साथ-साथ कमज़ोरी और थकान दूर करने में बड़ी भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है और बादाम को इस काम में उपयुक्त बनाता है।”


मैक्स हेल्थकेयर –दिल्ली की रीजनल हेड-डायटेटिक्स रितिका समद्दर ने कहा, “सभी  भारतीय घरों में दीपावली के दौरान उपहार के तौर पर मिठाइयाँ साझा करना एक सामान्य परंपरा है। हालाँकि यह उन लोगों के लिए उपयुक्त नहीं है जो उच्च रक्तचाप, डायबिटीज़ और कार्डियोवैस्कुलर जैसी बीमारियों से पीड़ित हैं, जो देश में काफी सामान्य हैं। मेरी सलाह है – मिठाइयों को, जिसमें कैलोरी और शक्कर की मात्रा ज्यादा होती है, साझा करने की जगह बादाम का विकल्प चुनें। इसके पोषण मूल्य और विभिन्न प्रकार के लाभ के कारण बादाम दीपावली के दौरान दिया जाने वाला उत्कृष्ट उपहार बन जाता है। यह उन लोगों के लिए और भी सही हो जाता है जो टाइप II डायबिटीज़ से पीड़ित हैं, क्योंकि रिसर्च दर्शाता है कि बादाम का रोज़ाना सेवन टाइप II डायबिटीज़ से पीड़ित लोगों के लिए स्वस्थ ब्लड शुगर लेवल बनाए रखने और कार्डियोवैस्कुलर की स्थितियों के  सुधार में मदद कर सकता है। ”


न्यूट्रीशन और वेलनेस कन्सलटेंट शीला कृष्णास्वामी ने कहा, “महामारी के कारण पूरे देश में ज़्यादातर परिवारों के लिए पिछले साल की तुलना में इस बार दिवाली का उत्सव बेहद अलग रहेगा। जबकि हम दिवाली मनाने के इस नए तरीके को अपनाने के लिए तैयार हो रहे हैं, लेकिन उपहार साझा करने की परंपरा वर्चुअल तरीके से या व्यक्तिगत रूप में जारी रहेगी। मैं बादाम जैसे उपहार देने की सिफारिश करुँगी, जो उपहार देने वाले की विचारशीलता और देखभाल की भावना को दर्शाता है। यह लंबे समय में भेंट प्राप्त करने वाले की सेहत में सकारात्मक बदलाव ला सकता है। यह उन लोगों के लिए खास तौर पर सही है जो उनके हृदय की सेहत को प्राथमिकता देते हैं। भारत में शोधकर्ताओं द्वारा हाल ही में की गई समीक्षा के अनुसार, बादाम के नियमित सेवन से कुल और एलडीएल कोलेस्ट्रोल स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है। ये दोनों ही हृदय रोगों के लिए खतरे के कारक माने जाते हैं।  इसलिए, लंबी अवधि में स्वास्थ्य लाभ के लिए इस दीपावली उपहार के रुप में बादाम ज़रूर दें।”   


इसलिए, इस दिवाली में घी और शक्कर से बनी मिठाइयाँ उपहार में देने की बजाय बादाम जैसे सेहतमंद विकल्प चुनें जो स्वादिष्ट और कुरकुरे हैं तथा अच्छी सेहत का वादा भी करते हैं।