आज की बात आपके साथ - विजय निगम

         ।।ॐ गं गणपतये नमः।।
   ।। ॐ महाशिवाय सोमाय नम:।।
ॐयमाय धर्मराजाय श्री चित्रगुप्ताय नमो नमः।।.  
🌻💐🌹🌸🌸🌲🌹💐💐💐🌻प्रिय साथियो। 
🌹राम-राम🌹 
🌻 नमस्ते।🌻
आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 09.नवम्बर 2020.सोमवार.की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻
आज की बात आपके साथ  अंक मे है 
 A कुछ रोचक समाचार
B आज के दिन जन्मे अविभाजित भारत के प्रसिद्ध कवि,नेता,शायर और दार्शनिक व्यक्ति.मुहम्मद इक़बाल का .   जीवन परिचय. 
C आज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    
    व्यक्तित्व
E आज के दिन निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F आज के दिन/दिवस का नाम ।
🌻💐🌲🌸🌲🌹💐💐🌻
  (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)
❤️(A/1) महाराष्ट्र  सरकार ने नया आदेश जारी किया है। इसके तहत, दिवाली के बाद राज्य में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की कक्षाएं प्रारंभ होंगे❤️।
❤️(A/2) जो बाइडेन ने कहा सभी अमेरिकियों को एक जुट होने का समय आ गया है।भारतीय मूल की जीती हुई उप राष्ट्रपतिपद की अभ्यर्थी
कमला हैरिस ने कहा मे प्रथम महिला अवश्य हूं किंतु अंतिम नहीं।❤️
❤️(A/3)भारतीय छात्रों का विदेश में पढऩे काजुनून कम नहीं,सपनों को पूरा करने के लिए छात्र उड़ान भरने को तैयार ❤️
❤️(A/4) अजय देवगन अमिताभ बच्चन को निर्देशित करेंगे जानिए पूर्ण जानकारी❤️
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐(A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)
❤️(A/1) महाराष्ट्र  सरकार ने नया आदेश जारी किया है। इसके तहत, दिवाली के बाद राज्य में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की कक्षाएं प्रारंभ होंगे❤️।
नई दिल्ली।कोरोना महामारी के कारण महाराष्ट्र में बंद चल रहे स्कूल-कॉलेज को लेकर राज्य सरकार ने नया आदेश जारी किया है। इसके तहत, दिवाली के बादराज्य में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट
की कक्षाएं शुरू की जाएंगी।बता दें कि 
भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले राज्यों में सबसे ज्यादा केस अब तक महाराष्ट्र में ही आए हैं। इसके बाद दिल्ली, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और कर्नाटक में स्थिति ज्यादा खराब है।
केंद्र सरकार ने 22 मार्च से देशभर में लॉकडाउन लगा दिया था। हालांकि बाद में विभिन्न चरणों में इसे अनलॉक किया गया। बीच में स्थिति सुधरने लगी थी, लेकिन अक्टूबर के अंतिम सप्ताह से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या एक बार फिर बढऩे लगी है। दिल्ली में यह संख्या एक दिन में करीब 7 हजार तक पहुंच गई है।
राज्य सरकार की ओर से दिवाली के बाद स्कूल खोलने के आदेश को देखते हुए तैयारी शुरू कर दी गई है। सभी स्कूल प्रबंधंकों को स्कूल खोलने लेकर गाइडलाइन जारी कर दी गई है। स्कूल प्रबंधंकों को इसका पालन करना अनिवार्य होगा।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻❤️(A/2) जो बाइडेन ने कहा सभी अमेरिकियों को एक जुट होने का समय आ गया है।भारतीय मूल की जीती हुई उप राष्ट्रपतिपद की अभ्यर्थी
कमला हैरिस ने कहा मे प्रथम महिला अवश्य हूं किंतु अंतिम नहीं।❤️
 नई दिल्ली। अमरीका में राष्ट्रपति पद के चुनाव को लेेकर भले ही विवाद जारी है लेकिन मतगणना के हिसाब से डेमोक्रैटिक पार्टी के प्रत्याशी जो बाइडेन राष्ट्रपति और कमला हैरिस उपराष्ट्रपति पद का चुनाव जीत चुकी हैं। बिडेन और हैरिसकी जीत को कई कारणों से ऐतिहा
सिक माना जा रहा है।बिडेन इस पद को संभालने वाले सबसे उम्रदराज अमरीकी राष्ट्रपति हैंऔर दूसरे कैथोलिक व्यक्ति
होंगे। वहीं हैरिस उपराष्ट्रपति के रूप में सेवा देने वाली पहली अश्वेत अमरीकी और एशियाई अमरीकी होंगी।
❤️राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतने के बाद जो बाइडेन ने कहा कि यह मेरे लिए जिंदगी का सबसे बड़ा सम्मान है❤️। उन्होंने सभी अमरीकियों से एकजुट रहने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि अब असंतोष और बयानबाजी को पीछे छोड़ एक राष्ट्र के रूप में एक साथ आने का समय है। बाइडेन ने कहा कि यह अमरीकी के लिए एकजुट होने का समय है। अब हम एक साथ मिलकर आगे बढ़ेंगे और अमरीका को और मजबूत बनाएंगे।
❤️अब मैं सभी अमरीकियों का राष्ट्रपति बनूंगा❤️
उन्होंने एक ट्विट में बताया कि हमारे लिए आगे का काम कठिन है। लेकिन मैं वादा करता हूं कि मैं सभी अमरीकियों का राष्ट्रपति बनूंगा। चाहे आपने मेरे लिए वोट किया हो या नहीं। मैं आप पर जो विश्वास रखता हूं, उसे बनाए रखूंगा।
      ❤️लोकतंत्र की बड़ी जीत❤️
वहीं उपराष्ट्रपति पद के लिए चुनीं गई कमलाहैरिस नेअपनेभाषण की शुरुआत दिवंगत कांग्रेसी जॉन लेविस को याद करतेहुए की।भारतीय मूल की अमरीकी कमला हैरिस ने कहा कि मैं इस दफ्तर की पहली महिला जरूर हूं पर आखिरी नहीं।भारत की बेटी कमला हैरिसने अम
रीकी उपराष्ट्रपति पद पर अपनी जीत कोलोकतंत्र की बड़ी जीतकरार दिया है।
❤️अमरीका के लिए नए दिन की शुरुआत❤️
जीत के बाद उन्होंने अमरीका के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हम जॉर्जिया के बहुत आभारी हैं। उन्होंने कहा कि लोगों ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए वोट दिया है। अमरीका में नया इतिहास बन रहा है। यह जीत डेमोक्रैटिक पार्टी की कार्यकर्ताओं के चार साल की मेहनत का नतीजा है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र शासन से नहीं काम से होता है। यह अमरीका के लिए एक नए दिन की शुरुआत है। लोकतंत्र बलिदान और संघर्ष से सुरक्षित रहता है। इस व्यवस्था में सभी की प्रगति व्यवस्था के केंद्र में होता है। ऐसा इसलिए कि इसमें एक बेहतर भविष्य बनाने की शक्ति होती है।
🌻💐🌹🌸🌲🌹💐💐🌻💐❤️(A/3)भारतीय छात्रों का विदेश में पढऩे काजुनून कम नहीं,सपनों को पूरा करने के लिए छात्र उड़ान भरने को तैयार ❤️
नई दिल्ली.कोरोना महामारी के बावजूद भारतीय छात्रों का विदेश में पढऩे का जुनून कम नहीं हुआ है। सपनों को पूरा करने के लिए छात्र उड़ान भरने को तैयार हैं। हालांकि अब छात्रों की वरीयता बदल गई है। हमेशा से हिट लिस्ट में रहे अमरीका, ब्रिटेन, कनाडा व ऑस्ट्रेलिया की जगह अब छात्रों का रुझान उन देशों में बढ़ा है, जहां कोरोना का जोखिम कम है।
स्वीडन, इजराइल और न्यूजीलैंड का नाम सबसे आगे है। आपदा में अवसर तलाशते हुए ये देश छात्रों को नए सिरे से सुविधाओं की पेशकश कर रहे हैं। स्वीडन दूतावास के आंकड़ों के अनुसार, देश में पढ़ाई के इच्छुक छात्रों में करीब 13% की वृद्धि हुई है। स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए 2019 में 3,526 छात्रों ने आवेदन किया था, 2020 में आंकड़ा बढक़र 6,811 हो गया। वहीं, स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए 2,044 छात्र आवेदन कर चुके हैं। इजराइल की हाइफा यूनिवर्सिटी में आवेदन करने वाले भारतीय छात्रों की संख्या में 25% इजाफा हुआ है।
❤️भारत सरकार ने भी शुरू किए प्रयास❤️
भारतीय छात्रों के विदेशों में पढ़ाई के रुझान को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने भी कदम उठाने की शुरुआत की है। न्यूजीलैंड ने आइआइटी दिल्ली में अपना शिक्षण केंद्र स्थापित किया है। दोनों देशों के बीच अच्छे शैक्षणिक संबंध स्थापित करने के लिए यह एक बड़ा फैसला है। इजराइल भी देश से बाहर अपना केंद्र स्थापित करने पर विचार कर रहा है।
❤️विदेशी यूनिवर्सिटी अपना रहीं नए तरीके❤️
- पढ़ाई के साथ-साथ ऑनलाइन मूवी, रात्रिकालीन विमर्श, खेल, वर्चुअल तरीके से शैक्षणिक भ्रमण महामारी के दौरान भी जारी रहे।
- इजराइल ने छात्रों को देश में आकर 2020-2021 शैक्षणिक सत्र के लिए पढ़ाई करने की अनुमति दे दी है। हाल ही में मुंबई से बड़ी संख्या में पीएचडी शोधार्थी तेल अवीव पहुंचे।
- न्यूजीलैंड ने भारतीय छात्रों के बीच ब्रांडिंग शुरू कर दी है। छात्रवृत्ति की पेशकश के साथ ही सीमित संख्या में कैंपस में जाने की अनुमति दी जा रही है।
- कोरोना के दौरान उन छात्रों को शॉर्ट टर्म वीजा देने की योजना बनाई है
- जिनका वीजा जल्द ही खत्म होने वाला है पर अंतरराष्ट्रीय यात्राओं पर प्रतिबंध होने की वजह से वह लौट नहीं सकते हैं।
- स्वीडन सरकार ने सीमित संख्या में कैंपस में प्रवेश को अनुमति दी है।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻❤️(A/4) अजय देवगन अमिताभ बच्चन को निर्देशित करेंगे जानिए पूर्ण जानकारी❤️
  मुंबई। अभिनेता अजय देवगन   बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन  को निर्देशित करने के लिए पूरी तरह से तैयारहैं,फिल्म 'मेडे' में दोनोंअभिनेताओं
को कैमरे के सामने एक बार फिर से देखा जाएगा। इसी साल जुलाई में अमिताभ, अजय देवगन और अभिषेक बच्चन की फिल्म 'बोल बच्चन' के 8 साल पूरे हुए हैं।
❤️पहले कर चुके हैं इन फिल्मों में साथ काम❤️
बिग बी और अजय ने 'मेजर साहब', 'खाकी', 'सत्याग्रह', और 'हिंदुस्तान की कसम' में साथ काम किया है। दोनों सितारों को सात साल बाद एक बार फिर साथ देखा जाएगा, 2013 में रिलीज फिल्म 'सत्याग्रह' में दोनों ने आखिरी बार साथ काम किया था। फिल्म मेडे को अजय देवगन प्रोड्यूस करने वाले हैं।
दिसंबर में शुरू होगी फिल्म प्रोजेक्ट के करीबी सूत्र ने बताया, 'अजय फिल्म 'भुज : द प्राइड ऑफ इंडिया' में अपना काम पूरा करने के बाद इस प्रोजेक्ट को हैदराबाद में इस दिसंबर को शुरू कर देंगे। महानायक इस समय केबीसी की शूटिंग कर रहे हैं।
❤️हम एक-दूसरे को चुनौती देते रहते हैं-सरकार❤️फिल्म निर्माता शूजीत सर
कार  का कहना है कि अमिताभ बच्चन उनकेसाथ काम करने वाले सबसे बेह
तरीनअभिनेता में सेएक हैं।दोनों नेपीकू, शूबाइट और हाल ही में गुलाबो सीताबो
जैसी फिल्मों में साथ काम किया है, जिसमें आयुष्मान खुराना भी हैं।निर्माता ने कहा,'जब से मैंने इन दोनों के साथ पहले काम किया है, कहीं न कहीं रेखा से नीचे, हमारे बीच विश्वास, बंधन और आराम है, और यह धीरे-धीरे बढ़ा और परिपक्व हो गया। बेशक,यहएक रचना
त्मक प्रक्रिया है, और हम हर समय एक-दूसरे को चुनौती देते रहते हैं।'
❤️'बच्चन जी सबको कमफर्ट फील कराते हैं'❤️
उन्होंने कहा'हममिस्टर बच्चन कोचुनौती 
देते हैं, और वह हमें चुनौती देते हैं। उस अच्छे, स्वस्थ कामकाजी रिश्ते के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण हैं। फिल्म की दृष्टि कोइन दो लोगों के बीच की केमिस्ट्री की जरूरत थी।थोड़ा समय लगा। यदि आप पहलीबार बच्चन के साथ काम करते हैं, तो आपको उन्हें समझने में थोड़ा वक्त लग सकता है। आयुष्मान को अमिताभ जीकेसाथ संकोच था,जोबादमें चल कर
ठीक होगया,क्योंकिबच्चनजीसबकोकम
फर्टफीलकराते हैंऔर वहवास्तवमें,कभी
नहीं डरते हैं,वह बहुतसरलस्वभाव के हैं
।ऐसा लग सकता हैकि वह आसान नहीं है,लेकिन सेट पर वह बिल्कुल निर्देशक केअभिनेता बने रहते हैं और साथ काम करनेवालेसबसे आकर्षक सह-अभिनेता
ओं में से एक हैं।'
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐 💐(B)आज के दिन जन्मे अविभाजित भारत के प्रसिद्ध कवि,नेता,शायर और दार्शनिक व्यक्ति.मुहम्मद इक़बाल का .   जीवन परिचय
               मुहम्मद इक़बाल
            जीवन परिचय  लेख.
             मुहम्मद इक़बाल
अखण्ड भारत के विभाजन का विचार देने वाले अविभाजित भारत के प्रसिद्ध कवि,नेता,शायर और दार्शनिक व्यक्ति
मुहम्मद इक़बाल का जीवन परिचय


मुहम्मद इक़बाल मसऊदी (उर्दू: محمد اقبال‎)   (जीवन: 9 नवम्बर 1877 – 21 अप्रैल 1938) अविभाजित भारत के प्रसिद्ध कवि, नेता और दार्शनिक थे। उर्दू और फ़ारसी में इनकी शायरी को आधुनिक काल की सर्वश्रेष्ठ शायरी में गिना जाता है।
इकबाल के दादा सहज सप्रू हिंदूकश्मीरी पंडितथेजो बाद में सिआलकोट आ गए। इनकी प्रमुख रचनाएं हैं: असरार-ए-ख़ुदी, रुमुज़-ए-बेख़ुदी और बंग-ए-दारा,जिसमें देशभक्तिपूर्ण तराना
-ए-हिन्द (सारे जहाँ से अच्छा) शामिल है। फ़ारसी में लिखी इनकी शायरी ईरान और अफ़ग़ानिस्तान में बहुत प्रसिद्ध है, जहाँ इन्हें इक़बाल-ए-लाहौर कहा जाता है। इन्होंने इस्लाम के धार्मिक और राजनैतिक दर्शन पर काफ़ी लिखा है।
        मुहमद इक़बाल मसऊदी
محمد اقبال‎जन्म:9 नवम्बर 1877
जन्मस्थल:-सियालकोट, पंजाब, ब्रितानी भारत
मृत्यु:- अप्रैल 1938 (उम्र 60)
लाहौर, पंजाब, भारत
अन्यनाम:-इक़बाल मसऊदी
 कविता है जिसमें अल्लामा मोहम्म
 इकबाल मसऊदी ने मुस्लिम उम्माह (इस्लामिक राष्ट्रों) को श्रद्धांजलि दी और कहा कि इस्लाम में राष्ट्रवाद का समर्थन नहीं किया गया है।उन्होंने दुनिया में कहीं भी रह रहे सभी मुसलमानों को एक ही राष्ट्र के हिस्से के रूप में मान्यता दी, जिसके नेता मुहम्मद हैं, जो मुसलमानों के पैगंबर है।इक़बाल मसऊदी ने हिन्दो
स्तान की आज़ादी से पहले "तराना-ए-हिन्द" लिखा था, जिसके प्रारंभिक बोल- "सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारा" कुछ इस तरह से थे। उस समय वो इस सामूहिक देशभक्ति गीत से अविभाजित हिंदुस्तान के लोगों को एक रहने की नसीहत देते थे और और वो इस गीत के कुछ अंश में सभी धर्मों के लोगों को 'हिंदी है हम वतन है' कहकर देशभक्ति और राष्ट्रवाद की प्रेरणा देते है।
उन्होंनेपाकिस्तानकेलिए"तराना-ए-मिली
(मुस्लिम समुदाय के लिए गीत) लिखा, जिसके बोल- "चीन-ओ-अरब हमारा, हिन्दोस्तां हमारा ; मुस्लिम है वतन है, सारा जहाँ हमारा..."
कुछ इस तरह से है। यह उनके 'मुस्लिम लीग' और "पाकिस्तान आंदोलन" समर्थन को दर्शाता है।
इकबाल मसऊदी पाकिस्तान का जनक बनगएक्योंकि वह "पंजाब,उत्तर पश्चिम
फ्रंटियर प्रांत,सिंधऔर बलूचिस्तान को मिलाकर एक राज्य बनाने की अपील करनेवालेपहलेव्यक्ति थे"इंडियन मुस्लिम
लीग के 21 वें सत्र में ,उनके अध्यक्षीय संबोधन में उन्होंने इस बात का उल्लेख कियाथा जो 29 दिसंबर,1930 को इला
हाबाद में आयोजित की गई थी।भारत केविभाजन और पाकिस्तान की स्थापना का विचार सबसे पहले इक़बाल ने ही उठाया था । 1930 में इन्हीं के नेतृत्व में मुस्लिम लीग ने सबसे पहले भारत के विभाजन की माँग उठाई।इसके बाद इन्होंने जिन्ना को भी मुस्लिम लीग में शामिल होने के लिए प्रेरित किया और उनके साथ पाकिस्तान की स्थापना के लिए काम किया। इन्हें पाकिस्तान में राष्ट्रकवि माना जाता है। इन्हें अलामा इक़बाल (विद्वान इक़बाल),मुफ्फकिर
-ए-पाकिस्तान(पाकिस्तान का विचारक)
शायर-ए-मशरीक़ (पूरब का शायर) और हकीम-उल-उम्मत (उम्मा का विद्वान) भी कहा जाता है।
           विभाजन का विचार 
1938 में जिन्नाह को लेकर भाषण का अंश केवल एक ही रास्ता है। मुसलमानों को जिन्ना के हाथों को मजबूत करना चाहिए। उन्हें मुस्लिम लीग में शामिल होना चाहिए।भारत कीआज़ादी का प्रश्न, जैसा कि अब हल किया जा रहा है, हिंदुओं और अंग्रेजी दोनों के खिलाफ हमारे संयुक्त मोर्चे द्वारा काउंटर किया जा सकता है। इसके बिना, हमारी मांगों को स्वीकार नहीं किया जाएगा। लोग कहते हैं कि हमारी मांग सांप्रदायिक है। यह मिथ्या प्रचार है।ये मांगें हमारे राष्ट्रीय अस्तित्व की रक्षा से संबंधित हैं .... संयुक्त मोर्चा मुस्लिम लीग के नेतृत्व में गठित किया जा सकता है। और मुस्लिम लीग केवल जिन्ना के कारण सफल हो सकता है। अब जिन्ना ही मुसलमानों की अगुआई करने में सक्षम है।- मुहम्मद इकबाल, 1938 7à
            जिन्ना के साथ 
पाकिस्तान बनाने में अग्रणी होने के संबंध में जिन्ना पर इकबाल का प्रभाव बेहद "महत्वपूर्ण", "शक्तिशाली" और यहां तक ​​कि "निर्विवाद" के रूप में वर्णित किया गया है। इकबाल ने जिन्ना को लंदन में अपने आत्म निर्वासन को समाप्त करने और भारत की राजनीति मेंफिरसे प्रवेश करने के लिए प्रेरितकिया
थाअकबरएस अहमद केअनुसार,अंतिम 
वर्षों में 1938 में उनकी मृत्यु से पहले, इकबालधीरे-धीरे जिन्ना को अपने विचार अनुसार परिवर्तित करने में सफल रहे, जिन्होंने अंततः इकबाल को उनके "मार्ग
दर्शक " के रूप में स्वीकार कर लिया। अहमद के अनुसार इकबाल के पत्रों में उनकी टिप्पणियों में, जिन्ना ने इकबाल के इस विचार से एकजुटता व्यक्त की: कि भारतीय मुसलमानों को एक अलग मातृभूमि की आवश्यकता है।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻(C) आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐
:1236मुगल शासक रुकनुद्दीन फिरोज शाह की हत्या की गई।
1270महान संत नामदेव का जन्म हुआ।
1729स्पेन, फ्रांस और ब्रिटेन ने सेविले के संधि पर हस्ताक्षर किये।
1799सरकार के विरुद्ध तख्तापलट का नेतृत्व करने के बाद नेपोलियन बोर्नापार्ट ने स्वयं को फ्रांस का तानाशाह घोषित किया।
1799नेपोलियन बोनापार्ट फ्रांस के तानाशाह बने
1857अटलांटिक मासिक पत्रिका की पहले प्रति प्रकाशित की गयी।
1905अल्बर्टा, कनाडा के प्रांत में इसका पहला आम चुनाव हुआ।
1937जापानी सेना ने चीन के शंघाई शहर पर कब्जा जमाया।
1945कनाडा ने संयुक्त राष्ट्र चार्टर की पुष्टि की।
1947भारतीय सेना ने जूनागढ़ पर हमला किया।
1953कम्बोडिया फ्रांस से स्वतंत्र हुआ।1953कंबोडिया, फ्रांस से स्वतंत्र हो गया।
1960पहले भारतीय वायु सेना प्रमुख सुब्रतो मुखर्जी का निधन हुआ।
1963जापान की मीके कोयला खदानों में हुए विस्फोट से 458 लोग मारे गए।
1964यूनाइटेड किंगडम के हाउस ऑफ कॉमन्स ने ब्रिटेन में हत्या के लिए मौत की सजा को समाप्त करने के लिए वोट किया।
1967अमेरिका ने केप कैनेडी, फ्लोरिडा से सैटर्न 5 रॉकेट के साथ मानवरहित अंतरिक्षयान अपोलो 4 का प्रक्षेपण किया।
1985अनातोली कारपोव को हराकर 22 वर्षीय गैरी कास्पारोव सबसे युवा विश्व शतरंज चैंपियन बने
1989 ब्रिटेन में मृत्यु-दण्ड की सज़ा पर पूरी तरह से रोक लगाई गई।
1994 रासायनिक तत्व डार्मस्टे​डटियम का खोज की गई।
2000 उत्तर प्रदेश से पृथक कर उत्तराखंड को एक नया राज्य बनाया गया।
2003 सऊदी अरब के रियाद में एक आत्मघाती आतंकवादी हमले में 17 लोगों की मौत हुई।
2014 अफ्रीका के शीर्ष कारोबारी नेताओं ने इबोला से ​निपटने के लिए आपात कोष स्थापित किया।
2016  देश में भारतीय मुद्रा 500 एवं 1000 के नोट बंद किए गए।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐
(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व
1877 भारत  के स्वतंत्रता सेनानी  मोहम्मद इकबाल    
1929  भारत प्रसिद्ध  वकील    के जी कानाबीरान  
1960 भारतिय अभिनेत्री तन्वी  आज़मी  
1985 भारत के सुप्रसिद्ध अभिनेता प्रज्ञा पांड्या शाह   
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻
(E)आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
1970 फ्रांस के सैनिक चार्ल्स डी गॉल    
2003 भारतिय स्वतंत्रता सेनानी  पुष्पलता दास 
2005  भारतिय प्रसिद्ध  राजनीतिज्ञ    के. आर. नारायणन
2009         भारतीय गायक गुलाम हसन सोफी 
2011 भारतिय वैज्ञानिक हरगोविन्द खुराना  
🌻💐🌹🌲🌱🌲🌹💐💐🌻
(F) आज का दिवस का नाम
09 नवम्बर के राष्ट्रीय दिवस एवं अंतराष्ट्रीय दिवस
दिवस का नामउत्सव का स्तरउत्तरांचल राज्य गठन दिवसराष्ट्रीय दिवसश्रीकाशीविश्वनाथ-प्रतिष्ठा दिवसराष्ट्रीय दिवसविश्व सेवा दिवसअन्तरराष्ट्रीय दिवस
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐   
आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐
💐जयमहाकाल,बोलेसो निहाल💐
💐।जय हिंद जय भारत💐
💐 निवेदक;-💐
💐 चित्रांश ;-विजय निगम।💐


Comments
Popular posts
डेंगू रोग में होम्योपैथिक चिकित्सा - डाॅ.एम.डी.सिंह
Image
आज की बात आपके साथ - विजय निगम
Image
इंतजार की घड़ियाँ खत्म: टाॅलीवुड फेम सना सिंह को अब बाॅलीवुड में भी देख पाएंगे फैंस
Image
ऊषा की नई सिलाई मशीनों के साथ अपनी रचनात्‍मकता को दीजिए नई उड़ान
Image
एक्टर, प्रोड्यूसर और एनवायर्नमेंटल कंज़र्वेशनिस्ट, अरुषी निशंक को वर्ल्ड एनवायर्नमेंट डे पर यूनाइटेड नेशंस एनवायर्नमेंट प्रोग्राम (यूएनईपी) फेथ फॉर अर्थ काउंसलर्स रिकग्निशन सेरेमनी के लिए गेस्ट ऑफ ऑनर के रूप में चुना गया
Image