आज की बात आपके साथ - विजय निगम

              ॐ गं गणपतये नमः।।
  ॐनम:भगवते वासुदेवाय आदित्याय सुर्याय नम:
 "" या देवी सर्व भुतेशू शक्तिरूपेण सांस्थिता 
     नमस्तस्ये नमस्तस्ये नमस्तस्ये नमो नम:
ॐयमाय धर्मराजाय श्री चित्रगुप्ताय नमो नमः
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌸🌸🌲🌹💐💐🌲🌹💐💐🌻
प्रिय साथियो। 
🌹राम-राम🌹 
🌻 नमस्ते।🌻
आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 15.नवम्बर 2020 रविवार प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻
आज की बात आपके साथ  अंक मे है 
A.कुछ रोचक समाचार
B.आज के दिन जन्मे.आदिवासी नेता.बिरसा मुंडा का जीवन परिचयलेख 
C.आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D.आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    
    व्यक्तित्व
E.आज के दिन निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F.आज का दिवस का नाम ।
💐🌲🌸🌲🌹💐💐🌻
         (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)
🌹(A/1)क्यों की जाती है गोवर्धन पूजा, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व🌺
🌹(A/2)14 नवम्बर बाल दिवस पर प्रधानमंत्री जी मोदी जी एवं कांग्रेस अध्यक्ष  राहुलगांधी ने अर्पित की 
श्रद्धांजली।🌹
🌺(A/3)धनतेरस पर सोना-चांदी की खरीददारी में भारी इजाफा, जनता ने खरीदा 20हजार करोड का सोना सोने की बिक्री पिछले साल से 33 प्रतिशत से अधिक  ।🌺
🌹(A/4)Us ईलेक्शन:'एरिजोना और जॉर्जिया के नतीजे आने के साथ ही डेमोक्रेटिक पार्टी के इलेक्टोरल वोट का आंकड़ा पंहुचा 306 पार,बीडेन  लेंगे 20 जनवरी 2021को शपथ।🌹।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌱🌸🌸🌲🌹💐💐
          (A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)
🌹(A/1)क्यों की जाती है गोवर्धन पूजा, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व🌺
हिन्दू पंचांग के अनुसार, कार्तिक माह शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को गोवर्धन पूजा (Govardhan Puja 2020) का पर्व मनाया जाता है. इस दिन लोग घर के आंगन में गोबर से गोवर्धन पर्वत का चित्र बनाकर गोवर्धन भगवान की पूजा करते हैं.
Govardhan Puja 2020: दिवाली के ठीक दूसरे दिन गोवर्धन पूजा (Govardhan Puja) की जाती है. इस साल गोवर्धन पूजा 15 नवंबर 2020 को है. हिन्दू पंचांग के अनुसार, कार्तिक माह शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को गोवर्धन पूजा का पर्व मनाया जाता है. इस दिन गोवर्धन और गाय की पूजा का विशेष महत्व होता है. इस दिन लोग घर के आंगन में गोबर से गोवर्धन पर्वत का चित्र बनाकर गोवर्धन भगवान की पूजा करते हैं. आइए जानते हैं क्यों की जाती है गोवर्धन पूजा, क्या है इसकी विधि और इस साल पूजा का शुभ मुहूर्त क्या है.
गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त
तिथि- कार्तिक माह शुक्ल पक्ष प्रतिपदा (15 नवंबर 2020)
गोवर्धन पूजा सायं काल मुहूर्त- दोपहर 3 बजकर 17 मिनट से शाम 5 बजकर 24 मिनट तक
प्रतिपदा तिथि प्रारंभ- सुबह 10:36 बजे से (15 नवंबर 2020)
प्रतिपदा तिथि समाप्त- सुबह 07:05 बजे तक (16 नवंबर 2020)
                   गोवर्धन पूजा विधि
-सुबह शरीर पर तेल मलकर स्नान करें.
-घर के मुख्य द्वार पर गाय के गोबर से गोवर्धन की आकृति बनाएं.
-गोबर का गोवर्धन पर्वत बनाएं, पास में ग्वाल बाल, पेड़ पौधों की आकृति भी बनाएं.
-मध्य में भगवान कृष्ण की मूर्ति रख दें.
-इसके बाद भगवान कृष्ण, ग्वाल-बाल और गोवर्धन पर्वत का षोडशोपचार पूजन करें.
-पकवान और पंचामृत का भोग लगाएं.
-गोवर्धन पूजा की कथा सुनें और आखिर में प्रसाद वितरण करें.
                गोवर्धन पूजा की कथा
गोवर्धन पूजा के संबंध में एक कथा प्रचलित है. भगवान श्रीकृष्ण ने लोगों से इंद्र की पूजा के बजाय गोवर्धन पर्वत की पूजा करने को कहा था हालांकि इससे पहले लोग बारिश के देवता इंद्र की पूजा करते थे. भगवान कृष्ण ने लोगों को बताया कि गोवर्धन पर्वत से गोकुल वासियों को पशुओं के लिए चारा मिलता है. गोवर्धन पर्वत बादलों को रोककर वर्षा करवाता है जिससे कृषि उन्नत होती है. इसलिए गोवर्धन की पूजा की जानी चाहिए न कि इन्द्र की. जब यह बात देवराज इन्द्र को पता चली तो इसे उन्होंने अपना अपमान समझा और फिर गुस्से में ब्रजवासियों पर मूसलाधार बारिश शुरू कर दी.
भगवान श्री कृष्ण ने इंद्र का अभिमान चूर करने के लिए गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी उंगली पर उठाकर संपूर्ण गोकुल वासियों की इंद्र के कोप से बचा लिया. इन्द्र के कोप से बचने के लिए गोकुल वासियों ने जब गोवर्धन पर्वत के नीचे शरण ली तब गोकुल वासियों ने 56 भोग बनाकर श्री कृष्ण को भोग लगाया था. इससे प्रसन्न होकर श्री कृष्ण ने गोकुल वासियों को आशीर्वाद दिया कि वह गोकुल वासियोंकी सदेवरक्षा करेंगे।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💐
🌹(A/2)14नवम्बर बाल दिवस पर प्रधानमंत्री जी मोदी जी एवं कांग्रेस अध्यक्ष  राहुलगांधी ने अर्पित की 
श्रद्धांजली।🌹
नई दिल्ली। आज पूरा देश अपने पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती और बाल दिवस मना रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें नमन किया। एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू को उनकी जयंती पर मेरी विनम्र श्रद्धांजलि।
              नेहरू को बताया दूरदर्शी नेता
बाल दिवस पर शनिवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वयनार से सांसद राहुल गांधी दिल्ली के शांति वन पहुंचे और देश के पहले प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित की। राहुल गांधी ने ट्विट कर पंडित नेहरू को एक दूरदर्शी नेता बताया। उन्होंने कहा कि देश के पहले प्रधानमंत्री आधुनिक भारती की मजबूत नींव रखी। साथ ही भाईचारे, समतावाद और आधुनिक दृष्टिकोण पर जोर देते हुए आदर्श लोकतंत्र की स्थापना के दिशा में प्रभावी कदम उठाए। इसलिए हमारा प्रयास उनके द्वारा स्थापित मूल्यों के आगे बढ़ाने की होनी चाहिए।
बता दें कि जवाहरलाल नेहरू को बच्चों से खासा लगाव था। बच्चे उन्हें चाचा नेहरू के नाम से पुकारते थे। भारत में 1964 से पहले तक बाल दिवस 20 नवंबर को मनाया जाता था, लेकिन जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद उनके जन्मदिन 14 नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💐
🌺(A/3)धनतेरस पर सोना-चांदी की खरीददारी में भारी इजाफा जनता, ने खरीदा 20हजार करोड का सोना, सोने की बिक्री पिछले साल से 33 प्रतिशत से अधिक  ।🌺
नई दिल्ली। कोरोना संकट के कारण देश की गिरती अर्थव्यवस्था के बीच धनतेरस में सोना-चांदी की खरीददारी में भारी इजाफा देखने को मिला। इस विशेष मौके पर ज्वेलर्स को काभी मुनाफा हुआ है। देशभर में धनतेरस के शुभ मुहूर्त पर इस साल सोने की बिक्री पिछले साल के मुकाबले 33 फीसदी से अधिक हुई है।
यदि आंकड़ों की बात करें तो पूरे देश में करीब 20 हजार करोड़ रुपये के सोने की खरीददारी लोगों ने की है। इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) के आंकड़ों के अनुसार, कोरोना संकट के बीच लोगों ने करीब 40 टन यानी कि 20 हजार करोड़ रुपये का सोने की खरीददारी की है।
सबसे बड़ी बात ये कि पिछले साल सोने की कीमत कम होने के बावजूद इतनी भारी खरीददारी नहीं हो सकी थी, लेकिन इस बार कोरोना संकट और कीमतों में इजाफा होने के बावजूद लोगों ने जमकर खरीददारी की है।
IBJA के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता ने एक बयान में कहा कि पिछले साल की तुलना में इस साल 33 फीसदी अधिक खरीददारी की गई है। पिछले साल जहां करीब 12,000 करोड़ रुपये का सोना बिका था, वहीं इस साल धनतेरस के इस मौके पर 20,000 करोड़ रुपये का बिका है। पिछले साल 30 टन सोना बिका था, जबकि इस साल 40 टन सोना बिका है।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💐
🌹(A/4)Us ईलेक्शन:'एरिजोना और जॉर्जिया के नतीजे आने के साथ ही डेमोक्रेटिक पार्टी के इलेक्टोरल वोट का आंकड़ा पंहुचा 306 पार,बीडेन  लेंगे 20 जनवरी 2021को शपथ।🌹।
वाशिंगटन। अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम ( US Presidential Election Result 2020 ) अब पूरे आ गए हैं और डेमोक्रेटिक पार्टी ने एक बड़ी जीत हासिल की है। एरिजोना और जॉर्जिया के नतीजे आने के साथ ही डेमोक्रेटिक पार्टी के इलेक्टोरल वोट का आंकड़ा 300 पार कर गया।
डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बिडेन ने शुक्रवार को एरिजोना और जॉर्जिया ( Arizona Georgia Result ) राज्यों में जीत हासिल करने के बाद इलेक्टोरल वोट का आंकड़ा 306 तक पहुंच गया। वहीं रिपब्लिकन पार्टी की ओर से उम्मीदवार डोनालड ट्रंप के इलेक्टोरल वोट की संख्या 232 हो गई।
US Election Result: आखिरकार चीन ने बिडेन और हैरिस को दी बधाई, कहा- हम जनता की पसंद का सम्मान करते हैं
इन दोनों राज्यों में जीत से पहले डेमोक्रेटिक पार्टी को 290 इलेक्टोरल वोट मिले थे, जो कि बहुमत के आंकड़े 270 से कही अधिक है, जबकि रिपब्लिकन पार्टी को 214 मत प्राप्त हुए थे। बता दें कि अमरीका में कुल इलेक्टोरल मतों की संख्या 538 है।
राष्ट्रपति चुनाव के करीब डेढ़ हफ्ते बाद इन दोनों अंतिम राज्यों के परिणामों की घोषणा न्यूयॉर्क टाइम्स, सीएनएन और अन्य मीडिया नेटवर्कों ने की है।
[वरी को लेंगे शपथ
बता दें कि जॉर्जिया और एरिजोना में जीत के बाद बिडेन को 16 इलेक्टोरल वोट मिले, वहीं डोनाल्ड ट्रंप को 18 मत मिले। इसके साथ ही डेमोक्रेट का आंकड़ा 306 तक पहुंच गया, जबकि रिपब्लिकन का आंकड़ा 232 में अटक गया।
सबसे बड़ी बात ये है कि 2016 के राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम भी यही थे। यानी कि 2016 में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप को 306 इलेक्टोरल वोट मिले थे, जबकि डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को 232 मत मिले थे।
US Election 2020: करारी हार के बाद यरूशलम नगर निगम से Trump को मिला नौकरी का ऑफर
अमरीकी चुनाव में पांच राज्य काफी निर्णायक होते हैं, जिसमें एरिजोना, जॉर्जिया, मिशिगन, पेंसिल्वेनिया और विस्कॉन्सिन शामिल है। इन पांचों राज्यों में 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप ने बड़ी जीत हासिल की थी और अब इन राज्यों में बिडेन ने जीत हासिल की है। लिहाजा चुनाव परिणाम डेमोक्रेट के पक्ष में गया और बिडेन ने एक बड़ी जीत दर्ज की।
इसी के साथ ही 77वर्षीय जो बिडेन अमरीका के 46 वें राष्ट्रपति के तौर पर 20 जनवरी 2021 को शपथ लेंगे। वे अमरीका के इतिहास में सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति होंगे। 20 नवंबर को बिडेन का जन्मदिन है और वे 78 साल के हे।
🌻💐🌹🌲🌱L🌸🌲🌹💐💐 L🌸🌲🌹💐💐 ❤(B)आज के दिनजन्मे.आदिवासी नेता.बिरसा मुंडा का जीवन परिचयलेख.❤ 
बिरसा मुंडा का जन्म 15 नवंबर 1875 के दशक में छोटा किसान के गरीब परिवार में हुआ था। मुंडा एक जनजातीय समूह था जो छोटा नागपुर पठार (झारखण्ड) निवासी था। बिरसा जी को 1900 में आदिवासी लोंगो को संगठित देखकर ब्रिटिश सरकार ने आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया तथा उन्हें 2 साल की सजा दी गई थी। और अंत में 9 जून 1900 को लगभग सुबह 8 बजे मे अंग्रेजो द्वारा उन्हें जहर देने के कारण उनकी मौत हो गई।
                      बिरसा मुंडा
                   आरंभिक जीवन 
इनका जन्म मुंडा जनजाति के गरीब परिवार में पिता-सुगना पुर्ती(मुंडा) और माता-करमी पुर्ती(मुंडाईन) के सुपुत्र बिरसा पुर्ती (मुंडा) का जन्म 15 नवम्बर 1875 को झारखण्ड के राँची के खूंटी जिले के उलीहातू गाँव में हुआ था। साल्गा गाँव में प्रारम्भिकपढाई के बाद वे चाईबासाजी0ई0एल0चार्च
(गोस्नर एवंजिलकल लुथार) विधालय में पढ़ाई किया था। इनका मन हमेशा अपने समाज की यूनाइटेड किंगडम|ब्रिटिश शासकों द्वारा की गयी बुरी दशा पर सोचता रहता था। उन्होंने मुण्डा|मुंडा लोगों को अंग्रेजों से मुक्ति पाने के लिये अपना नेतृत्व प्रदान किया। 1894 में मानसून के छोटा नागपुर पठार|छोटानागपुर में असफल होने के कारण भयंकर अकाल और महामारी फैली हुई थी। बिरसा ने पूरे मनोयोग से अपने लोगों की सेवा की। आर्थत आंधविशवस जैसे भूत प्रेत डाईन प्रथा से दुर करने के लिय लोंगों को प्रेरित किया करते थे ।
मुंडा विद्रोह का नेतृत्‍व संपादित करें
1 अक्टूबर 1894 को नौजवान नेता के रूप में सभी मुंडाओं को एकत्र कर इन्होंने अंग्रेजो से लगान (कर) माफी के लिये आन्दोलन किया। 1895 में उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया और हजारीबाग केन्द्रीय कारागार में दो साल के कारावास की सजा दी गयी। लेकिन बिरसा और उसके शिष्यों ने क्षेत्र की अकाल पीड़ित जनता की सहायता करने की ठान रखी थी और जिससे उन्होंने अपने जीवन काल में ही एक महापुरुष का दर्जा पाया। उन्हें उस इलाके के लोग "धरती बाबा" के नाम से पुकारा और पूजा करते थे। उनके प्रभाव की वृद्धि के बाद पूरे इलाके के मुंडाओं में संगठित होने की चेतना जागी।
विद्रोह में भागीदारी और अन्त संपादित करें
बिरसा मुण्डा की राँची में स्थित मूर्ति
1897 से 1900 के बीच मुंडाओं और अंग्रेज सिपाहियों के बीच युद्ध होते रहे और बिरसा और उसके चाहने वाले लोगों ने अंग्रेजों की नाक में दम कर रखा था। अगस्त 1897 में बिरसा और उसके चार सौ सिपाहियों ने तीर कमानों से लैस होकर खूँटी थाने पर धावा बोला। 1898 में तांगा नदी के किनारे मुंडाओं की भिड़ंत अंग्रेज सेनाओं से हुई जिसमें पहले तो अंग्रेजी सेना हार गयी लेकिन बाद में इसके बदले उस इलाके के बहुत से आदिवासी नेताओं की गिरफ़्तारियाँ हुईं।
जनवरी 1900 डोम्बरी पहाड़ पर एक और संघर्ष हुआ था जिसमें बहुत सी औरतें व बच्चे मारे गये थे। उस जगह बिरसा अपनी जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। बाद में बिरसा के कुछ शिष्यों की गिरफ़्तारियाँ भी हुईं। अन्त में स्वयं बिरसा भी 3 फरवरी 1900 को चक्रधरपुर में गिरफ़्तार कर लिये गये। बिरसा ने अपनी अन्तिम साँसें 9 जून1900 को आंग्रेजों द्वारा जहर देकर मर गया |1900 को राँची कारागार में लीं। आज भी बिहार, उड़ीसा, झारखंड, छत्तीसगढ और पश्चिम बंगाल के आदिवासी इलाकों में बिरसा मुण्डा को भगवान की तरह पूजा जाता है।
बिरसा मुण्डा की समाधि राँची में कोकर के निकट डिस्टिलरी पुल के पास स्थित है। वहीं उनका स्टेच्यू भी लगा है। उनकी स्मृति में रांची में बिरसा मुण्डा केन्द्रीय कारागार तथा बिरसा मुंडा अंतरराष्ट्रीय विमानक्षेत्र भी है।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌲🌹💐💐🌻🌹💐💐🌻
     (C) आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐
1830 - समाज सुधारक राजा राम मोहन राय इंग्लैंड के लिए रवाना हुए। 1920 - जिनेवा में लीग ऑफ नेशंस की पहली बैठक आयोजित की गई। 
1936 - नाजी जर्मनी और जापान के बीच कोमिंट्रन विरोधी संधि पर हस्ताक्षर किये गये।
1947 - विश्व स्वास्थ्य संगठन संयुक्त राष्ट्र का विशिष्ट अभिकरण बन गया। 1949 - महात्मा गांधी की हत्या के दोषी नाथूराम गोड से और नारायण दत्तात्रेय आप्टे को फाँसी दी गई। 
1955 - पोलैंड और यूगोस्लाविया के बीच व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किये गये।
1961 - संयुक्त राष्ट्र ने परमाणु हथियारों पर रोक लगाई। 
1988 - पी.एल.ओ. के अध्यक्ष यासर अराफात द्वारा फ़िलिस्तीन स्वतंत्र राष्ट्र घोषित।
 1989 - पाकिस्तान के कराची में वकार यूनुस और सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। 
1998 - अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने अपना एशियाई देशों भारत एवं पाकिस्तान का दौरा रद्द किया। 
2000 - फिजी में तख्ता पलट अवैध घोषित। झारखंड भारत का 28वां राज्य बना।
 2001 - अलकायदा के ठिकाने से परमाणु बम बनाने सम्बन्धी दस्तावेज मिले।
 2003 - तुर्की के इस्ताम्बल शहर में यहूदियों के प्रार्थना स्थल के पास हुए बम विस्फोट में 16 लोगों की मृत्यु और 150 घायल। 
2004 - आस्ट्रेलिया के नामकरण की दो सौवीं वर्षगांठ मनी। अमेरिकी विदेश मंत्री कोलिन पावेल ने अपने पद से इस्तीफ़ा दिया।
 2007 - चिली में 7.7 तीव्रता का भीषण भूकम्प आया। एरियाना-5 रॉकेट ने ब्रिटेन व ब्राजील के दूरसंचार उपग्रहों को अंतरिक्ष में स्थापित किया। 2008 - भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गर्वनर वाई वेणुगोपाल रेड्डी को वैश्विक वित्तीय प्रणाली में सुधार की जाँच के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा गठित टास्क फोर्स में शामिल किया गया। योगेन्द्र मकबाल ने राष्ट्रीय बहुजन कांग्रेस के नाम से नई पार्टी बनाई।
 2012 - शी जिनपिंग चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव बने।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व
1866 - कार्नेलिया सोराबजी - भारत की प्रथम महिला बैरिस्टर थीं।
1875 - बिरसा मुण्डा, भारत प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एक आदिवासी नेता। 
1950 - अश्वनी कुमार - केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के पूर्व निदेशक थे।
1986 - सानिया मिर्ज़ा - प्रसिद्ध भारतीय टेनिस खिलाड़ी। 
1986 - ज्योति प्रकाश निराला - 'अशोक चक्र' से सम्मानित भारतीय वायु सेना के शहीद गरुड़ कमांडों में से एक थे।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌲🌹💐💐🌻(E)आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
1937  भारत के सुप्रसिद्ध साहित्यकार  जयशंकर
 प्रसाद का निधन 
1982  भारत के सुप्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता एवम्  राजनीतिज्ञ विनोबा भावे का निधन  
2013  संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रसिद्ध खिलाड़ी माइक मैककॉर्मेक  का निधन
 2013  भारत के आध्यात्मिक धार्मिक गुरु कृपालु महाराज का निधन
2015 भारत के सुप्रसिद्ध अभिनेता  सईद जाफरी का निधन।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌲🌹💐💐💐💐🌻
        (F) आज का दिवस का नाम
1 झारखंड राज्य गठन दिवस राष्ट्रीय दिवस
 2 बिरसा मुण्डा जयंती  राष्ट्रीय दिवस
 3- अश्वनी कुमार - केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के पूर्व निदेशक थे।का  जन्म दिन दिवस
4- सानिया मिर्ज़ा - प्रसिद्ध भारतीय टेनिस खिलाड़ी। 
हे का जन्मदिवस।
5.भारत के सुप्रसिद्ध साहित्यकार जयशंकर प्रसाद
 का पुण्यतिथि दिवस 
6. भारत के सुप्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता एवम्  राजनीतिज्ञ विनोबा भावे का पुण्यतिथि दिवस
7.भारत के आध्यात्मिक धार्मिक गुरु कृपालु महाराज का पुण्यतिथि दिवस।
8.सुप्रसिद्ध अभिनेता  सईद जाफरी का पुण्यतिथि दिवस।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐   
आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐द
💐जयमहाकाल,बोले बोलोसोनिहाल💐
💐।जय हिंद जय भारत💐
💐  निवेदक;-💐
💐 चित्रांश ;-विजय निगम।💐