आज की बात-आपके साथ - विजय निगम

          ।।ॐ गं गणपतये नमः।।
         ।।ॐ यमाय धर्मराजाय-।
        -श्री चित्रगुप्ताय नमो नमः।।  
🌻💐🌲,🎉🌸🌲🌹💐💐🌻
प्रिय साथियो। 
🌹राम-राम🌹
🌻 नमस्ते।🌻
आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 15अक्टूबर 2020 गुरुवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻
आज की बात आपके साथ  अंक मे है 
A. कुछ रोचक समाचार
B. आज के दिन भारत के पूर्व राष्ट्र-
पति ,परमाणु वैज्ञानिक एवं मिसाइलमैन केनामसे प्रसिद्ध ,जन्मेडॉक्टर.ए॰पी॰जे॰ अब्दुल कलाम का जीवनपरिचय लेख.
C. आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D. आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    
    व्यक्तित्व
E. आज के दिन निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F. आज का दिवस का नाम ।
💐🌲🌸🌲🌹💐❤️💐🌻🌹
🌹(A)कुछरोचकसमाचार(संक्षिप्त)🌹
💞(A/a1)आंध्र प्रदेश के हैदराबाद  में शुरू हुआ भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त 💞
💝(A/1)राजस्थान रॉयल्स व दिल्ली
कैपिटल्स के बीच आईपीएल 20:20
सीजन 13 का  आज मुकाबला💝
💝(A/2)डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट की वजह से सोने और चांदी की कीमत में तेजी💝
💝(A/3)अनलॉक 05:में अक्टूबर से किन किन बंद सेवाओं को फिर से प्रारंभ किया जा रहा है जानिए।💖
💝(A4) सुशांत सिंह राजपूत की बहन कीर्ति सिंह एवम् सुशांत के फैंस द्वारा #Mankibaat4SSR की मुहिम के द्वारा पीएम मोदी से सुशांत के लिए न्याय की मांग💝
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐(A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)
💞(A/a1)आंध्र प्रदेश के हैदराबाद  में शुरू हुआ भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त 💞
नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के हैदराबाद  में शुरू हुआ भारी बारिश  का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। यही वजह है कि राज्य के सभी जलाशय पानी से लबालब भर गए हैं। बंगाल की खाड़ी  से उठे निम्न वायुदाब की वजह से तेज बारिशके बाद राज्य के अधिकांश जिलों में जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गयाहै।जानकारी केअनुसारपूर्वीगोदावरी
जिले में सर आर्थर कॉटन बैराज  में वर्त
मान में 2.91 टन पानी के भंडारण के साथजलस्तर 44.65 फीट है।इस बैराज की क्षमता 2.93 टीएमसी है,जो 99.35 प्रतिशत तक भर गया है। गोदावरी नदी केबेसिन के नीचे कॉटन बैराज स्थित है।
💝हिमायत सागर लबालब भर गया💝
वहीं, भारी बारिश के कारण पिछले 10 सालों में ऐसा पहली बार है, जब हिमायत सागर लबालब भर गया है। जल निगम के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि बांध से पानी छोड़ दिया गया है। हैदराबाद मेट्रो पॉलिटन वाटर सप्लाई के महा प्रबंधक ने के अनुसार फिलहाल हिमायत सागर का जलस्तर 1762 फुट है और 1763 फुट पार कर गया है। जिसकी वजह से गेट खोल दिए गए हैं। आपको बता दें कि पिछली बार 2010 में हिमायतसागर से पानी छोड़ा गया था। इसके साथ ही जल निगम ने निचले क्षेत्रों में अलर्ट जारी किया है और यहां रह रहे लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। मूसी नदी के तटीय क्षेत्रों किस्मतपुर, बंड्लागुड़ा, हैदरगुड़ा, लंगर हाउस, कारवान आदि क्षेत्रों के लोगों को अलर्ट रहने को कहा गया है।
💖प्रकाशम बैराज वर्तमान में 56.2 फीट तक भरा हुआ💖
जानकारी के अनुसार भारी बारिश की वजह से कृष्णा जिले के विजयवाड़ा में प्रकाशम बैराज वर्तमान में 56.2 फीट तक भरा हुआ है। जबकि बैराज की कुल क्षमता 3.07 टीएमसी है। जो क्षेत्रों से आने वाले बाढ़ के पानी से भर जाता है। अभी यह 100 फीसदी क्षमता के साथ भरा हुआ है। अधिकारी बैराज में 6 लाख क्यूसेक अधिक बाढ़ के पानी के बहाव की उम्मीद कर रहे हैं।
🌟💗❤️🔥💟💥💟🔥🙏⚡
💝(A/1)राजस्थान रॉयल्स व दिल्ली
कैपिटल्स के बीच आईपीएल 20:20
सीजन 13 का  आज मुकाबला💝
नई दिल्ली।राजस्थान रॉयल्स  व दिल्ली कैपिटल्स के बीच आईपीएल सीजन 13 का 30वां मुकाबला बुधवार को शार
जहा क्रिकेट स्टेडियम पर खेला जाएगा। इस मैदान पर राजस्थान ने अपने दोनों शुरुआती मुकाबले जीते थे। निश्चित तौर पर इस मैदान पर राजस्थान अपनी जीत के लय को बरकरार रखना चाहेगी। वहीं दिल्ली के इन फॉर्म बैट्समन किसी भी कीमत पर इस मैच को अपने पक्ष में करने के इरादे से उतरेंगे।
      💝दिल्ली का पलड़ा भारी💝
बात करेंदिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ियों 
की तो लगभग 11 में से 8 प्लेयर फॉर्म में हैं। शिखर धवन ने भी पिछले मैच में अपनी फॉर्म हासिल कर ली। वे पिछले कईमैचों में नहीं चले थे तो उनपर सवाल खड़े होने लगे थे,लेकिन दिल्ली के लिए सबसेबड़ी राहतकी बात यह हैकिशिखर 
आखिरकारअपनी फॉर्म में लौट आए हैं। कप्तान श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, शिमरॉन हेटमोयर, मर्कस स्टोइनिस जैसेबल्लेबाजपूरीलयमें हैं।वहीं गेंदबाजी
में कैगिसो रबाडा,आरअश्विन और अक्षर पटेल जैसे बॉलर लगातार विकेट चटका रहे हैं।
🌹राजस्थान टीम को दिखाना होगा दमखम🌹
        राजस्थान की टीम की बात करें तो कप्तानस्टीवस्मिथ को कप्तानऔर बल्ले
बाजीदोनों में अच्छा योगदान देना होगा। इसके अलावा बेन स्टोक्स के आने से टीम केबल्लेबाजी क्रम को और मजबूती मिलेगी।वहीं जोफ्रा आर्चर,जोस बटलर, राहुल तेवतिया,संजू सैमसन,रॉबिन उथ
प्पा और यशस्वी जायसवाल को बल्ले से चमत्कार दिखाना होगा।वहीं गेंदबाजी
में टॉम कुर्रनअंकितराजपूतऔरमहिपाल
लेमरोर,एनरिचनॉर्टजे को सही लेंथ और लाइन सेगेंदबाजी करनी होगी।दोनोंटीमों
के खेले गए 21 मैच की अगर बात करें तो दोनों टीमों के बीच आईपीएल मेंखेले
गए मैचोंकी तो अब तक 21 मैच हुए हैं। इनमें से 11 मैच में राजस्थान रॉयल्स विजयी हुई और दिल्ली ने 10 मैच जीते हैं। अगर बात करें इस सीजन में प्वांट्स टेबलकी तो दिल्ली 7 में सेपांच मैचजीत
कर पहले स्थान पर है। वहीं राजस्थान 7 में से 3 जीत के साथ सातवें स्थान पर है।
🌹जीत की लय बरकरार रखना चाहेगी दिल्ली🌹
दिल्ली की टीम अपने पिछले 5 मैचों में सेतीनमैच में जीती है और दो में हारी है। वहीं राजस्थान 5 में से एक ही मैच जीत सकी और चार मैचों में हार का सामना करना पड़ा है।राजस्थान रॉयल्सएक बार आईपीएलट्रॉफी जीत चुकीहै,वहींदिल्ली
एक ऐसी टीम है जो अभी तक इस टूर्ना
मेंट में फाइनल में नहीं पहुंच सकी है।
❤️अजीतअगरकरकीभविष्यवाणी,❤️ 
अजीतअगरकर ने कहा है  की ये तीन टीमें जरूर खेलेंगी आईपीएल 2020 का प्लेऑफ
 💖सीजन के सबसे अच्छे परफॉर्मर💖
1. श्रेयस अय्यर—(दिल्ली)245 रन
2. संजू सैमसन—(राजस्थान)202 रन
3. पृथ्वी शॉ—(दिल्ली)245 रन
❤️ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी❤️
1. कैगिसो रबाडा—(दिल्ली)17 विकेट
2. जोफ्रा आर्चर—(राजस्थान)9 विकेट
2. एनरिच नोर्टजे—(दिल्ली)8 विकेट
             ❤️मैच प्रीडिक्शन❤️
ओवरआल आंकड़ों पर नजर डाले तो आज के मैच में दिल्ली कैपिटल्स का पलड़ा भारी है। इस मैच की हर मायने में जीत की हकदार दिल्ली ही है।
🌻💐🌹🌲🌲🌹💐💐🌻💐💝(A/2)डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट की वजह से सोने और चांदी की कीमत में तेजी💝
 डॉलर, रुपया और सोना-चांदी आपस में काफी जुड़े हुए हैं।जबभी इंटरनेशनल मार्केटमेंडॉलर में तेजी देखने को मिलती हैतो सोना और चांदी सस्ता हो जाता है। वहींजब डॉलर  के मुकाबले तेज होता है तो भारतीय बाजार में सोना और चांदी के दाम में महंगाई बढ़ जाती है। ऐसा ही कुछ आज भी देखने को मिल रहा है।डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट की वजह से सोने और चांदी की कीमत में तेजीदेखने कोमिल रही है।आइएआपको
भी बताते हैं किरुपया डॉलर के मुकाबले कितना गिरा हुआ है और उसका असर सोने और चांदी में किस तरह से देखने को मिल रहा है।
          💖 रुपए में गिरावट💖
जानकारी के अनुसार डॉलर के मुकाबले रुपया 4 पैसे गिरा हुआ दिखाई दे रहा है। आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को रुपया डॉलर के मुकाबले 73.26 रुपए पर बंद हुआ था। जबकि आज बुधवार को दोपहर 1 बजकर 30 मिनट पर रुपया डॉलर के मुकाबले 73.30 रुपए पर कारोबार कर रहा है। जानकार अनुज गुप्ता के अनुसार आज सुबह से रुपया डॉलर के मुकाबले गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है। मंगलवार से रुपया गिरकर कारोबार कर रहा है।
  ❤️सोना और चांदी हुआ महंगा❤️
रुपए में गिरावट आने के कारण घरेलू बाजार में सोना और चांदी की कीमत में तेजी देखने को मिल रही है।पहले बात सोने की कीमत करें तो दोपहर एक बजकर 50 मिनट पर सोने के दाम 94 रुपए की तेजी के साथ 50339 रुपए प्रति दस ग्राम पर कारोबार कर रहा है। जबकि आज सोना 50369 रुपए पर ओपन हुआ था। वहीं बात चांदी की कीमत की करें तो 408 रुपए की तेजी के साथ 60950 रुपए प्रति किलोग्राम पर कारोबार कर रहा है। जबकि आज चांदी 60725 रुपए पर ओपन हुई थी।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💝(A/3)अनलॉक 05:में अक्टूबर से किन किन बंद सेवाओं को फिर से प्रारंभ किया जा रहा है जानिए।💖
नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी के चलतेदेशमें लागूलॉकडाउन केबाद चरण
बद्ध ढंग से बंद सेवाओं को फिर से शुरू किया जा रहा है।इस कड़ी में देश में गुरु
वारसे कंटेनमेंटजोनकेबाहरकोविड-19
के सख्त मानदंडों के साथ स्कूल,सिनेमा
हॉलमल्टीप्लेक्स,मनोरंजनपार्क,स्वीमिंग
पूल फिर से खुल जाएंगे।देशव्यापी अन
लॉक के पांचवें चरण केलिए 30सितंबर को केंद्रीय गृह मंत्रालय नेअपने दिशा
निर्देशोंमें इन जगहों को 15 अक्टूबर को फिर से खोलने की अनुमति दीथी।जहां कक्षा 9 से 12 के लिए स्वैच्छिकआधार
परबीते 21 सितंबर से अनलॉक 4.0 के दौरान स्कूल फिर से खुल गए थे,सरकार ने अन्य स्थानों को खोलने की अनुमति नहीं थी।
💞कौनसीसेवाएंगुरुवारसेहोंगीशुरूः💞
स्कूल: अनलॉक 5.0 के अंतर्गत केंद्र ने स्कूलोंको चरणबद्धढंग सेफिर से खोलने कोमंजूरी दे दी है,फिरभी अंतिम फैसला राज्य सरकारों द्वारा लिया जाएगा।जहां दिल्ली और महाराष्ट्र सहित अधिकांश राज्यों ने अभी तक स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला नहीं लिया है, पंजाब और उत्तरप्रदेश जैसेअन्य राज्योंने स्कूलों को फिर से खोलने की घोषणा की है। पंजाब में 15 अक्टूबर और उत्तर प्रदेश में19अक्टूबरसे स्कूलोंकोखोला जाएगा
केंद्र सरकार द्वारा जारी स्कूलों को फिर सेखोलने के व्यापक दिशानिर्देशों मेंऑन
लाइन/दूरस्थ शिक्षा,माता-पितासे उपस्थितहोने की लिखितअनुमति,अलग
पाली में कक्षाएं, हाजिरी में छूट,तीन सप्ताह तक कोई मूल्यांकन नहीं करना आदि शामिल हैं।
सिनेमा हॉल/मल्टीप्लेक्स: इन्हें बैठक में उचितफिजिकल डिस्टेंसिंग और 50,%  क्षमता केसाथ फिर से खोला जा सकता है। जिन सीटों को खाली छोड़ा जाएगा, उन पर अलग ढंग से मार्किंग की जानी चाहिए।शो टाइमिंग अनियमित हों और डिजिटलपेमेंट मोड को प्रोत्साहित किया जाएगा।इसके साथ ही पर्याप्त संख्या में टिकट काउंटर खोले जाएंगेऔरभीड़ को रोकनेके लिएअग्रिम बुकिंग की अनुमति दी जाएगी। केवल पैकेज्ड फूड और पेय पदार्थों की अनुमति होगी।
एंटरटेनमेंटपार्क:पार्कों कोखोलनेसेपहले और बंद होने के बाद के अलावा अन्य उचित समय पर,सतहों,खुलेस्थानों,कार्य
क्षेत्रों आदिकी सफाई और सैनेटाइजेशन भीकियाजाएगा।इस्तेमाल किए गए फेस मास्क और कवर के निपटान के लिए अलग-अलगकवर किएगएडस्टबिन होने चाहिए।इसकेअलावा,इनपार्कोंमेंस्वीमिंग 
पूलबंद रहेंगे; हालांकि, वाटर पार्क और वाटरराइड्स वालेपार्क पानी के नियमित और पर्याप्त फिल्ट्रेशन और क्लोरीनी
करण को सुनिश्चित करेंगे।
इसकेअलावा, पार्कअधिकारियों को परि
सर केअंदर और बाहर लोगों में कतार में लगेरहने केउचित प्रबंधन के लिएपर्याप्त सुरक्षा कर्मियों को तैनात करना होगा। पार्क प्रबंधन के लिए भीड़ के आकार में प्लानिंग आवश्यक कारक होना चाहिए, जिसमेंपीक आवर्स के दौरान प्रबंधन भी शामिल है।भीड़ से बचने के लिए पर्याप्त टिकटकाउंटर उपलब्धकराएजाने चाहिए और ऑनलाइन बुकिंग को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।
स्वीमिंग पूल: खेल मंत्रालय द्वारा जारी किएगए स्विमिंगपूलों को फिर से खोलने के लिए एसओपी में केवल 20 तैराकों कीएकअधिकतम सीमा को ओलंपिक
-आकार के पूल में एक सत्र के दौरान प्रशिक्षित किए जाने की इजाजत दी गई है।जबकि तैराकों को अनिवार्य सेल्फ-
डिक्लेरेशन' प्रस्तुतकरने के लिएनिर्देशित
किया गया है।वहीं,रेजीडेंशियल स्वीमिंग ट्रेनर्सको अनिवार्य कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी।सभीप्रशिक्षण
केंद्र में प्रशिक्षुओं,कोचों और कर्मचारियों के मार्गदर्शन और निगरानी के लिए एक कोविड-19 टास्क फोर्स होगा।
🌻💐🌹🌸🌲🌹💐💐🌻💐💝(A4) सुशांत सिंह राजपूत की बहन कीर्ति सिंह एवम् सुशांत के फैंस द्वारा #Mankibaat4SSR की मुहिम के द्वारा पीएम मोदी से सुशांत के लिए न्याय की मांग💝
नई दिल्ली-सुशांत सिंह राजपूत की मौत को4 महीने पूरे होने वाले हैं लेकिन अभी तकइस केस का निष्कर्ष नहीं निकलकर आया है। सुशांत का परिवार और फैंस लगातार एक्टर के लिए अलग-अलग तरह के कैंपेन चलाते रहे हैं और न्याय की गुहार लगाते रहे हैं। वहीं जब कुछ दिनों पहले एम्स के डॉक्टरों की रिपोर्ट  सामने आई तो हर कोई हैरान रह गया। एम्सने सुशांत की मर्डर थ्यौरी कोखारिज
करते हुए ये साफ किया था कि एक्टर की आत्महत्याकीथी।इस बात पर CBI   ने भी अपनी सहमति जताई थी। इसके बादसे केस की दशाऔर दिशा पूरी तरह से बदल चुकी है। सुशांत केपरिवारवालों औरफैंस ने अब उन्हें न्याय दिलाने के लिएमन की बात के जरिएइंसाफ दिलाने का निर्णय लिया है।
सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति  ने एक बार फिर नई मुहिम के जरिए अपने भाई को न्याय दिलाने का फैसला किया है। उन्होंने मन की बात को पीएम नरेंद्रमोदी तक पहुंचाने का फैसला लिया है।श्वेता ने अपने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए लिखा है- न्याय और सच के लिए #MannKiBaat4SSRअपनी आवाज बुलंदकरने का एक अच्छा मौका अवसर है। हम इसके जरिए एकजुट रह सकते हैं और दिखा सकते हैं कि जनता न्याय काइंतजार कर रही है। मैं अपने इस परि
वारकोधन्यवाद करना चाहतीहूंजो हमारे
साथ हमेशा खड़ा रहा है।
सुशांत के फैंस #मन की बात# को 14 अक्टूबर को सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक पीएम मोदी तक पहुंचा सकते हैं। मनकीबात के ऑनलाइन पोर्टल पर फैंस अपना मैसेज रिकॉर्ड करके या मैसेज करके भेज सकते हैं। फेसबुक, ट्व‍िटर औरइंस्टाग्रामपोस्ट में मैसेजकरकेPMO  और उससे जुड़े हुए अकाउंट हैंडल्स को टैग करना है। जाहिर है कि सीबीआई के बाद अब फैंस की उम्मीद पीएम मोदी से बंधी हुई है।गौरतलब हो कि सुशांत की फैमिलीऔरउनके चाहने वालें का कहना
हैकि दिवंगत एक्टर की हत्या की गई है। जिसको लेकर न्याय की गुहार अभी भी लगाई जा रही है।सिर्फ देश में ही नहीं बल्किविदेशोंमेंभी सुशांतकेलिए होर्डिंग्स के जरिए इंसाफ की मांग लगाई जा रही है। कुछ दिन पहले श्रीलंका में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला था।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐 💐(B)आज के दिन भारत के पूर्व राष्ट्र-
पति ,परमाणु वैज्ञानिक एवं मिसाइलमैन केनामसे प्रसिद्ध ,जन्मेडॉक्टर.ए॰पी॰जे॰ अब्दुल कलाम का जीवनपरिचय लेख. 
        ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम
भारत के पूर्व राष्ट्रपति ,परमाणु वैज्ञानिक एवं मिसाइलमैन के नाम से प्रसिद्ध ,
❤️अबुल पाकिर जैनुलअब्दीन अब्दुल कलाम❤️
,(15 अक्टूबर1931–27जुलाई2015) इन्हे मिसाइल मैनऔर जनता केराष्ट्रपति केनाम सेजाना जाता है,भारतीय गणतंत्र केग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे।वेभारत
केपूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता(इंजीनियर)के रूप में विख्यात थे। उन्होंने सिखाया जीवन में चाहें जैसे भीपरिस्थिति क्योंन होपर जबआपअपने
सपने को पूरा करने की ठान लेते हैं तो उन्हेंपूरा करके ही रहते हैं।अब्दुलकलाम 
मसऊदी के विचार आज भी युवा पीढ़ी को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं।
     🌹ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम🌹
पदस्थ :-भारत के 11वें राष्ट्रपति
कार्यभार ग्रहण :-25 जुलाई 2002
प्रधानमंत्री:-अटल बिहारी वाजपयी
                 मनमोहन सिंह
उपराष्ट्रपति:-कृष्ण कान्त
                 भैरोंसिंह शेखावत
पूर्वअधिकारी:-के॰आर॰ नारायणन
उत्तराधिकारी:-प्रतिभा देवीसिंह पाटिल
जन्म:-15 अक्टूबर 1931
जन्मस्थल:-रामेश्वरम, रमानाथपुरम जिला, ब्रिटिश राज (मौजूदा तमिलनाडु, भारत)
मृत्यु:-27 जुलाई 2015(उम्र 83)
मृत्यु स्थल:-शिलोंग, मेघालय, भारत
विद्याअर्जन:-सेंट जोसेफ कॉलेज,
तिरुचिरापल्ली
मद्रास इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी
पेशा:-प्रोफेसर, लेखक, वैज्ञानिक
एयरोस्पेस इंजीनियर
वेबसाइट:abdulkalam.com
इन्होंने मुख्य रूप से एक वैज्ञानिक और विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ)औरभारतीय अंत
रिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) संभाला व भारत के नागरिक अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल के विकास केप्रयासों
मेंभीशामिल रहे।इन्हें बैलेस्टिक मिसाइल और प्रक्षेपण यान प्रौद्योगिकी के विकास के कार्यों के लिएभारत में 'मिसाइल मैन' के रूप में जाना जाता है।इन्होंने 1974 में भारत द्वारापहले मूल परमाणुपरीक्षण
के बाद से दूसरी बार1998 में भारत के पोखरान द्वितीय परमाणु परीक्षण में एक
निर्णायक, संगठनात्मक, तकनीकी और राजनैतिक भूमिका निभाई।
कलाम सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी व विपक्षी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दोनों के समर्थनकेसाथ2002 में भारतकेराष्ट्रपति
चुने गए।पांच वर्ष की अवधि की सेवा के बाद, वह शिक्षा, लेखन और सार्वजनिक सेवाकेअपने नागरिकजीवन मेंलौटआए। इन्होंने भारत रत्न,भारत के सर्वोच्च नाग
रिक सम्मानसहित कई प्रतिष्ठितपुरस्कार 
प्राप्त किये।
            🌹प्रारंभिक जीवन🌹
15 अक्टूबर 1931 को धनुषकोडी गाँव (रामेश्वरम, तमिलनाडु)में एक मध्यमवर्ग मुस्लिमअंसारपरिवार में इनकाजन्महुआ
इनके पिता जैनुलाब्दीन न तो ज़्यादा पढ़े
लिखे थे,न ही पैसेवाले थे इनकेपितामछु
आरों को नाव किराये पर दिया करते थे। अब्दुल कलाम संयुक्त परिवार में रहते थे।परिवार की सदस्य संख्याका अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि यह स्वयंपाँचभाई एवं पाँच बहन थे और घर मेंतीनपरिवाररहा करते थे।अब्दुलकलाम
केजीवन पर इनके पिता का बहुत प्रभाव रहा।वे भले ही पढ़े-लिखे नहीं थे, लेकिन
उनकी लगन और उनके दिए संस्कार अब्दुल कलाम के बहुतकाम आए। पाँच 
वर्ष की अवस्था में रामेश्वरम की पंचायत के प्राथमिक विद्यालय में उनका दीक्षा-
संस्कार हुआ था।उनके शिक्षकइयादुराई
 सोलोमन ने उनसे कहा था कि जीवन मे सफलता तथा अनुकूल परिणाम प्राप्त करने के लिए तीव्र इच्छा,आस्था,अपेक्षा
 इन तीन शक्तियो को भलीभाँति समझ लेना और उन पर प्रभुत्व स्थापित करना चाहिए।पांचवी कक्षा मेंपढ़ते समयउनके अध्यापक उन्हें पक्षी के उड़ने के तरीके की जानकारी दे रहे थे,लेकिन जब छात्रों कोसमझ नहीआया तोआध्यापक उनको समुद्र तट ले गए जहाँ उड़ते हुए पक्षियों को दिखाकरअच्छे से समझाया,इन्ही पक्षियों को देखकर कलाम ने तय कर लिया किउनकोभविष्य में विमान विज्ञान मेंहीजाना है।कलाम के गणित के अध्या
पक सुबह ट्यूशन लेते थे इसलिए वह सुबह 4 बजे गणित की ट्यूशन पढ़ने जाते थेअब्दुलकलाम नेअपनीआरंभिक
शिक्षाजारीरखने केलिएअख़बारवितरित
करने का कार्य भी किया था। कलाम ने 1950मेंमद्रासइंस्टीट्यूटऑफटेक्नोलजी
सेअंतरिक्ष विज्ञान में स्नातक की उपाधि प्राप्त की है। स्नातक होने के बाद उन्होंने हावरक्राफ्ट परियोजना पर काम करने के लिये भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संस्थान में प्रवेश किया। 1962 में वे भारतीय अंतरिक्षअनुसंधान संगठन में आये जहाँ उन्होंने सफलतापूर्वक कई उपग्रह प्रक्षेपण परियोजनाओं में अपनी भूमिका निभाई। परियोजना निदेशक के रूप में भारत के पहले स्वदेशी उपग्रह प्रक्षेपण यान एसएलवी 3 के निर्माण में महत्त्वपूर्णभूमिका निभाई जिससे जुलाई 
1982 में रोहिणी उपग्रह सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया था।
           🌹वैज्ञानिक जीवन🌹
यह मेरा पहला चरण था; जिसमें मैंने तीन महान शिक्षकों-विक्रम साराभाई, प्रोफेसर सतीश धवन और ब्रह्म प्रकाश से नेतृत्व सीखा। मेरे लिए यह सीखने और ज्ञान के अधिग्रहण के समय था।
             🌹अब्दुल कलाम🌹
1972में वे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन से जुड़े।अब्दुल कलाम को परियोजना महानिदेशक के रूप मेंभारत 
का पहला स्वदेशी उपग्रह (एस.एल.वी. तृतीय) प्रक्षेपास्त्र बनाने का श्रेय हासिल हुआ। 1980 में इन्होंने रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा के निकट स्थापित कियाथा।इस प्रकारभारत भी अंतर्राष्ट्रीय
अंतरिक्षक्लब का सदस्य बन गया।इसरो 
लॉन्च व्हीकल प्रोग्राम को परवान चढ़ाने काश्रेयभीइन्हें प्रदानकिया जाताहैकलाम
ने स्वदेशी लक्ष्य भेदी नियंत्रित प्रक्षेपास्त्र (गाइडेड मिसाइल्स)को डिजाइन किया। इन्होंने अग्नि एवं पृथ्वी जैसे प्रक्षेपास्त्रों कोस्वदेशीतकनीक से बनायाथा। कलाम जुलाई 1992 से दिसम्बर 1999 तक रक्षामंत्रीकेविज्ञान सलाहकारतथा सुरक्षा शोध और विकास विभाग के सचिव थे। उन्होंने रणनीतिक प्रक्षेपास्त्र प्रणाली का उपयोगआग्नेयास्त्रोंके रूप में किया।इसी
प्रकारपोखरण में दूसरी बारपरमाणु परी
क्षण भी परमाणु ऊर्जा के साथ मिलाकर किया। इसतरह भारत नेपरमाणुहथियार केनिर्माणकीक्षमताप्राप्त करनेमेंसफलता
अर्जित की।कलाम ने भारत के विकास
स्तर को 2020 तक विज्ञान के क्षेत्र में अत्याधुनिक करने के लिए एक विशिष्ट सोच प्रदान की।यह भारत सरकार के मुख्यवैज्ञानिकसलाहकार भी रहे।1982 में वेभारतीय रक्षा अनुसंधान एवंविकास
संस्थानमेंवापस निदेशक के तौरपर आये और उन्होंने अपना सारा ध्यान "गाइडेड मिसाइल" के विकास पर केन्द्रित किया। अग्नि मिसाइल और पृथ्वी मिसाइल का सफलपरीक्षण का श्रेय काफी कुछ उन्हीं को है। जुलाई 1992 में वे भारतीय रक्षा मंत्रालय में वैज्ञानिक सलाहकार नियुक्त हुये।उनकी देखरेख में भारत ने1998 में पोखरण में अपना दूसरा सफल परमाणु परीक्षणकियाऔरपरमाणुशक्तिसे संपन्न
राष्ट्रों की सूची में शामिल हुआ।अब्दुल कलाम राष्ट्रपति निर्वाचित हुएथे।इन्हें 
भारतीय जनता पार्टीसमर्थितएन॰डी॰ए॰ 
घटक दलों ने अपना उम्मीदवार बनाया था जिसका वामदलों के अलावा समस्त दलों ने समर्थन किया।18 जुलाई 2002 कोकलाम को नब्बे प्रतिशत बहुमत द्वारा भारतका राष्ट्रपति चुना गया थाऔर इन्हें 25जुलाई2002कोसंसदभवनकेअशोक
कक्षमेंराष्ट्रपति पद की शपथदिलाई गई। इस संक्षिप्त समारोह मेंप्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, उनके मंत्रिमंडल के सदस्य तथा अधिकारीगण उपस्थित थे। इनका कार्याकाल 25 जुलाई 2007 को समाप्त हुआ।अब्दुल कलाम व्यक्तिगत ज़िन्दगी में बेहद अनुशासनप्रिय थे। यह शाकाहारी थे। इन्होंने अपनी जीवनी विंग्स ऑफ़ फायर भारतीय युवाओं को मार्गदर्शन प्रदान करने वाले अंदाज में लिखी है। इनकी दूसरी पुस्तक 'गाइडिंग सोल्स- डायलॉग्स ऑफ़ द पर्पज ऑफ़ लाइफ'आत्मिक विचारों को उद्घाटित करती हैइन्होंने तमिल भाषा में कविताऐं भी लिखी हैं।यह भी ज्ञात हुआ है कि दक्षिणी कोरिया में इनकी पुस्तकों की काफ़ीमाँग हैऔर वहाँ इन्हें बहुत अधिक पसंद किया जाता है।
2000वर्षों के इतिहास मेंभारतपर 600 वर्षों तक अन्य लोगों ने शासन किया है। यदिआप विकास चाहते हैंतोदेशमें शांति की स्थिति होना आवश्यक है और शांति कीस्थापना शक्ति से होती है।इसी कारण
प्रक्षेपास्त्रोंको विकसित किया गया ताकि देशशक्ति सम्पन्न हो।
                अब्दुल कलाम
यूं तो अब्दुल कलाम राजनीतिक क्षेत्र के व्यक्तिनहीं थे लेकिन राष्ट्रवादी सोच और राष्ट्रपतिबनने के बाद भारत की कल्याण संबंधी नीतियों के कारण इन्हें कुछ हद तक राजनीतिक दृष्टि से सम्पन्न माना जा सकता है। इन्होंने अपनी पुस्तक इण्डिया 2020 में अपना दृष्टिकोण स्पष्ट किया है।यह भारत को अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में दुनिया का सिरमौर राष्ट्र बनते देखना चाहते थे और इसके लिए इनके पास एक कार्य योजना भी थी। परमाणु हथियारों के क्षेत्र में यह भारत को सुपर पॉवर बनाने की बात सोचते रहे थे। वह विज्ञान के अन्य क्षेत्रों में भी तकनीकी विकास चाहते थे। कलाम का कहना था कि 'सॉफ़्टवेयर' का क्षेत्र सभी वर्जनाओं से मुक्त होना चाहिए ताकि अधिकाधिक लोग इसकी उपयोगिता से लाभांवित हो सकें। ऐसे में सूचना तकनीक का तीव्र गति से विकास हो सकेगा। वैसे इनके विचार शांति और हथियारों को लेकर विवादास्पद हैं।
🌹राष्ट्रपति दायित्व से मुक्ति के बाद🌹
कार्यालयछोड़ने के बाद,कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग,भारतीय प्रबंधन संस्थानअहमदाबाद,भारतीयप्रबंधन संस्थानइंदौर व भारतीयविज्ञान संस्थान
बैंगलोर के मानद फैलो,व एक विजिटिंग प्रोफेसर बन गएभारतीयअन्तरिक्षविज्ञान
एवं प्रौद्योगिकी संस्थान, तिरुवनंतपुरम के कुलाधिपति, अन्ना विश्वविद्यालय में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के प्रोफेसर और भारत भर में कई अन्य शैक्षणिक और अनुसंधान संस्थानों में सहायक बन गए। उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय और अन्नाविश्वविद्यालय में सूचना प्रौद्योगिकी
औरअंतरराष्ट्रीय सूचनाप्रौद्योगिकी संस्थान हैदराबाद में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में पढ़ाया।मई 2012 में, कलाम नेभारत के युवाओं के लिएएक कार्यक्रम
भ्रष्टाचार को हराने के एक केंद्रीय विषय के साथ,मैंआंदोलन कोक्या दे सकता हूँ" का शुभारंभ किया। उन्होंने यहाँ  तमिल कविता लिखने और वेन्नई नामक दक्षिण भारतीय स्ट्रिंग वाद्य यंत्र को बजाने का भी आनंद लिया।कलाम कर्नाटक भक्ति संगीत हर दिनसुनते थे और हिंदूसंस्कृति मेंविश्वास करते थे।इन्हें 2003 व 2006 में "एमटीवी यूथ आइकन ऑफ़ द इयर" केलिएनामांकित किया गया था।2011
में आई हिंदी फिल्म आई एम कलाम में, एकगरीबलेकिनउज्ज्वल बच्चे परकलाम
के सकारात्मक प्रभाव को चित्रित किया गया।उनके सम्मान में वह बच्चा छोटू जो एक राजस्थानी लड़का है खुद का नाम बदल कर कलाम रख लेता है।2011 में, कलामकी कुडनकुलम परमाणुसंयंत्र पर अपने रुख से नागरिक समूहोंद्वाराआलो
चना की गई।इन्होंने ऊर्जा संयंत्र की स्था
पना का समर्थन किया। इन पर स्थानीय लोगों के साथ बात नहीं करने का आरोप लगाया गया।इन्हेंएकसमर्थपरमाणु वैज्ञा
निकहोने के लिए जानाजाता हैपर संयंत्र की सुरक्षा सुविधाओं के बारे में इनके द्वारा उपलब्ध कराए गए आश्वासनों से नाखुशप्रदर्शनकारी इनके प्रतिशत्रुतापूर्ण थे।
               🌹निधन🌹
मैं यह बहुत गर्वोक्ति पूर्वक तो नहीं कह सकताकिमेराजीवन किसीकेलियेआदर्श
बनसकता हैलेकिनजिसतरह मेरीनियति
ने आकार ग्रहण किया उससे किसी ऐसे गरीब बच्चे को सांत्वना अवश्य मिलेगी जो किसी छोटी सी जगह परसुविधाहीन 
सामजिक दशाओं में रह रहा हो। शायद यह ऐसे बच्चों को उनके पिछड़ेपन और निराशा की भावनाओं से विमुक्त होने में अवश्य सहायता करे।
    💞 सूक्तियाँ - अब्दुल कलाम💞 
27 जुलाई 2015 कीशामअब्दुलकलाम
भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग में 'रहने योग्यग्रह'पर एक व्याख्यान दे रहे थे जब उन्हें जोरदार कार्डियक अरेस्ट (दिल का दौरा)हुआऔर ये बेहोश हो करगिर पड़े। लगभग 6:30 बजे गंभीर हालत में इन्हें बेथानीअस्पताल में आईसीयू में ले जाया गया और दो घंटे के बाद इनकी मृत्यु की पुष्टि कर दी गई।अस्पताल के सीईओ जॉन साइलो ने बताया कि जब कलाम कोअस्पताल लाया गया तबउनकी नब्ज और ब्लड प्रेशर साथ छोड़ चुकेथे।अपने
निधन से लगभग 9 घण्टेपहले ही उन्होंने ट्वीटकरकेबतायाथाकिवहशिलोंगIIMमें
लेक्चर देने के लिए जा रहे हैं।कलाम15 अक्टूबर 2015 में 84 सालके होने वाले थेमेघालयकेराज्यपालवी॰षडमुखनाथन
अब्दुल कलाम के हॉस्पिटल में प्रवेश की खबर सुनते ही सीधे अस्पताल में पहुँच गए।बाद में षडमुखनाथन ने बताया कि कलाम को बचाने की चिकित्सा दल की कोशिशोंकेबाद भीशाम 7:45 पर उनका निधन हो गया।
              🔥अंतिम संस्कार🔥
मृत्युकेतुरंत बाद कलाम केशरीरको भार
तीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर से शिलांग से गुवाहाटी लाया गया। जहाँ से अगले दिन 28 जुलाई को पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का पार्थि‍व शरीर मंगल
वार दोपहरवायुसेना के विमान सी-130
जेहरक्यूलिससेदिल्ली लायागयालगभग
12:15 पर विमान पालम हवाईअड्डे पर उतरा।सुरक्षा बलोंनेपूरे राजकीय सम्मान केसाथकलाम के पार्थिवशरीरको विमान
सेउतारावहांप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदी,राष्ट्रपति
प्रणबमुखर्जी,दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविन्द
केजरीवाल व तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने इसकीअगवानीकी औरकलामके पार्थिव शरीरपर पुष्पहारअर्पित किये।इसकेबाद
तिरंगे में लिपटे कलाम के पार्थि‍व शरीर को पूरे सम्मान के साथ,एक गन कैरिज में रख उनके आवास 10 राजाजी मार्ग पर ले जाया गया। यहाँ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित अनेक गणमान्यलोगोंनेइन्हें श्रद्धांजलिदी।भारत
सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति के निधन केमौके 
परउनके सम्मान के रूप मेंसात दिवसीय
राजकीय शोक की घोषणा की।
29 जुलाई की सुबह वायुसेना के विमान सी-130जे से भारतीय ध्वज में लिपटे कलाम के शरीर को पालम एयर बेस पर लेजाया गया जहां से इसे मदुरैभेजागया, विमान दोपहर तक मदुरै हवाई अड्डे पर पहुंचा। उनके शरीर को तीनों सेनाओं के प्रमुखों और राष्ट्रीय व राज्य के गणमान्य व्यक्तियों, कैबिनेट मंत्री मनोहर पर्रीकर, वेंकैया नायडू,पॉनराधाकृष्णनऔरतमिल
नाडुऔरमेघालयके राज्यपाल के॰रोसैया
और वी॰षडमुखनाथन ने हवाई अड्डे पर प्राप्त किया।एक संक्षिप्तसमारोह केबाद कलाम के शरीर को एक वायु सेना  के हेलिकॉप्टर में मंडपम भेजा गया।मंडपम
से कलाम के शरीर को उनके गृह नगर रामेश्वरम एक आर्मी ट्रक में भेजा गया। अंतिमश्रद्धांजलि देने के लिएउनकेशरीर
को स्थानीय बस स्टेशन के सामने एक खुले क्षेत्र में प्रदर्शित किया गया ताकि जनता उन्हें आखिरी श्रद्धांजलि दे सके।
30 जुलाई 2015 को पूर्व राष्ट्रपति को पूरेसम्मानकेसाथ रामेश्वरम केपी करूम्बु ग्राउंड में दफ़ना दिया गया। प्रधानमंत्री मोदी, तमिलनाडु के राज्यपाल और कर्नाटक, केरल और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्रियों सहित 3,50,000 से अधिक लोगों ने अंतिम संस्कार में भाग लिया।
           🔥प्रतिक्रियाए🔥
अब्दुलकलाम के निधन पर काला रिबन दिखाता गूगल का मुख्यपृष्ठकलाम के निधन से देश भर में और सोशलमीडिया में पूर्वराष्ट्रपति को श्रद्धांजलि देने केलिये अनेक कार्य किये गए। भारत सरकार ने कलामको सम्मान देने के लिएसात दिव
सीय राजकीय शोक की घोषणा की।राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और अन्य नेताओं ने पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर शोक व्यक्त किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, "उनका (कलाम का) निधन वैज्ञानिक समुदाय के लिए एक बड़ीक्षति है।वहभारत कोमहानऊंचाइयों
पर ले गए।उन्होंने हमें मार्ग दिखाया।" पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जिन्होंने कलामके साथ प्रधानमंत्री केरूप में सेवा की थी।उन्होंने कहा"उनकी मृत्यु के साथ हमारे देश ने एक महान मनुष्य को खोया है जिसने, हमारे देश की रक्षा प्रौद्योगिकी में आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने के लिए अभूतपूर्वयोगदानदिया है।मैंने प्रधानमंत्री के रूपमें कलाम के साथ बहुत निकटता सेकाम कियाहै।मुझे हमारेदेशकेराष्ट्रपति 
केरूप में उनकी सलाह से लाभ हुआ। उनका जीवन और काम आने वाली पीढ़ियों तक याद किया जाएगा।
दलाई लामा ने अपनी संवेदना और प्रार्थना व्यक्त की और कलाम की मौत को "एक अपूरणीय क्षति" बुला, अपना दुख व्यक्त किया। उन्होंने यह भी कहा, "अनेक वर्षों में, मुझे कई अवसरों पर कलाम के साथ बातचीत करने का मौका मिला। वह एक महान वैज्ञानिक, शिक्षाविद और राजनेता ही नहीं, बल्कि वे एक वास्तविक सज्जन थे, और हमेशा मैंने उनकी सादगी और विनम्रता की प्रशंसा की है। मैंने सामान्य हितों के विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला पर हमारी चर्चाओं का आनंद लिया, लेकिन विज्ञान, अध्यात्म और शिक्षा के साथ मुख्य रूप से हमारे बीच चिंतन किया जाता था।" 
दक्षिण एशियाई नेताओं ने अपनी संवेदना व्यक्त की और दिवंगत राजनेता की सराहना की। भूटान सरकार ने कलाम की मौत के शोक के लिए देश के झंडे को आधी ऊंचाई पर फहराने के लिए आदेश दिया, और श्रद्धांजलि में 1000 मक्खन के दीपक की भेंट किए। भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे ने कलाम के प्रति अपना गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा, "वे एक महान नेता थे जिनकी सभी ने प्रशंसा की विशेषकर भारत के युवाओं के वे प्रशंसनीय नेता थे जिन्हें वे जनता का राष्ट्रपति बुलाते थे।
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने उनकी व्याख्या करते हुए कहा, "एक महान राजनेता प्रशंसित वैज्ञानिक और दक्षिण एशिया के युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणा स्रोत के संयोग" उन्होंने कलाम की मृत्यु को "भारत के लिए अपूरणीय क्षति से भी परे बताया।" उन्होंने यह भी कहा कि भारत के सबसे प्रसिद्ध बेटे, पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर हमें गहरा झटका लगा है। ए॰पी॰जे॰ अब्दुल कलाम अपने समय के सबसे महान ज्ञानियों में से एक थे। वह बांग्लादेश में भी बहुत सम्मानित थे। उनकी विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत की वृद्धि करने के लिए अमूल्य योगदान के लिए वे सभी के द्वारा हमेशा याद किये जायेंगे। वे दक्षिण एशिया की युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणा का स्रोत थे जो उनके सपनों को पंख देते थे।" बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी की प्रमुख खालिदा जिया ने कहा, "एक परमाणु वैज्ञानिक के रूप में, उन्होंने लोगों के कल्याण में स्वयं को समर्पित किया।"अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी, ने कलाम को, "लाखों लोगों के लिए एक प्रेरणादायक शख्सियत बताया" ये नोट करते हुए "हमे अपने जीवन से बहुत कुछ सीखना है।" नेपाली प्रधानमंत्री सुशील कोइराला ने भारत के लिए कलाम के वैज्ञानिक योगदानों को याद किया। "नेपाल ने एक अच्छा दोस्त खो दिया है और मैंने एक सम्मानित और आदर्श व्यक्तित्व को खो दिया है।" पाकिस्तान के राष्ट्रपति, ममनून हुसैन और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर उनके प्रति दु: ख, शोक व संवेदना व्यक्त की। 
श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने कहा, "कलाम दृढ़ विश्वास और अदम्य भावना के आदमी थे। मैंने उन्हें दुनिया के एक उत्कृष्ट राजनेता के रूप में देखा था। उनकी मौत भारत के लिए, बल्कि पूरी दुनिया के लिए अपूरणीय क्षति है।"
            🔥व्यक्तिगत जीवन🔥
कलाम अपने व्यक्तिगत जीवन में पूरी तरह अनुशासन का पालन करने वालों में से थे। ऐसा कहा जाता है कि वे क़ुरान और भगवद् गीता दोनों का अध्ययन करते थे। कलाम ने कई स्थानों पर उल्लेख किया है कि वे तिरुक्कुरल का भी अनुसरण करते हैं, उनके भाषणों में कम से कम एक कुरल का उल्लेख अवश्य रहता था। राजनीतिक स्तर पर कलाम की चाहत थी कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की भूमिका का विस्तार हो और भारत ज्यादा से ज्यादा महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाये। भारत को महाशक्ति बनने की दिशा में कदम बढाते देखना उनकी दिली चाहत थी। उन्होंने कई प्रेरणास्पद पुस्तकों की भी रचना की थी और वे तकनीक को भारत के जनसाधारण तक पहुँचाने की हमेशा वक़ालत करते रहते थे। बच्चों और युवाओं के बीच डाक्टर क़लाम जी अत्यधिक लोकप्रिय थे। वह भारतीय अन्तरिक्ष विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान के कुलपति भी थे। वे सदाय स्मित करते थे चाहे वो दफतर का नौकर ही क्यूँ न हो। वे जीवनभर शाकाहारी रहे।
                🌹किताबें🌹
कलाम ने साहित्यिक रूप से भी अपने विचारों को चार पुस्तकों में समाहित किया है, जो इस प्रकार हैं: 'इण्डिया 2020 ए विज़न फ़ॉर द न्यू मिलेनियम', 'माई जर्नी' तथा 'इग्नाटिड माइंड्स- अनलीशिंग द पॉवर विदिन इंडिया'।[4] इन पुस्तकों का कई भारतीय तथा विदेशी भाषाओं में अनुवाद हो चुका है। इस प्रकार यह भारत के एक विशिष्ट वैज्ञानिक थे, जिन्हें 40 से अधिक विश्वविद्यालयों और संस्थानों से डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्राप्त हो चुकी है।
"सबसे उत्तम कार्य क्या होता है? किसी इंसान के दिल को खुश करना, किसी भूखे को खाना देना, जरूरतमंद की मदद करना, किसी दुखियारे का दुख हल्का करना और किसी घायल की सेवा करना...
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻(C) आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐
 1686 - मुग़ल शासक औरंगजेब ने बीजापुर के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर किये।
1866 - कनाडा स्थित फ्रेंच बहुल क्षेत्र क्यूबेक में जबरदस्त आग लगने से 2500 मकान जलकर खाक। 
1923 - वर्ष का पांचवा उष्णकटिबंधीय तूफ़ान लीवर्ड द्वीप के उत्तर में आया। 1932 - टाटा कंपनी ने टाटा सन्स लिमिटेड नामक देश की पहली एयरलाइन की शुरुआत की।
 1935 - टाटा एयरलाइन (जो कालांतर में एयर इंडिया बन गया) की पहली उड़ान। 
1949 - त्रिपुरा राज्य को भारत में सम्मिलित किया गया। 
1958 - अफ्रीकी देश ट्यूनीशिया ने मिस्र के साथ राजनयिक संबंध समाप्त किए।
1970 - अनवर सदत मिस्त्र के राष्ट्रपति चुने गए। 
1978 - सोवियत संघ ने पूर्वी कजाखस्तान क्षेत्र में परमाणु परीक्षण किया। 
1990 - सोवियत संघ के राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाचेव को नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया।
1996 - फिजी व्यापक परीक्षण प्रतिबंध संधि की पुष्टि करने वाला प्रथम देश बना।
 1997-अरुंधतिराय को उनके उपन्यास
 'द गॉड आफ़ स्माल थिंग्स' के लिए ब्रिटेन के सबसे प्रतिष्ठित बुकर पुरस्कार के लिए चुना गया।
1998 - ग़रीबी उन्मूलन के लिए भारत की फ़ातिमा बी को संयुक्त राष्ट्र पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
1999-चीन ने 12हज़ारकिलोमीटर तक
मारकरनेवाले 'डी.एफ़.-41आईसीबीएम
'नामक प्रक्षेपास्त्र का सफल परीक्षण
किया, जनरल जोसेफ़ रॉलस्टन नाटो के सर्वोच्च वाइस कमांडर नियुक्त।
2006-संयुक्त राष्ट्र संघ ने उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगाया।
2007 - वर्ष 2007 का अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के तीन अर्थशास्त्रियों- लियोनिड हरविक्ज, इरिक मस्किन और रोजर मायरसन को प्रदान किया गया।
2008 - रिजर्व बैंक ने सीआरआर में एक फ़ीसदी की कटौती की घोषणा की। अरविन्द अदिग को उनकी पुस्तक 'द हाइट टाइगर' के लिए वर्ष 2008 का बुकर पुरस्कार प्रदान किया गया। 2012 - ब्रिटिश लेखिका हिलेरी मेंटल को उनके उपन्यास “ब्रिंग अप द बडीज़” के लिए मैन बुकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
 2013 - फिलीपीन्स में 7.2 की तीव्रता वाले भूकंप से 215 से अधिक लोगों की मौत।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व
1542 - अकबर - मुग़ल शासक
1922 - शंकर- प्रसिद्ध संगीतकार (शंकर जयकिशन)
1931 - अब्दुल कलाम, भारत के 11वें राष्ट्रपति । 
1936 - मदन लाल खुराना, दिल्ली के मुख्यमंत्री।
1948 - महेंद्र नाथ पांडेय - भारतीय राजनीतिज्ञ हैं, जिनका सम्बंध भारतीय जनता पार्टी से है।
1952 - रमन सिंह- प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ एवं छत्तीसगढ़ के दूसरे मुख्यमंत्री
1957 - मीरा नायर, भारतीय निर्देशक। 1957 - मुख़्तार अब्बास नक़वी - भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ और राजनेता हैं।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻(E)आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
1595 में  मध्यकालीन भारत का एक विद्वान् साहित्यकार और फ़ारसी का प्रसिद्ध कवि फ़ैज़ी का निधन  हुआ।
1961 में  एक कवि, उपन्यासकार, निबन्धकार और कहानीकार सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला का निधन  हुआ।
1975 में   पद्म भूषण से सम्मानित प्रसिद्ध चित्रकार एवं मूर्तिकार देवी प्रसाद राय चौधरी का निधन  हुआ।
1999 में  भारत के स्वतंत्रता संग्राम में क्रान्तिकारियों की प्रमुख सहयोगी दुर्गा भाभी का निधन  हुआ।
2012- कंबोडिया देश के राजा कनोरो
दम शिनौक का निधन  में हुआ।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻(F) आज का दिवस का नाम
1.अकबर - मुग़ल शासक का जयंती दिवस
2. शंकर- प्रसिद्ध संगीतकार (शंकर जयकिशन)का जयंती दिवस
3.अब्दुलकलाम,भारत के 11वें राष्ट्रपति थे उनका जयंती दिवस।
4.मदनलालखुराना,दिल्ली के मुख्यमंत्री थे का जयंती दिवस
5 महेंद्रनाथ पांडेय -भारतीय राजनीतिज्ञ हैं, जिनका सम्बंध भारतीय जनता पार्टी से है का जन्मदिवस
6.रमन सिंह- प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ एवं छत्तीसगढ़केदूसरे मुख्यमंत्री का जन्म
दिन
7.मीरा नायर, भारतीय निर्देशक का जन्मदिन
8.मुख़्तार अब्बास नक़वी - भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ और राजनेता है का जन्मदिन
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐   
आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
   आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐
💐जयमहाकाल,बोलेसोनिहाल💐
💐।जय हिंद जय भारत💐
💐  निवेदक;-💐
💐 चित्रांश ;-विजय निगम।💐