आज की बात आपके साथ - विजय निगम

         ।।ॐ गं गणपतये नमः।।
     या देवी सर्वभूतेषु सर्वरूपेन्न संस्थिता
    नमस्तस्यै,नमस्तस्यै,नमस्तस्यै,नमो नमः
           श्री चित्रगुप्ताय नमो नमः।।.    
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌸🌲🌹💐💐🌸🌲🌹🌻प्रिय साथियो। 
🌹राम-राम🌹 
🌻 नमस्ते।🌻
आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 26 अक्टूबर 2020 सोमवार दशहरा पर्वकीप्रातःकीबेलामेंहार्दिकवंदन हैअभिनन्दनहै।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐🌸🌲🌹💐💐🌻
आज की बात आपके साथ  अंक मे है 
A कुछ रोचक समाचार
B आज के दिन जन्मे हिन्दी के जाने माने पत्रकार एवं भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के सिपाही एवं सुधारवादी नेतापंडित गणेशशंकर'विद्यार्थी। का
जीवन परिचय  लेख.  
C आज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    
    व्यक्तित्व
E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F आज का दिवस का नाम ।
🌻💐🌲🌸🌲🌹💐💐🌻🌸🌲🌹💐💐
        (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)
1.🍁(A/1)मध्यप्रदेश के मंदसौरमेविजयादशमी
पर्व पर होती हे दशानन की पूजा फिर होता हे उसका दहन।🍁
2,🍁(A/2)केंद्रीय सड़क परिवहन औरराजमार्ग
मंत्री नितिन गडकरी ने विजय दशमी के अवसर पर गोवा को दिया औद्योगिक एस्टेट में समुद्री क्लस्टरमेरिनया टाईम क्लस्टर का एकतोहफा🍁
3🍁(A/3)एन सी बी ने एक टीवी ऐक्ट्रेस को ड्रग पैड्लर से ड्रग खरीदते हुवे रंगे हाथो पकडा।,
4.🌹(A/4)नवदुर्गाओं मेंअंतिम रूप मां सिद्धि
दात्री की उपासना व नवरात्र-पूजन और व्रतका फल🍁
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌲🌱🌸🌹💐💐
          (A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)
🍁(A/1)मध्यप्रदेश के मंदसौर मे विजयादशमी
पर्व पर होती हे दशानन की पूजा फिर होता हे उसका दहन।🍁
🍁दशहरा पर्व🍁अधर्म पर धर्म की विजय 🍁
के रूप में मनाए जाने वाले दशहरे से मंदसौर की अनोखी मान्यता जुड़ी हुई है किवंदतियों के अनु
सार देश में जिन कुछ स्थानों को रावण की पत्नी मंदोदरीका मायका माना जाताा है, उनमें मंदसौर शामिल है।मंदसौर में इसीलिए दशानन कोअपना
जमाई माना जाता है।और जमाई के रूप में ही उसकी पूजा होती है।
जमाईहोने केकारण ही रावण कीप्रतिमाकेसामने
महिलाएं घूंघट में जाती हैं। दशहरे के दिन सुबह रावण की प्रतिमा की पूजा-अर्चना होती है और शाम को गोधुलि बेला में दहन किया जाता है। यह सारी आवभगत नामदेव समाज की देखरेख में खानपुरा में होती है। पूर्व में शहर को दशपुर के नामसे पहचाना जाता था। वहां रावण की स्थायी प्रतिमाबनवाई हुई है।खानपुरा क्षेत्र में रुंडी नामक
स्थानपर यह प्रतिमा स्थापित है।समाजइसप्रतिमा 
की पूजा-अर्चना करता है।
              🍁गधे का सिर लगाया🍁
बतायाजाता है कि 200 साल सेभीअधिक समय सेसमाजजन रावण प्रतिमा कीपूजा करते आ रहे हैं। पहले पुरानी मूर्ति थी। अब इसे नए स्वरूप में स्थापित किया गया है। इसके 10 सिर हैं, लेकिन उसकी बुद्धि भ्रष्ट होने के प्रतीक के रूप में मुख्य मुंहकेऊपर गधे का सिर लगाया गया।
🍁रावण की प्रतिमा के पैर में लच्छा बांधती हैं महिलाएं🍁
नामदेव समाज के लोग प्रतिमा की पूजा-अर्चना करते हैंऔर प्रतिमाके पैर में लच्छा बांधकर मन्नत मांगते हैं उनमें मान्यता है कि इस प्रतिमा के पैर में धागा बांधने से बीमारी नहीं होती। इसके बाद राम और रावण की सेनाएं निकलती हैं। शाम को वधसे पहले लोगरावण के समक्षखड़े रहकर क्षमा याचना करते हैं।वे कहते हैं,सीता का हरण किया था,इसलिए राम की सेना आपका वध करने आई है।’इसके बाद प्रतिमा स्थल पर अंधेरा छा जाता है।फिरउजाला होते ही राम की सेनाउत्सव मनाने लगती है।
🍁अच्छाई केलिए पूजा,बुराई केकारणदहन🍁
नामदेव समाज के अध्यक्ष अशोक बघेरवाल ने बताया किसालों पहले से यह परंपराचली आ रही है।हमारे पूर्वज भी पूजा करते आए हैं।हमभीउसी
का निर्वहनकर रहे हैं।किवंदती के अनुसाद रावण
कोमंदसौरका दामाद माना गया है।रावणप्रकाण्ड
विद्वान ब्राह्मण और शिवभक्त था। ऐसे में उसकी अच्छाइयोंऔर प्रकाण्डता को लेकरपूजाकी परं
पराशुरूहुई। इसी के चलतेसालों सेनामदेवसमाज 
पूजाकरता आया है और समाज यह परंपरा अभी भी निभा रहा है। रावण ने सीताहरण जैसा काम कियाथा। इसी बुराई के चलते रावण दहन भी शाम को गोधुलि बेला में समाजजन करते हैं।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💐
1,🍁(A/2)केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने विजय दशमी के अवसर पर गोवा को दिया औद्योगिक एस्टेट में समुद्री क्लस्टर मेरिन या टाईम क्लस्टर का एक तोहफा🍁
नई दिल्ली। रविवार को विजय दशमी के अवसर पर केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने गोवा को एक तोहफा दिया है। उन्होंने गोवा के सलहेटा स्थित वर्ना औद्योगिक एस्टेट में समुद्री क्लस्टर या मैरिन टाईम क्लस्टर  की नींव रखी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इससे गोवा में उद्योगीकरण को बढ़ावा मिलेगा। खासकरसमुद्री कारोबारमें पहलेसे तेजी आएगी।
🍁हरिद्वारसड़क निर्माण के लिए154 करोड़🍁
एकदिनपहले नितिन गडकरी ने हरिद्वार में अगले सालहोने वाले कुंभ से पहलेशहर कोजोडऩेवाली
चार सड़कों के मरम्मत और सौंदर्यीकरण केलिए 
केंद्रसरकार की ओर से लगभग154 करोड़ रुपए के बजट को स्वीकृति दी थी। केंद्रीय सड़क निधि के तहत इसके लिए बजट आवंटित होगा।
🍁कुल 154 करोड़ में से 30.86 करोड़ रुपए की धनराशि शासन ने पास कर दी है।🍁 भोगपुर-रायसीरोडके सिंगललेनऔरइंटरमीडिएट
लेन से दो लेन के चौड़ीकरण को 40.93 करोड़ मंजूर किए गए हैं। इसमें से 8.19 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं।सरायबसेड़ीरोड के किलोमीटर एक से21तकचौड़ीकरण के लिए स्वीकृत33.32
करोड़की राशि में से 6.66 करोड़ रुपए जारी की गई है।
देहरादून के अंतर्गत लंबरपुर-लांघा मोटर मार्ग पर शीतलानदीमें180 मीटर आरसीसी बॉक्सकल्वर्ट
निर्माण के लिए 13.18 करोड़ और 2.64 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं।सीएम रावत ने जताया आभारउत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत  नेइसके लिएकेंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग
मंत्री नितिन गडकरी का आभार व्यक्त किया है। उन्होंनेकहा इससे कुंभकी तैयारीको गतिमिलेगी।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💐
🍁(A/3)एन सी बी ने एक टीवी ऐक्ट्रेस को ड्रग पैड्लर से ड्रग खरीदते हुवे रंगे हाथो पकडा।,🍁
नई दिल्ली। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग के एंगल पर काम कर रही है एनसीबी तमाम लोगों का पीछा और तलाश कर रही है। इस तलाश में कई बॉलीवुड और टीवी से जुड़े कलाकारों के नाम सामने आ रहे हैं। एनसीबी की ओर से जहां बॉलीवुड कलाकारों को ड्रग सप्लाई करने वाले पेडलर को गिरफ्तार किया है वहीं इसी के साथ ड्रग खरीदते एक टीवी एक्ट्रेस को गिरफ्तार किया गया है।
मीडियारिपोर्ट में इस टीवी एक्ट्रेस कानामप्रतिका
चौहान बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के मुता
बिक जब एनसीबी ड्रग पेडलर पकडऩे के लिए एक ऑपरेशन चलाया था। जिसमें एनसीबी की ओर से पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। जिसमें यह टीवी एक्ट्रेस भी शामिल है।
जानकारों की मानें तो यह मामला पूरी तरह से नया है और इसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस एक्ट्रेस के खिलाफ मामला पूरी तरह से नया दर्ज किया जाएगा। आपको बता दें कि सुशांत की मौत की वजह पता लगाने के लिए ड्रग एंगल भी सामने आया है। जिसके तहत कई बॉलीवुड सितारों से भी पूछताछ हो चुकी है।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💐
🌹(A/4)नवदुर्गाओं में अंतिम रूपमांसिद्धिदात्री
कीउपासना व नवरात्र-पूजन और व्रतका फल🍁
जयपुर. नवदुर्गाओं में अंतिम रूप मां सिद्धिदात्री हैं जिनकी उपासनानवरात्र के नौवें दिनकी जाती है।ज्योतिषाचार्य के अनुसार मां सिद्धिदात्री सभी सिद्धियांप्रदान करनेवाली हैं।इनकी पूजा के साथ हीनवरात्र-पूजन और व्रत का फल प्राप्त होता है।
इनका वाहन सिंह है। मां सिद्धिदात्री कमल पुष्प परआसीन रहती हैं।उनकी चार भुजाएं हैं जिनमें एक हाथ में भी कमलपुष्प है। माता सिद्धिदात्री की पूर्ण विश्वास के साथ पूजा करनी चाहिए. मां सिद्धिदात्रीअपने साधकको परम पदप्रदान करती
हैं।मार्कण्डेय पुराण केअनुसार आठसिद्धियांहोती
हैं। इनके नाम अणिमा, महिमा, गरिमा, लघिमा, प्राप्ति,प्राकाम्य,ईशित्व और वशित्व हैं.इधर ब्रह्म
वैवर्त पुराण में अठारह सिद्धियां बताई गई है। मां सिद्धिदात्री इन सिद्धियों के साथ ही नवनिधि भी प्रदान करतीहैं।स्वयंभगवान शिव कोभी मांसिद्धि
दात्रीकी कृपा से ही सिद्धियों की प्राप्ति हुई थी। देवीपुराण में उल्लेख है कि सिद्धिदात्री माता की शिव पर ऐसी अनुकम्पा हुई कि देवी उनके आधे शरीर में ही समां गईं थी। तभी से वे अर्द्धनारीश्वर' नाम से प्रसिद्ध हुए।
                     🍁स्तुति मंत्र🍁
1.सिद्धगंधर्वयक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि।
सेव्यमानायदाभूयात् सिद्धिदा सिद्धिदायनी॥
2.या देवी सर्वभू‍तेषु माँ सिद्धिदात्री रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।
हिंदी भावार्थ
हे मां! सर्वत्र विराजमान और मां सिद्धिदात्री के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है या मैं आपको बारंबार प्रणाम करता हूं।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹🌲🌸🌲🌹💐 💐
(B)आज केदिन जन्मे हिन्दी के जानेमानेपत्रकार
 एवं भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के सिपाही एवं सुधारवादी नेतापंडित गणेशशंकर'विद्यार्थी। का
जीवन परिचय  लेख.      
  💥पंडित गणेशशंकर 'विद्यार्थी'💥
(1890 - 25 मार्च 1931), हिन्दी के पत्रकार एवं भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के सिपाही एवं सुधारवादी नेता थे।
       पंडित गणेशशंकर विद्यार्थी
          💥  जीवन  परिचय💥
पंडित गणेशशंकर 'विद्यार्थी' का जन्म आश्विन शुक्ल 14, रविवार सं. 1947 (1890 ई.) को अपनी ननिहाल, इलाहाबाद के अतरसुइया मोहल्ले में श्रीवास्तव (कायस्थ) परिवार में हुआ। इनके पिता मुंशी जयनारायण कायस्थ हथगाँव, जिला फतेहपुर (उत्तर प्रदेश) के निवासी थे। माता का नाम गोमतीदेवी था। पिता ग्वालियर रियासत में मुंगावली के ऐंग्लो वर्नाक्युलर स्कूल के हेडमास्टर थे। वहीं विद्यार्थी जी का बाल्यकाल बीता तथा शिक्षा-दीक्षा हुई। विद्यारंभ उर्दू से हुआ और 1905 ई. में भेलसा से अंग्रेजी मिडिल परीक्षा पास की। 1907 ई. में प्राइवेट परीक्षार्थी के रूप में कानपुर से एंट्रेंस परीक्षा पास करके आगे की पढ़ाई के लिए इलाहाबाद के कायस्थ पाठशाला कालेज में भर्ती हुए। उसी समय से पत्रकारिता की ओर झुकाव हुआ और भारत में अंग्रेज़ी राज के यशस्वी लेखक पंडित सुन्दर लाल कायस्थ इलाहाबाद के साथ उनके हिंदी साप्ताहिक कर्मयोगी के संपादन में सहयोग देने लगे। लगभग एक ha
1911 में विद्यार्थी जी सरस्वती में पं॰ महावीरप्रसाद द्विवेदी के सहायक के रूप में नियुक्त हुए। कुछ समय बाद "सरस्वती" छोड़कर "अभ्युदय" में सहायक संपादक हुए। यहाँ सितंबर, 1913 तक रहे। दो ही महीने बाद 9 नवम्बर 1913 को कानपुर से स्वयं अपना हिंदी साप्ताहिक प्रताप के नाम से निकाला। इसी समय से 'विद्यार्थी' जी का राजनीतिक, सामाजिक और प्रौढ़ साहित्यिक जीवन प्रारंभ हुआ। पहले इन्होंने लोकमान्य तिलक को अपना राजनीतिक गुरु माना, किंतु राजनीति में गांधी जी के अवतरण के बाद आप उनके अनन्य भक्त हो गए। श्रीमती एनीं बेसेंट के 'होमरूल' आंदोलन में विद्यार्थी जी ने बहुत लगन से काम किया और कानपुर के मजदूर वर्ग के एक छात्र नेता हो गए। कांग्रेस के विभिन्न आंदोलनों में भाग लेने तथा अधिकारियों के अत्याचारों के विरुद्ध निर्भीक होकर "प्रताप" में लेख लिखने के संबंध में ये 5 बार जेल गए और "प्रताप" से कई बार जमानत माँगी गई। कुछ ही वर्षों में वे उत्तर प्रदेश (तब संयुक्तप्रात) के चोटी के कांग्रेस नेता हो गए। 1925 ई. में कांग्रेस के कानपुर अधिवेशन की स्वागत-समिति के प्रधानमंत्री हुए तथा 1930 ई. में प्रांतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हुए। इसी नाते सन् 1930 ई. के सत्याग्रह आंदोलन के अपने प्रदेश के सर्वप्रथम "डिक्टेटर" नियुक्त हुए।
साप्ताहिक "प्रताप" के प्रकाशन के 7 वर्ष बाद 1920 ई. में विद्यार्थी जी ने उसे दैनिक कर दिया और "प्रभा" नाम की एक साहित्यिक तथा राजनीतिक मासिक पत्रिका भी अपने प्रेस से निकाली। "प्रताप" किसानों और मजदूरों का हिमायती पत्र रहा। उसमें देशी राज्यों की प्रजा के कष्टों पर विशेष सतर्क रहते थे। "चिट्ठी पत्री" स्तंभ "प्रताप" की निजी विशेषता थी। विद्यार्थी जो स्वयं तो बड़े पत्रकार थे ही, उन्होंने कितने ही नवयुवकों को पत्रकार, लेखक और कवि बनने की प्रेरणा तथा ट्रेनिंग दी। ये "प्रताप" में सुरुचि और भाषा की सरलता पर विशेष ध्यान देते थे। फलत: सरल, मुहावरेदार और लचीलापन लिए हुए चुस्त हिंद की एक नई शैली का इन्होंने प्रवर्तन किया। कई उपनामों से भी ये प्रताप तथा अन्य पत्रों में लेख लिखा करते थे।
अपने जेल जीवन में इन्होंने विक्टर ह्यूगो के दो उपन्यासों, "ला मिजरेबिल्स" तथा "नाइंटी थ्री" का अनुवाद किया। हिंदी साहित्य सम्मलेन के 19 वें (गोरखपुर) अधिवेशन के ये सभापति चुने गए। विद्यार्थी जी बड़े सुधारवादी किंतु साथ ही धर्मपरायण और ईश्वरभक्त थे। वक्ता भी बहुत प्रभावपूर्ण और उच्च कोटि के थे। यह स्वभाव के अत्यंत सरल, किंतु क्रोधी और हठी भी थे। कानपुर के सांप्रदायिक दंगे में मुस्लिमों द्वारा 25 मार्च 1931 ई. को इनकी हत्या कर दी गई
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌱🌸🌸🌲🌹🌲🌹🌻(C) आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐
 1774 - फिलाडेल्फिया में अमेरिका की पहली महाद्वीपीय कांग्रेस स्थगित। 
1858 - एच.ई. स्मिथ ने वॉशिंग मशीन का पेटेंट कराया।
1905 - नॉर्वे ने स्वीडन से स्वतंत्रता प्राप्त की।
1934 - महात्मा गांधी के संरक्षण में अखिल भारतीय ग्रामीण उद्योग संघ की स्थापना।
1943 - कलकत्ता (तत्कालीन कोलकाता) में हैजे की महामारी से अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में 2155 लोगों की मौत।
1947 - राजा हरि सिंह जम्मू-कश्मीर काे भारत में विलय करने पर सहमत हुए। इराक में ब्रिटिश सेना का कब्जा हटा।
1950 - संत मदर टेरेसा ने कलकत्ता में चैरिटी मिशन की स्थापना की।
1951 - विंस्टन चर्चिल ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बने।
1969 - चांद पर कदम रखने वाले पहले अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग और एडविन एल्ड्रिन मुंबई आये। 
1975 - मिस्र के राष्ट्रपति अनवर सादात अमेरिका की आधिकारिक यात्रा करने वाले देश के पहले राष्ट्रपति बने। 1976 - त्रिनिदाद एंड टोबैगो गणराज्य को ब्रिटेन से आजादी मिली। 
1980 - इजरायल के राष्ट्रपति यित्झाक नावोन मिस्र की यात्रा करने वाले पहले इजरायली राष्ट्रपति बने।
1994 - इस्रायल और जार्डन के बीच अरावा क्रासिंग पर बहुप्रतीक्षित शांति संधि सम्पन्न। 
1999 - उच्चतम न्यायालय ने आजीवन कारावास की अवधि 14 वर्ष तय की। 2001 - जापान ने भारत और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ लगे प्रतिबंधों को हटाने की घोषणा की। 
2005 - वर्ष 2006 को भारत-चीन मैत्री वर्ष के रूप में मनाने का फैसला।
 2006 - इस्रायल में एक मंत्री ने भारत से बराक सौदे पर जांच की मांग की।
 2007 - अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का महत्त्वपूर्ण यान डिस्कवरी अंतर्राष्ट्रीय स्पेश स्टेशन पर सफलतापूर्वक उतरा। अमेरिका ने ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड्स तथा वहाँ के बैंकों पर प्रतिबन्ध लगाया।
2012 - बर्मा में हिंसक झड़पों में 64 लोगों की मौत। अफ़ग़ानिस्तान में एक मस्जिद में आत्मघाती हमले में 41 की मौत, 50 घायल।
2015 - उत्तर पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान के हिंदूकुश पर्वत श्रृंखला में 7.5 तीव्रता वाले भूकंप से 398 लोगों की मौत, 2536 घायल। 
🌻💐🌹🌲🌱🌲🌱🌸🌸🌲🌹🌸🌲🌹💐(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व
 1775 - बहादुरशाह ज़फ़र - भारत में मुग़लों का अंतिम सम्राट। 
1886 - गोदावरीश मिश्र - उड़ीसा के प्रसिद्ध समाज सुधारक, साहित्यकार और सार्वजनिक कार्यकर्ता
1890 गणेशशंकर विद्यार्थी - स्वाधीनता संग्राममें गणेशशंकरविद्यार्थी का महत्त्व
पूर्ण योगदान रहा
1923 - राम प्रकाश गुप्ता - 'भारतीय जनता पार्टी' के प्रसिद्ध नेता तथा उत्तर प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री तथा मध्य प्रदेश के राज्यपाल। 
1924 - ठाकुर प्रसाद सिंह - भारत में नवगीत विधा के कवियों में में से एक थे।
1933 - एस. बंगरप्पा - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ तथा कर्नाटक के भूतपूर्व 12वें मुख्यमंत्री थे। 
1971-प्रीति सिंह -भारतीय साहित्य
कार, उपन्यासकार एवं सम्पादिका।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌱🌸🌸🌲🌹🌲🌹🌻(E)आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
1947 - लॉर्ड लिटन द्वितीय - बंगाल के ब्रिटिश गवर्नर (1922-27 ई.) और मंचूरिया थे।
1955 - डी. वी. पलुस्कर, प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक
1956 - बलराज भल्ला - प्रसिद्ध क्रांतिकारी तथा महात्मा हंसराज के पुत्र।
1981 - दत्तात्रेय रामचन्द्र बेंद्रे - भारत के प्रसिद्ध कन्नड़ कवि और साहित्यकार
2000- मन्मथनाथ गुप्त- प्रमुख क्रान्तिकारी तथा लेखक
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻।   
   (F) आज का दिवस का नाम
1. बहादुरशाह ज़फ़र - भारत में मुग़लों का अंतिम सम्राट थे इनका जयंती दिवस
2. गोदावरीश मिश्र - उड़ीसा के प्रसिद्ध समाज सुधारक, साहित्यकार और सार्वजनिक कार्यकर्ता थे इनका जयंती दिवस
3.गणेशशंकर विद्यार्थी - स्वाधीनता संग्राममें गणेशशंकरविद्यार्थी का महत्त्व
पूर्ण योगदान रहा था इनका जयंती दिवस
4 लॉर्ड लिटन द्वितीय - बंगाल के ब्रिटिश गवर्नर (1922-27 ई.) और मंचूरिया थे उनका पुण्यतिथि दिवस
 5- डी. वी. पलुस्कर, प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक उनका पुण्यतिथि दिवस
6 - बलराज भल्ला - प्रसिद्ध क्रांतिकारी तथा महात्मा हंसराज के पुत्र थे उनका पुण्यतिथि दिवस
🌻💐🌹🌲🌲🌱🌸🌸🌲🌹🌸🌲🌹💐💐आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लियेसभी व्यक्तियोंको
 आज के दिन की दशहरा पर्व की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐
💐जयमहाकाल,बोलेसोनिहाल💐
💐।जय हिंद जय भारत💐
💐  निवेदक;-💐
💐 चित्रांश ;-विजय निगम।💐