आज की बात-आपके साथ - विजय निगम

         ॐ गं गणपतये नमः।।
         ॐ यमाय धर्मराजाय,
       श्री चित्रगुप्ताय नमो नमः। 
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻
प्रिय साथियो। 
🌹राम-राम🌹 
🌻 नमस्ते।🌻
आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 29 सितंबर  2020 मंगलवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।
🌻💐🌹🌲🌱🌲🌹💐💐🌻
आज की बात आपके साथ  अंक मे है 
A. कुछ रोचक समाचार
B. आज के दिन जन्मे प्रसिद्ध.राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पार्टी भारतीय जनता पार्टीकेराजनेता बृजेश मिश्र का जीवन
परिचय लेख.  
C. आज के दिन   की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
D. आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    
    व्यक्तित्व
E. आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
F. आज का दिवस का नाम ।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻
    (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)


 



🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻 (A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)
💐(A/1)Unlock 5 के अन्तर्गत कॉलेज खुलने, सिनेमा,मल्टीप्लेक्स
पर्यटक स्थलों पर 1अक्टूबर से छूट संभव हो सकेगी 
नई दिल्ली। जैसे-जैसे अनलॉक के चौथे चरण की समय सीमा खत्म हो रही है, केंद्रीय गृह मंत्रालय जल्द ही 1 अक्टूबर से शुरू होने वाले अनलॉक 5.0 ( Unlock 5.0 ) की घोषणा करने की तैयारी में जुटा है। इससे पहले, गृह मंत्रालय ने बड़ा फैसला लेते हुए मेट्रो ट्रेनों सेवाओं को फिर से शुरू करने की अनुमति दी थी। मंत्रालय ने यह भी कहा था कि आने वाले दिनों में प्रतिबंधों को और अधिक कम किया जाएगा और कंटेनमेंट जोन के बाहर गतिविधियों को धीरे-धीरे खुलने की छूट दी जाएगी। चूंकि त्योहार के मौसम में उद्योग अच्छा लाभ कमाते हैं, इसलिए अनलॉक 5.0 के तहत अधिक छूट की उम्मीद की जा रही है।
पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों से कहा था कि वे इस बात की फिर समीक्षा करें कि एक या दो दिन के लॉकडाउन कोरोना वायरस को रोकने करने में कितने प्रभावी हैं। उन्होंने कहा था राज्य वायरस से लड़ते हुए आर्थिक गतिविधियों को खोलने में पूरी ताकत लगा दें।
💌Unlock 5.0 के अंतर्गत संभावित ढील💌
इससे पहले गृह मंत्रालय ने सार्वजनिक स्थानों जैसे रेस्तरां, मॉल और सैलून के संचालन फिर से शुरू करने की अनुमति दी थी। अनलॉक 5.0 दिशानिर्देशों के तहत अक्टूबर से सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों के साथ अधिक गतिविधियों की अनुमति दी जा सकती है। हालांकि, मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के बार-बार अनुरोध के बावजूद MHA ने 21 सितंबर से केवल ओपन-एयर थिएटर खोलने की अनुमति दी थी।
मल्टीप्लेक्स और सिनेमा हालों के बदल जाएंगे नियम, 
वहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विशेष रूप से शनिवार को घोषणा की कि सिनेमा हॉल और ओपन-एयर थिएटरों को लोगों की सीमित संख्या के साथ अनलॉक के अगले चरण में 1 अक्टूबर से पश्चिम बंगाल में संचालन की अनुमति दी जाएगी।
इस बीच ताजमहल सहित पर्यटन स्थलों के फिर से खुलने के साथ हाल ही में पर्यटन के क्षेत्र में मामूली गिरावट देखी गई। ओडिशा सरकार ने रविवार को घोषणा की थी कि वह अक्टूबर से सभी पर्यटन केंद्रों को फिर से खोल देगी। राज्य के पर्यटन मंत्री जेपी पाणिग्रही ने कहा था कि उनके विभाग ने पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कई गंतव्यों को बढ़ावा देने के लिए एक मास्टर प्लान तैयार किया है। 
💌अनलॉक 5.0 दिशानिर्देशों के तहत, अधिक पर्यटक स्थल और स्थान लोगों के लिए खुले रहने की उम्मीद है।💌
इसके साथ ही पिछले अनलॉक के तहत स्कूलों और कॉलेजों में सामान्य कक्षाओं को फिर से शुरू करने पर निर्णय लिया गयाऔर कक्षा 9-12 के छात्रों को स्वैच्छिक आधार पर 21 सितंबर से स्कूलों में उपस्थित होने के लिए कहा गया था। यह सिस्टम भी अक्टूबर के दौरान जारी रहने की संभावना है। हालांकि सूत्रों के मुताबिक प्राथमिक कक्षाएं कुछ और हफ्तों तक बंद रहेंगी। विश्वविद्यालयों और कॉलेजों ने अपनी प्रवेश परीक्षाएं शुरू कर दी हैं और नया शैक्षणिक वर्ष ऑनलाइन मोड के माध्यम से शुरू हो सकता है।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻💐(A/2)केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया 2020  के दस्तावेजों का सोमवार 28 सितम्बर 2020 को अनावरण किया।
नई दिल्ली। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने सोमवार को रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया 2020 (DAP-2020) के दस्तावेजों का अनावरण किया। राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण प्रक्रिया (डीएपी) -2020 की एक विशेष बैठक बुलाई गई थी। यह बैठक नई दिल्ली स्थित रक्षा मंत्रालय के साउथ ब्लॉक में हुई। इस बैठक में चीफ डिफेंस ऑफ स्टॉफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवने, नौसेना स्टाफ के प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया उपस्थित रहे।
इस मौके पर राजनाथ सिंह ने कहा कि डीएपी 2020 के दस्तावेजों में एक नई प्रक्रिया को एक नए अध्याय के रूप में शामिल किया गया है। उन्होंने इसके अनावरण पर खुशी जाहिर की है और कहा है कि डीएपी 2020 का गठन हितधारकों की एक विस्तृत स्पेक्ट्रम से प्राप्त टिप्पणियों और सुझावों को शामिल करने के बाद ही किया गया है।
डीएपी में एक नए चैप्टर के तहत कुछ नए प्रावधान जोड़े गए हैं। इसके तहत सेनाओं के लिए बेहद जरूरी चीजें एक निर्धारित समय में खरीदी जा सकेंगी। यानी इन खरीद के लिए समयसीमा निर्धारित रहेगी। गौरतलब है कि भारत में रक्षा खरीद के दौरान हथियारों की देरी से आने का रिकॉर्ड रहा है. एनडीए सरकार के दौरान इस प्रक्रिया में तेजी लाई गई है। नए प्रावधानों के तहत कई तरह की खरीद को विशेष तौर पर भारतीय निर्माताओं के लिए ही आरक्षित किया गया है।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻💌(A/3) CBI  ने कहा:-सुशांत सिंह आत्महत्या प्रकरण की जांच हम प्रोफ़ेशनल तरीके से ही कर रहे है।,💌
नई दिल्ली । सुशांत सिंह राजपूत के पारिवारिक वकील विकास सिंह द्वारा कुछ दिनों पहले केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच में अपडेट मांगने के बाद शीर्ष एजेंसी ने सोमवार को कहा कि वह पेशेवर तरीकों से जांच के सभी एंगल को देख रही है। सीबीआई के प्रवक्ता आर.के. गौर ने एक बयान में कहा, "सीबीआई सुशांत की मौत के मामले में पेशेवर तरीके से जांच कर रही है, जिसमें सभी पहलुओं पर गौर किया जा रहा है और अभी तक किसी भी पहलू को खारिज नहीं किया गया है।"
उन्होंने कहा कि आगे की जांच जारी है। सिंह ने पिछले सप्ताह एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की जांच सुशांत की मौत के मामले में वास्तविक सच्चाई को सामने लाने के लिए हो रही जांच से अधिक सामने आ रही है।
सिंह ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था, "पूरे बॉलीवुड को क्यों बुलाया जा रहा हैं? जिन्हें आज या कल बुलाया गया है, उन लोगों के पास से उन्हें कुछ बरामद नहीं होने वाला है। एनडीपीएस मामले में सब कुछ मात्रा पर निर्भर करता है, परिवार को लगता है कि यह मुख्य मुद्दे (सुशांत की मौत के मामले) से हटाने के लिए किया जा रहा है।"
वरिष्ठ अधिवक्ता ने आगे कहा कि बड़े सितारों को बुलाकर मीडिया का ध्यान मामले से हटा दिया गया है। सीबीआई ने जांच के संबंध में एक भी प्रेस बयान जारी नहीं किया है और जिस दिशा में जांच चल रही है वह परिवार के लिए थोड़ी चिंताजनक है।
उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मामले की जांच कर रही सीबीआई टीम को दिल्ली आए एक सप्ताह से अधिक समय बीत चुका है, लेकिन वे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में डॉक्टरों की टीम से नहीं मिले हैं।
सिंह ने कहा, "आज हम मामले पर पूरी तरह से असहाय हैं, क्योंकि सीबीआई कोई भी प्रेस ब्रीफिंग नहीं कर रही है। यह दिलचस्पी की कमी है और जिस गति के साथ मामला चल रहा है वह चिंताजनक है।"
सिंह ने कहा कि एम्स टीम के एक डॉक्टर ने दावा किया कि यह एक हत्या का मामला है। उन्होंने कहा, "एम्स की टीम में डॉक्टरों में से एक का मानना है कि यह गला घोंटने से 200 प्रतिशत मौत का मामला है न कि आत्महत्या। यह सुशांत की बहन मीतू द्वारा क्लिक की गई तस्वीरों के साथ साझा किया गया है।"
उन्होंने कहा, "अगर हत्या का मामला है तो जाहिर है, जांच का तरीका और तेजी अलग होना चाहिए। दुर्भाग्य से परिवार का कोई भी सदस्य सुशांत के साथ नहीं रह रहा था और इसलिए हम नहीं जानते कि वास्तव में क्या हुआ।"
सीबीआई ने बिहार सरकार के अनुरोध पर केंद्र से अधिसूचना मिलने के बाद 6 अगस्त को मामला दर्ज किया था।
सीबीआई की एसआईटी टीम 20 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट द्वारा मामले को एजेंसी को सौंपने के एक दिन बाद मुंबई गई थी।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻💝(A/4)श्री कृष्ण जन्मभूमि के विवाद केसंबंध में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्ते
हादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पुछे  ये सवाल,💝
हैदराबाद। संपूर्ण श्री कृष्ण जन्मभूमि  को पुनः प्राप्त करने के लिए मथुरा की अदालत में दायर एक मुकदमे के मामले में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी  ने कहा है कि श्री कृष्ण जन्मस्थान सेवा संघऔर शाहीईदगाह ट्रस्ट केबीच विवाद 1968में सुलझ गया था,तो फिरअबइस
विवाद को फिरसेउठाने कीक्या जरूरत।ओवैसी ने शनिवार को एक ट्वीट कर लिखा,"पूजा का स्थानअधिनियम1991
पूजाके स्थान कोबदलने से मना करता है।गृह मंत्रालय को इसअधिनियम का प्रबंधन सौंपा गया है, तो अदालत में इसकी प्रतिक्रिया क्या होगी?शाही ईद
-गाह ट्रस्टऔरश्री कृष्ण जन्मस्थानसेवा
संघ नेअक्टूबर 1968 में इस विवाद को हल कर लिया था। अब इसे पुनर्जीवित क्यों किया?दरअसल,मथुरासिविल कोर्ट में एक सूट एक में दायर किया गया है जो मथुरा में संपूर्ण कृष्णजन्मभूमि को पुनःप्राप्त"करने का दावा करतेहुएकहता
है कि"प्रत्येक इंच भूमिभगवान श्रीकृष्ण औरहिंदू समुदाय के भक्तों के लिएपवित्र
 हैअधिवक्ताविष्णुजैनद्वारा दायर सिविल सूट में कृष्ण जन्मभूमि की पूरी 13.37 एकड़ जमीन को पुनः प्राप्त" करने की मांग करते हुए दलील दी है है कि 1968 सझौता "बाध्यकारी नहीं" था और शाही ईदगाह मस्जिद को हटाया जाए।
इस सूट में दावा किया गया है कि भग-
वानश्रीकृष्णका जन्म राजा कंसके कारा
गार में हुआ था और पूरे क्षेत्र को 'कटरा केशव देव' के रूप में जाना जाता है। जन्म स्थान मस्जिद ईदगाह ट्रस्ट की प्रबंधन समिति द्वारा निर्मित किए गए मौजूदा ढांचे के नीचे स्थित है। इसमें मथुरा में कृष्ण मंदिर को गिराने के लिए मुगल शासक औरंगजेब को दोषी ठह-
राया गया है।
सूट में कहा गया.यह तथ्य और इतिहास की बात हैकिऔरंगजेब ने1658-1707
 ईसवी तक देश पर शासन किया और उसने इस्लाम के कट्टर अनुयायी होने के कारण 1669-70 ईसवी में कटरा केशव देव,मथुरा में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म
स्थानपर निर्मित मंदिर सहित बड़ीसंख्या
में हिंदू धार्मिक स्थलों और मंदिरों को ध्वस्त करने के आदेश जारी किए थे।"
उन्होंनेकहाकिऔरंगजेबकी सेनाआंशिक
 रूप से केशव देव मंदिर को ध्वस्त करने में सफल रही और निर्माण को जबरन ताकत दिखाते हुए ईदगाह मस्जिद का नाम दिया गया था। सूट में सुन्नी सेंट्रल बोर्ड की सहमति से मस्जिद ईदगाह की प्रबंधन समिति ट्रस्ट द्वारा कटरा केशव देव शहर मथुरा में "देवता श्री कृष्ण विराजमान से संबंधित" अवैध रूप से किए गए कथित अतिक्रमण और अधि
रचना को हटाने की मांग की गई।
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐 💐(B)आज के दिन जन्मे प्रसिद्ध.राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पार्टी भारतीय जनता पार्टीकेराजनेता बृजेश मिश्र का जीवन
परिचय लेख.   
                बृजेश मिश्र
पूरा नाम:- बृजेश मिश्र
जन्म:- 29 सितम्बर, 1928
मृत्यु:-  28 सितम्बर, 2012 (उम्र- 84 वर्ष)
मृत्यु स्थान :-नई दिल्ली
अभिभावक:- द्वारका प्रसाद मिश्र
पति/पत्नी:- पुष्पा मिश्र
संतान :-राकेश, ज्योत्सना
नागरिकता:- भारतीय
प्रसिद्धि :-पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार
पार्टी:- भारतीय जनता पार्टी
पुरस्कार-उपाधि पद्म श्री, पद्म विभूषण (2011)
            @-बृजेशमिश्र-@ , 
जन्म:- 29 सितम्बर,1928;
 मृत्यु:- 28 सितम्बर, 2012
भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधान सचिव थे।
              *जीवन-परिचय*
बृजेश मिश्रका जन्म29 सितम्बर 1928
को हुआ था।मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री
द्वारकाप्रसाद मिश्र केपुत्र थे। इनके पिता
इंदिरागांधी के बेहद क़रीबी थे।
अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा एवं विदेश नीति को लक्ष्योन्मुख दिशा देने में केंद्रीय भूमिका निभाई थी।
इसकेपहले वह विदेश मंत्रालय केसचिव
पद से सेवानिवृत्त हुए थे।इसके बाद उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि के रूप में काम किया।
वर्ष 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान मिश्र ने वाजपेयी की सहायता करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई।
वर्ष2004 में राजग सरकार केपतनऔर
वाजपेयी के राजनीतिसे दूरी बना लेने के बादमिश्रभी भारतीय जनता पार्टी से दूर हो गए।
बृजेश मिश्र ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में भारत और अमेरिका के बीचपरमाणु करार का समर्थन कियाथा।
वह भारत और अमेरिका के नजदीकी रिश्तों के असाधारण पक्षधर थे। बृजेश मिश्र कीकमी हम सबको खलेगी,लेकिन
दुनिया उनके योगदान को वर्षो तक याद करेगी।
दिलकीबीमारी की वजह से 28 सितम्बर
2012 (शुक्रवार) को नई दिल्ली में बृजेश मिश्र का निधन हो गया
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐🌻(C) आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐
1650 - इंग्लैंड में पहले मैरिज ब्यूरो की शुरुआत हुई।
1789 - अमेरिका के युद्ध विभाग ने स्थायी सेना स्थापित की।
1836 - मद्रास चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की स्थापना हुई।
1911 - इटली ने ऑटोमन साम्राज्य के ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा की।
1915 - टेलीफोन से पहला अंतरमहाद्वीपीय संदेश भेजा गया।
1927 - अमेरिका और मैक्सिको के बीच टेलीफोन सेवा की शुरुआत हुई।
1959 - आरती साहा ने इंग्लिश चैनल को तैरकर पार किया।
1962 - कोलकाता में बिड़ला तारामंडल खुला।
1971 - बंगाल की खाड़ी में चक्रवातीय तूफान से करीब 10 हज़ार लोगों की मौत हुई।
1977 - सोवियत संघ ने स्पेस स्टेशन साल्युत 6 को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया।
1970 - मिस्र के राष्ट्रपति गमाल अब्दुल नासिर का निधन।
2000 - चीन की मुन्चोनाक कोयला खान में 100 लोगों की मृत्यु।
2001 - संयुक्त राष्ट्र ने आतंकवाद विरोधी अमेरिकी प्रस्ताव पारित किया।
2002 - बुसान में 14वें एशियाई खेलों का उद्घाटन।
2003 - ईरान ने यूरेनियम परिशोधन कार्यक्रम जारी रखने का निर्णय लिया।
2006 - विश्व की पहली महिला अंतरिक्ष पर्यटक ईरानी मूल की अमेरिका नागरिक अनुशेह अंसारी पृथ्वी पर सकुशल लौटीं।
2009 - अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाज़ी फेडरेशन की ताजा रैकिंग में बिजेन्दर को 75 किग्रा0 में 2700 अंकों के साथ में पहला स्थान दिया गया।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व
1725 - रॉबर्ट क्लाइव - ईस्ट इण्डिया कम्पनी द्वारा भारत में नियुक्त होने वाला प्रथम गवर्नर 
1928- बृजेश मिश्र- भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार।
1932 - महमूद - प्रसिद्ध हास्य अभिनेता।
1943 - मोहम्मद ख़ातमी - ईरान के पाँचवें राष्ट्रपति
1947 - एस. एच. कपाड़िया - भारत के 38वें मुख्य न्यायाधीश थे।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻(E)आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।
2017 - टॉम अल्टर - विदेशी माता-पिता की संतान और भारतीय सिनेमा के अभिनेता थे।
2004 - बालमणि अम्मा - मलयालम भाषा की प्रसिद्ध कवियित्री थीं।
1944 - गोपाल सेन - पश्चिम बंगाल के प्रसिद्ध क्रांतिकारी
1942 - मातंगिनी हज़ारा - प्रसिद्ध महिला क्रांतिकारी।
🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻(F) आज का दिवस का नाम
29 सितंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव
1.पम्पकिन (कद्दू) दिवस
2.विश्व हृदय दिवस
3.रॉबर्ट क्लाइव - ईस्ट इण्डिया कम्पनी द्वारा भारत में नियुक्त होने वाला प्रथम गवर्नर थे उनका  जयंती दिवस 
4.बृजेश मिश्र- भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार। थे उनका जयंती दिवस
5.महमूद - भारतीय सिनेमा प्रसिद्ध हास्य अभिनेता थे उनके जयंती दिवस।
6.मोहम्मद ख़ातमी - ईरान के पाँचवें राष्ट्रपति थे उनका जयंती दिवस।
7.टॉम अल्टर - विदेशी माता-पिता की संतान और भारतीय सिनेमा के अभिनेता थे। उनका पुण्यतिथि दिवस
8.बालमणि अम्मा -मलयालम भाषा की प्रसिद्ध कवियित्री थीं उनका पुण्यतिथि दिवस।
9।गोपाल सेन - पश्चिम बंगाल कप्रसिद्ध
 क्रांतिकारी थे उनका पुण्यतिथि दिवस।  
10 मातंगिनी हज़ारा - प्रसिद्ध महिला क्रांतिकारी थी उनका पुण्यतिथि दिवस
🌻💐🌹🌲🌸🌲🌹💐💐   
आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।
      आज जन्म लिये  सभी  व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई।  बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।
💐।जय चित्रांश।💐
💐जय महाकाल,बोले सो निहाल
💐।जय हिंद जय भारत💐
💐  निवेदक;-💐
 💐 चित्रांश ;-विजय निगम।💐