आज की बात आपके साथ - विजय निगम

प्रिय साथियो। 


🌹राम-राम🌹 


🌻 नमस्ते।🌻


आप सभी साथीयों का दिनांक 04.जूलाई.2020 शनिवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻


आज की बात आपके साथ अंक मे है 


 A कुछ रोचक समाचार


B आज के दिन जन्मे गुलजारीलाल नन्दा जीवन परिचय लेख. 


C आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ


D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    


    व्यक्तित्व


E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।


F आज का दिवस का नाम ।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻


    (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)


🌺(A/1) भारत-चीन तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हालात का जायजा लेने स्वयं लेह पहुंचे हैं।. उनके साथ CDS जनरल बिपिन रावत भी हैं. जानकारी के अनुसार, पीएम मोदी सुरक्षा का जायजा भी लेंगे🌺.


🌺(A1/2)जानियेShiksha.com


से सीबीएसईपरीक्षा परिणाम 2020: सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम की जांच करने के त्वरित तरीके।🌺 


🌺(A/3)ऑस्ट्रेलियाऔर ब्रिटेनपर भड़का चीन,दी अंजाम भुगतने की धमकी🌺


🌺(A/4)Rhea Chakraborty: सुशांत तब थे, अब नहीं हैं! जन्‍मदिन का वो साल दूसरा था, ये साल दूसरा है🌺


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻 (A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)


🌺(A/1) भारत-चीन तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हालात का जायजा लेने स्वयं लेह पहुंचे हैं।. उनके साथ CDS जनरल बिपिन रावत भी हैं. जानकारी के अनुसार, पीएम मोदी सुरक्षा का जायजा भी लेंगे🌺.


नई दिल्ली: भारत-चीन तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हालात का जायजा लेने स्वयं लेह पहुंचे हैं।उनके साथ CDS जनरल बिपिन रावत भी हैं. जानकारी के अनुसार, पीएम मोदी सुरक्षा का जायजा भी लेंगे. पहले खबर आई थी कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लेह का दौरा करने वाले हैं, लेकिन किसी कारण से उनका कार्यक्रम रद्द हो गया. पीएम मोदी घायल जवानों से भी मुलाकात करेंगे.।


लेह पहुंचते ही प्रधानमंत्री मोदी ने वायु सेना, थल सेना और ITBP के जवानों से मुलाकात की.।


इससे पहले चीन के खिलाफ डिजीटल स्ट्राइक और हर फ्रंट पर उसे घेरकर उसकी आर्थिक कमर तोड़ने की रणनीति में जुटे भारत को दुनिया के बड़े और शक्तिशाली देशों को साथ मिलता जा रहा है.इसीकड़ी मेंगुरुवार को भारत के दूरदर्शी कूटनीतिकरणनीति को एक और सफलता मिली,जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपतिब्लादीमिर पुतिन एक दूसरे सेफोन पर लंबी बातचीत की.दोनों 


नेताओं की टेलीफोन पर बातचीत में इस बात पर भी सहमति बनी कि द्विपक्षीय संपर्क और परामर्शों की गति बनाए रखी जाएगी,जो इस साल के अंत में भारत में होनेवाले वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के आयोजन मे काफी मददगार साबित होगा।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐💐🌺(A1/2)जानियेShiksha.com


से सीबीएसईपरीक्षा परिणाम 2020: सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम की जांच करने के त्वरित तरीके।🌺 


सीबीएसई परिणाम 2020: सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम की जांच करने 


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम की जांच करते समय 2020 छात्रों को अपने सीबीएसई 10 वीं के एडमिट कार्ड / सीबीएसई 12 वीं के एडमिट कार्ड को संभाल कर रखना होगा।


केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने लंबित सीबीएसई 10 वीं बोर्ड परीक्षा 2020 को रद्द करने की घोषणा की । हालाँकि, CBSE 12 वीं बोर्ड परीक्षा 2020 वैकल्पिक हैं। जो छात्र अपने सीबीएसई 12 वीं परिणाम 2020 से संतुष्ट नहीं होंगे, उन्हें एक बार सामान्य स्थिति बहाल होने पर लंबित पत्रों के लिए उपस्थित होने का मौका मिलेगा।


सीबीएसई ने आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर सीबीएसई 10 वीं परिणाम 2020 और सीबीएसई 12 वीं परिणाम 2020 को 15 जुलाई तक जारी करने का फैसला किया और जिन छात्रों ने पहले ही परीक्षा दी थी। देश में बढ़ते COVID-19 सकारात्मक मामलों को देखते हुए CBSE 10 वीं बोर्ड परीक्षा और CBSE 12 वीं बोर्ड परीक्षा को रद्द करने का फैसला हुआ ।


सीबीएसई रिजल्ट 2020 @ cbse.nic.in 15 जुलाई तक


सीबीएसई 15 जुलाई तक सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम 2020 तक


जारी करेगा। सीबीएसई के बोर्ड परीक्षा परिणाम काबेसब्री से इंतजार कर रहेछात्रों


को परिणाम की जांच करते समय 


सी बी एस ई 10 वीं प्रवेश पत्र 


Shiksha.com  


  बोर्ड्स  सभी बोर्ड के लेख › सीबीएसई परिणाम 2020: सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम की जांच करने के त्वरित तरीके ।


सीबीएसई परिणाम 2020: सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम की जांच करने के त्वरित तरीके।


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम की जांच करते समय 2020 छात्रों को अपने सीबीएसई 10 वीं के एडमिट कार्ड / सीबीएसई 12 वीं के एडमिट कार्ड को संभाल कर रखना होगा।


केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने लंबित सीबीएसई 10 वीं बोर्ड परीक्षा 2020 को रद्द करने की घोषणा की । हालाँकि, CBSE 12 वीं बोर्ड परीक्षा 2020 वैकल्पिक हैं। जो छात्र अपने सीबीएसई 12 वीं परिणाम 2020 से संतुष्ट नहीं होंगे, उन्हें एक बार सामान्य स्थिति बहाल होने पर लंबित पत्रों के लिए उपस्थित होने का मौका मिलेगा।


सीबीएसई ने आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर सीबीएसई 10 वीं परिणाम 2020 और सीबीएसई 12 वीं परिणाम 2020 को 15 जुलाई तक जारी करने का फैसला किया और जिन छात्रों ने पहले ही परीक्षा दी थी। देश में बढ़ते COVID-19 सकारात्मक मामलों को देखते हुए CBSE 10 वीं बोर्ड परीक्षा और CBSE 12 वीं बोर्ड परीक्षा को रद्द करने का फैसला हुआ ।


     🌺सीबीएसई रिजल्ट 2020🌺 @ cbse.nic.in 15 जुलाई तक


सीबीएसई 15 जुलाई तक सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम 2020 तक जारी करेगा। सीबीएसई के बोर्ड परीक्षा परिणाम का बेसब्री से इंतजार कर रहे छात्रों को परिणाम की जांच करते समय सीबीएसई 10 वीं प्रवेश पत्र 2020 और सीबीएसई 12 वीं प्रवेश पत्र 2020 को ध्यान में रखना होगा । बोर्ड सीबीएसई परिणाम 2020 को छात्रों के लिए कई तरीकों से उपलब्ध कराएगा ।


सीबीएसई परिणाम 2020: ऑनलाइन और ऑफलाइन तरीके 10 वीं 12 वीं बोर्ड के परिणाम की जांच करने के लिए


जबकि सीबीएसई बोर्ड परीक्षा परिणाम को अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित करेगा, जिन छात्रों के पास इंटरनेट कनेक्शन नहीं है या इसके लिए किसी भी पहुंच की चिंता नहीं करनी चाहिए। सीबीएसई 10 वीं परिणाम 2020 और सीबीएसई 12 वीं परिणाम 2020  नीचे सूचीबद्ध ऑनलाइन और ऑफलाइन तरीकों की एक संख्या के माध्यम से उपलब्ध होंगे:


ऑनलाइन पोर्टल


एसएमएस


आईवीआरएस


डिजिटल लॉकर


Google खोज इंजन


एसएमएस आयोजक ऐप


आइए जानें कि विभिन्न तरीकों से कक्षा 10 और 12 के लिए सीबीएसई परिणाम 2020 की जांच कैसे करें ।


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं का परिणाम 2020: वेबसाइटें जांचने के लिए


जिन वेबसाइट पर छात्र सीबीएसई परिणाम 2020 की जांच कर सकते हैं, वे नीचे सूचीबद्ध हैं:


बोर्ड रिजल्ट 2020 वेबसाइट


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं का परिणाम 2020


www.results.nic.in


www.cbseresults.nic.in


www.cbse.nic.in


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम 2020: ऑनलाइन पोर्टल cbseresults.nic.in पर सीबीएसई परिणाम 2020 की जांच करें


       🌺 आधिकारिक वेबसाइट:🌺 cbseresults.nic.in या cbse.nic.in 2020 परिणाम पर जाएं।


2020 सीनियर सेकेंडरी रिजल्ट (बारहवीं कक्षा) 2020 ’/ माध्यमिक विद्यालय परिणाम (कक्षा दसवीं) 2020 लिंक पर क्लिक करें।


रोल नंबर, स्कूल नंबर, सेंटर नंबर और एडमिट कार्ड नंबर दर्ज करें जैसा कि  CBSE 10 वें एडमिट कार्ड / CBSE 12 वें  एडमिट कार्ड पर बताया गया है।


'सबमिट' बटन पर क्लिक करें।


ऑनलाइन cbse.nic.in परिणाम 2020 स्क्रीन पर प्रदर्शित किया जाएगा।


उसी का स्क्रीनशॉट लेकर सीबीएसई परीक्षा परिणाम 2020 को बचाएं।


बीएसई परिणाम 2020:  डिजीलॉकर से सीबीएसई 10 वीं  12 वीं परिणाम कैसे डाउनलोड करें ?


उपयोगकर्ता नामऔर पासवर्ड का उपयोग कर DigiLocker ऐप में लॉगिन करें


'प्रोफाइल' पेज पर जाएं और आधार नंबर सिंक करें। यदि डिजिलॉकर खाता आधार नंबर का उपयोग करके पहले से ही बनाया गया है, तो फिर से सिंक करने की आवश्यकता नहीं है


लेफ्ट साइडबार में 'Pull Partner Documents' बटन पर क्लिक करें


अगली स्क्रीन में दो ड्रॉपडाउन होंगे:


पहली गिरावट में, 'केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, दिल्ली' चुनें


अगली ड्रॉप-डाउन में, मार्कशीट यानी एचएससी / एसएससी मार्कशीट / माइग्रेशन या पासिंग आदि चुनें।


अगली स्क्रीन में सीबीएसई 10 वें एडमिट कार्ड /  सीबीएसई 12 वीं  प्रवेश पत्र के अनुसार आवश्यक विवरण जैसे कि पासिंग और रोल नंबर दर्ज करें।


 सीबीएसई 12 वीं प्रवेश पत्र 2020 को ध्यान में रखना होगा । बोर्ड सीबीएसई परिणाम 2020 को छात्रों के लिए कई तरीकों से उपलब्ध कराएगा ।


सीबीएसई परिणाम 2020: ऑनलाइन और ऑफलाइन तरीके 10 वीं 12 वीं बोर्ड के परिणाम की जांच करने के लिए


जबकि सीबीएसई बोर्ड परीक्षा परिणाम को अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित करेगा, जिन छात्रों के पास इंटरनेट कनेक्शन नहीं है या इसके लिए किसी भी पहुंच की चिंता नहीं करनी चाहिए। सीबीएसई 10 वीं परिणाम 2020 और सीबीएसई 12 वीं परिणाम 2020  नीचे सूचीबद्ध ऑनलाइन और ऑफलाइन तरीकों की एक संख्या के माध्यम से उपलब्ध होंगे:


ऑनलाइन पोर्टल


एसएमएस


आईवीआरएस


डिजिटल लॉकर


Google खोज इंजन


      🌺एसएमएस आयोजक ऐप🌺


आइए जानें कि विभिन्न तरीकों से कक्षा 10 और 12 के लिए सीबीएसई परिणाम 2020 की जांच कैसे करें ।


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं का परिणाम 2020: वेबसाइटें जांचने के लिए


जिन वेबसाइट पर छात्र सीबीएसई परिणाम 2020 की जांच कर सकते हैं, वे नीचे सूचीबद्ध हैं:


बोर्ड रिजल्ट 2020


वेबसाइट


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं का परिणाम 2020


www.results.nic.in


www.cbseresults.nic.in


www.cbse.nic.in


सीबीएसई 10 वीं 12 वीं के परिणाम 2020: ऑनलाइन पोर्टल cbseresults.nic.in पर सीबीएसई परिणाम 2020 की जांच करें


       🌺आधिकारिक वेबसाइट:🌺 cbseresults.nic.in या cbse.nic.in 2020 परिणाम पर जाएं।


2020 सीनियर सेकेंडरी रिजल्ट (बारहवीं कक्षा) 2020 ’/ माध्यमिक विद्यालय परिणाम (कक्षा दसवीं) 2020 लिंक पर क्लिक करें।


रोल नंबर, स्कूल नंबर, सेंटर नंबर और एडमिट कार्ड नंबर दर्ज करें जैसा कि  CBSE 10 वें एडमिट कार्ड / CBSE 12 वें  एडमिट कार्ड पर बताया गया है।


   🌺 सबमिट' बटन पर क्लिक करें।🌺


ऑनलाइन cbse.nic.in परिणाम 2020 स्क्रीन पर प्रदर्शित किया जाएगा।


उसी का स्क्रीनशॉट लेकर सीबीएसई परीक्षा परिणाम 2020 को बचाएं।


सीबीएसई परिणाम 2020:  डिजीलॉकर से सीबीएसई 10 वीं  12 वीं परिणाम कैसे डाउनलोड करें ?


उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का उपयोग कर DigiLocker ऐप में लॉगिन करें


'प्रोफाइल' पेज पर जाएं और आधार नंबर सिंक करें। यदि डिजिलॉकर खाता आधार नंबर का उपयोग करके पहले से ही बनाया गया है, तो फिर से सिंक करने की आवश्यकता नहीं है


लेफ्ट साइडबार में 'Pull Partner Documents' बटन पर क्लिक करें


अगली स्क्रीन में दो ड्रॉपडाउन होंगे:


पहली गिरावट में, 'केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, दिल्ली' चुनें


अगली ड्रॉप-डाउन में, मार्कशीट यानी एचएससी / एसएससी मार्कशीट / माइग्रेशन या पासिंग आदि चुनें।


अगली स्क्रीन में सीबीएसई 10 वें एडमिट कार्ड /  सीबीएसई 12 वीं  प्रवेश पत्र के अनुसार आवश्यक विवरण जैसे कि पासिंग और रोल नंबर दर्ज करें।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻🌺(A/3)ऑस्ट्रेलियाऔर ब्रिटेनपर भड़का चीन,दी अंजाम भुगतने की धमकी🌺


हॉन्ग कॉन्ग मुद्दे पर चीन पूरी दुनिया में घिरता जा रहा है. चीन ने हॉन्ग कॉन्ग की स्वायत्तता खत्म करने के मकसद से वहां नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू किया है, जिसका हॉन्ग कॉन्ग समेत पूरी दुनिया में विरोध हो रहा है. ब्रिटेन के बाद ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने भी गुरुवार को अपने यहां हॉन्ग कॉन्ग को लोगों को 'सुरक्षित पनाह' देने की बात कही. इससे चीन भड़क गया और ऑस्ट्रेलिया को चेतावनी दे डाली कि वह उसके आंतरिक मामले में दखल देने की कोशिश ना करे.


हॉन्ग कॉन्ग चीन के 'वन नेशन टू सिस्टम' का हिस्सा है जिसके तहत हॉन्ग कॉन्ग को कई मामलों में स्वायत्तता हासिल है. हालांकि, अब चीन नए सुरक्षा कानून के जरिए इस स्वायत्तता को छीनने की कोशिश कर रहा है. ब्रिटेन के उपनिवेश रहे हॉन्ग कॉन्ग को चीन को 1997 में सौंपा गया था. ब्रिटेन ने चीन से इस शहर को 2047 तक स्वायत्तता देने की गारंटी ली थी.


ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने गुरुवार को कहा, हॉन्ग कॉन्ग की स्थिति बेहद चिंताजनक है और उनकी सरकार हॉन्ग कॉन्ग के नागरिकों का अपने देश में स्वागत करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है. 


ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री से एक रिपोर्टर ने पूछा कि क्या वह हॉन्ग कॉन्ग के नागरिकों को सुरक्षित पनाह देने पर विचार कर रहे हैं तो उन्होंने हां में जवाब दिया. उन्होंने कहा कि हॉन्ग कॉन्ग के जो भी नागरिक ऑस्ट्रेलिया आना चाहते हैं, वे उनकी मदद करने के लिए तैयार हैं. ऑस्ट्रेलिया माइग्रेंट वीजा या रिफ्यूजी प्रोग्राम के तहत हॉन्ग कॉन्ग के लोगों को अपने देश में बसने दे सकता है.


गुरुवार को ही अमेरिकी सांसदों ने नए सुरक्षा कानून के लिए जिम्मेदार चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने वाले बिल पर सहमति दी. इसके साथ ही, हॉन्ग कॉन्ग में कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों का दमन करने वाले पुलिस अधिकारियों को भी अमेरिका प्रतिबंधित करेगा.


चौतरफा घिरे चीन ने अब धमकी देना शुरू कर दिया है. चीन के विदेश मंत्रालय ने ऑस्ट्रेलिया से कहा है कि वह सुरक्षा कानून को सही और वस्तुगत तरीके से देखे. चीन के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा, हॉन्ग कॉन्ग समेत चीन के किसी भी आंतरिक मामले में दखल देना बंद करें और गलत रास्ते पर आगे बढ़ने से खुद को रोकें.


ब्रिटेन ने भी हॉन्ग कॉन्ग के करीब साढ़े तीन लाख ब्रिटिश पासपोर्टधारकों और करीब 26 लाख अन्य लोगों के लिए ब्रिटेन में पांच साल के लिए बसने का रास्ता खोल दिया है. छह साल पूरे होने पर वे ब्रिटेन की नागरिकता के लिए आवेदन भी कर सकते हैं.


चीन ने ब्रिटेन के हॉन्ग कॉन्ग के लोगों को ब्रिटेन में बसाने के फैसले को लेकर भी तीखी प्रतिक्रिया दी है. चीनी प्रवक्ता ने कहा, "यह उनकी अपनी प्रतिबद्धताओं, अंतरराष्ट्रीय कानून और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के मूल नियमों का गंभीर उल्लंघन है. चीन इसकी निंदा करता है और इसके खिलाफ आगे कदम उठाने का पूरा अधिकार रखता है जिसके नतीजे ब्रिटेन को ही भुगतने पड़ेंगे।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻🌺(A/4)Rhea Chakraborty: सुशांत तब थे, अब नहीं हैं! जन्‍मदिन का वो साल दूसरा था, ये साल दूसरा है🌺


🌺Rhea-Sushant: जन्‍मदिन का वो साल दूसरा था, ये साल दूसरा है🌺


सुशांत सिंह राजपूत की जाने का गम हम सभी को है। रविवार, 14 जून को जब खबर आई कि सुशांत ने आत्‍महत्‍या कर ली है तो कुछ मिनटों के लिए जैसे पूरा देश सन्‍न रह गया। सुशांत का यूं चले जाना किसी की समझ में नहीं आ रहा। अब की पुलिस जांच में दो बातें साफ हैं- पहली की सुशांत ने आत्‍महत्‍या ही की थी और दूसरी कि वह डिप्रेशन में थे। तमाम सवाल उठ रहे हैं। उनके करियर से लेकर निजी रिश्‍तों तक हर एक पहलू पर चर्चा आम हो गई है। लेकिन इन सब के बीच रिया चक्रवर्ती भी है। रिया, जिससे सुशांत की कथ‍ित तौर पर शादी होने वाली थी। वह रिया, जिसके साथ सुशांत जीवनभर साथ रहने वाले थे। वह रिया चक्रवर्ती, जिसका बुधवार 1 जुलाई को जन्‍मदिन भी है। एक साल पहले की ही बात है, सुशांत ने अपने हाथों से पकड़कर रिया से केक कटवाया था। लेकिन वो साल दूसरा था, ये साल दूसरा है।


🌺बीतेसाल काHappiestBirthday🌺


बीते साल सुशांत हमारे साथ थे। रिया के साथ थेरिया ने तब अपने बर्थडे सेलिब्रेशन की तस्‍वीरें और वीडियोज सोशल मीडिया परशेयर की थीं। इंस्‍टाग्राम स्‍टोरी पर लिखा थाकियह उनकीजिंदगी का सबसेखुशहाल


जन्‍मदिन रहा। लेकिन कहां पता था कि एक साल बाद ही चीजें बदल जाएंगी।


🌺वो पहली मुलाकात और हमेशा के ल‍िए बिछड़ जाना🌺


रिया चक्रवर्ती ने पुलिस में अपना बयान दर्ज करवा लिया है। संभव है कि पुलिस उन्‍हें पूछताछ के लिए फिर से बुलाए। अपने बयान में रिया ने पुलिस को सुशांत संग पहलीमुलाकात के बारे में बताया और यहभीबताया कि वह लॉकडाउन में सुशांत के साथ थीं। 6 जून को दोनों का किसी बात को लेकर झगड़ा हुआऔर सुशांत ने रिया से घर से जाने को कहा। रिया ने बताया कि सुशांत कई बार परेशान होकर अकेला रहना पसंद करते थे और इसलिए इस बार भी रिया ने उन्‍हें कुछ दिनों केलिएएकांत में छोड़ना बेहतरसमझा


🌺सुशांत संगघर बसानेकी थी तैयारी!🌺


सुशांत और रिया के ब्रोकर ने बताया कि दोनों साथ में घर तलाश रहे थे। रिया ने ब्रोकर से यह भी कहा था कि वह शादी करने वाले हैं। सुशांत की मौत हर किसी के जेहन में सुशांत और अंकिता लोखंडे की लव स्‍टोरी है। यह सच है कि अंकिता और सुशांत लंबे समय तक साथ रहे। दोनों शादी भी करने वाले थे, लेकिन तभी दोनों के रिश्‍तों में खटास आ गई और रिश्‍ता टूट गया। लेकिन इन सब के बीच रिया के मन को शायदही किसी ने टटोला।शायद ही किसीने उनके दुख कोसमझने की कोश‍िश की।वो रिया जोसुशांत के जाने के बादअब बिल्‍कुल अकेली है।


🌺2021में शादी करने वाले थे सुशांत🌺


सुशांत के रिश्‍तेदारों ने बताया कि नवंबर महीने में रिया और सुशांत शादी करने वाले थे। सुशांत के पिता ने भी यह बात कही कि बेटे संग आख‍िरी बातचीत शादी को लेकर ही हुई थी, तब सुशांत ने फोन पर पिता से कहा था कि वह कोरोना काल बीतने के बाद शादी करेंगे। ऐसे में 2021 के शुरुआती महीनों में शादी होनी थी। हालांकि, पिता ने यह भी कहा कि उन्‍हें रिया चक्रवर्ती के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।


  🌺रिया-सुशांत का 'शुद्ध देसी रोमांस'🌺


रिया ने पुलिस को अपने बयान में बताया था कि उनकी सुशांत से मुलाकात 2012-2013 के बीच हुई थी। सुशांत उस वक्‍त 'शुद्ध देसी रोमांस' फिल्‍म की शूटिंग कर रहे थे। जबकि रिया भी 'मेरे डैड की मारुति' फिल्‍म में काम कर रही थीं। दोनों फिल्‍मों के सेट आसपास थे और वहीं मुलाकात हुई।


            🌺तब अंकिता


      संग रिलेशन में थे सुशांत🌺


सुशांत सिंह राजपूत तब अंकिता लोखंडे के साथ कमिटेड रिलेशन में थे। उस समय लगातार यह चर्चा हो रही थी कि दोनों शादी करने वाले हैं। लेकिन इन सब के बीच सुशांत और रिया की दोस्‍ती भी बढ़ रही थी। रिया बताती हैं कि उस पहली मुलाकात के बाद दोनों कई पार्टीज में मिले, फोन नंबर एक्‍सचेंज किया और फिर बातें होने लगीं।


         🌺...और प्‍यार हो गया🌺


साल 2017-2018 में सुशांत यशराज प्रोडक्‍शन के कॉन्‍ट्रैक्‍ट अलग हुए। इसी दौर में रिया और सुशांत की दोस्‍ती बढ़ी और प्‍यार में बदल गई। बताया जाता है कि रिया कुछ दिनों बाद सुशांत के साथ ही श‍िफ्ट हो गईं।


   🌺कुछ वक्‍त अकेले रहना चाहते थे 


                    सुशांत🌺


सुशांत डिप्रेशन में थे और इस बात की जानकारी रिया को थी। वह उनका खयाल रख रही थीं। उन्‍हें समय से दवाएं लेने के लिए कहती थीं। रिया ने पुलिस को यह भी बताया कि 6 जून को सुशांत के घर से जाने के बाद दोनों की बात नहीं हुई। 14 जून को जब दुनिया को खबर हुई, उसी समय रिया को भी पता चला कि सुशांत अब नहीं है।


 🌺सुशांत कासाथ औरवो गूंजती हंसी🌺


रिया चक्रवर्ती से पहले सुशांत की जिंदगी में कृति सैनन भी आईं, लेकिन यह रिश्‍ता ज्‍यादा नहीं चला। अंकिता के जाने के बाद वह रिया ही थीं, जिन्‍होंने सुशांत को संभाला। दोनों की तस्‍वीरें और उनमें गूंजती हंसी उस खुशी का एहसास करवाते हैं, जो सुशांत और रिया एकदूसरे के साथ महसूस करते थे।


🌻🌺🌲🏵🥀🌾🌱🌹🌺🌳♻️🌻


🌺(A/4-I) मशहूर कोरियॉग्रफर सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट के चलते मुंबई में निधन🌺


फेमस कोरियॉग्रफर सरोज खान का शुक्रवार को कार्डियक अरेस्ट के चलते मुंबई में निधन हो गया। वह 71 साल की थीं। मुंबई के गुरु नानक हॉस्पिटल में उन्होंने 1.52 पर अंतिम सांस ली।


बॉलिवुड की मशहूर कोरियॉग्रफर सरोज खान का गुरुवार आधी रात के बाद 1:52 बजे मुंबई में निधन हो गया।निधन की वजह कार्डियक अरेस्ट बताई गई है। वह 71 साल की थीं। सरोज खान 17 जून से मुंबईकेबांद्रा में स्थित गुरु नानक हॉस्पिटल में भर्ती थीं। उन्हें सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद यहां भर्ती करवाया गया था।


यह दिग्गज कोरियॉग्रफर डायबिटीज और इससे संबंधित बीमारियों से जूझ रही थीं। हॉस्पिटल में भर्ती के बाद उनके कोरोना संक्रमण की जांच भी की गई थी, जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। केवल परिवार के नजदीकी लोगों की मौजूदगी में सरोज खानको मुंबई के मलाड मुस्लिमकब्रिस्तान 


में सुपुर्द-ए-खाक़ कर दिया गया है।


वह लंबे समय सेअपने काम से ब्रेक पर थीं लेकिन बीते साल (2019) उन्होंने वापसी की और मल्टीस्टारर फिल्म 'कलंक' और कंगना रनौत की फिल्म 'मणिकर्णिकाः द क्वीन ऑफ झांसी' में एक-एक गाने को कोरियॉग्राफ किया था।


बता दें इस दिग्गज कोरियॉग्राफर ने मात्र तीन साल की उम्र से बतौर बैकग्राउंड डांसर अपना करियर शुरू किया था। उन्हें 1974 में पहली बार गीता मेरा नाम से बतौर कोरियॉग्राफर फिल्म इंडस्ट्री में ब्रेक मिला था। अपने करियर में 2000 से ज्यादा गानों को कोरियॉग्राफी करने वालीं इस दिग्गज को तीन बार नैशनल अवॉर्ड मिला। बता दें कि सरोज खान ने कुछ फिल्मों में बतौर राइटर भी काम किया है।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐 💐(B)आजके दिन जन्मे.पूर्व प्रधानमंत्री गुलजारीलालनन्दा.का.जीवन परिचयलेख. 


          🌺गुलजारीलाल नन्दा 🌺


(4 जुलाई 1898 से 15 जनवरी 1998) एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे। उनका जन्म 


सियालकोट,पंजाब,पाकिस्तानमें हुआ था।वे 1964 में प्रथम भारतीय प्रधानमंत्री


जवाहर लाल नेहरू की मृत्युपश्चात् भारत के प्रधानमंत्री बने।कांग्रेस पार्टी के प्रति समर्पित गुलज़ारी लाल नंदा प्रथम बार पंडित जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु के बाद 1964 में कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनाए गए। दूसरी बार लाल बहादुर शास्त्री की मृत्यु के बाद 1966 में यह कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने।इनकाकार्यकाल दोनों बार उसी समय तक सीमित रहा जब तक की कांग्रेस पार्टी ने अपने नए नेता का चयन नहीं कर लिया।


             🌺गुलजारीलाल नन्दा🌺


        भारत के प्रधानमंत्री (कार्यवाहक)


                🌺कार्यकाल🌺


27 मई 1964 – 9 जून 1964 पूर्ववर्ती जवाहर लाल नेहरू परवर्तीलाल बहादूर शास्त्री कार्यकाल


11 जनवरी 1966~24 जनवरी1966


पूर्ववर्तीलाल बहादूर शास्त्री परवर्ती इन्दिरा गान्धी जन्म4 जुलाई 1898 (आयु 121)


सियालकोट, पंजाब,पाकिस्तान मृत्यु15 जनवरी,1998 राष्ट्रियता भारतीय


धर्म:-हिन्दू


            🌺 जन्म एवं परिवार🌺


नंदाजी के रूप में विख्यात गुलज़ारी लाल नंदा का जन्म 4 जुलाई 1898 को सियाल


कोट में हुआ था, और यह सेन परिवार से थे जो अब पश्चिमी पाकिस्तान का हिस्सा है। इनके पिता का नाम बुलाकी राम नंदा तथा माता का नाम श्रीमती ईश्वर देवी नंदा था। नंदा की प्राथमिक शिक्षा सियालकोट में ही सम्पन्न हुई। इसके बाद उन्होंने लाहौर के 'फ़ोरमैन क्रिश्चियन कॉलेज' तथा इलाहा


बाद विश्वविद्यालय में अध्ययन किया। गुल


ज़ारी लाल नंदा ने कला संकाय में स्नात


कोत्तर एवं क़ानून की स्नातक उपाधि प्राप्त की। इनका विवाह 1916 में 18 वर्ष की उम्र में ही लक्ष्मी देवी के साथ सम्पन्न हो गया था। इनके परिवार में दो पुत्र और एक पुत्री सम्मिलित हुए।


           🌺व्यक्तिगत जीवन🌺


गुलज़ारी लालनंदा का भारत के स्वाधीनता संग्राम में योगदान रहा। नंदा का जीवन आरम्भ से ही राष्ट्र के प्रति समर्पित था। 1921 में उन्होंने असहयोग आन्दोलन में भाग लिया। नंदा बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। उन्होंने मुम्बई के नेशनल कॉलेज में अर्थशास्त्र के व्याख्याता के रूप में अपनी सेवाएँ प्रदान कीं।अहमदाबाद की टेक्स


टाइल्स इंडस्ट्री में यह लेबर एसोसिएशन के सचिव भी रहे और 1922 से 1946 तक का लम्बा समय इन्होंने इस पद पर गुज़ारा। यह श्रमिकों की समस्याओं को लेकर सदैव जागरूक रहे और उनका निदान करने का प्रयास करते रहे। 1932 में सत्याग्रह आन्दोलन के दौरान और 1942-1944 में भारत छोड़ो आन्दोलन के समय इन्हें जेल भी जाना पड़ा।


         🔆राजनीतिक जीवन🔅


नंदा बॉम्बे की विधानसभा में 1937 से 1939 तक और 1947 से 1950 तक विधायक रहे। इस दौरान उन्होंने श्रम एवं आवास मंत्रालय का कार्यभार मुम्बई सर


-कार में रहते हुए देखा।1947 में 'इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस' की स्थापना हुई और इसका श्रेय नंदाजी को जाता है। मुम्बई सरकार में रहने के दौरान गुलज़ारी


लाल नंदा की प्रतिभा को रेखांकित करने के बाद इन्हें कांग्रेस आलाक़मान ने दिल्ली बुलालिया यह1950-1951,1952-1953


और 1960 -1963 में भारत के योजना आयोग के उपाध्यक्ष पद पर रहे।ऐसेमेंभारत की पंचवर्षीय योजनाओं में इनका काफ़ी सहयोग पंडित जवाहरलाल नेहरू को प्राप्त हुआ। इस दौरान उन्होंने निम्नवत् प्रकार से केन्द्रीय सरकार को सहयोग प्रदान किया-


गुलज़ारी लाल नंदा केन्द्रीय मंत्रिमण्डल में कैबिनेट मंत्री रहे और स्वतंत्र मंत्रालयों का कार्यभार सम्भाला। नंदाजी ने योजना मंत्रालय का कार्यभार सितम्बर 1951 से मई 1952 तक निष्ठापूर्वक सम्भाला। नंदाजी ने योजना आयोग एवं नदी घाटी परियोजनाओं का कार्य मई 1952 से जून 1955 तक देखा।नंदाजीने योजना,सिंचाई


एवं ऊर्जा के मंत्रालयिक कार्यों को अप्रैल 1957 से 1967 तक देखा।नंदाजी ने श्रम


एवं रोज़गार मंत्रालय का कार्य मार्च 1963 से जनवरी1964 तकसफलता पूर्वकदेखा।


  🌺कार्यवाहक प्रधानमंत्री पद 🌺


नंदाजी ने मंत्रिमण्डल में वरिष्ठतम सह-


-योगी होने के कारण दो बार कार्यवाहक


प्रधानमंत्री का दायित्व सम्भाला। इनका प्रथम कार्यकाल 27 मई 1964 से 9 जून 1964 तक रहा, जब पंडित जवाहर लाल नेहरू का निधन हुआ था।दूसरा कार्यकाल 11 जनवरी 1966 से 24 जनवरी 1966 तक रहा,जब लाल बहादुर शास्त्री का ताशकंद में देहान्त हुआ। नंदाजी प्रथम पाँच आम चुनावों में लोकसभा के सदस्य निर्वाचित हुए।


             🌺लेखन कार्य🌺


नंदाजी ने एक लेखक की भूमिका अदा करते हुए कई पुस्तकों की रचना की। जिनके नाम इस प्रकार हैं- सम आस्पेक्ट्स ऑफ़ खादी, अप्रोच टू द सेकंड फ़ाइव इयर प्लान, गुरु तेगबहादुर, संत एंड सेवियर, हिस्ट्री ऑफ़ एडजस्टमेंट इन द अहमदाबाद टेक्सटाल्स, फॉर ए मौरल रिवोल्युशन तथा सम बेसिक कंसीड्रेशन।


                🌺 पुरस्कार 🌺


गुलज़ारीलाल नन्दा को देश का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न (1997) और दूसरा सर्वश्रेस्ठ सम्मान किया गया।


                  🌺 निधन🌺


नंदा दीर्घायु हुए और 100 वर्ष की अवस्था में इनका निधन 15 जनवरी 1998 को हुआ।इन्हें एक स्वच्छ छवि वाले गांधीवादी 


राजनेता के रूप में सदैव याद रखा जाएगा


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻🌺(C)आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ🌺


1776 - अमेरिकी स्वतन्त्रता की घोषणा।


1914 - बर्दुन का युद्ध समाप्त हो गया।


1996 - रूस के राष्ट्रपति बोरिस येल्तसिन फिर से चार वर्ष के लिए राष्ट्रपति चुने गए।


1997 - अमेरिकी यान सोजर्नर' मंगल ग्रह पर पहुँचा।


1998 जापान ने मंगल ग्रह के बारे मेंजान


-कारी हासिल करने के लिए प्लेनेट-बी' 


नामक अपना पहला अंतराग्रहिक मिशन भेजा


1998 चेक गणराज्य की याना नावोत्ना ने विम्बलडन टेनिस का एकल ख़िताब जीता


1998 ब्रिटेन के एक पावरबोट 'द केवल एंड वायरलेस एडवेंचर' ने 74 दिन 20 घंटे 38 मिनट में पृथ्वी की परिक्रमा कर सबसे तेज विश्व भ्रमण का रिकार्ड बनाया।


2001 - भारत ने पाकिस्तान के बंदी नागरिकों को रिहा किया।


2003 - पाकिस्तान में शिया मस्जिद में हुए बम धमाके में 44 लोग मारे गये।


2005 - आस्ट्रेलिया में डॉल्फ़िन की एक नई प्रजाति स्नबफ़िन का पता लगाया गया।


2008 लगभग आठ साल बाद चीन और 


ताईवान केबीच सीधी विमानसेवाशुरु हुई। पहला विमान ताइवान के तायोयुआन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरा।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    


    व्यक्तित्व


1897 - अल्लूरी सीताराम राजू, भारतीय स्वतंत्रता सेनानी


1898 - गुलज़ारीलाल नन्दा - भारत के भूतपूर्व कार्यकारी प्राधानमंत्री


1916 - नसीम बानो, हिन्दी चलचित्र अभिनेत्री


1962 - पाम श्राइवर - टेनिस खिलाड़ी


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻  


   (E)आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण 


    व्यक्तित्व।


1902 - स्वामी विवेकानन्द, भारतीय आध्यात्मिक मनीषी एवं साहित्य ,दर्शन और इतिहास के प्रकाण्ड विद्वान।


1963 - पिंगलि वेंकय्याभारत के राष्ट्रीय ध्वज ' तिरंगा ' के अभिकल्पक।1982भरत व्यास , हिंदी चलचित्र गीतकार


2006 - गरहार्ड फ़िशर, भारत में जर्मनी के राजदूत और गांधी शांति पुरस्कार विजेता


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻     


    🌺(F) आज का दिवस का नाम🌺1अल्लूरी सीताराम राजू,भारतीय स्वतंत्रता सेनानी का जयंती दिवस।


2.गुलज़ारीलाल नन्दा - भारत के भूतपूर्व कार्यकारी प्रधानमंत्री का जयंती दिवस।


3. नसीम बानो, हिन्दी चलचित्र अभिनेत्री का जयंती दिवस।


4 स्वामी विवेकानन्द,भारतीयआध्यात्मिक


मनीषी एवं साहित्य ,दर्शन और इतिहास केप्रकाण्ड विद्वानथे उनकाआज पुण्यतिथि दिवस है।


5  पिंगलि वेंकय्याभारत के राष्ट्रीय ध्वज ' तिरंगा ' के अभिकल्पक थे उनका पुण्य


-तिथि दिवस


6.भरत व्यास हिंदी चलचित्र गीतकार थे


  उनका पुण्यतिथि दिवस


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐   


आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।


      आज जन्म लिये सभी व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई। बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।


💐।जय चित्रांश।💐


💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐


💐।जय हिंद जय भारत💐


💐 निवेदक;-💐


💐चित्रांश ;विजय निगम।


Comments
Popular posts
काश! मैं भी बॉस होता के सपने को साकार करता है पीआर 24x7
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत
Image
ज़ी बॉलीवुड पर होगा जश्न का धमाल क्योंकि 24 जनवरी को शानदार फिल्म ‘विश्वात्मा’ पूरे कर रही है 30 साल
Image
एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने सड़क सुरक्षा पर शुरू किया एक विशिष्ट और अनूठा जागरूकता अभियान
Image
इंतजार की घड़ियाँ खत्म; भूषण कुमार का 'वफा ना रास आई' हुआ रिलीज, जुबिन नौटियाल द्वारा गाए गए इस सॉन्ग में हिमांश कोहली और आरुषि निशंक ने किया है अभिनय
Image