आज की बात आपके साथ - विजय निगम

प्रिय साथियो। 


🌹राम-राम🌹 


🌻 नमस्ते।🌻


आप सभी साथीयों का दिनांक 03 जूलाई 2020 शुक्रवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻


आज की बात आपके साथ अंक मे है 


A कुछ रोचक समाचार


B आज के दिन जन्मे भारतीय राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीतने वाले भारत के


फिल्म निर्माता, पटकथा लेखक मौताथु अदूर" गोपालाकृष्णन उन्नीथन का जीवन परिचय लेख🌺. 


C आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ


D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    


    व्यक्तित्व


E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।


F आज का दिवस का नाम ।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻


    (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)


🌺(A/1)भारत 'डिजिटल स्ट्राइक' भी कर सकता है', चीन की 59 ऐप्स पर बैन के बाद कानून मंत्री बोले🌺


🌺(A/2)मोदी राज में तीन गुना कम हुआ चीन से आने वाला निवेश, जानें कितना आया?🌺


🌺(A/3)एलपीजी सिलेंडर की कीमत में आज लगातार दूसरे महीने बढ़ोतरी हुई।नवीनतम दरों की जाँच करें।🌺


🌺(A/4)EXCLUSIVE: श्वेता तिवारी, वरुण बडोला 2 जुलाई से मेरे डैड की दुल्हन फिर से शुरू।🥀


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻 (A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)


🌺(A/1)भारत 'डिजिटल स्ट्राइक' भी कर सकता है', चीन की 59 ऐप्स पर बैन के बाद कानून मंत्री बोले🌺


 : केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि बॉर्डर पर नजर गड़ाए रखने वालों के साथ कैसे निपटना है, यह भारत अच्छी तरह जानता है।


रविशंकर प्रसाद ने कहा कि भारत जानता है कि देश के नागरिकों की सुरक्षा कैसे करनी है


भारत ने सुरक्षा का हवाला देकर टिक टॉक सहित चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाए हैं


गत 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद एलएसी पर तनाव बढ़ गया है


नई दिल्ली : केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को कहा कि देश की सुरक्षा एवं संप्रुभता की सुरक्षा के लिए टिक टॉक सहित चीन के 59 ऐप पर बैन लगाया गया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा,'हमारी सीमा पर नजर गड़ाने वालों के साथ आंख में आंख डालकर कैसे निपटना है और अपने नागरिकों की सुरक्षा कैसे करनी है, यह भारत अच्छी तरह से जानता है। भारत यहां तक कि डिजिटल स्ट्राइक भी कर सकता है।' रविशंकर प्रसाद ने यह बात पश्चिम बंगाल में भाजपा की एक वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कही।


भारत ने चीन के 59 ऐप पर बैन लगाया है।


    🌺भारत एक शांतिप्रिय देश'🌺


केंद्रीयमंत्री ने कहा कि भारत एकशांतिप्रिय


देश है लेकिन कोई अगर उसकी तरफ बुरी नीयत से देखेगा तो उसे करारा जवाब मिलेगा। भारत ने सुरक्षा का हवाला देकर यूसी ब्राउजर, टिक टॉक सहित चीन के 59 ऐप पर बैन लगा दिया है। जिन ऐप पर प्रतिबंध लगा है उनमें हेलो, लाइकी, कैमस्कैनर, विगो वीडियो, एमआई वीडियो कॉल शियोमी, क्लैश ऑफ किंग्स सहित ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म क्लब फैक्ट्री एवं शेन शामिल हैं।  


प्रसाद ने टीएमसी पर साधा निशाना


रैली में टीएमसी नेतृत्व पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'पश्चिम बंगाल में अब हम अजीब ट्रेंड देख रहे हैं। सत्तारूढ़ टीएमसी पहले पूछती थी कि हम चीन के ऐप पर प्रतिबंध क्यों नहीं लगा रहे हैं। अब वह जानना चाहती हैं कि हमने यह बैन क्यों लगाया। यह अजीब है। संकट के समय क्या वह सरकार के साथ नहीं खड़े हो सकती?'


           🌺 संबंधित खबरें🌺:


रोड निर्माण में अब चीनी सामान नहीं, चीन पर 'योगी' स्ट्राइक


Galwan Valley में पहले की स्थिति पर लौटने को तैयार भारत-चीन


'चीन को दिखा रहा भारत कि वह झुकेगा नहीं'


गलवान घाटी की हिंसा के बाद भारत-चीन के रिश्ते तल्ख


गत 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक घटना के  बाद भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर दोनों देशों ने अपनी सीमा पर सैनिकों की संख्या बढ़ा दी है। बॉर्डर पर तनाव कम करने के लिए भारत और चीन के बीच कूटनीतिक एवं सैन्य स्तर पर वार्ता भी चल रही है। इस बीच, चीन को कड़ा संदेश देने के लिए भारत सरकार ने गत सोमवार को चीन के स्वामित्व वाली 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। यही नहीं, इसके दो दिन बाद सरकार ने भारत में चीन के निवेश में कमी लाने की दिशा में कदम उठाया। सरकार ने कहा कि वह राजमार्ग परियोजनाओं में चीनी कंपनियों को शामिल होने की इजाजत नहीं देगी।


चीन को आर्थिक झटका दे रहा भारत


गलवान घाटी में हुई हिंसा के बाद भारत में चीन के खिलाफ आक्रोश बढ़ गया है। लोग चीनी सामानों के बहिष्कार की मांग कर रहे हैं। चीन को आर्थिक रूप से झटका देने के लिए सरकार की ओर से कदम उठाए जा रहे हैं। रेलवे ने चीनी कंपनियों का 402 करोड़ रुपए का ठेका रद्द कर दिया है जबकि महाराष्ट्र सरकार ने चीन कंपनियों के 5000 करोड़ रुपए के प्रस्ताव पर रोक लगा दी है। आने वाले दिनों में सरकार कुछ इसी तरह के और कदमों की घोषणा कर सकती है।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻💐(A/2)मोदी राज में तीन गुना कम हुआ चीन से आने वाला निवेश, जानें कितना आया?


Chinese investments: सरकार की तरफ से जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2019-20 में चीन से आने वाला FDI केवल 163 मिलियन डॉलर रहा। पिछले छह सालों में इसमें दो तिहाई गिरावट आई है।


 हाइलाइट्स:


पिछले साल चीन से आने वाला FDIकेवल 163 मिलियन डॉलर रहा।


पिछले छह सालों में इसमें दो तिहाई से ज्यादा गिरावट आई है।


वित्त वर्ष 2014-15 में 494 मिलियन डॉलर का निवेश आया था।


पिछले 20 सालों में चीन से आने वाले FDI की कुल हिस्सेदारी महज 0.51 फीसदी रही।


Chinese investments: लद्दाख में गलवान घाटी (India-China face off) की घटना के बाद चीन के खिलाफ भारत लगातार सख्त फैसले ले रहा है। चीनी कंपनियों, चीनी मोबाइल ऐप्स और चीन से आने वाले निवेश पर सरकार की विशेष नजर है। #BoycottChina की दिशा में सरकार तेजी से आगे बढ़ रही है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, वित्त वर्ष 2019-20 में चीन से भारत में केवल 163 मिलियन डॉलर का FDI (FDI from china)आया है। मोदी शासनकाल में चीन से आने वाला निवेश एक तिहाई रह गया है।


मोदी शासनकाल में एक तिहाई हुआ FDI


छह साल पहले 2014 में नरेंद्र मोदी पहली बार देश के प्रधानमंत्री चुने गए थे। 2013-14 में चीन से कुल 124 मिलियन डॉलर का FDI आया था। मोदी के सत्ता में आते ही यह अगले वित्त वर्ष यानी 2014-15 में 494 मिलियन डॉलर पर पहुंच गया और उसके अगले वित्त वर्ष 2015-16 में यह घटकर 461 मिलियन डॉलर पर आया। उसके बाद लगातार गिरावट आती रही और 2019-20 में यह 163 मिलियन डॉलर रहा।


अप्रैल में FDI के नियम बदले गए थे


अप्रैल महीने में चीन से आने वाले निवेश को रोकने के लिए सरकार ने FDI के नियम में बदलाव किया था। रिपोर्ट के मुताबिक, उसके बाद से चीन से निवेश को लेकर सरकार के पास कोई प्रस्ताव नहीं आया है। नए नियम के मुताबिक, चीन से आने वाले निवेश को पहले सरकार से मंजूरी की जरूरत है।


चीन से केवल 0.51 फीसदी FDI


सरकार की तरफ से जो डेटा जारी किया गया है उसके मुताबिक पिछले 20 सालों में चीन से आने वाले एफडीआई (FDI from china) की कुल हिस्सेदारी महज 0.51 फीसदी है। इस मामले में वह 18वें पायदान पर है। पिछले 20 सालों में अगर भारत में सबसे ज्यादा FDI आया है तो वह मॉरिशस से है। कुल FDI में उसकी हिस्सेदारी 30.36 फीसदी है। दूसरे नंबर पर सिंगापुर (20.78 फीसदी), नीदरलैंड (7.20 फीसदी), जापान (7.13 फीसदी), अमेरिका (6.34 फीसदी) का नंबर है। इस लिस्ट में चीन 18वें नंबर पर है। उसकी हिस्सेदारी मात्र 0.51 फीसदी है


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻🌺(A/3)एलपीजी सिलेंडर की कीमत में आज लगातार दूसरे महीने बढ़ोतरी हुई।नवीनतम दरों की जाँच करें।🌺


1 मिनट पढ़ा । 01 जुलाई 2020। 


एलपीजी सिलेंडर के दाम दूसरे महीने बढ़ गए हैं


एलपीजी दरों में हर महीने की शुरुआत में बदलाव किया जाता है


नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय दरों में प्रतिक्षेप के साथ, आज लगातार दूसरे महीने बढ़े हुए पेट्रोलियम गैस (एलपीजी) सिलेंडरों की कीमत बढ़ गई। इंडियन ऑयल का बिना सब्सिडी वाला 14.2 किलो का सिलेंडर, इंडेन, आज से दिल्ली और मुंबई दोनों मेंsubsid 594 खर्च होगा ।जबकिदिल्ली


 में सिर्फ 1 रुपये की दर से बढ़ोतरी की गई है,मुंबई मेंमूल्य वृद्धि has 3.5एकसिलेंडर है।


पिछले महीने, दिल्ली में रसोई गैस के खुदरा बिक्री मूल्य से बढ़ी था ₹ 11.50 प्रति सिलेंडर। दर वृद्धि की वर्तमान बाढ़ दर में कटौती जो बनाया रसोई गैस सिलेंडरों से सस्ता की लगातार तीन महीने के बाद आता है ₹ 277. में फरवरी, रसोई गैस सिलेंडर की दर तक चला गया था ₹ , 858.50 (दिल्ली), लेकिन मार्च में के रूप में कोरोना आशंका वैश्विक ईंधन की मांग को प्रभावित करने के लिए शुरू कर दिया , दरकरनेके लिए नीचेचलागया ₹ 805.50।


मई में, रसोई गैस की कीमत से कम हो गया था₹ 744 को ₹ प्रति सिलेंडर के रूप में ऊर्जा बाजार एक भालू मोड में चला गया।


जहां पेट्रोल और डीजल की कीमतें दैनिक आधार पर संशोधित की जाती हैं, एलपीजी दरों में हर महीने की शुरुआत में बदलाव किया जाता है।


नवीनतम एलपीजी सिलेंडर दरों (इंडेन - गैर-सब्सिडी वाले 14.2 किलोग्राम):


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻🌺(A/4)EXCLUSIVE: श्वेता तिवारी, वरुण बडोला 2 जुलाई से मेरे डैड की दुल्हन फिर से शुरू।🥀


श्वेता तिवारी और वरुण बडोला, जिन्होंने मेरे डैड की दुल्हन में अपने प्रदर्शन से दिल जीत लिया थाअब नए एपिसोड की शूटिंग फिर से शुरू करने के लिये तैयार है।


कोरोनवायरस का प्रकोप, जिसने भारत में 6हजार से अधिक लोगों को संक्रमितकिया है,17 हजार से अधिक लोगों के जीवन का दावा करते हुए, सामान्य जीवन को काफी हद तक रोक दिया है। वास्तव में, महामारी ने मनोरंजन जगत पर भारी असर डाला क्योंकि शोबिज उद्योग ने तीन महीने तक पूरी तरह से बंद देखा।और अब,उद्योगफिर


 से पटरी पर आ रहा है और कई शो ने गैर सरकारी क्षेत्र में शूट करने के लिए महाराष्ट्र सरकार से मंजूरी मिलने के बाद शूटिंग फिर से शुरू कर दी है।


 अब हमारे स्रोतों के अनुसार, सोनी टीवी के मेरे डैड की दुल्हन के निर्माता भी शो की शूटिंग को फिर से शुरू करने के लिए तैयार हैं। शो, जिसमें श्वेता तिवारी और वरुण बडोला हैं, इस साल 2 जुलाई से नए एपिसोड की शूटिंग शुरू करेंगे।सूत्रों ने यह भीबतायकि निर्मातासेट के संपूर्ण स्वच्छता


कोसुनिश्चितकरने सहित सभी सुरक्षा दिशा


निर्देशों का पालन कर रहे हैं।


याद करने के लिए,नवंबर 2019 में धमाके


दार शुरुआत के साथ शुरू होने वाले पारि


वारिक ड्रामाको लॉकडाउन के दौरानअचा


नक से खींच लिया गया,क्योंकि शूटिंग को 


रोकने के लिए COVID 19 महामारी के कारण रुक गए थे। हालांकि प्रशंसकों को अचानक समाप्त होने वाले शो के साथ दिल टूट गया था, यह खबर निश्चित रूप से दर्शकों के लिए राहत की सांस होगी।


इससे पहले, नागिन-भाग्य का जेहेरेला खेल, तुझसे है राब्ता, भाभीजी घर पर हैं, ये रिश्ता है प्यार के आदि जैसे शो भी अपने नए एपिसोड की शूटिंग शुरू कर चुके हैं। वास्तव में, निर्माताओं ने संकट की स्थिति के दौरान कलाकारों और चालक दल की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कड़े कदम उठाए हैं।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐 💐🌺(B)आज के दिन जन्मे भारतीय राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीतने वाले भारत के


फिल्म निर्माता, पटकथा लेखक मौताथु अदूर" गोपालाकृष्णन उन्नीथन का जीवन परिचय लेख🌺. 


          


🌺मौताथु "अदूर" गोपालाकृष्णनउन्नीथन 


          का जीवन परिचय🌺


जन्म :-जुलाई 3, 1941को जनम लीये सात बार भारतीय राष्ट्रीय फिल्म जीवन परिचय लेख.जीतने वाले भारत केफिल्म


निर्माता,पटकथ लेखकऔर फिल्म निर्माता


 हैं। उनकी अधिकांश फ़िल्में विश्वस्तर पर रिलीज नहीं हुई हैं, हालाँकि कई वैश्विक समारोहों में उन्हें प्रदर्शित किया गया है। उन्होंने वैश्विक स्तर पर बहुत कम फ़िल्म समारोहों में शिरकत की है। उनकी ज्य़ादातर फ़िल्में केरल में ही रिलीज हुई हैं।


          🌺 अडूर गोपालकृष्णन🌺


नाम:- अदूर


व्यवसाय:निर्देशकपटकथा लेखक, निर्माता


माता-पिता:-माधवन उन्नीथन,गौरीकुंजम्मा


पुरस्कार:-सर्वश्रेष्ठ निर्देशक


1973 स्वयंवरम


1985 मुखमुखम


1988 अनंतराम


1990 मतिलुकल


सर्वश्रेष्ठ फिल्म


1973 स्वयंवरम


1996 कथापुरुषण


सर्वश्रेष्ठ पटकथा लेखक


1985 मुखमुखम


1988 अनंतरामवेबसाइट


               🌺जीवनी🌺


गोपालकृष्णन का जन्म 3 जुलाई 1941 को पलिक्कल गाँव (मेदायिल बंगलो) में अदूर के निकट वर्तमान केरल राज्य में हुआ था। वे माधवन उन्निथन और मौत्तथु गौरी कुंजम्मा के बेटे हैं। उन्होंने बतौर कलाकार अपने जीवन को नव-प्रशिक्षित अभिनेता के रूप में 8 साल की आयु में नाटकों में काम करते हुए किया। इसके पश्चात वह लिखने और निर्देशन पर केन्द्रित हुए और कुछ नाटकों का पटकथन लिखा और उनपर बतौर निदेशक काम भी किया।अर्थशास्त्र,राजनीतिविज्ञानऔरलोक प्रशासन में 1961में गाँधीग्राम ग्रामीन संस्थानसे स्नातक प्राप्त करने केपश्चात


 उन्होंने डिंडिगुल, तमिलनाड के निकट एक सरकारी अधिकारी के रूप में काम किया। 1962 में उन्होंने अपनी नौकरी को छोड़ दिया ताकि पटकथन और निर्देशन पर पुणे फ़िल्म संस्थान से अध्ययन कर सकें। भारत सरकार से छात्रवृत्ति प्राप्त करके उन्होंने अपने पाठ्यक्र्म को पूरा किया।उनके सहपाठियों और मित्रों ने चित्र


लेखा फ़िल्म सोसाइटी और चलचित्र 


सलाहकार संघम की स्थापना की; यह संस्था केरल की पहली फ़िल्म सोसाइटी थी और यह सहकारी क्षेत्र में निर्माण, वित्रण और प्रदर्शन पर केंद्रित थी।


अदूर ने 11 फ़ीचर फ़िल्मों के पटकथन और निर्देशन पर काम किया है और उसी प्रकार 30 शॉर्ट और डॉक्यूमेंट्रियों से भी जुड़े रहे। गैर-फ़ीचर फ़िल्म श्रेणी में वे भी थे जो केरल की प्रदर्शन कलाओं से सम्बंधित थे।अदूर की प्रथम फ़िल्म स्वयं


वरम(1972) राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित थी और मलयालम फ़िल्म इतिहास में स्मर


णीय मानी जाती है। इस फ़िल्म को कई अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोहों में बड़े पैमाने पर प्रदर्शित किया गया था,जिसमें मॉस्को,


मेलबर्नलंदन और पैरिस के फ़िल्म समारोह


शामिल थे। इसके बाद आने वाली फ़िल्मों में कोदियेट्टियम, एलिप्पथिम, मुखमुखम, अनंतरम, मथिलुकल, विधेयन और कथपुरुषम रही हैं और यह पहली फ़िल्म जितनी ही समीक्षकों द्वारा फ़िल्म समारोहों में पसंदकी गई हैं और कई पुरस्कारअर्जित


भी कर चुकी हैं। फिर भी मुखमुखम पर केरल में खंडन किया गया जबकि विधेयन को चर्चा का विषय बनाया गया जिसका कारण फ़िल्म सखारिया की कहानी के लेखक और अदूर के बीच के मतभेद था।


अदूर की अगली फ़िल्मों में निड़लकुथु थी, जो एक ऐसे जल्लाद के अनुभव की कहा


नी थी जिसे यह पता चलता है उसके द्वारा जीवन-लीला समाप्त किए जाने वाला एक व्यक्ति निर्दोष था। एक और फ़िल्म नालु पेन्नुंगल एक ऐसी फ़िल्म थी जो तकजि शिवशंकर पिल्लै की 4 लघुकहानियों पर आधारित थी।


उनकी सभी फ़िल्में राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कारोंसे सम्मानित रहीहैं(सर्वश्रेष्ठफ़िल्म


 के लिए दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार, सर्वश्रेष्ठ निदेशक के लिए पाँच बार, सर्वश्रेष्ठ पटकथा के लिए दो बार। उनकी फ़िल्में अभिनेताओं और तकनीकी विशेज्ञों को कई पुरस्कार जितवा चुकी हैं।) अदूर की तीसरी फ़ीचर फ़िल्म एलिप्पथयम केकारण उन्हें 1982 में 'सबसे मौलिक और कल्पनाशील फ़िल्म' होने के कारण विख्यात ब्रिटिश फ़िल्म संस्थान पुरस्कार सम्मानित किया गया।


अन्तर्राष्ट्रीय फ़िल्म समीक्षकों का पुरस्कार उन्हें छ: बार लगातार मुखमुखम, अनंतरम, मथिलुकल, विधेयन, कथपुरुषम और निड़लकुथु के लिए दिया गया। वह कई अन्तर्राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित हुए हैं जैसे कि यूनिसेफ़ फ़िल्म पुरस्कार (वेनिस), ओ सी आई सी फ़िल्म पुरस्कार (अमिएन्स), इंटरफ़िल्म पुरस्कार (मन्नहेम) आदि। उनकी फ़िल्मों को कान, वेनिस, बर्लिन, टोरॉन्टो, लंदन, रॉटरडैम और लगभग सभी मुख्य वैश्विक समारोहों में दिखाया गया।


भारतीय फ़िल्मों में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए राष्ट्र ने उन्हें 1984 में पद्मश्री की उपाधि से सम्मानित किया।


 🌺डॉक्यूमेंट्री व नए सिनेमाआन्दोलन🌺


नौ फ़ीचर फ़िल्मों के अलावा उनके पास 30 से अधिक छोटी फ़िल्में और डॉक्यूमेंट्री भी हैं। हेलसिंकी फ़िल्मोत्सव ऐसा पहला फ़िल्म समारोह था जिसने उनकी फ़िल्मों की समीक्षा की थी। वे राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारों और कई अन्तर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोहों में प्रमुख जज की भूमिका में रहे।


अपनी फ़िल्मों के अलावा अदूर का मुख्य योगदान केरल में नए सिनेमा की संस्कृति का परिचय कराना था। इस प्रयास से "चित्रलेखा फ़िल्म सोसाइटी" की स्थापना हुई।


"चित्रलेखा फ़िल्म सोसाइटी" राज्य में फ़िल्मों के निर्माण के लिए प्रथम सहकारी सोसाइटी थी। इस आन्दोलन से फ़िल्मों को नवजीवन प्राप्त हुआ और कई "कला फ़िल्में" उभरकर आए जिनके पीछे जी अरविंदन, पी ए बेकर, के जी जॉर्ज, पवित्रन और रविंद्रन जैसे निर्देशक थे। एक समय में यह आन्दोलन इतना सशक्त था कि लोकप्रिय सिनेमा भी कला फ़िल्मों से मिश्रित होकर कई नई फ़िल्मों को जन्म दे चुका है।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻(C) आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐


1661 - पुर्तगाल ने मुंबई और तंजौर इंग्लैंड के राजा चार्ल्स द्वीतीय को दिया।


1746 - मुगल सम्राट के आदेश पर बाबा बंदासिंह बहादुर को फाँसी दे दी गई। 1710 में उन्होंने मुगलों को हराया था।


1908 – बाल गंगाधर तिलक को अंगरेज सरकार ने देशद्रोह का आरोप लगाकर गिरफ्तार किया।


1962 फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने अल्जीरिया 


की आजादी की घोषणा की।


1972 – भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी और पाकिस्तान के जु.अ. भुट्टो के बीच कश्मीर संबंधी निःशस्त्र समझौता हुआ।


1979 कोलकाता में दूसरे हावड़ा पुल के नाम सेमशहूर विद्यासागर सेतु का निर्माण शुरु हुआ।


1992 रियो डि जेनेरो (ब्राजील) में पृथ्वी सम्मेलन शुरु हुआ।


1999 - कुवैत में 50 सदस्यीय संसद का चुनाव सम्पन्न हुआ।


2004 रूस की मारियाशारापोवा महिला विम्बलडन विजेता बनीं।


2005 - महेश भूपति और मेरी पियर्स ने विंबलडन का मिश्रित जोड़ी ख़िताब जीता।


2006 - कैरेबियाई द्वीप पर 35 साल बाद भारतीय क्रिकेट टीम ने पहली बार जीत दर्ज की।


2007 - अंग्रेजी लेखक सलमान रुश्दी ने अपनी पत्नी पद्म लक्ष्मी से तलाक लेने की घोषणा की।


2008 - न्यूयार्क में दलितों का सम्मेलन शुरू हुआ।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐(D)आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    


    व्यक्तित्व


1897-हंसा मेहता, भारतीय समाजसेवी, स्वतंत्रता सेनानी और शिक्षाविद।


1922- कॉर्निएल्ल के नाम से मशहूर गिलोम कोर्नलिस वैन बिवरलू चित्रकार, नाम


1941-अदूर गोपालकृष्णन, मलयालम चलचित्र निर्माता


1995 - जयपाल सिंह कुंपावत रामासनी


(मारवाड़)


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻(E)आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।


1350 – नामदेव, मराठी निर्गुण संत कवि


1989 - आन्द्रेई ग्रोमिको, सोवियत संघ के राष्ट्रपति


1996 - राज कुमार, हिन्दी चलचित्र अभिनेता


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐🌻       


      (F) आज का दिवस का नाम


1.हंसा मेहता, भारतीय समाजसेवी, स्वतंत्रता सेनानी और शिक्षाविद का जयंती दिवस।


2 कॉर्निएल्ल के नाम से मशहूर गिलोम कोर्नलिस वैन बिवरलू चित्रकार,का जयंती 


दिवस।


3-अदूर गोपालकृष्णन, मलयालम चलचित्र निर्माताका जयंती दिवस।


4-नामदेव, मराठी निर्गुण संत कवि थे उनकी पुण्य तिथी दिवस।


5.आन्द्रेई ग्रोमिको, सोवियत संघ के राष्ट्रपति उनकी पुण्यतिथि दिवस।


6 राज कुमार, हिन्दी चलचित्र अभिनेता थे


उनका पुण्यतिथि दिवस।


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐   


आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।


      आज जन्म लिये सभी व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई। बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।


💐।जय चित्रांश।💐


💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐


💐।जय हिंद जय भारत💐


💐 निवेदक;-💐


चित्रांश ;-विजय निगम।


Comments
Popular posts
काश! मैं भी बॉस होता के सपने को साकार करता है पीआर 24x7
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत
Image
ज़ी बॉलीवुड पर होगा जश्न का धमाल क्योंकि 24 जनवरी को शानदार फिल्म ‘विश्वात्मा’ पूरे कर रही है 30 साल
Image
एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने सड़क सुरक्षा पर शुरू किया एक विशिष्ट और अनूठा जागरूकता अभियान
Image
इंतजार की घड़ियाँ खत्म; भूषण कुमार का 'वफा ना रास आई' हुआ रिलीज, जुबिन नौटियाल द्वारा गाए गए इस सॉन्ग में हिमांश कोहली और आरुषि निशंक ने किया है अभिनय
Image