रमेश सिंधी को गोली मारकर सनसनी फैलाने वाले आरोपी को पुलिस ने 24 घंटे में किया गिरफ्तार


रतलाम। रमेश सिंधी को गोली मारकर फरार हुए आरोपी को पुलिस ने 24 घन्टे में गिरफ्तार कर लिया है आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद उज्जैन भागने की फिराक में थे तभी पुलिस ने उन्हें महू नीमच रोड जैन ढाबे के पास से गिरफ्तार कर लिया है । पूछताछ में तीनों आरोपियों ने बताया कि विगत दिनों लॉक डाउन के दौरान आरोपी गट्टू महाराज और मनोज पवार नेमिनाथ कॉलोनी के गेट पर खड़े थे, तो उक्त कॉलोनी के अध्यक्ष रमेश सिंधी उर्फ मामा से आरोपियों का विवाद हुआ था, आरोपी ने रमेश सिंधी को देख लेने की धमकी दी थी, आरोपी के अनुसार रमेश सिंधी से कुछ ना कुछ बात पर विवाद करता रहता था। इसी बात से आरोपियों गट्टू महाराज उर्फ लोकेंद्र भूरिया ने अपने साथियों और मनोज पवार तथा शुभम पाटीदार के साथ मिलकर रमेश सिंधी पर हमला करने की योजना बनाई थी।


एसपी गौरव तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी पर पूर्व से ही कई आपराधिक प्रकरण दर्ज है आरोपी और रमेश सिंधी के बीच वर्चस्व की लड़ाई भी सामने आई है फरयादी ओर आरोपियों पर पहले से ही आपराधिक प्रकरण दर्ज है।


रातभर छिपकर रहे आरोपी - घटना के बाद मोटर साइकिल से भागते समय तीनों आरोपी दो बार गाड़ी से गिरे थे, जिससे तीनों के शरीर पर काफी चोट लगी तथा गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई थी। जिससे वे घटना के तुरन्त बाद ज्यादा दूर नहीं भाग पाए तथा रातभर वे जेवियल मंदिर के पीछे खेत में व जंगल में छिपते रहे और अगले दिन सुबह उज्जैन की तरफ जाने की तैयारी में महू नीमच हाईवे पर जैन ढाबे के पास आए और किसी वाहन से भागने की तैयारी में थे तभी पुलिस टीम ने धर दबोचा।


सराहनीय कार्य - उक्त सनसनीखेज घटना में फरार आरोपी को 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार करने में नगर पुलिस अधीक्षक हेमंत चौहान, थाना प्रभारी स्टेशन रोड किशोर पाटनवाला, थाना प्रभारी बिलपांक गिरीश जेजूरकर, थाना प्रभारी माणक चौक अयूब खान, सालाखेड़ी चौकी प्रभारी उप निरीक्षक शिवमंगल सिंह सेंगर, औद्योगिक क्षेत्र थाना इंचार्ज उ.नि. रामसिंह, उ.नि. विजय सागरिया, उ. नि. मनोज सिंह जादौन, प्र.आर. युसुफ मंसूरी, पन्नालाल, आर. राहुल जाट, धर्मेंद्र माईडा, अरविंद बारिया, हिम्मत सिंह, मुकेश कुमावत, ज्ञानेंद्र सिंह, हेमेंद्र सिंह, शोभाराम, निलेश, हेमराज, साइबर सेल के बलराम पाटीदार, विपुल व मनमोहन तथा सीसीटीवी प्रभारी स.उ.नि. कमलजीत सिंह की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक रतलाम द्वारा टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।