बाहर के मजदूरों को भी सीमा पर छुड़वाने के लिए वाहन व्यवस्था

  • मुख्यमंत्री चौहान ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की


      उज्जैन। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में न केवल बाहर के प्रदेशों में फंसे मजदूरों को बसों एवं ट्रेनों के माध्यम से लाया जा रहा है, अपितु बाहर के राज्यों के मध्यप्रदेश में फंसे मजदूरों को भी वाहन उपलब्ध कराकर राज्य की सीमाओं पर पहुंचाया जा रहा है। साथ ही सभी के भोजन आदि की व्यवस्था भी की जा रही है। हमारे लिए सभी मजदूर एक समान हैं, हम सभी का पूरा ध्यान रख रहे हैं।


      मुख्यमंत्री चौहान गत दिवस मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी, एसीएस हैल्थ मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे।


      मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में अभी तक 3 लाख 39 हजार मजदूरों को दूसरे राज्यों से मध्यप्रदेश लाया गया है। वहीं दूसरे प्रदेशों के मजदूरों को भी राज्य की सीमा पर छुड़वाया जा रहा है। इस कार्य में कुल 10 हजार बसें लगाई गई हैं। साथ ही 77 ट्रेनें भी मध्यप्रदेश आ चुकी हैं। आज हरियाणा से 1, महाराष्ट्र से 4 तथा गुजरात से 2 ट्रेन मध्यप्रदेश आयी हैं। ट्रेनों के लिए 5 करोड़ रूपये रेलवे को जमा करवाए गए हैं, वहीं बसों पर एक करोड़ रूपये प्रतिदिन व्यय किए जा रहे हैं।


      17 जिलों में अब कोई प्रकरण नहीं - कोरोना की स्थिति के संबंध में एसीएस स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश के 17 जिलों में अब कोरोना का कोई प्रकरण नहीं है। इसमें से 9 जिलों बड़वानी, आगर-मालवा, शाजापुर, श्योपुर, अलीराजपुर, हरदा, शहडोल, टीकमगढ़ एवं बैतूल में पूर्व में कोरोना संक्रमित मरीज थे, परन्तु अब ये जिले कोरोना मुक्त हो गए हैं। वहीं प्रदेश के 8 जिलों में कोरोना संक्रमण नहीं है।


      5822 सैंपल लिए गए - अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि हमारी करोना टेस्टिंग क्षमता निरंतर बढ़ रही है। प्रदेश में 15 मई को 5822 सैम्पल लिए गए। प्रदेश के 20 टैस्टिंग लैब में से 14 में टैस्टिंग की जा रही है, शेष में भी शीघ्र प्रारंभ होगी। प्रदेश में 15 मई की स्थिति में कुल पॉजिटिव प्रकरणों में 45 प्रतिशत कोरोना एक्टिव प्रकरण हैं।


      मजदूरों की स्क्रीनिंग की अच्छी व्यवस्था हो - मुख्यमंत्री चौहान ने रीवा, दमोह एवं दतिया जिले की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि मजदूरों की हैल्थ स्क्रीनिंग की अच्छी व्यवस्था हो। दमोह जिले की समीक्षा में बताया गया कि वहां एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव आया है, जो कि मुंबई से एक दल के साथ आया। उसके साथ आए सभी 18 व्यक्तियों का टैस्ट किए जाने के निर्देश दिए गए।


      110 लाख मेट्रिक टन खरीदी की व्यवस्था करें - मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में गेहूँ उपार्जन के अंतर्गत 110 लाख एम.टी. खरीदी की व्यवस्था रखी जाए। प्रमुख सचिव ने बताया कि अभी तक 12 लाख 20 हजार किसानों से 83 लाख एम.टी. गेहूँ  की खरीदी हो चुकी है, जिनमें से 8 लाख 56 हजार किसानों को 9 हजार करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। आगामी 5-6 दिनों में 20 जिलों का उपार्जन पूरा हो जाएगा।


Comments
Popular posts
काश! मैं भी बॉस होता के सपने को साकार करता है पीआर 24x7
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत
Image
ज़ी बॉलीवुड पर होगा जश्न का धमाल क्योंकि 24 जनवरी को शानदार फिल्म ‘विश्वात्मा’ पूरे कर रही है 30 साल
Image
एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने सड़क सुरक्षा पर शुरू किया एक विशिष्ट और अनूठा जागरूकता अभियान
Image
इंतजार की घड़ियाँ खत्म; भूषण कुमार का 'वफा ना रास आई' हुआ रिलीज, जुबिन नौटियाल द्वारा गाए गए इस सॉन्ग में हिमांश कोहली और आरुषि निशंक ने किया है अभिनय
Image