आज की बात आपके साथ - विजय निगम


प्रिय साथियो। 


🌹राम-राम🌹 


🌻 नमस्ते।🌻


आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 22 मई 2020 शुक्रवार की प्रातःकी बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


आज की बात आपके साथ अंक मे है 


A कुछ रोचक समाचार


B आज के दिन जन्मे प्रसिद्ध समाज सुधारक,पत्रकार, ब्रह्मसमाज के संस्थापक राजाराममोहनराय का जीवन परिचयलेख. 


C आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ


D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    


    व्यक्तित्व


E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।


F आज का दिवस का नाम ।


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


    (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)


🌺(A/1)तमिलनाडु के 8000 मंदिरों में एक समय पूजा, उत्तराखंड में मंदिर खुले लेकिन आमदनी बंद🌺         


🌺(A/2)घरेलू उड़ानें 25 मई से / वेब चेक-इन कंफर्म होने पर ही एयरपोर्ट पर एंट्री मिलेगी, 14 साल तक के बच्चों को छोड़ सभी यात्रियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप जरूरी🌺


🌺(A/3)तूफान से तबाही / साइक्लोन अम्फान की वजह से पश्चिम बंगाल में 12 लोगों की मौत; तूफान अब लगातार धीमा पड़ रहा, बीते 6 घंटे में 27 किमी प्रति घंटे रही रफ्तार🌺


🌺(A/4)इंटरव्यू / 'दुनिया के किसी भी कोने में रहूं बर्थडे पर हर साल ठीक 12 बजे सबसे पहला बर्थडे मेसेज मुझे बच्चन सर से मिलता है'- आहाना कुमरा🌺


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


   (A) कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)


💐(A/1)तमिलनाडु के 8000 मंदिरों में एक समय पूजा, उत्तराखंड में मंदिर खुले लेकिन आमदनी बंद।


         🌺उत्तराखंड में चारधाम🌺


उत्तराखंड में चारधाम सहित पहाड़ों पर मौजूद 100 से ज्यादा मंदिर खुल गए, लेकिन श्रद्धालु नदारद है।


             🌺 तमिलनाडु🌺


 तमिलनाडु में मंदिरों की खस्ता हालत को देखते हुए सरकार ने करीब 65 हजार ग्रामीण पुजारियों को एक-एक हजार रुपए की राहत राशि दी है


देश में लॉकडाउन के कारण मंदिरों और धार्मिक शहरों की अर्थव्यवस्था चरमराने लगी है। तमिलनाडु के 8000 छोटे और मध्यम मंदिरों में अब एक समय पूजा हो रही है। मंदिरों में दान की आवक ना होने के कारण सरकार से मांग की जा रही है कि इनके बिजली बिल माफ किए जाएं।


🌹उत्तराखंड मेंचारधाम वअन्य मन्दिर🌹


उत्तराखंड में चारधाम सहित पहाड़ों पर मौजूद 100 से ज्यादा मंदिर खुल गए हैं, लेकिन यहां हर साल श्रद्धालुओं का जो जमघट होता है, वो नदारद है। उत्तराखंड सरकार लोगों से टूरिज्म को बूस्ट करने के लिए सुझाव मांग रही है।दान के अभाव में मंदिरों की आर्थिक स्थिति खराब ऐसी ही स्थिति, देश के लगभग हर उस मंदिर और शहर की है,जिनकीअर्थव्यवस्था काआधार पर्यटन है। तमिलनाडु में ऐसे हजारों मंदिरों में होने वाली सेवाएं जो पहले दिनभर में 2 से 5 बार होती थीं, अब एक बार ही हो पा रहीहैं।दानकेअभावमेंइन मंदिरोंकीआर्थिक 


स्थिति खराब हो गई है।लॉकडाउन31मई


तक बढ़ने के बाद मंदिरों को जल्दी सुधार कीउम्मीद भी नहीं है।पूरे देश में स्थिति सामान्य होनेमें लंबा वक्त लगने का अनु


मान है, तभी टूरिज्म सेक्टर में सुधार हो सकता है। कई धार्मिक शहर लॉकडाउन के कारण प्रभावित हुए हैं। इनमें उत्तरा


खंड,तमिलनाडु,कर्नाटक, मप्र के उज्जैन, महाराष्ट्र के नासिक, बिहार के गया जैसे कई शहर शामिल हैं।दक्षिण भारत क्षेत्र में तमिलनाडु धर्म की दृष्टि से काफी महत्व


पूर्ण है। यहां छोटे-बड़े कुल मिलाकर 10 हजार से ज्यादा मंदिर है। वहीं 65 हजार पुजारियों के परिवार यहां मंदिरों पर आश्रित है।


🌺तमिलनाडुः पुजारियों को एक हजार रुपए की राहत🌺


तमिलनाडु में मंदिरों की खस्ता हालत को देखते हुए सरकार ने करीब 65 हजार ग्रामीण पुजारियों को एक-एक हजार रुपए की राहत राशि दी है। बड़े मंदिरों में दान ज्यादा आने के कारण व्यवस्थाएं सामान्य रूप से चल रही हैं, लेकिन छोटे मंदिरों की स्थिति वैसी नहीं है। पुजारी संगठन के अध्यक्ष पी. वासु के मुताबिक राहत राशि ग्रामीण पुजारियों को दी गई है। लेकिन मंदिर सिर्फ पूजा का स्थान नहीं है, यहां से कई लोगों के घर चलते हैं। जो राहत राशि दी गई है, वो भी कम है। ये बढ़ानी चाहिए।


उत्तराखंडः मंदिर खुल गए, लेकिन भक्त नहीं आ सकते


अप्रैल से जून तक का समय सामान्यतः उत्तराखंड के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। इस दौरान चारधाम मंदिरों के कपाट खुलते हैं और हर साल 8 से 10 लाख लोग यहां दर्शन के लिए आते हैं। इस साल लॉकडाउन के कारण उत्तराखंड टूरिज्म पूरी तरह चरमरा गया है।


🌺उत्तराखंड सरकार ने टूरिज्म बढ़ाने के लिए सुझाव मांगे🌺


हरिद्वार से 400 किमी आगे तकउत्तराखंड 


में केदारनाथ, बद्रीनाथ जैसे बड़े तीर्थ हैं। यहां ट्रेवलिंग, रॉफ्टिंग, होटल और टूर गाइड जैसे काम बंद पड़े हैं। हाल ही में, उत्तराखंड टूरिज्म ने यहां पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हेल्थ सेक्टर से जुड़े कामों जैसे योग, आयुर्वेद, पंचकर्म आदि को बढ़ाने का प्रस्ताव भी दिया है। यहां रिलिजियस टूरिज्म के साथ ही हेल्थ टूरिज्म को बढ़ावा देने की योजना है।


                🌺हरिद्वार🌺


 हरिद्वार में हर की पौड़ी पर होने वाली गंगा आरती भी लंबे समय से उस स्वरूप में नहीं हो पा रही है।104 साल केइतिहास 


मेंपहलीबार ऐसा हो रहा है,जब गंगाआरती 


में भीड़ नहीं है।


        🌺बोद्ध गया (बिहार)🌺


गया तीर्थ दो कारणों से दुनिया के नक्शे पर महत्वपूर्ण माना जाता है। एक तो यहां पिंडदान और श्राद्धकर्म होता है। दूसरा, गया ही भगवान गौतम बुद्ध को ज्ञान प्राप्त होने वाली भूमि है। बोधगया क्षेत्र को लेकर बौद्ध भिक्षुओं में काफी आस्था है।


               🌺 गया (बिहार)🌺 


🌺गयाः गयासुर ना जाग जाए इसलिए खुद पंडे कर रहे पिंडदान🌺


गया (बिहार) में पिंडदान और तर्पण का महत्व है।कहते हैं गया में जिसका पिंडदान हो,उसे मोक्ष मिल जाता है। राक्षस गयासुर कोभगवान विष्णु ने यहां मारा था,उसीगया


सुर के नाम पर गया इस शहर का नाम है। यहांमान्यता है कि अगर रोज पिंडदान और तर्पण मना हो तो गयासुर जाग जाएगा। फिलहाल,लोगआ नहीं रहे हैंतो पंडे पुजारी ही रोजअपने यजमानों कीओर से पिंडदान कर रहे हैं।यहां सैंकड़ोंपरिवारों का मुख्य


काम फल्गु नदी के किनारे गया तीर्थ में पिंडदान कराना ही है। लेकिन, इस समय गया कुंड से विष्णु मंदिर तक सन्नाटा ही है।


 🌺उज्जैनः महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग🌺


 उज्जैनः मंदिर बंद, घाट सूने, कर्मकांड मंत्रों की आवाजें शांत 


मध्य प्रदेश की धार्मिक राजधानी कहे जाने वाले उज्जैन में ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर के अलावा मंगलनाथ में मंगलदोष की शांति और कालसर्प, पितृदोष की शांति जैसे अनुष्ठानों के लिए देशभर से लोग आते हैं।


पिछलेदो महीनों से यहां शिप्रा नदी के घाट सूने हैं। 5000 से ज्यादापंडे-पुजारियोंऔर कर्मकांड से जुड़े अन्य लोगों को घर बैठना पड़ रहा है। हालांकि, अभी यहां आर्थिक स्थिति उतनी विकट नहीं है। लेकिन, लोगों केमाथेपरचिंता कीलकीरें जरूर हैं क्योंकि 


लॉकडाउन खुलने के बाद भी स्थिति काफी समय तक ऐसी ही रहनी है।


           🌺तिरुपति ट्रस्ट 🌺


पोस्ट लॉकडाउन की तैयारियों में लगा है। मंदिर ट्रस्ट दर्शन की सुगम व्यवस्था पर विचार कर रहा है। लॉकडाउन के पहले 80 हजार से एक लाख लोग रोज दर्शन के लिए आते थे। लेकिन, अब ट्रस्ट इस संख्या को 25 हजार प्रतिदिन करने पर विचार कर रहा है।


               🌺आंध्रप्रदेश🌺 


🌺लॉकडाउनखुलने कीआस में तैयारी🌺


आंध्र प्रदेश में कालहस्ती, तिरुपति सहित कई बड़ेमंदिर हैं।लॉकडाउन4.0कीघोषणा


के बाद मंदिर 31 मई तक के लिए बंद हैं। लॉकडाउन के कारण तिरुपति को 400 करोड़ से अधिक के दान का नुकसान हो चुका है। मंदिर अपने दूसरे फंड से खर्चों कोमैनेज कर रहा है।यहां करीब 21 हजार कर्मचारी हैं।


🌺तिरुपति मंदिर में लॉकडाउन खुलने के बाद ही तैयारी शुरू🌺


मंदिर 31मई को चौथे लॉकडाउन के खत्म होनेके साथ हीखुलनेकीउम्मीद में तैयारियां कर रहा है।यहां दर्शन की रिहर्सल मंदिर के कर्मचारियों केसाथ ही करने की तैयारी भी की जा रही है।तिरुमाला तिरुपति देवस्था


-नम् ट्रस्ट के चेयरमैन वायएस सुब्बारेड्डी के मुताबिक जब भी मंदिर में दर्शन चालू होंगे, तब सोशल डिस्टेंसिंग और हाइजिन का पूरा ध्यान रखा जाएगा।मंदिर में एक


साथ ज्यादा श्रद्धालु ना आएं,इसकी व्यव


स्था की जाएगी।


🌺नासिकत्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर🌺


12 ज्योतिर्लिंगों में से एकनासिक में गोदा


वरी के किनारे बने त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में भी इस समय सन्नाटा पसरा हुआ है।पुजारी नित्य पूजा करते हैं।यहां काल


सर्प दोष और पितृदोष की शांति के लिए दुनियाभर से लोग आते हैं। 


🌺नासिकः कालसर्प की शांति के लिए नहीं आ पा रहे लोग🌺


महाराष्ट्रके नासिक में गोदावरी काकिनारा,


त्र्यंबकेश्वर कामंदिर कालसर्प दोष कीशांति


के लिए सबसे श्रेष्ठ स्थान माना जाता है। देश-दुनिया से यहां हजारों लोग रोज आते हैं।सैंकड़ों परिवारों कीआमदानी काआधार गोदावरी केघाटों और मंदिर में पूज कराना ही है। लॉकडाउन में अभी सन्नाटा पसरा हुआ है। लोग आ नहीं रहे।


सक्षम पुजारी परिवारों की आर्थिक स्थिति ठीक है लेकिन कई परिवार ऐसे भी हैं जो तंगी के दौर से गुजर रहे हैं। इनमें खासतौर पर वे परिवार शामिल हैं जो मंदिर के आसपास पूजा और अन्य आवश्यक सामग्रियां बेचते हैं।


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


🌺(A/2)घरेलू उड़ानें 25 मई से / वेब चेक-इन कंफर्म होने पर ही एयरपोर्ट पर एंट्री मिलेगी, 14 साल तक के बच्चों को छोड़ सभी यात्रियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप जरूरी🌺


कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस इंटरनेशनल एयरपोर्ट की है, जहां वंदे भारत मिशन के तहत सोमवार को ढाका से भारतीयों की वापसी हुई।


फ्लाइट के टाइम से कम से कम 2 घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना होगा


एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर जारी किया


कोरोनावायरस की वजह से देश में घरेलू उड़ानें 25 मार्च से बंद हैं


नई दिल्ली. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को कहा कि 25 मई से कुछ डोमेस्टिक फ्लाइट शुरू हो जाएंगी। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) ने आज पैसेंजर और एयरपोर्ट ऑपरेटर्स के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) भी जारी कर दिया है। 14 साल तक के बच्चों को छोड़ बाकी सभीयात्रियों कोआरोग्य सेतु ऐपडाउनलोड


करना जरूरी होगा।


 फ्लाइट के टाइम से कम से कम 2 घंटे पहले पहुंचना पड़ेगा।एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडियादेश में 100 से ज्यादा एयर


पोर्ट की जिम्मेदारी संभालती है। दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और हैदराबाद एयरपोर्ट का मैनेजमेंट प्राइवेट कंपनियां के पास है। एएआई ने एसओपी में क्या कहा है, सवाल-जवाब में समझिए-


🔆क्याफिजिकल चेक-इन कर सकेंगे?🔆


इस बारे में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने स्थिति साफ की है। यात्री फिजिकल चेक-इन नहीं कर पाएंगे। जो पहले से वेब चेक-इन करके आएंगे, उन्हें ही एयरपोर्ट पर एंट्री मिलेगी।


🔆एयरपोर्ट तक पहुंचने के लिए क्या इंतजाम होंगे?🔆


एयरपोर्टअथॉरिटी ऑफ इंडियाकेमुताबिक 


राज्य सरकारोंऔरप्रशासन से पब्लिकट्रांस


-पोर्ट और प्राइवेट टैक्सी उपलब्ध करवाने के लिए कहा है।ताकि,यात्रियों और एयर


पोर्ट स्टाफ को कनेक्टिविटी मिल सके। पर्सनल व्हीकल से भी जा सकेंगे।


🔆एक व्हीकल में कितने लोग बैठ सकेंगे?🔆


एएआई ने यह साफ नहीं बताया है, सिर्फ इतना कहा है कितय संख्या मेंही लोगों को बैठने की इजाजत होगी।ये नियम एयरपोर्ट स्टाफ और यात्रियों के लिए लागू होगा।


🔆फ्लाइट के टाइम से कितनी देर पहले पहुंचना होगा?🔆


कम से कम दो घंटे पहले पहुंचना जरूरी होगा। एयरपोर्ट टर्मिनल में उन पैसेंजर को ही एंट्री मिलेगी, जिनकी फ्लाइट अगले चार घंटे में होगी।


🔆प्रोटेक्शन के लिए क्या जरूरी?🔆


सभी यात्रियों को मास्क और गलव्ज पहनना जरूरी होगा।


🔆आरोग्य सेतु ऐप में ग्रीन सिग्नल नहीं हुआ तो🔆?


14 साल तक के बच्चों को छोड़ सभी को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना पड़ेगा। एंट्री गेट पर इसकी जांच की जाएगी। 🔅जिनके ऐप में ग्रीन सिग्नल नहीं होगा, उन्हें एंट्री नहीं मिलेगी🔅।


🔅थर्मल स्क्रीनिंग कहां होगी?🔅


एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग में एंट्री से पहले ही एक तय जगह पर स्क्रीनिंग जोन से गुजरना होगा। इसके लिए थर्मल स्क्रीनिंग स्टेशन तैयार किए जा रहे हैं।


🔅एयरपोर्ट पर खाने-पीने की सुविधा मिलेगी?🔅


संक्रमण से बचाव के उपायों के साथ फूड आउटलेट खुलेंगे। भीड़ नहीं हो, इसके लिए यात्रियों को पार्सल लेने के लिए कहा जाएगा। डिजिटल पेमेंट पर जोर रहेगा। सेल्फ ऑर्डर बूथ बनाए जाएंगे।


🔅एयरपोर्ट पर ट्रॉली मिलेगी?🔅


डिपार्चर और एराइवल एरिया में ट्रॉली नहीं मिलेगी। जिन यात्रियों को वाकई जरूरत होगी, उन्हें मांगने पर ट्रॉली दी जाएगी। सभी ट्रॉली सैनिटाइज की जाएंगी।


🔅लगेज सैनिटाइज किया जाएगा?🔅


टर्मिनल बिल्डिंग में एंट्री से पहले बैगेज को सैनिटाइज किया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी एयरपोर्ट ऑपरेटर की होगी। एंट्री गेट, स्क्रीनिंग जोन में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक-एक मीटर की दूरी पर मार्किंग की जाएगी। जूते-चप्पलों को डिसइन्फेक्ट करने के लिए एंट्रेस पर ब्लीच में भीगे मैट या कार्पेट रखे जाएंगे।


🔅व्हील-चेयर, मैग्जीन की सुविधा मिलेगी?🔅


जरूरतमंदों को पहले से सैनिटाइज की हुई व्हील-चेयर मिलेगी। एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग या लाउंज में न्यूजपेपर या मैग्जीन नहीं मिलेगी।


हवाई यात्रियों के लिए ये 3 बातें जानना भी जरूरी


🔅1. कितनी उड़ानें शुरू होंगी?🔅


सरकार ने साफ नहीं बताया है लेकिन, न्यूज एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक शुरुआत में 30% उड़ानों के साथ डोमेस्टिक ऑपरेशन शुरू किए जा सकते हैं।


🔅2. क्या किराया बढ़ेगा?🔅


सरकार हवाई किरायों की अधिकतम लिमिट तय कर सकती है। ताकि, एयरलाइंस मनमानी नहीं कर सकें।


🔅3. इंटरनेशनल फ्लाइट कब से शुरू होंगी🔅


वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए स्पेशल फ्लाइट ऑपरेट हो रही हैं, लेकिन रूटीन कब शुरू होंगी इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं दी गई है


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


🌺(A/3)तूफान से तबाही / साइक्लोन अम्फान की वजह से पश्चिम बंगाल में 12 लोगों की मौत; तूफान अब लगातार धीमा पड़ रहा, बीते 6 घंटे में 27 किमी प्रति घंटे रही रफ्तार🌺


🌻यह तस्वीर कोलकाता एयरपोर्ट की है। तूफान के चलते यहां काफी तबाही हुई है। पूरे परिसर में पानी भर गया है। कई विमान भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं।🌻


🌻मौसम विभाग के मुताबिक अगले तीन घंटे में रफ्तार व धीमीपड़ने काअनुमान🌻


🌻बुधवार को 190 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली थी, 5500 घरों को नुकसान🌻


🌻असम, मेघालय में आज हल्की बारिश और 30-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है🌻


कोलकाता. पश्चिम बंगाल और ओडिशा में बुधवार को तबाही मचाने के बाद भीषण चक्रवाती तूफान अम्फान अब धीमा पड़ने लगा है। मौसम विभाग के मुताबिकपिछले 6 घंटे में यह 27 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर बढ़ा है। अगले तीन घंटे में इसके और कमजोर होने का अनुमान है। असम, मेघालय में आज हल्की बारिश और 30-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। तूफान की वजह से बुधवार को पश्चिम बंगाल में हवा की रफ्तार 190 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच गई थी।


अम्फान की वजह से ओडिशा में कोई मौत होने की जानकारी नहीं है, लेकिन पश्चिम बंगाल कीमुख्यमंत्रीममता बनर्जी के मुता


बिक उनके राज्य में 12 लोगों की मौत का अनुमान है। 5500 घरों को नुकसान हुआ है। ममता का कहना है कि तूफान की वजह से हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। सही आकलन करने में 3-4 दिन लगेंगे।


🌻कोलकाता में बारिश की वजह से कई इलाकों में पानी भर गया🌻।


6.6 लाख लोग पहले ही सुरक्षित जगह पहुंचा दिए थे


तूफान बुधवार दोपहर करीब ढाई बजे कोलकाता पहुंचा। शाम साढ़े सात बजे हवा की रफ्तार धीमी हुई। इन 5 घंटों में तूफान काफी तबाही मचा चुका था। तूफान आने से पहले ही 6.6 लाख लोग सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिए गए थे। बंगाल में पिछले तीन दिन में 5 लाख लोग तटीय इलाकों से हटाकर शेल्टर होम पहुंचा दिए थे। ओडिशा में 1.6 लाख लोग रेस्क्यू किए गए। मौसम विभाग के डीजी मृत्युंजय महापात्रा का कहना है कि तूफान के रास्ते और समय का सही आकलन होने से रेस्क्यू में काफी मदद मिली।


पश्चिम बंगाल के अलीपुर में एनडीआरएफ की टीम सड़क पर गिरे पेड़ों को हटाते हुए।


🌻तूफान से ओडिशा और बंगाल में कितने जिले प्रभावित?🌻


ओडिशा के 9 जिले पुरी, गंजम, जगतसिंहपुर, कटक, केंद्रापाड़ा, जाजपुर, गंजाम, भद्रक और बालासोर प्रभावित हैं। पश्चिम बंगाल के तटीय जिले पूर्वी मिदनापुर, 24 दक्षिण और उत्तरी परगना के साथ ही हावड़ा, हुगली, पश्चिमी मिदनापुर और कोलकाता पर तूफान का असर रहा।


🌻ये तस्वीर कोलकाता की है, जहां बुधवार को अम्फान तूफान की वजह से जान-माल का काफी नुकसान हुआ।🌻


कोलकाता एयरपोर्ट पर भारी तबाही


तूफान के चलते कोलकाता एयरपोर्ट पर भारी तबाही हुई है। पूरा एयरपोर्ट पानी से भर गया है। शेड गिरने से कई विमान भी क्षतिग्रस्त हो गया है। अब एयरपोर्ट अथॉरिटी पानी निकालने की कोशिश में जुटा हुआ है। तूफान से हुए नुकसान का आंकलन भी किया जा रहा है।


कोलकाता एयरपोर्ट पर पार्किंग शेड गिरने से विमान क्षतिग्रस्त हो गया। 


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


🌺(A/4)इंटरव्यू / 'दुनिया के किसी भी कोने में रहूं बर्थडे पर हर साल ठीक 12 बजे सबसे पहला बर्थडे मेसेज मुझे बच्चन सर से मिलता है'- आहाना कुमरा🌺


मुंबई :-आहना कुमरा जल्द ही शाहरुख खान द्वारा प्रोड्यूस्ड हॉरर वेब सीरीज 'बेताल' में नजर आएंगी। इस जोंबी ड्रामा में उनका साथ देंगे मुक्केबाज फिल्म के अभिनेता विनीत कुमार ।अहाना ने जहां अपने करियर की शुरुआत महानायक अमिताभ बच्चन के साथ ' युद्ध' से की थी वही मिडिया से खास बातचीत के तहत उन्होंने बिग बी के साथ अपनी बॉन्डिंग के बारे में कुछ रोचक किस्से साझा किये और बताया कि महानायक अमिताभ बच्चन उनके गुरु भी है और प्रशंसक भी।


आहाना ने बताया- मुझे यकीन नहीं हुआ था जबमुझे पता चला था कि मैं महानायक अमिताभ बच्चन जी के साथ युद्ध नामक शोकरने वाली हूं। मेरे करियर के शुरुआती दिनों में अमिताभ जी जैसे एक्टर के साथ काम करना मेरा सौभाग्य है।मैं बहुत एक्सा


-इटेड थी, बहुत खुश थी। हमने डेढ़ साल साथ काम किया और उनके साथ वक्त बिता पाना मेरे लिए बड़ी बात है।


-हर साल सबसे पहले अमिताभ करते हैं विश-शो इतना सफलनहीं हुआ लेकिन


उसके खत्म होने के बाद भी मेरे हर बर्थडे पर अमित जी सबके पहले विश करते हैं। पिछले 6सालों में कोई ऐसा इंसान जो मुझे मेरे बर्थडे पर सबसे पहले मैसेज करते हैं चाहे मैं दुनिया के किसी भी कोने में रहूं तो वो है अमिताभ बच्चन जी। हर साल ठीक 12:00 बजे सबसे पहला बर्थडे मैसेज मुझे बच्चन जी का होता है।उन्हें जानना मेरे लिए सौभाग्य की बात है।जब मैं उनके साथ टीवी शो शूट कर रही थी तो मुझे याद है कि हम सीन के पहले 7-8 बार रिहर्सल करतेथे,साथप्रैक्टिस किया करते थे।अमित जी मेरे सीन भी डिस्कस करते थे। वे कई


बार मेरे सीने के खत्म होने तक सेट पर रुकते थे और बारीकी से मेरी एक्टिंग को परखते थे।कहीं ना कहीं वह एक एक्टर के तौर परमुझे रिस्पेक्ट करते थेजो बहुतबड़ी बातहै मेरेलिए।उन्हेंजाननामेरेलिए सौभाग्य की बात है मैं खुद को लकी मानती हूं।


अहाना कुमार और विनीत सिंह द्वारा अभि


नीत यहवेबसीरीज 24 मई को नेटफ्लिक्स


पर रिलीज होगी।


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


 💐(B)आज के दिन जन्मे प्रसिद्ध समाज सुधारक,पत्रकार,ब्रह्मसमाज के संस्थापक


राजा राममोहनराय का जीवनपरिचय लेख💐


       💐राजा राममोहन राय💐


राजा राममोहन राय (बांग्ला: রাজা রামমোহন রায়) (22 मई 1772 - 27 सितंबर1833) कोभारतीयपुनर्जागरण का अग्रदूत और आधुनिक भारत का जनक कहा जाता है।भारतीय सामाजिक और धार्मिक पुन-


र्जागरण के क्षेत्र में उनका विशिष्ट स्थान है। वे ब्रह्म समाज के संस्थापक, भारतीय भाषायी प्रेस के प्रवर्तक, जनजागरणऔर सामाजिकसुधारआंदोलन के प्रणेता तथा 


बंगाल में नव-जागरण युगके पितामह थे। उन्होंने भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम और


पत्रकारिता के कुशल संयोग से दोनों क्षेत्रों को गति प्रदान की। उनके आन्दोलनों ने जहाँ पत्रकारिता को चमक दी,वहीं उनकी पत्रकारिता ने आन्दोलनों को सही दिशा दिखाने का कार्य किया।


राजा राममोहन राय की दूर‍दर्शिता और वैचारिकता के सैकड़ों उदाहरण इतिहास में दर्ज हैं। [हिन्दी] के प्रति उनका अगाध स्नेह था। वे रू‍ढ़िवाद और कुरीतियों के विरोधी थे लेकिन संस्कार, परंपरा और राष्ट्र गौरव उनके दिल के करीब थे। वे स्व


तंत्रता चाहते थे लेकिन चाहते थे कि इस देश के नागरिक उसकी कीमत पहचानें।


              💐 जीवनी💐


राजा राममोहन राय का जन्म बंगाल में 1772 में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। 15 वर्ष की आयु तक उन्हें बंगाली,


 संस्कृत, अरबी तथा फ़ारसी का ज्ञान हो गया था। किशोरावस्था में उन्होने काफी भ्रमण किया। उन्होने 1809-1814 तक 


ईस्ट इंडियाकम्पनी केलिएभी काम किया


उन्होने ब्रह्म समाज की स्थापना की तथा विदेश(इंग्लैण्ड तथा फ़्रांस)भ्रमण भीकिया


    💐कुरीतियों के विरुद्ध संघर्ष💐


राममोहन राय ने ईस्ट इंडिया कंपनी की नौकरी छोड़कर अपने आपको राष्ट्र सेवा में झोंक दिया। भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति के अलावा वे दोहरी लड़ाई लड़ रहे थे। दूसरी लड़ाई उनकी अपने ही देश के नागरिकों से थी। जो अंधविश्वास और कुरीतियों में जकड़े थे। राजा राममोहन राय ने उन्हें झकझोरने का काम किया। बाल-विवाह, सती प्रथा, जातिवाद, कर्मकांड, पर्दा प्रथा आदि का उन्होंने भरपूर विरोध किया। धर्म प्रचार के क्षेत्र में अलेक्जेंडर डफ्फ ने उनकी काफी सहायता की। देवेंद्र नाथ टैगोर उनके सबसे प्रमुख अनुयायी थे। आधुनिक भारत के निर्माता, सबसे बड़ी सामाजिक - धार्मिक सुधार आंदोलनों के संस्थापक, ब्रह्म समाज, राजा राम मोहन राय सती प्रणाली जैसी सामाजिक बुराइयों के उन्मूलन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वह भी अंग्रेजी, आधुनिक चिकित्सा प्रौद्योगिकी और विज्ञान के अध्ययन को लोकप्रिय भारतीय समाज में विभिन्न बदलाव की वकालत की। यह कारण है कि वह "मुगल सम्राट 'राजा के रूप में भेजा गया था।.


             💐पत्रकारिता💐


राजा राममोहन राय ने 'ब्रह्ममैनिकल मैग्ज़ीन','संवाद कौमुदी',मिरात-उल-अख


बार ,(एकेश्वरवाद काउपहार) बंगदूत जैसे स्तरीय पत्रों का संपादन-प्रकाशन किया। बंगदूत एक अनोखा पत्र था। इसमें बांग्ला, हिन्दी और फारसी भाषा का प्रयोग एक साथ किया जाता था। उनके जुझारू और सशक्त व्यक्तित्व का इस बात से अंदाज लगाया जा सकता है कि सन् 1821 में अँग्रेज जज द्वारा एक भारतीय प्रतापनारायण दास को कोड़े लगाने की सजा दी गई। फलस्वरूप उसकी मृत्यु हो गई। इस बर्बरता के खिलाफ राय ने एक लेख लिखा


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


    💐(C)आज के दिन की महत्त्वपूर्ण 


                   घटनाएँ💐 


1805- गवर्नर जनरल लॉर्ड वेलेजली ने एक आदेश के तहत दिल्ली के मुग़ल बादशाह के लिए एक स्थायी प्रावधान की व्यवस्था की।


1972 - पाकिस्तान द्वारा राष्ट्रमंडल की सदस्यता से त्यागपत्र। 


1990 - उत्तरी एवं दक्षिणी यमन के विलय के साथ संयुक्त यमन गणराज्य का अभ्युदय।


1992 - बोस्निया, स्लोवेनिया तथा क्रोएशिया सं.रा. संघ के सदस्य बने। 1996 - माइकल कैमडेसस तीसरी बार अगले पांच वर्षों तक के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष का प्रबंध निदेशक चुने गये। 2001 - दलाई लामा ने तिब्बत की आज़ादी की मांग छोड़ी।


 2002 - नेपाल में संसद भंग। 


2003 - अल्जीरिया में आये विनाशकारी भूकम्प में दो हज़ार से भी अधिक लोग मारे गये। 


2007 - गणितज्ञ श्रीनिवास वर्धन को नार्वे का अबेल पुरस्कार प्रदान किया गया। 


2008 - केन्द्रीय उच्च शिक्षण संस्थानो में ओबीसी छात्रों को 27% कोटा देने का आधारभूत ढाँचा खड़ा करने के लिए सरकार ने 10 हज़ार 328 करोड़ रुपये दिए।


        कर्नाटक विधान सभा का तीसरा व अन्तिम चरण सम्पन्न। मुंशी प्रेमचन्द की अमर कृति 'निर्मला' सहित हिन्दी की पाँच रचनाओं के अनुवादक वर्ष 2007 के साहित्य अकादमी पुरस्कार हेतु चुने गये।   


         केन्द्र सरकार ने गुजरात दंगा पीड़ितों के लिए आर्थिक पैकेज देने की घोषणा की। 


       संयुक्त राष्ट्र संघ की 47 सदस्यीय मानवाधिकार समिति में पाकिस्तान को शामिल किया गया। 


 🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


💐 (D)आज के दिन जन्मे महत्त्वपूर्ण 


                  व्यक्तित्व💐 


1959 - महबूबा मुफ़्ती जम्मू और कश्मीर की मुख्यमंत्री। 


1925 - मदन लाल मधु - हिंदी और रूसी साहित्‍य के आधुनिक सेतु निर्माताओं में से एक। 


1774 - राजा राममोहन राय - धार्मिक और सामाजिक विकास के क्षेत्र में राजा राममोहन राय का नाम सबसे अग्रणी


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


   💐 (E)आज के दिन निधन हुवे        


           महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व💐


2011 संयुक्त राज्य अमेरिका में फ़िल्म निर्देशक यूसुफ ब्रूक्स का निधन


2014 संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रसिद्ध फ़िल्म अभिनेता मैथ्यू काउल्स का निधन 


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


      (F) आज के दिन/दिवस का नाम 


1. अंतराराष्ट्रीय जैविक विविधता दिवस


2. महबूबा मुफ़्ती जम्मू और कश्मीर की मुख्यमंत्री का जन्मदिन 


3. मदन लाल मधु - हिंदी और रूसी साहित्‍य के आधुनिक सेतु निर्माताओं में से एक थे का जयंती दिवस 


4. राजा राममोहन राय - धार्मिक और सामाजिक विकास के क्षेत्र में राजा राममोहन राय का नाम सबसे अग्रणी था का जयन्ति दिवस


5.संयुक्त राज्य अमेरिका में फ़िल्म निर्देशक यूसुफ ब्रूक्स का पुण्यतिथि दिवस


6. संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रसिद्ध फ़िल्म अभिनेता मैथ्यू काउल्स का पुण्यतिथि दिवस


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌸🌲🌹💐💐


       आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।


      आज जन्म लिये सभी व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई। बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।


💐।जय चित्रांश।💐


💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐


💐।जय हिंद जय भारत💐


💐 निवेदक;-💐


💐 चित्रांश ;-विजय निगम


Comments
Popular posts
एमपी की पहली राजनीतिक पार्टी जिसमें शामिल सिर्फ पढ़े-लिखे, युवा और अनुभवी प्रशासनिक अधिकारी
Image
टूना टेकरा, कांडला में दीनदयाल बंदरगाह पर पीपीपी मोड के तहत मेगा कंटेनर हैंडलिंग का अनुबंध हिंदुस्तान इंफ्रालॉग प्रा. लिमिटेड (डीपी वर्ल्ड) के साथ
Image
उद्योग विभाग के सहायक प्रबंधकों को बड़नगर एवं महिदपुर में कार्य करने हेतु आदेश जारी
उज्जैन बहुचर्चित मुजीब लाला हत्याकांड केस मे राजेंद्र चौधरी कोर्ट से बरी
Image
भैरवगढ़ प्रिंट का काम कर रहा स्वसहायता समूह अपने उत्पाद अमेजन पर बेचेगा
Image