आज की बात आपके साथ - विजय निगम


प्रिय साथियो,


🌹राम-राम


🌻 नमस्ते


आज की बात आपके साथ मे आप सभी साथीयों का दिनांक 19 मई 2020 मंगलवार की प्रातः की बेला में हार्दिक वंदन है अभिनन्दन है।


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


आज की बात आपके साथ अंक मे है 


A कुछ रोचक समाचार


B आज के दिन जन्मे प्रसिद्ध फ़िल्म अभिनेता निर्माता, निर्देशक, कवि एवम लेखक,नाटक कार गिरीश कार्नाड जीवन परिचय लेख.। C आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ


D आज के दिन जन्म लिए महत्त्वपूर्ण    


    व्यक्तित्व


E आज के निधन हुवे महत्वपूर्ण व्यक्तित्व।


F आज का दिवस का नाम ।


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


      (A) कुछ रोचक समाचार(संक्षिप्त)


💐(A/1)शुरू करना चाहते हैं अपना बिजनेस पर नहीं हैं पैसे, पीएम की इस स्कीम से मिलेगा कर्ज; आप कर सकते हैं लाखों की कमाई।💐


💐(A/2)CM शिवराज सिंह चौहान ने फेंकी गुगली, अब क्या करेंगी पं.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी!💐


💐(A/3)जब मौतके मुंह में पहुंच गए थे अमिताभ,38 साल पहले हुए हादसे की वजह से ICU मेंऐसी हो गई थी हालत💐


💐(A/4)पेंशन जारी करने के लिए बैंक को निर्देश, बुजुर्गों को मिलेगी सहूलियत


🌻💐🌹🌲🌱🌷^💮🌳🌺🥀🌼       


 💐(A)कुछ रोचक समाचार(विस्तृत)💐


💐(A/1)शुरू करना चाहते हैं अपना बिजनेस पर नहीं हैं पैसे, पीएम की इस स्कीम से मिलेगा कर्ज; आप कर सकते हैं लाखों की कमाई।💐


 लोग अपना छोटा कारोबार शुरू कर आत्मनिर्भर बन सकें, इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) शुरू की गई है। कोरोना संकट के इस दौर में इस योजना का महत्व और भी बढ़ गया है।  इस योजना में कारोबार शुरू करने के लिए छोटी रकम का लोन दिया जाता है। इस योजना के तहत कई तरह के लोन दिए जाते हैं।


इस स्कीम में अलग-अलग योजनाओं के तहत 50 हजार से 10 लाख रुपए तक का लोन लिया जा सकता है और लाखों की कमाई की जा सकती है। जानें इन योजनाओं के बारे में।


      💐क्या है मुख्य मकसद💐


मुद्रा योजना की शुरुआत अप्रैल 2015 में हुई थी। इस योजना का मुख्य मकसद स्वरोजगार के लिए लोन देना है। इसमें लोन देने की प्रक्रिया को आसान बनाया गया है। इस योजना का दूसरा मकसद छोटे उद्यमों के जरिए रोजगार का सृजन करना है।


        💐कितने तरह के हैं लोन💐


मुद्रा योजना के तहत 3 तरह के लोन दिए जाते हैं। ये शिशु लोन, किशोर लोन और तरुण लोन हैं। शिशु लोन योजना के तहत 50 हजार रुपए तक कर्ज दिया जाता है। किशोर लोन योजना के तहत 50 हजार से 5लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है,वहीं तरुण लोन योजनाके तहत 5लाख से10 लाख रुपए तक का कर्ज लिया जा सकता है। 


शिशु लोन पर ब्याज सहायता की घोषणा


गुरुवारकोकोरोना राहत पैकेज की घोषण करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि शिशु लोन पर 2 % ब्याज सहा


यता दी जाएगी।उन्होंने कहाकिइसकेलिए 1500 करोड़ रुपए उपलब्ध कराएगए हैं। मुद्रा शिशु लोन योजना के तहत अब तक 1 लाख 62 करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं।


    💐निश्चित ब्याज दर नहीं💐


प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत ब्याज की दर निश्चित नहीं है। अलग-अलग बैंक इस योजना के तहत दिए गए कर्ज के लिए अलग-अलग दर से ब्याज वसूल कर सकते हैं। किस कारोबार के लिए लोन लिया जा रहा है और उसमें कितना जोखिम है, इसे देखते हुए भी ब्याज की दर तय की जाती है। आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12% है।


        💐कैसे करें आवेदन💐


इस योजना के तहत लोन लेने के लिए किसी सरकारी बैंक की शाखा में आवेदन करना होता है। जो खुद का काम शुरू करना चाहते हैं, उन्हें मकान के मालिकाना हक या किराए से संबंधित दस्तावेज, शुरू किए जाने वाले काम से जुड़ी जानकारी, आधार कार्ड नंबर, पैन नंबर सहित कई अन्य दस्तावेज जमा करने पड़ेंगे।  


 प्रधानमंत्री स्कीम से मिले लोन के जरिए कोई भी शख्स दुकानें खोल सकता है अपनी रुचि और मार्केट के हिसाब से छोटे उद्योग लगा सकता है। रोजगार से लाखों की कमाई भी की जा सकती है


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


💐(A/2)CM शिवराज सिंह चौहान ने फेंकी गुगली, अब क्या करेंगी पं.बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी!💐


Lockdown में फंसे बंगाल के प्रवासी मजदूरों को ले जाने के लिए MP केCM शिवराज सिंह चौहान ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जीको चिट्ठी लिखीहै


भोपाल.मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंहचौहान ने पश्चिमबंगाल की मुख्यमंत्री


ममताबनर्जीकोएकचिट्ठीलिखीहै.इसमेंउन्होंने मध्यप्रदेश केइंदौर मेंपश्चिम बंगाल के उन तमाम मजदूरों का जिक्र किया है जो


लॉकडाउन में यहां फंस गए हैं.शिवराज


सिंह ने चिट्ठी में लिखा है कि ये मजदूर अपने घर वापस जाना चाहते हैं, लेकिन इंदौर से बंगाल के विभिन्न शहरों की दूरी ज्यादा होने की वजह से जा नहीं पा रहे हैं. जो निजी वाहनों से जाना भी चाहते हैं, उनके लिए ऐसा करना मुश्किल है.क्योंकि इतनालंबासफर करना ज्यादा महंगाहोगा. लिहाजा शिवराज ने ममता बनर्जी से अनु


रोध किया है कि वह रेल मंत्रालय से इस संबंध में बात करें. यह अनुरोध करें कि केंद्र सरकार इंदौर से कोलकाता के बीच एक स्पेशल ट्रेन चलाए, ताकि ये मजदूर अपने घर पश्चिम बंगाल पहुंच सकें.


      💐अब क्या करेंगी ममता ?💐


कोरोना आपदा को लेकर लॉकडाउन के बादसेही केंद्र सरकारऔर ममताबनर्जी के बीच तनातनी बनी हुई है.शिवराज सिंह चौहानकी चिट्ठी के बादअब ममता बनर्जी के सामने दो ही विकल्प बचते हैं. पहला ये कि वह रेल मंत्रालय से अनुरोध करें कि इंदौर में फंसेहुएमजदूरों को पश्चिम बंगाल भेजने के लिए विशेष ट्रेन चलाई जाए. या फिर शिवराजसिंहचौहान कीचिट्ठीको अन


देखा कर दें.लेकिनअगरउन्होंने ऐसाकिया


तो फिर उन पर अपने प्रदेश के मजदूरों की अनदेखी करने के आरोप लगेंगे. ऐसे में अब बड़ा सवाल यह है कि आखिर अब ममता बनर्जी क्या करेंगी?


💐शिवराज दे चुकेहैं ममता कोजवाब💐


इससे पहले मुख्यमंत्रियों के साथ हुई प्रधा


-नमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी शिवराज सिंह चौहान इशारों-इशारों में ममताबनर्जी को जवाब दे चुके हैं।इस बैठक में ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर मनमर्जी करने और राज्यों के संघीय ढांचे को चोटपहुंचाने जैसे आरोप लगाए.इसके


जवाब मेंशिवराजसिंह चौहान नेबिना नाम लिए कहा था कि प्रधानमंत्री टीम इंडिया की भावना से काम कर रहे हैं. उन्होंने जो कुछ भी किया है, वह देश और राज्यों के हित के लिए किया है और सबको साथ लेकर किया।


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


💐(A/3)जब मौतके मुंह में पहुंच गए थे अमिताभ,38 साल पहले हुए हादसे की वजह से ICU मेंऐसी हो गई थी हालत💐


अमिताभ बच्चन ने अब तक के करियर में हिंदी सिनेमा को एक से बढ़ कर एक बेहतरीन फिल्में दी हैं। 1983 में रिलीज हुई 'कुली' भी उन्हीं फिल्मों में से एक थी। इस फिल्म को एक बुरी घटना के तौर पर भी याद किया जाता है। दरअसल कुली के सेट पर शूटिंग के दौरान पुनीत इस्सर ने जब अमिताभ बच्चन को घूसा मारा तो किसी कोनहीं पता था एक सीन फिल्माने कीअमिताभबच्चनको क्या कीमतचुकानी पड़ेगी।


सौम्य बंदोपाध्याय ने अपनी किताब 'अमि


ताभ बच्चन' में कुली के दौरान हुए हादसे का जिक्र किया है। अमिताभ सहित सभी को येचोटमामूली लग रही थी,क्योंकि खून की एक बूंद भी नहीं निकली थी।कुली की शूटिंग के दौरान चोट लगने के बाद से ही अमिताभ बच्चन एक गंभीर और संवेदन


शील दौर से गुजर रहे थे। मामला सिर्फ आंत के फट जाने तक नहीं रह गया था। उन्हें निमोनिया और पीलिया ने भी जकड़ लिया था।


पूरे शरीर में कई मशीनें लगी थीं और देश अपने सुपरस्टार की सलामती की दुआ कर रहा था। एक शनिवार को उन्हें चोट लगी थी और दूसरे शनिवार को वह ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती हुए, बीच के इन आठ दिनों में दो ऑपरेशन हुए। अमिताभ बच्चन को एक बार फिर उन दिनों की यादआई है और इसका जिक्र उन्होंने


अपने ब्लॉग (बोल बच्चन) पर किया है।


अमिताभहादसे के बाद आईसीयू के दिनों के बारे में लिखते हैं,'मेरे गले में ऐसा उप


-करण लगाथा जिससे बात करना तो दूर, हिलनाडुलना या हाथचलाना तक मुश्किल हो गयाथा।मुझेअपनी स्थितिसे चिढ़ होती


थी।मैंइसका समाधान चाहता था,मैं अचेत


था।मेरेगले पर आज भीवो निशान रहगया है। उन दिनों गर्दन काट कर उसमें जीवन रक्षक उपकरणों को डाला गया था।'


अमिताभ बच्चन नेअपने ब्लॉग में लिखा है,'इस मशीन के जरिएआप सांस ले सकतेथे। जब तक वो गले में है आप कुछ बोल नहीं सकते थे।जब मैं कुछ कहने की हालत मेंहोता,तो मुझे या तो इशारा करना था या सिर्फ एक कागज ढूंढना होता था। ता कि मैंअपने कांपते हुए हाथों से कुछ लिख सकूं।ज्यादातर टूटी हुई बंगाली में


जया सेबात करते हुए उनसे मुझे पानी


पिलाने के लिए कहा था।बंगाली में इस


लिए लिखा था क्योंकि डॉक्टरों और नर्सों ने पानी के लिए मना किया था ये भाषा 


उनको समझ नहीं आती।हालांकि वो लोग पता लगा लेते थे।'


24 सितंबर के दिन आखिरकार अमिताभ को ब्रीच कैंडीअस्पताल से छुट्टी मिल गई। रास्तेमेंघरजाते हुए बिग बीको ये अहसास होचुका था कि लोग उन्हेंकितनाप्यारकरते हैं। मुंबई की सड़के उनके पोस्टर्स से पटी पड़ी थीं।लोगों ने उनकी सलामती के लिए पूजा हवन तक करवाया था।लोगों की बेकाबू भीड़ घरपर उनका इंतजारकर रही थी। घर पहुंचकर उन्होंने हाथ हिलाकर अपने शुभचिंतकों का शुक्रिया अदा किया था। 


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


💐(A/4)पेंशन जारी करने के लिए बैंक को निर्देश, बुजुर्गों को मिलेगी सहूलियत


केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने निर्देश जारी किए हैं कि बैंक, पेंशन खाते को सक्रिय करने के लिए पेंशनभोगी को काउंटर पर उपस्थित रहने पर जोर नहीं देगा.


💐केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने बैंकों को जारी किए निर्देश💐


पेंशन खाताएक्टिवेट केलिएपेंशनभोगियों


का होना जरूरी नहीं केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने ट्वीट कर कहा कि पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग ने बुजुर्ग नागरिकों को आसानी से जीवनयापन की दिशा में एक और अलग तरह का फैसला लिया है.केंद्रीय कार्मिकमंत्रालय ने निर्देश


जारी किए हैं किबैंक,पेंशन खाते को सक्रिय करने के लिए पेंशनभोगीको काउं


टर पर उपस्थित रहने पर जोर नहीं देगा।.


वहीं अब पेंशनभोगियों को अपनी पहली पेंशन क्रेडिट के लिए व्यक्तिगत रूप से बैंक जाने की भी जरूरत नहीं है. इसके अलावा पेंशन अकाउंट को एक्टिवेट करने लिए भी पेंशनभोगियों को बैंक में उपस्थित होना भी जरूरी नहीं.


वहीं,कार्मिक मंत्रालय ने जानकारी दी कि बैंकपेंशन जारी करने या पेंशनभोगियों से अलग-अलग समय के प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिएभिन्न प्रक्रियाएं अपना रहे हैं. मंत्रालय ने पेंशन का वितरण करने वाले बैंकों के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशकों को इसबारे में समेकितदिशानिर्देश जारी किए हैं।.


बैंकों से कहा गया है कि वेअद्यतन नियमों औरनिर्देशों केबारे में केंद्रीय पेंशन प्रसंस्करण केंद्र (सीपीपीसी)बैंकशाखाओं 


को जागरुक करें।यह कदम कार्मिक मंत्रा


लय केतहतपेंशनऔर पेंशनभोगीकल्याण


 विभाग को मिली शिकायतों के विश्लेषण के बाद उठाया गया है।.


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻


🌺(B)आज के दिन जन्मे गिरीश कार्नाड जीवन परिचय लेख. 


              🌺गिरीशकार्नाड🌺


 (1938 से-2019,तक माथेरान, महाराष्ट्र


 भारत के जाने माने समकालीन लेखक, अभिनेता, फ़िल्म निर्देशक और नाटककार थे।कन्नड़,अंग्रेजी भाषा दोनों में इनकी लेखनीसमानाधिकार से चलतीथी।1998में ज्ञानपीठसहितपद्मश्री,पद्मभूषण


जैसे कईप्रतिष्ठित पुरस्कारों के विजेता रहे कर्नाड द्वारा रचित तुगलक,हयवदन,तले


-दंड, नाग-मंडल वययातिजैसे नाटक।अत्यंतलोकप्रिय हुयेऔरभारत कीअनेकों भाषाओं मेंइनकाअनुवाद व मंचन हुआहै।प्रमुखभारतीयनिदेशको-इब्राहीमअलका


जी,प्रसन्ना,अरविन्द गौड़ औरबी.वी.कारंत ने इनका अलग-अलग तरीके से प्रभावी व यादगार निर्देशन किया हैं।


              💐 गिरीश कर्नाड 💐


जन्मनाम:-गिरीश रघुनाथ कार्नाड


जन्म;- 19 मई 1938


जन्मस्थान;-माथेरान, ब्रिटिश भारत 


(वर्तमान में महाराष्ट्र, भारत)


मृत्यु;-10 जून 2019, उम्र; 81 years


मृत्युस्थल;-बैंगलोर 


व्यवसाय- नाटककार, निर्देशक, 


अभिनेता, कवि 


राष्ट्रीयता;- भारतीय उच्च शिक्षाऑक्सफ़र्ड विश्वविद्यालय


विधा;-कथा साहित्य


साहित्यिक आन्दोलन- नव्या


उल्लेखनीय कार्य-sतुग़लक 1964


     तलेदंड (हिन्दी: रक्त कल्याण)


          💐आरंभिक जीवन💐


एककोंकणीभाषी परिवार में जन्में कार्नाड ने1958 में धारवाड़ स्थित कर्नाटक विश्व


विद्यालय से स्नातक उपाधि ली।इसके पश्चात वे एक रोड्स स्कॉलर के रूप में 


इंग्लैंड चले गए जहां उन्होंनेऑक्सफोर्ड


के लिंकॉन तथा मॅगडेलन महाविद्यालयों से दर्शनशास्त्र, राजनीतिशास्त्र तथा अर्थ


शास्त्र में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की


वे शिकागो विश्वविद्यालय के फुलब्राइट महाविद्यालय में विज़िटिंग प्रोफ़ेसर भी रहे।


                  💐कार्य💐


               💐साहित्य💐


कार्नाड की प्रसिद्धि एक नाटककार के रूप में ज्यादा है। कन्नड़ भाषा में लिखे उनके नाटकों का अंग्रेजी समेत कई भारतीय भाषाओं में अनुवाद हो चुका है। एक खास बात ये है कि उन्होंने लिखने के लिए ना तो अंग्रेज़ी को चुना,जिस भाषा में उन्होंने एक समय विश्वप्रसिद्ध होने के अर


-मान संजोए थेऔर ना हीअपनीमातृभाषा


कोंकणी को।जिस समय उन्होंने कन्नड़ में लिखना शुरूकिया उससमयकन्नड़लेखकों परपश्चिमी साहित्यिकपुनर्जागरण का गहरा प्रभाव था।लेखकों केबीच किसी ऐसीचीज के बारे में लिखने की होड़ थी जो स्थानीय लोगों के लिएबिल्कुल नयी थी। इसी समय कार्नाडने ऐतिहासिक तथा पौराणिक पात्रों से तत्कालीन व्यवस्थाको दर्शाने कातरीका अपनाया तथा काफी लोकप्रिय हुए। उनके नाटक 


ययाति(1961,प्रथम नाटक)तथातुग़लक़


(1964) ऐसे ही नाटकों का प्रतिनिधित्व करते हैं।तुगलक से कार्नाड को बहुत प्रसिद्धि मिली और इसका कई भारतीय भाषाओं में अनुवाद हुआ।


                💐सिनेमा💐


वंशवृक्ष नामक कन्नड़ फ़िल्म से इन्होंने निर्देशन की दुनिया में कदम रखा। इसके बाद इन्होंने कई कन्नड़ तथा हिन्दी फ़िल्मों का निर्देशन तथा अभिनय भी किया।


               💐प्रमुख फ़िल्में💐


जीवन मुक्त (1977) - अमरजीत (पात्र)


इकबाल टाइगर जिंदा है ,एक था टाइगर


               💐कृतियां💐


               💐नाटक💐


ययाति - गिरीश कार्नाड का चर्चित नाटक।


देशभर में निदेशको द्वारा ययाति नाटक का मंचन।


तुग़लक - हिंदुस्तानी मे अनुवाद - स्व. बी.वी. कारंत। निदेशक इब्राहीम अलकाजी, प्रसन्ना, अरविन्द गौड़ और दिनेश ठाकुर ने इसका निर्देशन किया।


अग्नि मत्तु मळे


ओदकलु बिम्ब


अंजुमल्लिगे - रानावि के लिए प्रसन्ना द्वारा निर्देशन।


मा निषाद


टिप्पुविन कनसुगळु


                 🌺तलेदंड🌺


रानावि के पूर्व निर्देशक रामगोपाल बजाज द्वारा हिन्दी अनुवाद रक्त कल्याण - रानावि के लिए इब्राहीम अलका जी और फिर 


अस्मिता नाटय संस्था द्वारा अरविंदगौड़ के


निदेशन में 1995 से 2009 तक 150 से ज्यादा मंचन।


              🌺 हित्तिन हुंज🌺


नागमंडल - सबसे चर्चित नाटक। देशभर में प्रमुख भारतीय निदेशको द्वारा मंचन।


हयवदन - स्व.बी.वी. कारंत द्वारा निदेशन।


      🌺 पुरस्कार तथा उपाधियाँ🌺 🌺साहित्य क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य केलिए 


                पुरुस्कार🌺


1972: संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार


1974: पद्मश्री


1992: पद्मभूषण तथा कन्नड़ साहित्य अकादमी पुरस्कार


1994: साहित्य अकादमी पुरस्कार


1998: ज्ञानपीठ पुरस्कार


  🌺सिनेमा के क्षेत्र में पुरुस्कार🌺


1980 फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार - सर्वश्रेष्ठ पटकथा - गोधुली (बी.वी. कारंत के साथ)


इसके अतिरिक्त कई राज्य स्तरीय तथा राष्ट्रीय पुरस्कार।


🌻💐🌹🌲🌱🌷^🌳🌺🥀🌼🌻


   💐(C)आज के दिन की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ💐


1999 - भारतीय मूल के महेन्द्र चौधरी फिजी के प्रधानमंत्री नियुक्त, मैक्सिको में 'बाल्कान डिफ़्यूजो' नामक ज्वालामुखी सक्रिय। 


2000-फिजी में भारतीय मूल के प्रधान


मंत्री महेन्द्र चौधरी की सरकार को सात नाकाबपोश सशस्त्र व्यक्तियों द्वारा तख्ता


पलट। 


2001-इस्रायल का फ़िलिस्तीनी मुख्या-


लयों पर हवाई हमला, 15 घायल। 


2002-पूर्वी तिमोरचार सदियों की दासता के बाद नयी सहस्त्राब्दी के पहले नये राष्ट्र के रूप में विश्व मानचित्र पर उभरा। 


2003 - जिबुती के राष्ट्रपति इस्माइल उमर गुलेह भारत की यात्रा पर नई दिल्ली पहुँचे। 


2006 - भारतीय मूल के मलेशियाई उद्योगपति टी. रविचन्द्रन ने माउंट एवरेस्ट को फ़तह किया।


2007-अमेरिकी सीनेट में समग्र आव्रजन सुधार विधेयक पर सहमति।


2008 - परम्परावादी मराठी थियेटर के पुरोधा विजय तेंदुलकर का निधन। भारत व चीन के बीच नाथुला से व्यापार पुनः शुरू हुआ। विश्व श्रम संगठन के कार्यकारी अक्ष्यक्ष असाने ने नई दिल्ली में सामाजिक सुरक्षा पर सम्मेलन का उदघाटन किया। 


बैंक आफ़ बड़ौंदा ने वर्ष 2007-08 में अपने शुद्ध लाभ में 39.9% की वृद्धि दर्ज की। मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महाथिर मुहम्मद ने सत्तायुढ़ दल से अलग होने की घोषणा की। कैलाश मानसरोवर के लिए चीन ने भारतीय यात्रियों का दौरा स्थगित किया।


2010- भारत सरकार को 34 दिनों से चले आ रहे 3जी स्पेक्ट्रम की नीलामी से 67718.95 करोड़ रुपए का शुल्क मिलना तय हो गया।बिहार के मुजफ्फर


पुर-रक्सौल रेलखंड पर मोतीहारी ज़िला के जीवधारा और पीपरा रेलवे स्टेशन के बीच बंगारी हॉल्ट के समीप नक्सलियों ने रेल पटरी उड़ा दी,जिससे एक टैंकर माल


-गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई तथा इसकी 13 बोगियों में आग लग गई। 


2011-58 वें राष्ट्रीयफ़िल्म पुरस्कारों की घोषणाहुईफ़िल्म 'मोनेर मानुस'को राष्‍ट्रीय एकता के लिए पुरस्‍कृतकियागयाहै।इसके 


सिवा फिल्‍म'दबंग'कोसर्वाधिक मनोरंजक फ़िल्म का पुरस्‍कार दिया गया। मलयालम फ़िल्म एदेमाइन्ते माकानअबू’ को सर्वश्रेठ फ़िल्म चुना गया है जबकिअरुणिमा शर्मा कोसर्वश्रेष्‍ठनिर्देशक कापुरस्‍कार दियागया 


है।मलयालम फ़िल्मएदेमाइन्तेमाकानअबू’ के लिए मलयालम अभिनेतासलीम कुमार और तमिलअभिनेता धनुष संयुक्त रूप से सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिएचुने गए। मितालीजगताप और सरन्ना पी को संयुक्त रूप से सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना गया। 


🌻💐🌹🌲🌱💮🌳🌺🥀🌼🌻               


     💐(D)आज के दिन जन्मे महत्वपूर्ण   


         व्यक्तित्व 💐


1881 - कमाल अतातुर्क - आधुनिक तुर्की के निर्माता थे। 


1913 - नीलम संजीव रेड्डी - भारत के राष्ट्रपति 


1934 - रस्किन बॉण्ड - अंग्रेज़ी भाषा के प्रसिद्ध भारतीय लेखकों में से एक हैं। 


1938 - गिरीश कर्नाड, कवि, रंगमंच कर्मी, कहानी लेखक, नाटककार, फ़िल्म निर्देशक और फ़िल्म अभिनेता। 


1947 - टी.सी. योहानन - लम्बी कूद के भारतीय खिलाड़ी हैं। 


🌻💐🌹🌲🌱^🌺🌱🌴🌸🌲🌹🌻


     🌺(E)आज के दिन निधन हुवे     


           महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व🌺


1904 - जमशेद जी टाटा - टाटा समूह के संस्थापक


1979 - हज़ारी प्रसाद द्विवेदी - हिन्दी के शीर्ष साहित्यकार


1996 जानकीरामचन्द्रन -प्रसिद्ध तमिल अभिनेत्री तथा तमिलनाडु की भूतपूर्व 


मुख्यमंत्री।


1997 सोंभु मित्रा -फ़िल्म और रंगमंच 


अभिनेता, निर्देशक और नाटककार थे।


2004 ई.के.नायनार -भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी)के राजनीतिज्ञ थे,जो 


केरल केभूतपूर्व मुख्यमंत्री थे।


2008 - विजय तेंदुलकर -परम्परावादी मराठी थियेटर के पुरोधा भारतीय नाटक


कार और रंगमंचकर्मी


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹💐💐🌻


  🌺(F)आज के दिवस/उत्सव 


               का नाम🌺 


1.कमाल अतातुर्क - आधुनिक तुर्की के 


  निर्माता थे का जयंती दिवस


2.नीलम संजीव रेड्डी - भारत के राष्ट्रपति 


   का जयंती दिवस


3.रस्किन बॉण्ड - अंग्रेज़ी भाषा के प्रसिद्ध भारतीय लेखकों में से एक हैं का जयंती दिवस


4. गिरीश कर्नाड:- कवि, रंगमंच कर्मी, कहानी लेखक, नाटककार, फ़िल्म निर्देशक और फ़िल्म अभिनेता का जयंती दिवस


5.सोंभु मित्रा -फ़िल्म और रंगमंच 


अभिनेता, निर्देशक और नाटककार थे का पुण्यतिथि दिवस


6 ई.के.नायनार -भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी)के राजनीतिज्ञ थे,जो 


केरल केभूतपूर्व मुख्यमंत्री थे का पुण्यतिथी दिवस


7.विजय तेंदुलकर -परम्परावादी मराठी थियेटर के पुरोधा भारतीय नाटककार और रंगमंचकर्मी थे का पुण्यतिथि दिवस


🌻💐🌹🌲🌱🌸🌲🌹


            आज की बात -आपके साथ" मे आज इतना ही।कल पुन:मुलाकात होगी तब तक के लिये इजाजत दिजीये।


      आज जन्म लिये सभी व्यक्तियोंको आज के दिन की बधाई। आज जिनका परिणय दिवस हो उनको भी हार्दिक बधाई। बाबा महाकाल से निवेदन है की बाबा आप सभी को स्वस्थ्य,व्यस्त मस्त रखे।


💐।जय चित्रांश।💐


💐जय महाकाल,बोले सो निहाल💐


💐।जय हिंद जय भारत💐


💐 निवेदक;-💐


💐 चित्रांश ;-विजय निगम।💐


Comments
Popular posts
काश! मैं भी बॉस होता के सपने को साकार करता है पीआर 24x7
Image
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का चमकौर साहिब से न्यूज़18 इंडिया के मैनेजिंग एडिटर किशोर अजवानी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत
Image
ज़ी बॉलीवुड पर होगा जश्न का धमाल क्योंकि 24 जनवरी को शानदार फिल्म ‘विश्वात्मा’ पूरे कर रही है 30 साल
Image
एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने सड़क सुरक्षा पर शुरू किया एक विशिष्ट और अनूठा जागरूकता अभियान
Image
इंतजार की घड़ियाँ खत्म; भूषण कुमार का 'वफा ना रास आई' हुआ रिलीज, जुबिन नौटियाल द्वारा गाए गए इस सॉन्ग में हिमांश कोहली और आरुषि निशंक ने किया है अभिनय
Image