पिछले 3 दिनों में 546 सैंपल्स की रिपोर्ट आई, इनमें से ही 54 पॉजिटिव आए हैं

     उज्जैन। कलेक्टर शशांक मिश्र  ने बताया कि उज्जैन जिले से कोरोना  की  जांच  के  लिए भेजे गए काफी सैम्पल्स की  रिपोर्ट आना शेष थी जो कि आज शाम तक आई है। उन्होंने कहा कि पिछले 3 दिनों में 546  सैम्पल्स  की रिपोर्ट आई  इनमें से 54   व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव है। उन्होंने कहा कि जिन व्यक्तियों  की पॉजिटिव रिपोर्ट आई है उनके बारे में प्रशासन को पूर्व  से   उनकी  कॉन्टेक्ट  हिस्ट्री  की  जानकारी थी। यह वही लोग हैं जो   या तो   पुराने   पॉजिटिव  मरीजों के सीधे संबंधी है या उनके आसपास कहीं रहते हैं। इनमें से अधिकांश लोगों को पूर्व से ही क्वॉरेंटाइन में रखा गया था। आज  जितने  भी पॉजिटिव आए हैं उनको क्वॉरेंटाइन सेंटर से  आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के कोरोना पॉजिटिव वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है जहां उनका उपचार किया जा रहा है।


    कलेक्टर ने कहा है कि एक साथ इतनी रिपोर्ट पॉजिटिव आने से किसी को भी घबराने की आवश्यकता नहीं है। प्रशासन पूरी मुस्तैदी के साथ कोरोना से लड़ाई लड़ने में संलग्न है तथा प्रयास  है  कि कोरोना  अन्य क्षेत्रों में न फैले। नए  कंटेंटमेंट एरिया  भी घोषित  कर  दिए गए  है।  वहां के नागरिकों से भी अपील  है कि वे अपने घरों में रहे। घरों से बाहर न निकलें आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति घर पर ही कर दी जाएगी। वायरस से बचने का एकमात्र उपाय घर से बाहर नहीं निकलना है।


      कलेक्टर ने  बताया  कि जिले में जितने भी कंटेनमेंट एरिया हैं, उन्हें अगले तीन से चार दिन में पूर्णत: सेनीटाइज किया जायेगा। समस्त कंटेनमेंट एरिया का अगले तीन दिनों में टीम बनाकर मल्टीपल सर्वे कराया जायेगा।
  
     सर्वे टीम द्वारा घर-घर जाकर लोगों को अपने घर में रहते हुए क्या-क्या सावधानियां बरतनी चाहिये  व बर्तनों के इस्तेमाल और साफ-सफाई के बारे में जानकारी दी जायेगी। इसके अलावा कंटेनमेंट एरिया के रहवासियों को मास्क और सेनीटाइजर भी उपलब्ध करवाये  जाएंगे । कंटेनमेंट एरिया का शत-प्रतिशत सरफेस सेनीटाइजेशन प्रतिदिन अगले सात दिनों तक किया जायेगा। साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिये लोगों में जागरूकता लाने के लिये समाजसेवियों और अन्य संस्थाओं से सहयोग लेकर कैम्पेन चलाया जायेगा। लाऊड स्पीकर के माध्यम से घर के अन्दर रहते हुए भी क्या-क्या सावधानियां बरती जानी है, इसकी घोषणा अलग-अलग जगह करवाई  जाएगी।


   उल्लेखनीय है कि जिले में अब तक 3  लाख  72  हजार  व्यक्तियों का सर्वे करवाया जा चुका है तथा इनमें से गंभीर सर्दी जुकाम से पीड़ित मरीजों का सैंपल लेकर कोरोनावायरस की जांच के लिए भेजा गया। प्रशासन की सजगता के कारण  ही   कोरोनावायरस  के  संदिग्ध की  की पहचान हो पा रही है और उनको  क्वॉरेंटाइन में रखकर वायरस  के  फैलाव को  रोका जा रहा है।


रिपोर्ट की स्तिथि एक नजर में...


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा जारी किए गए बुलेटिन के  अनुसार  23 अप्रैल तक उज्जैन जिले से 2022 व्यक्तियों की कोरोनावायरस जांच के सैंपल भेजे गए थे इनमें से 1786 सैंपल्स की रिपोर्ट आ गई है तथा 307 नमूने रिजेक्ट हो गए हैं ।   बुलेटिन  के  अनुसार 87 व्यक्तियों की पॉजिटिव रिपोर्ट आई है।