मूक प्राणी जो कि सड़कों पर भूखे प्यासे विचरण करते है उनके लिए सेवा भावी एक ऐसी संस्था जीव मैत्री परिवार सबके लिए भोजन की व्यवस्था कर रही है


      रतलाम। ऐसी संस्थाएं जो महामारी के इस समय मे प्रतिदिन मूक प्राणी जो कि सड़कों पर भूखे प्यासे विचरण करते है उनके लिए सेवा भावी एक ऐसी संस्था जीव मैत्री परिवार जो अपनी टीम द्वारा गली मोहल्लों में घूमने वाले आवारा पशु हेतु मोहल्ले वाइज सुंदर आहार व्यवस्था कर रही है इस संस्था द्वारा गाय एवं स्वान हेतु प्रतिदिन 150 किलो रोटी का हाइजेनिक रूप से स्वच्छता पूर्वक निर्माण किया जाता है फिर हर मोहल्ले में जरूरत के हिसाब से रोटी के पैकेट पहुचा दिये जाते है फिर मोहल्लों में 2 व्यक्तियों द्वारा विचरित गाय एवं स्वान को रोटी ओर दूध को मिक्स कर आहार करवाया जाता है इस विषम परिस्थिति में जहाँ मानव को भी अपनी आवश्यकताओं हेतु कठिनाई हो रही हो ऐसे में मूक निरीह प्राणियों के लिए इस प्रकार प्रयत्न करना सोचना सच मे रतलाम नगर के लिए गौरवमई  सेवा भावी संस्था का परिचायक है।